Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - Printable Version

+- Sex Baba (https://sexbaba.co)
+-- Forum: Indian Stories (https://sexbaba.co/Forum-indian-stories)
+--- Forum: Hindi Sex Stories (https://sexbaba.co/Forum-hindi-sex-stories)
+--- Thread: Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम (/Thread-desi-kahani-%E0%A4%97%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%87%E0%A4%9F-%E0%A4%97%E0%A5%8B%E0%A4%B2%E0%A5%8D%E0%A4%A1%E0%A4%A8-%E0%A4%9C%E0%A4%BF%E0%A4%AE)

Pages: 1 2 3 4 5 6


Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - - 11-20-2017

लेखक -- ग्रेट वॉरियर 
दोस्तो पहले मैं आप सब को अपना परिचय दे दू. मेरा नाम जावेद राजा है. मैं अपने दोस्तो मे जानने वालो मे राजा या राज के नाम से जाना जाता हू. मेरी फॅमिली वाले मुझे राजा ही कहते है. 
मैं लनोव का रहने वाला हू और मेरे मोम और दाद का देहांत हो चुका है. मुझे मेरे चाचा चाची ने पाल पोस कर बड़ा किया. मेरा बचपन मेरे चाचा और चाची के साथ गुज़रा. मेरे चाचा ने ही मुझे पढ़ाया लिखाया और मुझे अपने बेटे जैसा प्यार दिया. मेरे चाचा चाची की कोई संतान नही है इसी लिए मैं ही उनका बेटा हू और अब तो उन्हो ने अपना घर भी मेरे ही नाम कर दिया है. घर मे मैं अकेला ही रहता हू. घर उतना बड़ा भी नही और बिल्कुल छ्होटा भी नही, मीडियम फॅमिली का घर है पर उन्हो ने उसको बोहोत ही अछा मेनटेन किया हुआ है. घर के पीछे एक छोटा सा फॅमिली गार्डेन भी है जहा कभी शाम के टाइम पे मैं लाइट वॉकिंग या एक्सर्साइज़ करता हू या चेर डाल के बैठ जाता हू और अकेले ही मौसम का मज़ा लेते हुए टाइम पास करता हू. 
मेरे चाचा की एक और प्रॉपर्टी भी है जहा उन्हो ने एक जिम खोला था तब मैं अभी कॉलेज मे ही पढ़ता था. यह बता दू के मैं अछा ख़ासा हॅंडसम भी हू. मेरी हाइट 5’ 8” है रंग बोहोत गोरा है, लाइट ब्राउन कलर के आइज़ और लाइट ब्राउन शेडिंग के ही बॉल है. मेरे हाथो पे, लेग्स पे और सीने पे बाल है जो मेरे बदन पे बोहोत ही अच्छे और सेक्सी लगते है. चौड़ा सीना है, 
ब्रॉड शौलेर्स है. लंड का साइज़ ऑलमोस्ट 9 इंच है और 2.5 इंच मोटा भी है. सर्कम्सिषन से अन्नेसेसरी प्रोटेक्टिव चॅम्डी कट करने से लंड का हेड एक दम से चिकना और किसी फ़ौजी के हेल्मेट की तरह है जो चमकता रहता है. लंड का एरेक्षन इतना पवरफुल होता है के वो ऑलमोस्ट पेट से टकराता रहता है. जब अकड़ता है तो लोहे जैसा सख़्त हो जाता है और किसी रेडी टू फाइयर मिज़ाइल की तरह लगता है. लंड का निचला भाग ऊपेर के पोर्षन से थोड़ा मोटा है. एक दम से दीवार मे लगाने की कूटी की तरह. जब चूत के अंदर जाता है तो बॅस ऐसे फिट बैठ ता है जैसे बॉटल के ऊपेर कॉर्क. जब चूत के पूरा अंदर तक घुस जाता है तो चूत भी बोहोत चौड़ी हो जाती है और ऐसा लगता है जैसे बॉटल पे कॉर्क फिट बैठा हो और फिर पूरी तरह से खुल जाती है. चुदाई कर के जब चूत के बाहर निकलता है तो चूत के पूरे मसल्स खुल जाते है और चूत का सुराख किसी इंग्लीश के वर्ड “ओ” की तरह से खुल जाता है और चूत के बोहोत अंदर तक का हिस्सा दिखाई देने लगता है. 
मुझे बचपन से ही एक्सर्साइज़ का शौक था तो शाएद इसी लिए मेरे चाचा ने जिम बनाया होगा. मैं ने लास्ट एअर ही अपना बी.कॉम कंप्लीट किया हुआ है. कॉलेज मे तो मैं हीरो के नाम से ही जाना जाता था. लड़कियाँ मुझे हीरो या हॅंडसम ही कह के पुकरती थी. मेरे चाचा चाची मुझ से बे इंतेहा प्यार करते है उन्हो ने कभी मुझे मेरे मम्मी और डॅडी की कमी महसूस होने नही दी बिल्कुल अपना बेटा समझा और मेरी एक एक नीड को उन्हो ने पूरा किया. मैं उनका बोहोत एहसान मानता हू और दिल से उनकी इज़्ज़त करता हू. 
चाचा के किसी दोस्त ने उनको यूयेसे बुलाया तो वो चले गये और थोड़े ही दिनो के बाद चाची को भी ले गये और वही जा के सेट्ल हो गये. जाते समय अपनी प्रॉपर्टी मेरे नाम कर गये. अब मैं वो ग्रेट गोल्डन जिम का अकेला मालिक हू. ग्रेट गोल्डन जिम अलग अलग इनडिपेंडेंट लेटर्स मे लिखा हुआ है जिसका कोई बोर्ड नही है और इसके अंदर जलती नीयान लाइट रात मे बोहोत ही अछी लगती है. लगता है के बनाने वाले ने ख़ास हमारे लिए ही वर्ड्स डिज़ाइन किए है. 
ग्रेट गोल्डन जिम का जो सेक्षन मेल्स का है उसमे कोई भी स्पेशल फेसिलिटी नही है. सिर्फ़ मेंबरशिप्स है वो भी ऐसे के अड्वान्स पेमेंट देने पे उनको डिसकाउंट्स दिया जाता है. मेल्स के सेक्षन मे बोहोत सारे एक्विपमेंट्स पड़े है जहा वो वर्क आउट करते है. 
ग्रेट गोल्डन जिम एक 2 स्टोरी टाइप की बिल्डिंग है जो के किसी गॉडाउन की शकल की है. लंबी और चौड़ी. नीचे के पोर्षन मे जेंट्स का जिम चलता है और अब ऑलमोस्ट एक साल से ऊपेर के पोर्षन को री-मॉडेल करके मैं ने एक लॅडीस के लिए स्पेशल जिम कम ब्यूटी पार्लर भी स्टार्ट कर दिया है जहा बॉडी मसाज की फेसिलिटी भी है. ब्यूटी पार्लर मे भी लॅडीस के लिए जिम जैसी फेसिलिटीस है. जहा डिफरेंट टाइप के ट्रेड मिल्स और दूसरे एक्विपमेंट्स रखे हुए है. अक्सर लड़कियाँ और औरतें अपना फेशियल, मेक अप्स, हेर कट, चूत की वॅक्सिंग, ब्लॅक हेड्स, मॅनिक्यूवर और पेडिक्टीयर, वेट कम करने के लिए और दूसरी एक्सर्सिस करने के लिए मेरे जिम की मेंबर्ज़ बनी हुई है. सिल्वर और गोल्ड कार्ड मेंबर लॅडीस के लिए एक बोहोत ही स्पेशल मसाज भी है जहा ऑर्डिनरी मेंबर्ज़ का अड्मिशन रिस्ट्रिक्टेड है. लॅडीस के सेक्षन मे सन और स्टीम बाथ भी है, वो भी सिर्फ़ सिल्वर और गोल्ड कार्ड मेंबर्ज़ के लिए ही है. इन शॉर्ट ऑर्डिनरी मेंबर्ज़ को सिर्फ़ जिम एक्विपमेंट्स ही यूज़ करने की पर्मिशन है नो अदर फेसिलिटीस. मेरा इरादा एक इनडोर स्विम्मिंग पूल भी बनाने का है पता नही कब तक बन पाएगा. 
सिर्फ़ फीमेल मेंबर्ज़ को ही स्पेशल सर्वीसज़ दी जाती है. लॅडीस के फेसिलिटीस मे 3 टाइप के मेंबरशिप्स है. ऑर्डिनरी मेंबर, सिल्वर कार्ड मेंबर, गोल्ड कार्ड मेंबर. 
ऑर्डिनरी मेंबर्ज़ तो वो है जो सिर्फ़ जिम के टाइम पे आती है और टाइम पे ही वापस चली जाती है, नो स्पेशल ट्रीटमेंट लाइक मेक अप्स, फेशिल्स, चूत की वॅक्सिंग या न्यूड मसाज एट्सेटरा. एट्सेटरा. इन्न सब फेसिलिटीस को यूटिलाइज़ करने के लिए ऑर्डिनरी मेंबर्ज़ को पे करना पड़ता है फिर भी उनको फॉर सीक्रेसी पर्पसस स्पेशल मसाज वाले पोर्षन मे नही जाने दिया जाता जहा सिर्फ़ सिल्वर और गोल्ड कार्ड 
मेंबर्ज़ को ही जाने की पर्मिशन है. वाहा स्टाफ के और स्पेशल मेंबर को छोड़ कर कोई भी अंदर नही जा सकता. 
सिल्वर कार्ड मेंबर वो लॅडीस है जिनको टाइमिंग्स के बाद भी रुकने की पर्मिशन है और सारे फेसिलिटीस यूज़ कर सकते है इंक्लूडिंग चूत की वॅक्सिंग और न्यूड मसाज एट्सेटरा. सिल्वर कार्ड मेंबर्ज़ के घर हमारी कोई एंप्लायी नही जाती किसी भी फेसिलिटी के लिए. मेरे पास 5 एक्सपर्ट लड़कियाँ ब्यूटी ट्रीटमेंट और स्पेशल मसाज के लिए एंप्लाय्ड है जिन्है मैं बोहोत ही अछी सॅलरी देता हू और सीक्रेसी बॉन्ड भी साइन करवाया हुआ है ता के वो कही बाहर जा के हमारे स्पेशल मसाज और स्पेशल ट्रीटमेंट के बारे मे जनरल पब्लिक के सामने डिसकस ना करे और हमारे सीक्रेट बाहर ना जाने दे. 
गोल्ड कार्ड मेंबर्ज़ लॅडीस के लिए तो बोहोत ही स्पेशल ट्रीटमेंट होता है एक दम से VVईP जैसा. उनके लिए बोहोत ही ज़ियादा फेसिलिटीस है. मसाज पार्लर की लड़कियाँ गोल्ड कार्ड मेंबर के घर जा के भी सर्विस करती है. मीन्स के अगर कोई गोल्ड कार्ड मेंबर फोन करे तो पार्लर की लड़किया उनके घर को जा के उनका मेकप, मसाज या चूत की वॅक्सिंग वाघहैरा करती है जो के बोहोत ही स्पेशल ट्रीटमेंट है जिनकी पेमेंट लड़कियों को अलग से होती है. गोल्ड कार्ड मेंबर को इतनी फेसिलिटी भी है के वो किसी हॉलिडे के टाइम पे या जब पार्लर बंद हो तब भी फोन कर के आके अपायंटमेंट ले के आ सकती है और जब तक जी चाहे फेसिलिटी को यूज़ कर सकती है. जब कोई एंप्लायी गोल्ड कार्ड मेंबर्ज़ के घर किसी भी फेसिलिटी के लिए जाती है टू ऐज ए क्र्ट्साइ हम उनकी किसी भी एक या दो फ्रेंड्स को भी टेंपोररी वोही फेसिलिटी देते है. गोल्ड कार्ड मेंबर्ज़ को दूसरे मानो मे खुली छ्छूट है वो फेसिलिटी को जैसे चाहे यूज़ कर सकती है. ऐसे तो मेमेबर्स बोहोत है पर सिल्वर के 15 और गोल्ड के 12 ही मेंबर्ज़ है. यह मेंबरशिप 5 लाख रुपीज़ पर एअर है. इतनी लग्षुरी सिर्फ़ बोहोत ही पैसे वाले कर सकते है. गोल्ड कार्ड मेंबर्ज़ मे इंडस्ट्रियलिस्ट, बड़े बड़े बिज़्नेस्मेन और ज्यूयेलर्स के वाइव्स ही है. 5 लाख यियर्ली अपने ऐश पे खरच 
करना किसी आम औरत के बस की बात भी तो नही है. अट प्रेज़ेंट गोल्ड कार्ड मेंबर्ज़ सिर्फ़ 12 ही है क्यॉंके अभी मुझे ब्यूटी कम मसाज पार्लर स्टार्ट कर के एक ही साल हुआ है. आइ होप के गोल्ड कार्ड मेंबर्ज़ कुछ दिनो मे बढ़ जाएगी क्यॉंके हमारे जिम और ब्यूटी पार्लर का बड़ा नाम है और अब अछा ख़ासा फेमस भी हो गया है. 
जहा पे जिम है वो जगह किसी ज़माने मे शहेर के एंड मे थी लैकिन जब से सिटी एक्सपॅंड हुआ है अब वो सिटी के अंदर आ गई है. उसका एंट्रेन्स ऐसा है के सामने से जेंट्स के जिम की एंट्री है और पीछे से लॅडीस के जिम और ब्यूटी पार्लर की स्टेर्स है. ऐसे पोज़िशन मे जेंट्स और लॅडीस टोटली सेपेरटेड है. जेंट्स को पता भी नही चलता के कब कॉन लड़की या औरत ब्यूटी पार्लर जा रही है और लॅडीस को पता नही चलता के नीचे जिम मे कितने लोग है और क्या कर रहे है. ऊपेर और नीचे डार्क रिफ्लेक्टिव ग्लासस लगे हुए है जिस से बाहर के लोगो को भी दिखाई नही देता. बाहर से बोहोत ही धीमी रोशनी मे बॅस इतना समझ मे आता है के अंदर जिम है और लोग डिफरेंट मशीन्स के थ्रू डिफरेंट टाइप के एक्सर्साइज़ कर रहे है. ळैकिन ऊपेर लॅडीस वाले पार्लर मे आउटसाइड रिफ्लेक्टिव ग्लासस लगे हुए है जी से बाहर से किसी को कुछ भी दिखाई नही देता लैकिन अंदर से बाहर का सीन सॉफ दिखाई देता है. आउटसाइड रिफ्लेक्टिव ग्लास की यही खूबी है के अंदर से बाहर का दिखाई देता है पर बाहर से कुछ भी नही दिखाई देता. टू बी ऑन दा सेफर साइड लॅडीस के पार्लर मे हेवी ड्रेप्स डाल दिए है ता के लॅडीस को कोई शक ना रहे के बाहर से उन्हे कोई देख सकता है.


