XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
10-05-2018, 11:48 AM,
#71
RE: XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
रोमा भी उसका साथ देने लगी.. कुछ देर ये सिलसिला चलता रहा। इस दौरान नीरज ने रोमा की चूत को भी खूब रगड़ा.. जिससे वो गर्म हो गई।
रोमा भी नीरज के लौड़े को मसलने लगी थी। अब आग दोनों तरफ़ बराबर लग चुकी थी। अब नीरज पीछे हटा..
रोमा- आह्ह.. क्या हुआ जानू.. आओ ना.. मज़ा आ रहा था.. अब ये दूरी बर्दाश्त नहीं होती.. आओ चलो.. हम प्यार की दुनिया में खो जाएं।
नीरज को पता था कि अब लोहा गर्म है और सही वक्त आ गया हथौड़ा मारने का.. तो बस..
नीरज- नहीं जान.. तुम जाओ.. तुम्हें शुरू से लेकर आज तक हर बार मुझ पर शक है.. हर बार मुझे सफ़ाई देनी पड़ती है.. एक छोटी सी बात के लिए तुमने मना कर दिया.. क्या यही है.. हमारी सच्ची मोहब्बत.. क्या इसी लिए हम दोनों जन्मों-जन्मों की बात करते हैं?
रोमा- नहीं नहीं जानू.. ऐसी बात नहीं है.. ये रोमा आपकी ही है.. मुझे आपके ऊपर खुद से ज़्यादा भरोसा है.. बना लो वीडियो.. मैं तैयार हूँ.. जब ये चूत ही आपको दे दी.. तो वीडियो के लिए आपको क्या मना करूँ.. आह्ह.. लेकिन जल्दी मुझे अब बस आपका लौड़ा चूसना है।
नीरज- अरे अभी लो जान.. बस तुम अदा के साथ धीरे-धीरे नंगी हो जाओ.. जिसे मैं कैमरे में कैद कर लूँ.. उसके बाद आराम से लौड़ा चूस लेना।
रोमा किसी नागिन की तरह बल खाती हुई अपने कपड़े निकालने लगी.. जिसे नीरज रिकॉर्ड करने लगा।
पहले शर्ट.. फिर स्कर्ट.. अब रोमा गुलाबी ब्रा-पैन्टी में खड़ी.. अपने हाथ से चूचे दबा कर शॉट दे रही थी।
नीरज- वेरी गुड.. अब इनको भी निकाल दो और कुछ कहो।
रोमा ने ब्रा के हुक खोले और उसे निकाल कर नीरज की तरफ़ फेंक दिया।
अब वो पैन्टी को धीरे-धीरे नीचे सरकाने लगी.. जिससे उसकी मादक चूत आज़ाद हो गई और नीरज सब रिकॉर्ड करता रहा।
रोमा- आह्ह.. मेरे जानू.. वहाँ खड़े क्या कर रहे हो.. आह्ह.. आओ ना.. मेरे पास आओ.. देखो मेरी चूत कैसे तरस रही है.. तुम्हारे लौड़े के लिए.. आह्ह.. आ जाओ न.. मेरे राजकुमार.. इससस्स.. तुम्हारी ये दासी आह्ह.. लंड को तरस रही है।
नीरज- बहुत अच्छे मेरी जान.. ऐसी बिजलियाँ गिराती रहो.. ताकि जब मैं अकेला रहूँ.. तो इसे देख कर मेरा पानी अपने आप निकल जाए।
रोमा- अब बस भी करो.. बहुत हो गया.. प्लीज़ मुझे मत तड़पाओ.. आ जाओ ना.. या मैं आकर तुम्हें नंगा करूँ।
नीरज ने जल्दी से फ़ोन रखा और अपने कपड़े निकाल दिए।
रोमा के जलवे देख कर नीरज का लौड़ा तना हुआ था। जब उसने लंड को आज़ाद किया.. वो रोमा को सलामी देने लगा। रोमा तो लंड देखते ही बेताब हो गई और झट से अपने घुटनों पर बैठ कर लंड को चूसने लगी।
-  - 
Reply
10-05-2018, 11:48 AM,
#72
RE: XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
नीरज ने जल्दी से फ़ोन दोबारा उठा लिया और उस सीन को रिकॉर्ड करने लग गया, रोमा अपनी धुन में लगी रही।
नीरज- आह्ह.. चूस मेरी जान.. आह्ह.. ले पूरा मुँह में ले.. आह्ह.. तू साली बहुत कमाल का चूसती है।
कुछ देर तक रोमा लंड को चूस कर मज़ा लेती रही.. उसके बाद उसकी चूत की गर्मी बढ़ गई.. तो वो घोड़ी बन गई और उसने नीरज से कहा- जल्दी से घुसा दो लौड़ा.. अब बर्दाश्त नहीं होता..
नीरज ने जल्दी से फ़ोन सैट किया और रोमा की ताबड़तोड़ चुदाई में लग गया।
रोमा- आह्ह.. आह्ह.. चोदो मेरे जानू.. आह्ह.. मज़ा आ रहा है.. अफ सस्स एयेए..