RE: Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - - 11-20-2017

थोड़े ही दिनो पहले मैं ने उस्मै फुल स्केल पे ब्यूटी पार्लर भी चालू कर दिया है जहा फेशियल, मेक अप्स वाघहैरा के सभी समान मौजूद है. तरह तरह के क्रीम्स, पाउडर्स आंड आयिल्स. सॉना बाथ, स्टीम बाथ और आस स्पेशल सर्वीसज़ चूत की वॅक्सिंग भी है. हमारे ब्यूटीशियन गर्ल्स भी बोहोत ही ट्रेंड है, खूबसूरत भी 
है और वेल मॅनर्ड भी है. ऊन्है ख़ास तौर पे सिखाया गया है के सिल्वर / गोल्ड कार्ड मेंबर को वो सब देना होगा जो वो चाहती है यहा तक के अगर कभी किसी औरत या लड़की को आयिल मसाज देते देते उसको मास्टरबेट करवाना अछा लग रहा है तो वो मास्टरबेट भी करती है और अगर कोई गोल्ड कार्ड मेंबर चाहे तो हमारी मसाजर लड़की नंगी हो कर भी मसाज करती है. या कुछ बड़ी एज की औरतें है जो चाहती है के लड़की भी नंगी हो जाए तो हमारे पास की मसाज करने वाली मसाजार लड़की को उसका ऑर्ड रेस्पेक्ट करना पड़ता है. यहा यह बताना ज़रूरी समझता हू के हमारे पास ऐसी बोहोत सी औरतें आती है जिन्है लेज़्बीयन आक्ट बोहोत पसंद होता है. हमारी ट्रेंड लड़कियाँ उनके साथ लेज़्बीयन आक्ट भी करती है डिफरेंट पॉज़िटन मे. कुछ औरतें तो हमारे मसाज करने वाली लड़कियों की चूत भी चाट लेती है जिसकी वजह से हमारे पास यह ज़रूरी है के हर मसाज करने वाली लड़की अपनी चूत रेग्युलर शेव कर के एक दम से चिकनी और सिल्की सॉफ्ट रखे और जब भी यूरिन को जाए तो चूत को अच्छी तरह से पानी से धो डाले क्यॉंके कुछ औरतों को चूत मे से आती पिशाब की बू अछी नही लगती. 
लास्ट वीक ही मेरे पास जर्मनी से स्पेशल मसाज टेबल आए है जिन्है मैं इन्स्टलेशन मॅन्यूयल्ज़ को पढ़ पढ़ के इनस्टॉल कर रहा हू. इन्स्टलेशन के टाइम पे मैं ने ऊपेर सीलिंग पे 4 – 5 डिफरेंट आंगल से वीडियो कॅमरा फिट भी किए है ता के कभी ज़रूरत पड़ जाए तो उनको फिर से असेमबल किया जा सके. मैं ने एक छ्होटा सा माइक भी लगा रखा है. जब मैं इनस्टॉल करता जाता हू तब कॉमेंटरी भी देता जाता हू ता के आगे कभी ज़रूरत पड़े तो वो ऑडियो टेप काम आए. 
यह किओ नॉर्मल वाली रेक्टॅंग्युलर टेबल नही है.यह बोहोत ही सोफिस्टीकेटेड और स्पेशल टेबल्स है जिसके एक एक पार्ट अलग से सक्रूज़ और हिंजस से लगा हुआ है और उनको ट्विस्ट भी किया जा सकता है, जिनकी हाइट अड्जस्ट की जा सकती है, रोटेट किया जा सकता है और यह किसी रोबोट की तरह से इसके पार्ट्स अलगे अलग स्प्रेड किए जा 
सकते है. सिंगल आदमी के लिए है. बॅस पीठ जितना हिस्सा ही फिक्स्ड है उसके आगे जो आर्म्स है उनको ऐसे स्प्रेड किया जा सकता है जैसे कोई बेड पे लेट के अपने दोनो हाथ इंग्लीश के लेटर “ Y “ जैसा कर लेता है और ऐसे ही “ Y “ की शकल का नीचे लेग्स का सेक्षन भी हो जाता है. यह टेबल इतनी स्पेशल है के जब किसी को इस पे लिटाया जाता है तो टेबल का एक इंच का हिस्सा भी दिखाई नही देता. ऐसे के अगर कोई लड़की हेड की तरफ से मालिश कर रही हो तो जो लड़की या औरत टेबल पे लेटी है उसके दोनो हाथ “ Y “ की तरह से खुल जाते है और सिमिलर्ली टाँगें भी ऐसे ही खुल जाती है एक दम से जैसे “ स्प्रेड ईगल “ . जब टॅंगो की तरफ से मसाज करना हो तो मसाज करने वाली लड़की दोनो टाँगो के बीचे मे पूरी अंदर तक चली जाती है और मसाज टेबल पे लेटी हुई औरत की चूत तक पोहोच जाती है ता के पीठ का या सीने का मसाज आराम से किया जा सके. ऐसे सूरत मे अगर मसाज करने वाली लड़की थोड़ा सा आगे बढ़ जाती है तो शाएद टेबल पे लेटी और मसाज करने वाली लड़की की चूते आपस मे टकरा जाती है. इसी तरह से अगर वो हेड की तरफ़ से मालिश करने के लिए सामने आ जाए तो चूत और मूह एक दूसरे से लग जाते है. जब हाथ स्प्रेड हो जाते है तो किसी भी तरफ से मसाज आसानी से किया जा सकता है. हाथो वाले पोर्षन मे एल्बो के पास और टाँगो वाले पोर्षन मे नीस पे पास हिंजस लगे हुए है जिसकी वजह से हाथ और पैरो को लीवर्स के थ्रू मोड़ा भी जा सकता है. यह टेबल मे कुछ ऐसे लीवर्स भी लगे हुए है के उनके उपयोग से टेबल सामने से उठ भी जाती है या टाँगो की तरफ से उठाई जाती है तो सर वाला पोर्षन थोड़ा नीचे हो जाता है या वाइस वर्सा. हाथो और टाँगो के पोज़िशन्स और स्प्रेडिंग भी कंट्रोल की जा सकती है. हाथो वाली जगह पे, टाँगो वाली जगह पे और बीच मे कुछ ऐसे बेल्ट्स भी लगे हुए है जिन्है टाइट लगा देने से टेबल को कैसे भी आंगल मे टिल्ट किया जा सकता है और उसपे लेटी औरत नीचे नही गिरती. ऐसे के अगर कोई औरत उस टेबल पे लेटी हो और उसके हाथ, पैर और पेट पे अगर बेल्ट्स टाइट कर दिए जाए और टेबल के लीवर कंट्रोल्स से उनको सीधा खड़ा भी काइया जा सकता है और सर के बल भी किया जा सकता है. जितनी ज़रूरत हो उतना उठाया जा सकता है या टिल्ट किया जा सकता है. टेबल के चारो तरफ मसाज 
के लिए आयिल के या लोशन के बॉटल्स भी रखे जाने के लिए पाउचस बने हुए है. आइ होप के यह डिस्क्रिप्षन और टेबल का शेप और उसकी फेसिलिटी आप लोगो की समझ मे आ गई होगी. बॅस यूँ समझ ले के टेबल पे जब कोई लेट ता है तो किसी भी तरफ से टेबल दिखाई नही देती बॅस ऐसे लगता है जैसे कोई टेबल पे लेटा नही है बलके हवा मे सस्पेंडेड है. यह टेबल एस्पेशली जर्मनी से मँगवाई गई है. 
हा तो मैं उस टेबल को डिफरेंट अगले से फिट कर रहा था और ऊपेर लगे कमेरे से वीडियो भी बना रहा था और साथ मे टेबल के नीचे स्टील रोड से बोहोत ही छोटा सा लैकिन बोहोत ही पवरफुल मईक भी लगा हुआ था. जैसे जैसे मैं टेबल फिट कर रहा था साथ मे कॉमेंटरी भी दे रहा था कि हाउ आइ आम इनस्टलिंग दिस टेबल और यह वीडियो टेप दूसरी टेबल पे फिट करने के टाइम पे ईज़ी हो. ऊपेर से पवरफुल कॅमरा वीडियो बना रहा था और टेबल के नीचे छोटा सा पवरफुल माइक मेरी आवाज़े टेप कर रहा था. 
दोपहर हो चली थी. मेरा काम ऑलमोस्ट ख़तम हो गया था. यह एक टेबल फिट करने मे कम से कम 4 घंटे लग गये थे. सुबह 9 बजे से इन्स्टलेशन कर रहा था और अब तकरीबन 1 बज रहा था. हॉल मे सेंट्रल एर कंडीशनर तो नही था बलके 3 स्प्लिट यूनिट्स लगे हुए थे जिस की वजह से जिम और ब्यूटी पार्लर अछा ठंडा रहता था ख़ास तौर से गर्मीओ मे. यह भी गर्मिओ के ही दिन थे. मैं ने सिर्फ़ एक ही स्प्लिट यूनिट स्टार्ट किया था उस पोर्षन का जहा मैं टेबल फिट कर रहा था. अभी ऐसी और 6 टेबल फिट करना थी जिसको मैं ने सोचा के हर वीकेंड पे एक एक टेबल फिट करूँगा. मैं अपना काम ख़तम करके शवर लेने चला गया और बाथरूम से निकलते हुए एक हल्का सा टवल ही लपेट के बाहर आ गया और एक टाइम फिर से टेबल का इनस्पेक्षन करने लगा के ठीक से लगी है के नही. इतने मे मेरी नज़र बाहर पड़ी जहा से स्टेर्स ऊपेर आते है. मैं ने देखा के एक स्कूटी आ के रुकी जिस पे से 2 कम उमर लड़कियाँ उतरी. मेरे गुमान मे भी नही था के यह दोनो लड़कियाँ मेरे जिम मे आने वाली है. जैसे ही स्कूटी रुकी उस पर से जो लड़की पीछे बैठी 
थी वो उतरी और लंगदाने लगी. स्कूटी चलाने वाली लड़की ने उसको सहारा दिया और पार्लर के सीढ़ियाँ चढ़ने लगी. दूसरी वाली लड़की उचक उचक कर चल रही थी. वो दोनो मस्तिया भी कर रहे थे. एक दूसरे को चींटी काट रहे थे और चूतड़ो पे हल्के से मार भी रहे थे. मैं समझ गया के यह दोनो पक्के दोस्त होंगे जो ऐसे एक दूसरे के साथ मज़ाक कर रहे थे. मैं उनको देखने लगा और सोचने लगा के आख़िर यह है कौन और ऐसे कैसे बिंदास ऊपेर चढ़ के आ रही है जब के आज जिम बंद है. मैं ने हॉल के डोर को अंदर से बंद कर रखा था पर अंदर से जो लाइट जल रही थी वो बाहर से दिखाई दे रही थी. 2 मिनिट के अंदर ही बेल बजी तो पहले तो मैं ने यह सोचा के डोर खोलू या नही फिर सोचा के यह लड़की लंगड़ा के चल रही है मतलब के इसको कोई तकलीफ़ है इसी के चलते मैं ने डोर खोल दिया और वो दोनो लड़कियाँ पार्लर के अंदर आ गई. 
दोनो के हाथो मे कुछ कॉपीस और बुक्स थे जिसपे क्रिस्टल कॉलेज का ळेबेल लगा हुआ था. क्रिस्टल कॉलेज मेरे जिम के करीब ही था. यह एक को-एजुकेशन हाइ स्कूल और कॉलेज था. सुना था के यहा के लड़के लड़कियाँ बोहोत ही अड्वान्स और फॉर्वर्ड है. लगता था के यह दोनो लड़कियाँ क्रिस्टल कॉलेज के स्टूडेंट्स’ है पर पता नही चला के कोन्सि क्लास मे पढ़ती है. 
क्रमशः........ 


RE: Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - - 11-20-2017

ग्रेट गोल्डन जिम --2 

गतान्क से आगे.... 
मैं उन दोनो लड़कियों को देखता का देखता रह गया. ऐसा लग रहा था जैसे दोनो एक दूसरे से बढ़ कर खूबसूरत है. धूप की वजाह से दोनो के गाल लाल हो रहे थे जैसे कश्मीरी सेब (आपल). जो लड़की लंगड़ा के चल रही थी उसकी हाइट शाएद 5 फीट 3 या 4 इंच होगी, उसने वाइट कलर का स्लीव्ले बन्यान जैसा टॉप पहना था जिस्मै से उसकी गोल्फ बॉल के साइज़ की छोटे छोटे कड़क बूब्स दिखाई दे रही थी. उसने अंदर ब्रा नही पहनी थी लगता था के अभी उसकी ब्रा पहेन्ने की उमर नही आई थी या पहेनना नही चाहती थी और उसकी चुचीॉ के उभार टॉप से दिखाई दे रहे थे. दोपहर की धूप और पसीने के वजह से टॉप उसके गोल्फ बॉल्स जैसे बूब्स से चिपक गया थे और बूब्स की गोलाई सॉफ नज़र आ रही 
थी. डार्क ब्लू कलर का स्प्रेंड्रल शॉर्ट पहना था जो इतना टाइट था के उसकी चूत की दोनो पंखदिओं का उभार भी सॉफ दिखाई दे रहा था. उसके सर से ऑलमोस्ट डेढ़ फुट की पोनी टेल लटक रही थी जिसे किसी जाली वाले बॅंड से सर के ऊपेर बाँधा गया था. 
दूसरी लड़की ने जो स्कूटी चला रही थी उसने भी वाइट स्लीव्ले टॉप ही पहना था और शोल्डर पे डोरिओं के स्ट्रॅप्स जैसा था. उसके बूब्स भी ऑलमोस्ट पहली वाली लड़की जीतने थे पर इस लड़की को पसीना पीछे की तरफ से आया हुआ था जिसकी वजह से उसका टॉप पीछे से उसके बदन से चिपका हुआ था और. उसने भी ब्रस्सिएर नही पहनी थी. इसका टॉप लूस था इसी लिए शाएद उसके बूब्स का उभार उतना सॉफ दिखाई नही दे रहा था. इस ने जीन्स की छोटी चड्डी टाइप की शॉर्ट्स पहनी थी जिसके पाएंचे नीचे से काटे हुए थे जिन्है सिया नही गया था बलके उसके पाएंचे से नीले और सफेद थ्रेड्स नीचे लटक रहे थे. उसकी चड्डी जीन्स हाफ थाइस तक थी वो भी थोड़ी सी लूस ही थी. इस लड़की के बॉल खुले हुए थे और शोल्डर लेंग्थ के थे. 
दोनो की दोनो एक दम से क़ैयमत लग रही थी. इन दोनो का रंग बे इंतेहा गोरा था. यूँ समझ लो के दूध मे थोड़ी सी सॅफ्रन डाल दी गई हो और दोनो के लिप्स बोहोत ही सेनुयल थे और बिना लिपस्टिक लगाए ही लाल थे जी कर रहा था के इन्हे मूह मे ले के चूसना शुरू कर दू. तेज़ धूप के चलते दोनो के गाल लाल हो गये थे और फोर्हेड पे पसीने की बूँदें चमक रही थी. मुझे दोनो ट्विन सिस्टर्स लग रही थी. एक ही हाइट, एक ही बिल्ट और दोनो के बॉल भी लाइट ब्राउन कलर के थे. दोनो ने सन ग्लासस लगाए हुए थे इसी लिए फॉरन ही उनकी आइज़ का कलर दिखाई नही दे रहा था. मैं तो उनकी खूबसूरती देखता का देखता ही रह गया कुछ पूछ भी नही सका. इतने मे जो लड़की स्कूटी चला रही थी उसके मोबाइल की घंटी बजी. उसने फोन उठा लिया और हेलो मम्मी बोला. पता नही दूसरी तरफ से क्या पूछा उसने बोला के हा मम्मी, अरे वही तो रखी है मम्मी, क्या ?, नही मिल रहे है ? इतनी जल्दी है क्या मम्मी ? अछा मैं अभी आती हू 15 – 20 मिनिट के अंदर पहुचती हू. हा 
हा फिकर ना करो मुझे पता है के कहा रखी है, मैं आ रही हू. फिर उसने फोन काट दिया और आनी की गंद पे हाथ मारते हुए बोली के आनी मेरे को फॉरन जाना है मम्मी को कुछ बॅंक के पेपर्स देने है अभी. चल तेरा काम हो जाए तो फोन कर लेना मैं आ जाउन्गि तेरे को लेने के लिए. आनी ने बोला के ओके सोनी मैं फोन कर लूँगी तब आ जाना और फिर वो जल्दी से उसके गाल पे एक चुम्मा दे के दौड़ती हुई दरवाज़े से बाहर चली गई. मैं उसकी फुर्ती देख के हैरान हो गया. ऐसे छलाँग लगाई जैसे जंगल की हिरनी हो. 
अनिता राइ और सुनीता राइ कज़िन्स आंड बेस्ट फ्रेंड्स एक साथ बेड मे. 
अब हॉल मे सिर्फ़ मैं और आनी ही रह गये. मुझे तो उसका नाम भी नही मालूम बॅस इस लड़की को आनी कह के बुलाया गया था इसी लिए मैं ने समझा शाएद इसका नाम ही आनी होगा और दूसरी का सोनी. मैं तो बॅस खामोशी से दोनो को देखता ही रहा. आनी ने मुझे देख के चुटकी बजाई और बोली के हे मिसटर, तो मैं फॉरन अपने ख़यालों मे से वापस आ गया और बोला के येस वॉट कॅन आइ डू फॉर यू मिस… तो उसने बोला के आनी, अनिता राइ, मुझे घर वाले आनी कहते है. मैं 
राइ साहेब की एक्लोती बेटी हू. राइ साहेब का नाम शहेर मे कोन नही जानता था. बोहुत ही बड़े बिज़्नेसमॅन थे. उनका इम्पोर्ट एक्सपोर्ट का बिज़्नेस था, राइ इंडस्ट्रीस के मालिक थे, उनका अपना मेडिकल कॉलेज था और पता नही कितने चॅरिटीस उनके नाम से चलते थे. राइ साहेब बोहोत ही पैसे वाले थे. शहेर मे उनका बोहोत ही आलीशान बंगलो था और शहेर से बाहर उनके 3 या 4 बड़े बड़े फार्महाउस भी थे जहा उन्हो ने अरेबीयन हॉर्सस पाल रखे थे और स्विम्मिंग पूल्स, टेन्निस कोर्ट्स वाघहैरा थे. उनका प्रोफाइल मैं ने किसी मॅगज़ीन मे पढ़ा था. 
आनी की बात सुन के मेरा दिमाग़ एक दम से 3 महीने पहले फ्लॅशबॅक मे चला गया. हुआ यूँ था के एक दिन जिम की छुट्टी थी और ब्यूटी पार्लर कंप्लीट हो के पूरी फेसिलिटीस के साथ स्टार्ट हो चुका था. जिम और पार्लर मे मेरा एक छोटा सा ऑफीस है जहा मैं बैठ ता हू और मेरे कमरे मे कंप्यूटर रखा हुआ है और एक स्क्रीन पे जिम और ब्यूटी पार्लर के अंदर रखे हुए कॅमरास को मॉनिटर करता रहता हू. मैं अपने ऑफीस मे बैठा था कोई अडल्ट मॅगज़ीन देख रहा था के मेरे ऑफीस का डोर खुला, शाएद अभी मैन डोर बंद नही हुआ था. यह शाम का टाइम था और मैं यह सोच कर के अकेला घर जा के क्या करूँगा, वही ऑफीस मे बैठ गया और एक अडल्ट मॅगज़ीन अपने ड्रॉयर मे से निकाल के देखने लगा. मेरे ऑफीस का डोर खुलते ही मैं चौंक उठा. मेरा सामने एक बोहोत ही खूबसूरत औरत जिसकी उमर शाएद 35 – 36 साल की होगी, गोरा रंग, चेहरे पे फ्रामेलएशस ऐनक थी, लाइट क्रीम कलर की सिल्क सारी और उसी कलर का स्लीव्ले टाइट ब्लाउस पहने हुए थी जिसका बॉर्डर डार्क मरून कलर के फ्लवर्स का था बहुत ही खूबसूरत लग रहा था. उनके बॉल उनकी कमर तक झूल रहे थे. माथा बोहोत ही लाइट कलर की बिंदी से चमक रहा था. एक हाथ मे गोल्ड के बॅंगल और दूसरे हाथ मे गोलडेन रिस्ट . थी जिसके डाइयल मे डाइमंड सटडेड थे जो के किसी आकाश मे चमकने वाले स्टार्स की तरह से चमक रहे थे. मैं उनको देख के अडल्ट मॅगज़ीन भी बंद करना भूल गया और एक टक्क उनकी खूबसूरती को देखने लगा.