नीरज स्पीड से रोमा को चोद रहा था और उसकी गाण्ड पर हाथ घुमा रहा था।
नीरज- आह्ह.. ले जान.. उफ़फ्फ़ तेरी गाण्ड भी बहुत मस्त है.. आह्ह.. आज इसका भी मुहूरत कर ही देता हूँ.. आह्ह.. आह्ह..
रोमा- वो बाद की बात है.. आह्ह.. फास्ट.. फास्ट.. अफ चोदो आह..
करीब 20 मिनट तक नीरज रोमा को पेलता रहा.. उसके बाद दोनों ठंडे पड़ गए और आराम से लेट गए।
दोस्तो, 20 मिनट का यह खेल कैमरे में कैद हो गया या यूँ कहो कि रोमा की जिंदगी कैद हो गई। अब यह वीडियो क्या खेल दिखाएगा.. ये तो वक़्त आने पर पता लग ही जाएगा।
नीरज और रोमा ठंडे पड़े हुए बस एक-दूसरे को देख रहे थे.. पता नहीं क्या सोच कर रोमा हँसने लगी।
नीरज- अरे क्या हुआ मेरी जान.. तुम क्यों हंस रही हो?
रोमा- कुछ नहीं अपने लौड़े को देखो.. कैसे मुरझा कर दोनों पैरों में घुसा हुआ है जैसे मुझसे डर रहा हो।
नीरज- अच्छा इसलिए हँसी आ रही है.. ये डर नहीं रहा.. बस जरा नाराज़ है तुमसे.. समझी..
रोमा- अरे नाराज़ क्यों होगा भला.. अभी तो इसने चूत का मज़ा लिया है।
नीरज- नहीं.. ये कह रहा है.. इतने दिन से बस चूत का मज़ा दे रही है.. अपनी मखमली गाण्ड में क्यों नहीं घुसवाती मुझे..
रोमा- नहीं नीरज प्लीज़.. तुम्हें मेरे प्यार की कसम है.. तुम गाण्ड का नाम भी मत लेना..
नीरज- अरे तुमने इतनी सी बात के लिए कसम दे दी जान..
रोमा- यह इतनी सी बात नहीं है.. प्यार में मैंने अपनी चूत तुमको दे दी.. अब जब हम शादी करेंगे.. तो सुहागरात में क्या नया होगा.. कुछ भी तो नहीं ना.. बस ऐसे ही चुदाई और क्या?
नीरज- मैं कुछ समझा नहीं.. गाण्ड का सुहागरात से क्या सम्बन्ध?
रोमा- है मेरे जानू.. ज़रा सोचो.. अगर उस रात तुम मेरी चूत के बजाय गाण्ड मारोगे.. तो तुमको कितना मज़ा आएगा और मुझे दर्द होगा तभी तो लगेगा ना.. हमारी सुहागरात बनी है.. समझे तुम?

नीरज- चल ठीक है.. तुमने कसम दी तो मैं मान लेता हूँ.. मगर एक और बात है जो तुम्हें आज ही करनी होगी..
रोमा- गाण्ड नहीं मरवाऊँगी.. इसके अलावा जो कहोगे कर लूँगी.. बोलो..
अरे बस बस बस.. ब्रेक लगाओ यार.. वहाँ मेन हेरोइन गुस्से में लाल है.. और आप लोग यहाँ बैठे हो.. चलो अब यहाँ से यार.. कुछ तो रहस्य बाकी रहने दो.. कि नीरज क्या कहेगा.. तो चलो वहाँ का हाल देख लेते हैं।
राधे ज़बरदस्ती मीरा को कमरे में ले गया और बिस्तर पर बैठा दिया।
मीरा- राधे क्या है ये.. छोड़ो मेरा हाथ.. यहाँ क्यों लाए मुझे?
राधे- मेरी जान.. गुस्से को काबू करो.. ऐसा क्या हो गया.. जो तुम आग बबूला हो रही हो?
मीरा- उस ममता ने क्या किया.. तुम नहीं जानते.. क्या ऐसे कैसे अन्दर आ गई.. और मेरे सामने तुम्हारा लौड़ा चूस रही थी.. छी: उसको ज़रा भी शर्म नहीं आई?
राधे- अरे इतना भी कोई पहाड़ नहीं टूट गया.. तूने ही तो उसको मुझसे चुदवाया है.. अब उसने लौड़ा चूस लिया तो क्या हो गया.. समझो..