RE: Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - - 11-20-2017

मेरे हाथ से अडल्ट मॅगज़ीन छ्छूट के मेरे सामने की टेबल पे गिर पड़ा और सेंटर स्प्रेड खुल गया जहा एक बोहोत ही सुंदर लड़की को एक यंग लड़का अपने लंबे मोटे लंड से चोद रहा था. मुझे खबर भी नही हुई के मॅगज़ीन मेरे हाथ से गिर के टेबल पे खुला पड़ा है. यह मेडम बिना मेकप के ही इतनी शानदार लग रही थी के क्या बताउ मैं तो जैसे किसी दूसरी दुनिया मे खो गया था. पहले उन्हो ने वो अडल्ट मॅगज़ीन का पेज घूर से देखा फिर मुझे मुस्कुरा के देखा और अपना हाथ मेरी ओर बढ़ाते हुए बोली के हेलो मैं दीपा राइ हू, राइ बहादुर साहेब की पत्नी. मैं एक दम से हड़बड़ा के अपनी सीट से उठ खड़ा हुआ. पहले तो उनको देखते ही मैं इतना इंप्रेस हो गया था के कुछ बोलना ही भूल गया था और जब इंट्रोडक्षन मे उन्हो ने बोला के वो राइ साहेब की पत्नी है तो मेरे तो होश ही उड़ गये. 
राई साहेब का नाम सुना था बॅस देखा कभी नही था. उन्हो ने अपना हाथ मेरे तरफ बढ़ाए ही रखा जिसे मैं ने थोड़ी देर के बाद देखा और शर्मिंदा हो गया के मैं ने शेक हॅंड नही किया तो फॉरन ही मैं ने अपने हाथ थोड़ा सा बढ़ाया तो दीपा राइ ने मेरे हाथ को अपने हाथ मे ले के शेक हॅंड किया. मेरा बदन पसीने पसीने हो गया शाएद मैं कुछ ज़ियादा ही इंप्रेस हो गया था. मैं ने कहा प्लीज़ बी सीटेड आंड फील कंफर्टबल मेडम तो वो सामने वाली कुर्सी पे बैठ गई पर मैं अपने ख़यालो मे खड़ा ही रहा तो उन्हो ने मुस्कुराते हुए बोले के अरे आप भी तो बैठिए ना तो मैं फॉरन ही अपने आप मे वापस आ गया और अपनी चेर पर बैठ गया. उन्हो ने पूछा आंड यू ??? तो मैं ने बोला के आइ आम राज. यह ब्यूटी पार्लर और जिम मेरा ही है तो उन्हो ने कहा के हा आपका पार्लर तो बोहोत ही अछा लग रहा है, मैं ने कहा थॅंक्स मेडम. 
पता नही उन्हो ने कॉन्सा पर्फ्यूम लगा था इतनी फर्स्ट क्लास स्मेल थी के मैं क्या बताऊ, मैं तो जैसे खो गया वो स्मेल मे, सारा कमरा बलके सारा हॉल ही उनके पर्फ्यूम की खुश्बू से महेक उठा था. मुझे बड़े गौर से देखती रही फिर बोली के तुम्हारा बदन देख 
के लगता है के तुम भी वर्क आउट करते हो तो मैं ने हंस के कहा के जी मेडम ऐसे ही कर लेता हू बॅस शौक है क्या करू तो उन्हो ने कहा के हा यह बड़ी अछी बात है इस से सेहत बनी रहती है. उन्हो ने कहा के तुम्हारी बॉडी बोहोत ही अच्छी है और पवरफुल भी लगती है तो मैं हंस के खामोश हो गया. उन्हो ने कहा के मैं तुम्हारा पार्लर देखना चाहती हू तो मैं ने कहा वेलकम मेडम चलिए मैं आपको दिखाता हू. आज हमारे पार्लर को छुट्टी है इसी लिए कोई लड़की नही है मैं ही आपको दिखा देता हू. हम दोनो अपनी अपनी कुर्सिओ से उठ गये. वो मेरे साथ चलने लगी. मैं उनको अपने पार्लर के बारे मे बताने लगा, यह मॅनिक्यूवर और पेडिक्टीयर का सेक्षन है, यहा मेहन्दी के डिज़ाइन्स लगाए जाते है, एक रूम जो अलग से था मैं ने बताया के यहा ब्राइडल मेकप किया जाता है,और यहा इस्मै एक मीडियम साइज़ का शवर भी लगा है ता के फाइनल मेक अप से पहले शवर कर ले, और ब्राइडल मेकप के बीच मे किसी और को भी अंदर आने नही दिया जाता क्यॉंके एक ही कमरे मे सब कुछ होता है तो उन्हो ने पूछा के सब कुछ का क्या मतलब है तो मैं ने बोला के यहा ब्राइड्स की हेर कटिंग की जाती है और फिर हेर की सेट्टिंग की जाती है डिफरेंट स्टाइल मे, हमारे पास डिफरेंट टाइप के हेर स्टाइल्स के फोटोस है, जो भी ब्राइड पसंद करे उसको वैसे ही स्टाइल से स्ट्रीट किया जाता है. और यहा बॉडी मसाज किया जाता है, वॅक्सिंग की जाती है तो उन्हो ने पूछा के यह वॅक्सिंग क्या होती है तो मैं ने बोला के मेडम बॉडी के अनवॉंटेड हेर्स को वॅक्स की लेप के थ्रू निकाला जाता है जिसकी वजह से स्किन बोहोत ही सॉफ्ट हो जाती है तो वो धीरे से मुस्कुरा दी और मैं उनको देख के शर्मा गया. सोचा के शाएद इनको पता है फिर भी मुझ से पूछ रही है वॅक्सिंग के बारे मे. यहा से ब्राइड तय्यार हो के डाइरेक्ट फंक्षन हॉल जाती है. 
ऐसे ही डिफरेंट सेक्षन्स को देखते देखते उन्हो ने पूछा के आपके अड्वर्टाइज़्मेंट मे देखा के गोल्ड मेंबर्ज़ और सिल्वर मेंबर के बारे मे तो क्या आप कुछ बताएगे मेंबरशिप की क्या 
फेसिलिटीस है तो मैं ने उनको अपने डिफरेंट मेंबर्ज़ के बारे मे बताया तो उन्हो ने पूछा के यह स्पेशल मसाज क्या होता है और कहा होता है क्या यही जहा यह टेबल्स पड़े है यही होता है क्या तो मैं ने बोला के नही मेडम गोल्ड मेंबर्ज़ को यहा इस हॉल मे आने की ज़रूरत नही गोल्ड मेंबर्ज़ के लिए वो उधर अलग से पोर्षन है. उन्हो ने कहा के दिखाइए मैं देखना चाहती हू के क्या क्या फेसिलिटीस है तो मैं थोड़ा सा हेज़िटेट करने लगा तो उन्हो ने पूछा के क्या बात है क्या मुझे नही दिखाएँगे तो मैं ने कहा के ऐसी बात नही मेडम मैं सोच रहा था के आपको वो फेसिलिटी हमारी कोई लड़की एंप्लायी दिखाती तो अछा रहता तो उन्हो ने कहा के ऐसी क्या बात है जो आप नही दिखा सकते. मैं ने बोला के नही मेडम ऐसी बात नही पर वाहा जो समान और एक्विपमेंट्स रखे है वो मैं आपको दिखाऊ तो शाएद आपको शरम आए तो उन्हो ने कहा के उसकी आप फिकर ना करे मुझे आपके पास की हर हर चीज़ और हर हर एक्विपमेंट देखना है तो मैं ने कहा के ठीक है मेडम ऐज यू लाइक. चलिए उधर की ओर तो वो मेरे साथ चलने लगी. मैं उनको एक सीक्रेट डोर की तरफ ले के आ गया जहा नंबर लॉक लगा हुआ था और वही पर एक फिंगर सेन्सर लगा हुआ था. फिंगर सेनसेर मे तो मेरी उंगली का इंप्रेशन तो था ही, मैं ने लॉक पे नंबर डाला और सेन्सर मे अपनी फिंगर डाली तो डोर हल्की सी क्लिक की आवाज़ के साथ खुल गया. यहा के अरकोन्स मोस्ट्ली चलते ही रहते है क्यॉंके यहा ज़ियादा विंडोस नही है. अंदर आने के बाद मैं ने लाइट्स ऑन कर दी पर यह लाइट ब्लू कलर की लाइट्स थे और ज़ियादा रोशनी भी नही थी. उन्हो ने पूछा के अरे यह यहा पर तो ऑलमोस्ट अंधेरा ही है तो मैं ने बोला के आक्च्युयली मेडम यहा पे जो मेंबर्ज़ आती है वो मोस्ट्ली नेकेड ही घूमती है इसी लिए यहा धीमी पवर के लाइट्स है. उन्हो ने कहा के अछा ऐसा क्यों तो मैं ने बोला के मेडम यह तो अपना अपना शौक है यहा आकर हमारे मेंबर्ज़ एक दम से फ्री महसूस करते है और हा ऐसा भी नही के सारे के सारे मेंबर्ज़ नंगे ही घूमते है बलके अगर कोई नंगा नही होना चाहता तो कोई बात नही और नंगे मेंबर्ज़ इस बात को माइंड भी नही करते. उन्हो ने कहा के वाउ यह तो बिल्कुल कोई सीक्रेट प्लेस है तो मैं ने बोला के हा मेडम हम ने आप लोगो की सहूलियत के लिए ही 
इतना सीक्रेट रखा है क्यॉंके यह पोर्षन जो भी मेंबर यूज़ करता है वो नही चाहता के यहा जो है वो किसी और को पता चले.


RE: Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - - 11-20-2017

उन्हो ने कहा के आप तो मेरा शौक और बढ़ा रहे है. आइ आम क्यूरियस. मुझे सारी फेसिलिटीस के बारे मे डीटेल बताओ. मैं ने बोला के ठीक है मेडम. मैं उनको वो रूम मे ले के आ गया जहा बॉडी मसाज की स्पेशल टेबल्स पड़ी हुई थी और बैठने के लिए सोफा सेट था. दीवार मे लगी आल्मिराह से डिफरेंट टाइप्स और डिफरेंट कलर के परफ्यूम्ड आयिल्स और ड्रॉप्स रखे हुए थे जो आल्मिराह के ग्लास से दिखाई दे रहे थे. सामने लगे वॉल माउंटेड ल्क्ड टीवी था. इस पोर्षन मे भी अरकोंडीटिओन के स्प्लिट यूनिट्स लगे हुए थे जहा गर्मी का एहसास भी नही होता था. सोफे के सामने सेंटर टेबल पे बोहोत सारे मॅगज़ीन्स सलीके से रखे हुए थे उन्हो ने आउट ऑफ क्यूरीयासिटी एक मॅगज़ीन उठा लिया. वो मॅगज़ीन भी अडल्ट मॅगज़ीन था जिस्मै सिर्फ़ लेज़्बियन्स के फोटोस थे. वो देख के मॅगज़ीन के पन्ने पलटने लगी, मैं उनके चेहरे को देख रहा था जो एक दम से लाल हो गया था. पता नही शरम से हुआ था या पॅशन से. उन्हो ने दूसरा मॅगज़ीन उठा लिया वो भी अडल्ट मॅगज़ीन था जिस्मै लड़को और लड़कियो के चुदाई के फोटोस थे. मेडम उस मॅगज़ीन को बोहोत ही गौर से देख रही थी और लगता थे के हर एक फोटो को बोहोत ही गौर से देख रही है क्यॉंके एक एक पेज को काफ़ी देर तक देख रही थी. जितनी देर तक वो मॅगज़ीन देखती रही मैं उनके चेहरे के उतार चढ़ाव को देखता रहा. उनके बूब्स मस्ती मे ऊपेर नीचे हो रहे थे मेरा दिल कर रहा था के अभी उनके बूब्स को पकड़ के मसल डालु पर मैं ने अपने ऊपेर काबू रखा के बड़े घर की वाइफ है अगर कुछ ग़लत हो गया तो पता नही शामत ही ना आ जाए और पता नही किस मुसीबत का सामने करना पड़े इसी लिए खामोश रहा. 
मॅगज़ीन देखते देखते उनकी साँस बोहोत ही तेज़ चल रही थी. इतने मे उन्हो ने मॅगज़ीन का लास्ट पन्ना पलट दिया जहा एक लंबे और मोटे लंड से मलाई की मोटी पिचकारी निकल के लड़की की नंगी चिकनी चूत पे गिर रही थी. उन्हो ने उसको भी बहुत ही गौर से 
देखा और जैसे ही उन्हो ने मॅगज़ीन नीचे टेबल पे रखा तो मैं ने बोला के चलिए मेडम दूसरे कमरे मे चलते है तो शाएद वो अपने होश ओ हवास मे वापस आ गई और मुझे घूर के देखने लगी. उन्हो ने पूछा के यह मॅगज़ीन्स भी औरतें देखती है तो मैं ने बोला के हा मेडम. तो उन्हो ने पूछा के यह तो लेज़्बियन्स के मॅगज़ीन्स भी है तो मैं ने बोला के हा मेडम इस दुनिया मे ऐसी बोहोत सी औरतें है जिन्हा मर्दो से सुख नही मिलता और वो लेज़्बियन्स बन जाती है और उनको वो सुख जो मर्दो से नही मिलता वो औरतो से मिल जाता है और हमारी लड़कियाँ इस मे खास तौर पे ट्रेंड है. जो भी गोल्ड मेंबर लेज़्बियन्स है हमारी लड़कियाँ उनको वो सुख देती है. उनका मूह हैरत से खुल गया और पूछा के क्या आप सच कह रहे हो तो मैं ने बोला के हा मेडम मैं एक दम से सच कह रहा हू और अगर आप कभी ऐसे टाइम पे आए जब पार्लर खुला हो तो आप अपनी आँखो से भी देख सकती है तो उन्हो ने कहा के अछा देखूँगी कभी. 
मैं ने बोला के आइए मेडम आपको दूसरी फेसिलिटी दिखाता हू, और वो मेरे साथ उस रूम से बाहर निकल गई. मैं ने देखा के रूम से बाहर निकलते निकलते उन्हो ने अपनी सारी के ऊपेर से अपनी चूत को बोहोत ज़ोर से दबा दिया था. मैं समझ गया के शाएद मेडम की चूत गीली हो गई है या हो सकता है शाएद वो झाड़ गई हो. मैं उनको ले के दूसरे रूम मे आ गया यहा स्विम्मिंग पूल के किनारे जैसी पड़ी होती है वैसी रिलॅक्सिंग चेर्स थी जो पीछे की तरफ झुकी हुई थी और नीस के पास से थोड़ी सी उभरी हुई थी. 
क्रमशः........ 


RE: Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - - 11-20-2017

गतान्क से आगे.... 
उस कुर्सी पर बैठने से पीठ को और पैरो को बोहोत सुकून मिलता था. यह रिलॅक्सिंग रूम था जब मेंबर तक जाते है तो यहा आराम करते है तो उन्हो ने पूछा के अरे ऐसे मसाज से तो रिलॅक्सेशन ही होती है फिर कैसे तक जाती है तो मैं हंस पड़ा और बोला के आइए मैं आपको दिखता हू के वो कैसे और क्या कर के तक जाती है. 
हम दूसरे रूम मे आए. मैने बोला के यह भी एक स्पेशल रूम है जहा डिफरेंट टाइप के एक्विपमेंट्स रखे थे और इस वाले पोर्षन मे सेक्स के और चुदाई के बोहोत सारे एक्विपमेंट्स है और डिफरेंट टाइप्स के डिल्डोस है. 2 इंच के डिल्डो से ले के 10 इंच के डिल्डो तक इन डिफरेंट थिकनेस. थोड़े डिल्डोस तो अल्यूमिनियम के है जो बोहोत ही चिकने और स्लिपरी होते है. कुछ डिल्डोस हार्ड प्लास्टिक के है और कुछ सॉफ्ट रब्बररी प्लास्टिक के है. कुछ डिल्डोस मई तो वाइब्रटर्स भी लगे हुए है जो एलेक्ट्रिसिटी से चलते है या बॅटरी ऑपरेटेड है. मैं सब डिल्डोस के बारे मे डीटेल्स मे बताने लगा तो उनका मूह हैरत से खुलता चला गया और वो चुदाई के एक्विपमेंट को ऐसे देखने लगी जैसे उनको अपनी आँखो पे यकीन नही आ रहा हो. मैं ने उनको एक छोटा सा 2 इंच वाला पिस्टल की बुलेट जैसा डिल्डो दिखाया जिसके बेस मे से एक एलेक्ट्रिक की वाइयर निकली हुई थी, मैं ने बोला के इसको अंदर रख के प्लग ऑन करने से यह अंदर वाइब्रट करता है और औरत को बोहोत ही मज़ा आता है. मुझे लगा के अब यह मुझ से थोड़ा खुल के बात करना चाहती है. उन्हो ने पूछा के इतना छोटा सा कैसे मज़ा दे सकता है तो मैं ने कहा के मेडम मैं बाहर चला जाता हू अगर आप ट्राइ करना चाहे तो मुझे कोई प्राब्लम नही है तो उन्हो ने बोला के अभी नही सम अदर टाइम मई आउंगी और इसे उसे करके देखूँगी तो मैं खामोश हो गया. 
दूसरे रूम की ओर बढ़ते हुए मैं ने बोला के आइए मेडम यह दूसरा वाला भी बोहोत ही स्पेशल रूम है. वो भी मेरे साथ रूम के अंदर आ गई जहा कमरे मे 3 चुदाई के मशीन्स लगी हुई थी. यह एक साइकल टाइप की मशीन थी जिसपे लड़की सीधी या उल्टी लेट जाती जैसे ज़रूरत हो. और उस मशीन मे लीवर्स लगे हुए थे और उसके ऊपेर एक अल्यूमिनियम का लंबा रोड था जिसका एक एंड रोटरोर के साथ लगा हुआ था और दूसरे एंड पे एक हार्ड रब्बर का लंबा मोटा लंड लगा हुआ था और सच मे देखने मे एक मोटा लंड ही नज़र आता था. यह लंड चमक रहा था. उन्हो ने पूछा यह क्या है तो मैं ने बताया के यह मशीन है यहा मेंबर इस सीट पे लेट जाती है और अपनी आपको ऐसे अड्जस्ट करती है के और फिर लंड पे हाथ फेरते हुए बोला के ऐसे अड्जस्ट करने मे यह औरत के अंदर 
मेकॅनिकली अंदर बाहर होने लगता है और लड़की को जितनी अंदर तक लेना हो वो अपने आप ही अड्जस्ट कर लेती है और अगर इस से भी मोटा चाहिए तो इस आल्मिराह मे स्पेर डिल्डोस रखे है वो अपनी मर्ज़ी से जितना बड़ा और जितना मोटा होना है वो लगा लेती है. यह देखिए यहा इसके बेस मे चेंजबल थ्रेड्स बने हुए है. अगर किसी को छोटा या बड़ा लगाना हो तो यहा से घुमा के निकाल सकते है और अपनी मर्ज़ी का मोटा लगा सकते है. 
इसको पहले यहा से रोटेट करते हुए मॅन्यूयेली पोज़िशन अड्जस्ट की जाती है और जब पोज़िशन अड्जस्ट हो जाती है तो अपनी मर्ज़ी से जितनी ज़ोर से अंदर बाहर करवाना चाहते है हो जाता है. और यह जो दूसरी मशीन है इस मे डबल वाला लगा हुआ है कुछ औरतों को दोनो होल्स मे एक साथ चाहिए होता है तो यह देखिए एक सीधा है और दूसरा थोडा सा आंगल बनाए हुए है, एक सामने से जाता है और दूसरा पीछे से. इस पे लड़की उल्टा लेट ती है और डॉगी स्टाइल मे हो जाती है तो आंगल और पोज़िशन सही मिलती है. यह मशीन भी कंट्रोल्ड है जितनी तेज़ चलना चाहे चला सकते है. और यह देखिए यह जो पाइप मे निज़्ज़ल लगा हुआ है उस मे से पानी की धार बोहोत तेज़ी से निकलती है और यहा बेड पे लेट के औरत अपनी टाँगें खोल के उसकी धार को डाइरेक्ट अपने क्लाइटॉरिस पे लेती है और फिर उसको ऐसा मज़ा आता है के पूछो मत और तेज़ धार के कंटिन्यू क्लाइटॉरिस पे पड़ते वो झाड़ जाती है. वो हैरत से इन मशीन्स को देखने लगी जैसे उनको अपनी आँखो पे यकीन नही आ रहा था के दुनिया मई ऐसी औरतें भी है जो सेक्स की इतनी दीवानी है. 
एलेक्ट्रॉनिक सेक्स मशीन फॉर बिज़ी विमन 
मैं ने देखा के वो उस एक्विपमेंट के करीब चली गई और उसपे लगे लंड को अपने हाथो मे ले के प्यार से धीरे धीरे आगे पीछे कर के सहलाने लगी. शाएद वो यह भूल गई थी के मैं भी रूम मई हू. और फिर उस रब्बर के लंड को अपने हाथ मे पकड़ के उसका मूठ मारने लगी. मैं वाहा से थोड़ा सा हट गया ता के वो मज़े ले सके. वो अपने ख़यालो मे खोई रही और उनका हाथ उस ड्यूप्लिकेट लंड का मूठ मारता रहा. थोड़ी देर मे जब उनको एहसास हुआ के वो क्या कर रही है तो वो एक दम से चौंक गई और इधर उधर देखने लगी जैसे कोई उन्हे देख तो नही रहा. मैं जान बूझ के दूसरी ओर मूह करके ऐसा पोज़ दे रहा था जैसे किसी मशीन का कोई स्क्रू टाइट कर रहा हू. मैं तिरछी नज़रो से उनको देख भी रहा था और डेफनेट्ली वो लंड को मूठ मारते मारते अपनी चूत का भी मसाज कर रही थी. उनका मूह मेरी तरफ नही था लैकिन उनके हाथ के मूव्मेंट्स से पता चल गया के वो चूत की मसाज ही कर रही है. हा थोड़ी देर के बाद उन्हो ने इधर उधर देखा और मेरी तरफ चली आई. अब उनकी साँस बोहोत ही तेज़ चल रही थी उनके मूह से आवाज़ नही निकल रही थी.


RE: Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - - 11-20-2017

उन्हो ने लड़खड़ाती आवाज़ से पूछा के राज तुम भी मसाज करते हो तो मैं ने कहा के हा मेडम मैं भी ट्रेंड हू लैकिन यहा लॅडीस सेक्षन मे हमारी मसाज एक्सपर्ट लड़कियाँ ही मसाज करती है मैं तो बॅस स्पेशल सर्वीसज़ के लिए ही लड़कीो का मसाज करता हू तो उन्हो ने बोला के यह स्पेशल सर्वीसज़ क्या होती है तो मैं ने बोला के हमारे गोल्ड मेंबर्ज़ जब डिमॅंड करती है तो ही मैं उनका मसाज करता हू और वो भी जब दूसरे ऑर्डिनरी और सिल्वर मेंबर्ज़ जा चुके होते है सीक्रेसी की खातिर ऐसा करता हू तो उन्हो ने बोला के आइ नीड आ मसाज राज तो मैं ने बोला के अरे मेडम आज तो हमारी कोई भी लड़की नही है और अभी तो यहा कुछ काम चल रहा है इसी लिए पार्लर 3 दिन तक बंद है तो उन्हो ने कहा के आइ डॉन’ट नो आइ नीड आ मसाज नाउ आंड आ वेरी स्पेशल वन. 
मैं ने बोला के देखिए मेडम मैं मसाज कर तो दूँगा पर आपको पता होना चाहिए के यहा मसाज के टाइम पे जो कपड़ा डाला जाता है वो नही है. आपके कपड़े खराब हो जाएगे अगर आप ऐसे ही मसाज करवाएगी तो. और यहा मेरे और आपके सिवा और कोई भी नही है. उन्हो ने बोला के राज आइ डॉन’त केर के कोई है के नही बॅस मुझे अभी और इसी वक़्त स्पेशल मसाज चाहिए, आइ विल गिव यू वॉटेवर यू वॉंट तो मैं ने बोला के अरे मेडम पैसो की ऐसी कोई बात नही हमारे मेंबर्ज़ का सॅटिस्फॅक्षन ही हमारा मॉटो है तो उन्हो ने अपना पर्स खोला और चेक़ बुक निकाल के सामने टेबल पे रखी और पर्स से गोलडेन पेन निकाला और चेक़ साइन कर दिया और बोला के अमाउंट तुम लिख लेना मुझे गोल्ड मेंबरशिप चाहिए अभी और मेरी मेंबरशिप इसी टाइम से स्टार्ट हो जाएगी. मैं ने बोला के मेडम आप आज से ही हमारी गोल्ड कार्ड मेंबर है और आपकी सेवा करना हमारा धरम है. चलिए आइए आप जैसा कहेंगी मैं वैसा ही करूँगा. 
वो मेरे साथ मसाज वाले पोर्षन मे आ गई. मैं ने मेडम से बोला के मेडम यहा आप अपने कपड़े रख सकती है मैं ने इशारे से उनको एक रूम बताया. वाहा एक छोटा सा चेंजिंग रूम था, यहा मेंबर्ज़ अपने कपड़े उतार के हॅनंगरर्स मे टांग देते और 
नंगे ही आराम से घूमते है. मैं ने मेडम से बोला के आप यहा जा कर चेंज कर ले मेडम नही तो आपके कपड़े खराब हो जाएगे और हा जैसा के मैं बता चुका हू के यहा कोई चादर नही है तो उन्हो ने बोला के राज यहा इतनी धीमी पवर के बल्ब्स लगे है इस्मै कोई किसी को क्या देख सकता है. कोई बात नही यहा मेरे और तुम्हारे सिवा और कोई भी तो नही है ना चलो मैं अभी कपड़े उतार के आती हू. 
मैं ने बोला के मेडम आप वापस आ के इस टेबल पे लेट जाइए. ओह ओह ओह एक मिनिट रुकिये मेडम. मुझ एक जगह वाइट मलमल का कोई कपड़ा और एक छोटा सा टवल दिखाई दे रहा था. मैं ने बोला के मेडम आप यह ओढनी ओढ़ के लेट जाइए शाएद किसी पार्लर की लड़की की रह गई होगी, आप इटमेनान से उसे कर सकती है तो उन्हो ने बोला के अएरी पता नही किस बेचारी की होगी और अगर आयिल से खराब हो गई तो मुझे अछा नही लगेगा तो मैं ने बोला के आपकी मर्ज़ी मेडम. मैं ने बोला के मैं शवर रूम से टवल ले के आता हू मुझे भी तो चेंज करना है नही तो मेरे भी कपड़े खराब हो जाएगे. उन्हो ने पूछा के तुम क्या चेंज करोगे तो मैं ने बोला के मैं एक टवल लपेट लूँगा कुछ नही, अगर चेंज नही किया तो मेरे कपड़े शुवर्ली खराब हो जाएगे क्यॉंके हम बोहोत ही स्पेशल आयिल्स और लोशन्स इस्तेमाल करते है इसी लिए कपड़ो पे दाग धब्बे लगने का ख़तरा रहता है और अगर टवल पे कुछ लग भी गया तो मैं उसको चेंज कर लूँगा . यह टवल नॉर्मल ड्राइयिंग टवल जैसा नही था बलके पतले से कॉटन के कपड़े का था जैसा के डिशस और प्लेट्स पोंछने के लिए होता है. 
उन्हो ने बोला के ठीक है कोई बात नही तुम टवल लपेट लो. मैं ने बोला के मेडम आप जब भी रेडी हो जाए तो मुझे पुकार लेना तो उन्हो ने कहा ठीक है और वो बजाए अंदर चेंजिंग रूम मे जाने के वाहा खड़े खड़े ही अपनी सारी, ब्लाउस, पेटिकोट, ब्रा और पॅंटी निकल के करीब पड़े सोफे पे रख दिए और टेबल पे बिना 
कुछ बदन पे डाले एक दूं से नंगी उल्टी हो के पेट के बल लेट गई और मुझे अंदर आने को बोला. मैं जैसे ही अंदर आया उनके नंगे गोरे बदन और दूधिया चूतदो को देख के पागल हो गया, मेरा लंड एक झटके से खड़ा हो गया और टवल मे तंबू बन गया. आर यू रेडी मेडम तो उन्हो ने बोला के हा तुम स्टार्ट करो जल्दी से और आराम से करना मुझे घर जाने की कोई जल्दी नही है. मैं मसाज का भर पुवर मज़ा लेना चाहती हो तो मैं ने कहा ओके मेडम आइ आम शुवर के आप यहा से सॅटिस्फाइ हो कर ही जाएगी तो उन्हो ने भी उसी टोन मे कहा के हा बॅस तुम मुझे सॅटिस्फाइ करदो तो मेरे कान खड़े हो गये. मैं दिल मे सोचने लगा के मैं कोन्से सॅटिस्फॅक्षन की बात कर रहा था और यह मेडम कोन्से सॅटिस्फॅक्षन की बात कर रही है यह सोच कर ही मेरे लंड मे एक और झटका लगा और वो कुछ ज़ियादा ही तंन गया. 
मैं ने जो टवल लपेटा था वो कुछ छोटा सा था. उसको मैं ने फोल्ड कर के एक तरफ से टॉप लिया था और वो इतना टाइट भी नही हुआ था. मैं मेडम के साइड मे आ गया और वाहा रखी कपबोर्ड से स्पेशल मसाज का परफ्यूम्ड आयिल निकाला जिसका ढक्कन खोलने से ही कमरे मे खुश्बू फैल गई तो मेडम ने एक गहरा साँस लिया और बोली के राज यह तो बोहोत ही खुश्बू वाला आयिल है तो मैं ने बोला के येस्स मेडम यह जर्मनी से मँगवाया गया है अपने स्पेशल कस्टमर्स के लिए. आयिल ले के मैं ने उसको मेडम के दोनो शोल्डर्स से ले के चूतड़ तक “ टी “ की शकल मे आयिल टपकाया और बॉटल को बंद करके साइड मे रख दिया और फिर आयिल को दोनो शोल्डर्स पे स्प्रेड किया और फिर पीठ पे स्प्रेड किया. अड्जस्टबल टेबल था तो मैं ने टेबल की हाइट को ऐसे सेट किया के वो मेरे थाइस तक आ गयी. टेबल किसी स्कूल के बेंच जितना चौड़ा था. इतना के बस एक आदमी उसपे लेटे तो टेबल का बोहोत ही थोड़ा सा हिस्सा दिखाई देता था. ऐसी हाइट वाले टेबल पे और ऐसी पोज़िशन मे मसाज करने मे आसानी होती है. बहुत थोड़ा सा बेंड होना पड़ता है और इतना बेंड होने से मसाज भी करेक्ट प्रेशर से होता है.


RE: Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - - 11-20-2017

कॅल्क्युलेटेड प्रेशर से मसाज करने से बदन एक दम से हल्का महसूस होने लगता है. मसाज करवाने वाले को लगता है के वो हवा मे उड़ रहा है. 
मेडम के ऊपेर तेल डाल के जैसे ही स्प्रड करना शुरू किया मेडम का बदन थोड़ा टाइट हो गया तो मैं ने बोला के रिलॅक्स मेडम अपने बदन को ढीला छोड़ दीजिए तो वो बोली के नही बोहोत दिनो बाद किसी मर्द का हाथ लगा है मेरे बदन पे इसी लिए थोड़ा सा अकड़ गया था तो मैं ने पूछा के क्यों मेडम राई साहेब घर मे नही है क्या तो उन्हो ने एक गहरी साँस ली और बोली के वो कहा होते है उनको खुद ही खबर नही होती. एक दिन भी तो घर मे ठीक से रात गुज़ारे उन्है पता नही कितने साल होगये. वो आज यहा तो कल लंडन तो परसो उस, फ्रॅन्स फिरते ही रहते है उनके पास कहा टाइम है किसी के लिए भी. ओह फिर तो आप काफ़ी अकेला फील करती होगी आप को हमारी मेंबरशिप पसंद आएगी आप यहा डेली आ सकती है और अपना टाइम पास कर सकती है तो उन्हो ने बोला के हा अब मैं यहा डेली ही आया करूँगी. इसी तरह की बातें करते करते मैं मसाज कर रहा था. कभी साइड मे खड़े हो के करता तो कभी अपने पैर टेबल के दोनो तरफ डाल के पीठ पे मसाज करता. 
मेडम के गोरे गोरे गोल गोल चूतड़ देख के जी तो कर रहा था के यही तेल मेडम की गंद मे डाल के अपना लंड घुसेड डालु और गंद मार दू उनकी पर मुझे डर था के कही मामला बिगड़ ना जाए इसी लिए मैं ने कुछ नही किया, मैं कोई रिस्क नही लेना चाहता था. 
मैं टेबल के दोनो तरफ टाँगें रख के मेडम की पीठ का मसाज कर रहा था और अब शोल्डर्स का करना चाहता था. थोड़ी देर पीठ का मसाज करने के बाद मैं ने थोड़ा सा तेल उनके चूतदो पे डाला और उनके चूतदो को ऐसे मसाज किया या ऐसे मसल्ने लगा जैसे लॅडीस रोटी पकने से पहले आता गूंदते है. दोनो हाथो से मसल रहा था तो उनकी गंद का गुलाबी छेद दिखाई दे रहा था. इतना मस्त छेद था के क्या बताऊ दोस्तो जी कर रहा था के बॅस अब इस गंद को फाड़ ही डालु पर अपने ऊपेर काबू रखना 
पड़ा. थोड़ी देर उनकी गंद का मसाज करने के बाद मैने उनकी टाँगो पे भी थोड़ा सा आयिल डाला और दोनो टाँगो को अपने दोनो हाथो को एक दूसरे से मिला के हाथो को नमस्ते के स्टाइल मे बंद किया और ऐसे पकड़ के मसाज किया और उनकी पिंडली के गोश्त को अपने दोनो हाथ खड़े कर के ऐसे मारने लगा जैसे बुचर गोश्त का खीमा बना ने का लिए गोश्त के ऊपेर अपना चुरा मारता है. जब यह पोर्षन का मसाज हो गया तब मे उनके शोल्डर्स का मसाज करना चाहता था. 
मैं टेबल से घूम के मेडम के सामने की तरफ आ गया क्यॉंके मुझे यकीन था के अगर मैं उसी पोज़िशन से और वही खड़े खड़े उनके शोल्डर्स तक झुकता तो मेरा लंड शुवर्ली उनकी गंद से लग जाता इसी लिए मैं घूम कर उनके सामने आ गया. 
मेडम अपने दोनो हाथ फोल्ड कर के अपने दोनो हाथो पे अपनी चिन टीका के लेटी थी. मेडम की आँखें बंद थी तो मैं ने पूछा के मेडम कैसा फील कर रही है आप तो उन्हो ने अपनी आँखें खोली और बोली के राज क्या बताऊ तुम्हारे हाथो मे जादू है मुझे तो ऐसा लग रहा है जैसे मेरा बदन बिल्कुल लाइट हो गया है और मैं हवा मे उड़ रही हू. मैं अब उनके मूह के सामने खड़ा था और मेरा लंड ज़ोर से आकड़ा हुआ था. मेरी समझ मे नही आ रहा था के कैसी पोज़िशन लू क्यॉंके अगर मैं ठीक मेडम के मूह के सामने खड़ा होता तो मेरा लंड मेडम के फेस से टकरा जाता और साइड मे खड़ा होता तो शोल्डर्स पे वो प्रेशर डेवेलप नही होता जो मैं करना चाहता था. मैं इसी ख़यालो मे था के मेडम ने मेरे लंड पे हाथ धीमे से टच किया और बोला के राज यह तो बोहोत ही इनजस्टिस है राज तो मैं ने बोला के मेडम क्या बात है मैं कुछ समझा नही तो मेडम ने बोला के मैं तो नंगी लेटी हू और तुम यह टवल लपेटे हुए हो इतना कहते कहते उन्हो ने टवल का वो पोर्षन जो दूसरी तरफ से टोपा गया था उसको खीच के निकाल दिया तो टवल नीचे नही गिरा बलके मेरे लंड पे ऐसे अटक गया जैसे किसी खूते से टाँग दिया गया हो और आंटिसिपेशन मे लंड झटके खाने लगा. 

क्रमशः........ 


RE: Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - - 11-20-2017

गतान्क से आगे.... 
मैं अब उनके सामने एक दम से अपना लंबा मोटा आकड़ा हुआ लंड ले के उनके मूह के सामने खड़ा था. मेरे लंड को देखते ही उनके मूह से वाउ अरे बाप रे इतना लंबा और इतना मोटा !!! तुम्हारे पास तो ज़बरदस्त हथियार है एक दम से लोहे जैसा सख़्त, लड़कियाँ तो दीवानी होंगी इसकी तो मैं कुछ नही बोला. अब उन्हो ने अपने दोनो हाथो से मेरे चूतदो को पकड़ लिया और अपने करीब करते हुए बोला के करीब आ के मसाज करो ना उतनी दूर से कैसे करोगे. जैसे ही उन्हो ने मुझे थोड़ा सा अपनी तरफ खेचा, मैं एक कदम आगे आ गया और मेरा लंड उनके गाल ( चीक ) से लगने लगा. उन्हो ने मेरे लंड को पकड़ लिया और लंड को दबा के बोली के आहह यह तो बोहोत मज़बूत भी है एक दम से लोहे जैसा. इस से पहले के मैं कुछ और बोलता या उनके शोल्डर्स का मसाज स्टार्ट करता, मेडम ने मेरे लंड के सूपदे को चूम लिया. बॅस मेडम के नरम नरम हाथ और फिर सॉफ्ट लिप्स का स्पर्श पाते ही मेरे लंड से एक मोटा सा चमकता हुआ प्री कम का ड्रॉप निकल के सूपदे के सुराख पे चमकने लगा तो उन्हो ने लंड के डंडे को दबाया तो वो प्री कम का ड्रॉप सूपदे के सुराख से टपक के नीचे गिरने को था के मेडम ने वो ड्रॉप को अपनी जीब पे ले लिया और मज़े से चाट गई. मेरा आकड़ा हुआ लंड देख के मेडम इतनी उताओली हो गई के उन्हो ने एक ही मिनिट के गॅप से लंड को अपने मूह मे ले लिया और इतनी ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी जैसे मैं कही भागा जा रहा हू. 
मुझे यकीन नही आ रहा था के शहेर के करोड़ पति की वाइफ के मूह मे मेरा लंड है और वो इसे बड़े मज़े से चूस रही है. मेरा तो मस्ती के मारे बुरा हाल हो गया था. मैं शोल्डर पे मसाज करते करते उनके मूह को चोद रहा था. उनके दोनो हाथ मेरे बदन को अपने घेरे मे ले चुके थे और उन्हो ने मेरे चूतदो को पकड़ा हुआ था. मैं शोल्डर्स का मसाज कर रहा था और उनके मूह को चोद रहा था. मेरा लंड पहले तो उनके मूह मे थोड़ा सा टाइट गया फिर उन्हो ने अपना मूह कुछ और खोल लिया और लंड अब ईज़िली उनके थ्रोट तक जा रहा था. तकरीबन 20 या 25 मिनिट तक मैं उनके शोल्डर्स का मसाज करता रहा और उनके 
मूह को चोद्ता रहा. जब मेरा लंड उनके हलाक ( थ्रोट ) तक जाता तो मुझे बोहोत ही मज़ा आता. 
मुझे लगा के अब मैं झड़ने वाला हू तो मैं ने अपना लंड उनके मूह से बहेर खेच के निकाला तो उन्हो ने फिर से मुझे अपनी तरफ खेच लिया तो मैं ने उनको बोला के मेरा निकलने वाला है तो उन्हो ने इशारे से सिग्नल दिया के उनके मूह मे ही मलाई निकालु. बॅस फिर क्या था ग्रीन सिग्नल मिलते है मैं ने शोल्डर्स छोड़ उनके बघल मे हाथ डाल दिया और ज़ोर ज़ोर से उनके मूह को चोदने लगा. और फिर उनके हलक के अंदर तक लंड को घुसेड दिया और मेरे लंड से गरम गरम मलाई प्रेशर से निकल के डाइरेक्ट उनके हलक मे गिरने लगाई. वो मज़े से लंड चूस रही थी और मलाई खा रही थी. जब मेरे लंड से मलाई निकलनी बंद हो गई फिर भी उन्हो ने मेरे लंड को अपने मूह से बाहर नही निकाला बलके ऐसे ही चूस्ति रही और मेरा लंड बजाए सॉफ्ट होने के और टाइट होने लगा और देखते ही देखते मेरा लंड एक बार फिर से ऐसे अकड़ गया था जैसे पहले आकड़ा हुआ था. मेरे आकड़े हुए लंड को देख के बोली के राज यह तो कमाल का है देखो कैसे खड़ा है. मैं ने बोला के मेडम अब आप पीठ के बल लेट जाइए सामने से करता हू तो मेडम मुस्कुरा के बोली के सामने से क्या करोगे तो मैं एक सेकेंड के लिए शर्मा गया फिर बोला के अरे मेडम आप भी ना.. मैं और 
क्या करूँगा मसाज ही तो करूँगा ना तो उन्हो ने बोला के ठीक है और पलट के सीधा पीठ के बल लेट गई. 
ऐसे लेटने से उनके मस्त बूब और उनकी गुलाबी चिकनी उभरी हुई चूत दिखाई देने लगी. ऐसी मखमली चूत थी उनकी दोस्तो क्या बताऊ. कही भी एक बाल भी नही था लगता था जैसे बेबी चूत हो. चूत इतनी सॉफ्ट थी लगता था के उनकी चूत पे नॅचुरली कभी बॉल आए ही ना हो. उनके चूत के पंखाड़ियाँ लाल थी और थोड़ी सी मोटी थी और एक दूसरे से चिपकी हुई भी थी. लगता था के चूत की पंखदिओं को एक दूसरे 
चूत का पेडू भी थोड़ा सा उभरा हुआ था. 

ऑन दा होल, उनकी चूत बोहतो ही शानदार दिख रही थी. उनके बूब्स शाएद 34 या 36 के होंगे. एक दम से कड़क दूधिया कलर के जिस पे गुलाबी रंग की मीडियम साइज़ के निपल्स दिखाई दिए जो के फुल्ली एरेक्ट हो चुके थे. धीमी रोशनी मे उनका बदन चमक रहा था ऐसा लग रहा थे जैसे कोई आसमान से उतरी हुई अप्सरा मेरे सामने नंगी लेटी है. मैं और मेरा लंड दोनो पागल हो गये ऐसी सुंदरता को देख के. लंड ऐसी चिकनी मस्त चूत के दर्शन पाते ही जोश मे हिलने लगा तो मेडम मुस्कुरा के बोली के यह बोहोत बेचैन लगता है. उसको पूछो राज के उसको क्या चाहिए तो मैं कुछ बोला नही फिर मेडम ने खुध ही बोला के ठीक है शाएद भूका होगा बेचारा उसको बोलो के थोड़ा वेट करे उसको भी उसकी मन पसंद डिश मिल जाएगी और मुस्कुराने लगी. मैं टेबल के दोनो तरफ अपने पैर डाल के खड़ा हो गया. मेडम मेरे दोनो पैरो के बीचे अपने पैर सीधे कर के टेबल पे सीधा लेटी थी. मैं ने उनके पेट पे और थोड़ा सा आयिल उनके बूब्स के आस पास और नवल तक डाल के स्प्रेड कर दिया. और झुक के मसाज करने लगा. 
पेट पे तो बोहोत ही धीमा मसाज कर रहा था. थोड़ा और ऊपेर उनके बूब्स के चारो तरफ अपनी उंगलियाँ घुमा रहा था और मेरे हाथ के अंगूठे उनके सीने पे थे और बाकी के चार उंगलियाँ उनके बूब्स के दूसरे तरफ. मैं उनके बूब्स के साइड की मालिश कर रहा था. थोड़ी देर ऐसे ही करने के बाद मैने उनके बूब्स को अपने दोनो हाथो मे पकड़ लिया तो मेडम के मूह से एक बड़ी सी सिसकारी सस्स्स्स्स्सस्स निकल गई. उनके बूब्स काफ़ी कड़क थे और दबाने मे बोहोत ही मज़ा आ रहा था ऐसा लग रहा था जैसे किसी कुँवारी लड़की के बूब्स को दबा रहा हू. अब मैं बिंदास उनके बूब्स को मसल रहा था आयिल की वजह से उनके बूब्स भी चिकने हो गये थे. उनकी आँखें बंद थी और वो अपने बूब्स पे मेरे हाथ का मज़ा ले रही थी. मेरा लंड तो एक दम से आकड़ा हुआ था और ऐसी प्यारी चूत देख के जोश मे हिल रहा था. अब मैं थोड़ा सा पीछे हट गया और मेडम के दोनो टाँगो पे आयिल डाल के मसाज करने लगा. बहुत 
ही सॉफ्ट थी उनके टाँगें. मुझे लग रहा था जैसे मेरा हाथ किसी सिल्की सॉफ्ट कपड़े पे घूम रहा है. टाँगो पे बॉल का नाम ओ निशान भी नही था ऐसा लग रहा था जैसे अभी अभी वॅक्सिंग करवा के आई हो. 
अब मैं टेबल के नीचे की तरफ खड़ा हो गया और मेडम को थोड़ा सा सामने की ओर खेच लिया ऐसे के टेबल पे उनके पैर घुटनो से नीचे लटक रहे थे और गंद टेबल के किनारे पे आ गई थी. मैं उनके दोनो टाँगो के बीच खड़ा था. उनके थाइस और चूत के करीब तक आयिल को टपका दिया और उनकी रानो की मालिश करने लगा. दोनो हाथो से दोनो रानो की मालिश कर रहा था. उनके थाइस बोहोत ही सिडोल थे ऐसा लगता था जैसे उनके थाइस को किसी स्क्लप्चुरिस्ट ने बोहोत ही अछी तरह से तराशि हो.


RE: Desi Kahani ग्रेट गोल्डन जिम - - 11-20-2017

उनके पैरो पे और चूत के अतराफ् नीले रंग की वेन्स भी दिखाई दे रही थी. मैं उनकी दोनो टाँगो के बीच खड़ा दोनो रानो की मालिश दोनो हाथो से कर रहा था. ऊपेर नीचे करते करते उनकी चूत के साइड तक अपने थंब को ले गया तो उनकी गंद ऑटोमॅटिकली थोड़ी उठ गई, उनकी लटकी हुई टाँगें भी थोड़ी सी ऊपेर उठ गई और उनका बदन टाइट होगया. फिर मैं ने उनको थोड़ा सा और टेबल के एंड तक पुल किया. ऐसी पोज़िशन मे उनकी गंद एक दम से टेबल के किनारे पे आ गई थी और उनकी चूत कुछ और उठी हुई दिखाई दे रही थी. अब मैं डाइरेक्ट उनकी चूत के पंखदिओं का मसाज कर रहा था दोनो अंगूठो से नीचे से ऊपेर और दोनो अंगूठो से चूत के पंखदिओं को रगड़ रहा था. जैसे ही मेरा हाथ उनकी चूत के पंखदिओं से टकराया उनकी चूत के अंदर का समंदर बह के निकलना शुरू हो गया. उनकी आँखें बंद थी और वो अपनी चूत पे मेरे हाथो का मज़ा ले रही थी उसकी साँसें गहरी हो गई थी और एक ही मिनिट के अंदर उनका बदन ज़ोर से अकड़ गया और कमान की शकल का हो गया और वो सस्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स की आवाज़ें निकालते हुए झड़ने लगी और मैं कंटिन्यू उसी पोज़िशन मे चूत की मसाज करता रहा. 
अब मेरे लंड का बोहोत ही बुरा हाल हो गया था मेरा एरेक्षन पेनफुल हो गया था. मैं मेडम की चूत के लिप्स को ऊपेर से दबा के मसाज कर रहा था और चूत के लिप्स बोहोत ही रेड आंड चमकीले हो गये थे. मैने झुक के मेडम की चूत पे किस किया तो फॉरन ही मेडम का हाथ मेरे सर पे आ गया और मेरे सर को पकड़ के अपनी चूत मे घुसा लिया. अपनी लटकी हुई टाँगो को उठा के मेरे ऊपेर कैंची बना के मुझे अपनी ओर खेचने लगी. उनकी गंद टेबल से उठ गई थी. मैं मेडम की मस्त चूत का स्वाद ले रहा था. जीभ को गोल कर के उनकी चूत के सुराख मे अंदर बाहर करने लगा तो वो जैसे दीवानी हो गई और उनके मूह से गलियाँ निकलने लगी. चल साले चूस ज़ोर ज़ोर से चूस. कभी देखी है ऐसी चूत. चल चोद मेरी चूत को अपनी जीभ से. अबबे अछी तरह से चूस. और मैं ने उनकी चूत को अपने मूह मे भर लिया और अपने दांतो से पान जैसे चबा दिया तो उनकी गंद टेबल से एक फुट ऊपेर उठ गई और मेरे सर को पकड़ के अपनी चूत मे घुसेड के टाइट पकड़ लिया. मैं मेडम के मूह से गालियाँ सुन के हैरान रह गया. अब मैं ने भी सोचा के इस साली की चूत मार मार के डबल रोटी की तरह से सूजा दूँगा. 
मेडम की चूत से अमृत निकलने लगा और मैं सोचा के यह करोड़ पति चूत का अमृत है इसका एक ड्रॉप भी नीचे गिराना पाप होगा इसी लिए उनकी चूत का सारा अमृत पी गया. जैसे ही उनका झड़ना ख़तम हुआ वो गहरी गहरी साँसें लेती हुई टेबल पे लेट गई. उनकी गंद वापस टेबल पे आ गई. 
मेडम के झड़ने के बावजूद मैं ने उनकी चूत को चाटना नही छोड़ा और ऐसे ही चाटने लगा. एक ही मिनिट के अंदर उनको फिर से जोश आने लगा. अब वो फिर से गालियाँ देने लगी. उनके मूह से गलियाँ अछी भी लग रही थी सुनने मे मज़ा भी आ रहा था. उन्हो ने बोला के साले भेन्चोद यह लंबा मोटा लंड ले के क्या कर रहा है तुझे यह चिकनी चूत दिखाई नही देती क्या. क्या समझता है तू चल भेन के लोड्‍े चोद डाल इसको, मार मेरी चूत. चल जल्दी से अंदर डाल दे मेरी चूत मे आग लगी हुई है. अब मुझ से और सबर 
नही हो रहा था. मैं ने अपने लंड को जैसे ही उनकी चूत से सताया उनका हाथ मेरे लंड पे आ गया और उन्हो ने मेरे लंड के डंडे को पकड़ लिया और अपनी चूत मे रगड़ने लगी नीचे से ऊपेर और ऊपेर से नीचे. इसी बीच लंड का टोपा उनकी चूत के सुराख मे अटक जाता तो उनके मूह से सस्स्स्स्स्स्स्सस्स और आअहह की सिसकारी निकल जाती. उनकी चूत बोहोत ही गीली हो गई थी. मैं नीचे खड़ा हुआ उनके ऊपेर झुक गया. उनके बूब्स को पकड़ के मसल दिया और उनको किस करने लगा. उन्हो ने अपना मूह खोल दिया और मेरी जीभ को चूसने लगी. हम दोनो एक दूसरे से ऐसे लिपटे हुए थे जैसे बरसो पुराने आशिक़ है और आज ही एक दूसरे से लिपटने का मोका मिला है.


This forum uses MyBB addons.

Online porn video at mobile phone


Jab.ladke.ka.lig.ladki.ke.muh.me.jata.husaka.phototeacher sexy video tution saree and sutsalwarSex baba. Com chuto ka samandar 65bhabhi ubhri hue gand video xnxxtv.commohbola se chodai dono bahene sex storyDidi nai janbuja kai apni chuchi dikhayaibra bechnebala ke sathxxxसाथ सोके लड दियामोटे लँड से गाँड खुलवाई टीचर नेxxxxbf mami Hindi cartoon Savita bhabhiAmala Paul Nude Showing Huge Boobs And Big Round Ass Fake Page 10 Sex Babaanti ne maa se badla liya sex storyसकेसी स्तन ब्र साड़ी स्क्सी बायको हॉट फिगरhijadon ko jabardasti choda Kamre Meinहुमा कुरैशी कि नंगी वीडीयोगाड़ दिकाई चुत चुदाईमोहल्ले वाली चुदक्कड़ भाभी को पटाकर रात भर मजे किएJamuna Mein jaake Bhains ki chudai video sex videochut chusake jhari hindi storybholi bhali khoobsurat maa incent porn storyघर वाली लडकियो की नंगी सेकसी फोटो बताऔ चुदाई वालीलडके लडकियो के बोबा कयू दबाते हःbabsanush xxxxxx video hd लडकी की गाड धूद बढे चूद मोटी आयु 35kahaani kapde geele hone se maa nete nange soye rajaai meबहन की फुली गुदाज बूर का बीजbig xxx hinda sex video chudai chut fhadnaबुर मे कितना बार लंड हलाया जातावहन. भीइ. सैकसीmumiy ko petane me uncal ke madad ke baba net. sax storixxx sexy story Majbur maaMaa ki Fhati hue niker sex storybra pehnea se pehle ladki nangi kese rhti hea photo hindi mae दीदी में ब्लाउज खोलकर दूध पिलायाDesi52 sex page411Sabhi savth hiroen ke xxx Pesab karte samay ke videoDesi moti pusee video selfie nms www.nainital ke bhabhi bur chodati hai uska khanibaba na jan bachayi sex storypucchit land ghalun fadanedesi fast time sex aaa aaahhh sex aaa aaahhh mms hindh desi fast time belibas ghar mein saba ki chudaiआत्याचा रेप केला मराठी सेक्स कथाdidi miniskirt sexbabaBhabhi ko nahata va dakhaxxx videoMeri chut aur gaand ki seal todi kamaukata sex story aur photojyoti ne bhi sheena ki gand pe hath ghuma diyaminkshi sheshadri nude pphotos-sex.baba.rajsharma hindi sexy stories for sasra or bhuwww xhxx com video game हिंदी मे 2019राज सरमासेक्स कथाbabuji ko blouse petticoat me dikhai deविजयनी झवले पुरिलड तीती को फाड कर मोह घुस गयाxxx गाँव की लडकीयो का पहला xxx खुन टपकताअंतरवासना ट्रेन मेँ जगह कम होने के कारण बैठना पड़ा गोद मेँसुनील पेरमी का गानाXxxnxxboor me land pelo sexy bada fhoto mexxxmpTIRIdesi52 love fouckजिगरी दोस्त से करवाई बरी बहन की चूदाई भाग-2सेकशी फोटो जिसको जुदाई करते है उसको चौड मेchutchudaei histireseptikmontag.ru hindi मां बेटाmaa बेटी कि चुत मरवाति दोनो साथ stroydamdar chudai se behos hone ki kahaniyamusalim land Pragant sexy Kahani sexbaba netxxx cm .मालिकsayyeshaa saigal ki chot chodae ki photokajal agarwal nude sex images 2019 sexbaba.net