मीरा- हाँ.. मैंने उसकी भलाई के लिए ऐसा किया.. मगर उसको सोचना चाहिए कि हम पति-पत्नी हैं.. शादी नहीं हुई तो क्या हुआ.. दिल से मैंने आपको पति मान लिया है और दुनिया की कोई भी औरत अपने सामने अपने पति को किसी और के साथ नहीं देख सकती।
राधे- अरे बाप रे.. तू तो आज डेंजर जोन में चली गई.. अच्छा ठीक है उसको प्यार से समझा देंगे.. देख मेरी जान.. पापा को कुछ ना पता लगे इसलिए ममता को खुश रखना होगा.. कहीं जल्दबाज़ी में लिया फैसला हमारे लिए गलत हो सकता है.. तुम समझ गई ना.. अब चलो मूड ठीक करो.. वो बेचारी खुद बहुत ज़्यादा डरी हुई है।
मीरा- हाँ तुमने ठीक कहा… पता नहीं मुझे इतना गुस्सा क्यों आ गया.. चलो अब नास्ता करते हैं.. बहुत भूख लगी है.. वैसे भी रात को तुम जल्दी सो गए थे क्या?
राधे- मैं नहीं जानेमन.. तुम सो गई थीं.. मेरा लौड़ा तो ‘टन.. टन..’ करता रह गया। एक बार मैं इसकी भूख कहाँ मिटने वाली थी.. तू तो सो गई.. मरता क्या ना करता.. मैं भी सो गया..
मीरा- अले.. अले.. मेले भोले आशिक को तकलीफ़ हुई होगी..
राधे- बस बस.. अब मेरा मूड बिगड़ जाएगा.. तुम तो ममता को गुस्सा करोगी नहीं.. मैं तुम पर चढ़ जाऊँगा..
मीरा- तो चढ़ जाओ ना मेरे आशिक.. रोका किसने है?
राधे- सुबह-सुबह मस्ती में आ गई क्या.. अभी तो तुम गुस्से में लाल हो रही थीं।
मीरा- अरे सॉरी मेरे आशिक.. रात को ज़्यादा पी गई.. होश ही नहीं रहा मगर तुम तो होश में थे ना.. मैं सो गई तो क्या था.. लौड़ा घुसा देते मेरी चूत में.. मैं उठ जाती..
-  - 
Reply
10-05-2018, 11:48 AM,
#73
RE: XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
राधे- नहीं मीरा.. मैंने पहले भी कहा था मैं तुमसे सच्चा प्यार करता हूँ। ऐसी हरकत वो करते हैं जिनको सिर्फ़ जिस्म की भूख होती है.. उनका प्यार एक हवस होता है.. मैं तुम्हारे जिस्म से नहीं.. तुमसे प्यार करता हूँ।
राधे की बात सुनकर मीरा बहुत खुश हो गई और ‘आई लव यू राधे’ कह कर उसके लिपट गई।
अब दोनों साथ-साथ बाहर गए और ममता को देख कर हँसने लगे क्योंकि बेचारी वो बहुत डरी हुई थी। मीरा ने उसे प्यार से समझा दिया कि उसके स्कूल जाने के बाद जो चाहो करो.. मगर उसके सामने ऐसी हरकत दोबारा मत करना।
तो बस सब ठीक हो गया।
मीरा ने नाश्ता किया और स्कूल चली गई। इधर राधे तो रात का भूखा था.. वो कहाँ ममता को छोड़ने वाला था। बस मौका मिला नहीं.. कि ममता को ले गया कमरे में.. और शुरू हो गया चुदाई में..
दोस्तो, अब यहाँ की चुदाई होने दो.. रोज-रोज नहीं लिखूँगी.. वहाँ कुछ नया होगा तो वो देख लेना।
रोमा बस टकटकी लगाए नीरज को देख रही थी कि अब क्या बोलेगा..
नीरज- अरे क्या हुआ मेरी जान.. ऐसे क्या देख रही हो.. कोई बहुत बड़ा काम नहीं है.. बस आज मेरे लौड़े को चूस कर ठंडा कर दो.. तो मज़ा आ जाएगा।
रोमा- ओह्ह.. बस इतनी सी बात.. मैं डर गई थी.. क्या पता क्या कहोगे..
नीरज- तुम समझी नहीं जान.. लौड़े को मुँह में ठंडा करना है.. इसका रस पीना होगा.. अब ‘ना’ मत कहना..
इतने दिनों से रोमा लौड़े को चूस कर आदी हो गई थी.. थोड़ा-थोड़ा रस जो आता है.. उसको चाट भी चुकी थी.. तो अब उसको पूरा रस पीने में घिन नहीं आएगी.. यही सोच कर नीरज ने सब कहा।
रोमा- अरे ये क्या बात हुई.. चूस कर निकाल दूँगी ना.. लेकिन पीना होगा ये नहीं.. प्लीज़…
नीरज- अरे यार.. अब बस भी करो.. हर बार ना-ना.. कभी तो एक बार में मान लिया करो.. और वैसे भी कई बार लौड़े की चुसाई के वक्त थोड़ा रस तो गटक ही चुकी हो.. समझी..
रोमा- अच्छा मेरे जानू.. माफ़ करो.. लाओ आज इस निगोडे लंड को मुँह में ठंडा करती हूँ।
नीरज तो यही चाहता था.. तो बस वो बिस्तर पर पैर लटका कर बैठ गया और रोमा सोए हुए लौड़े को मुँह में लेकर जगाने लगी।
नीरज- गुड माय स्वीट जान.. ऐसे ही चूसती रहो.. आह्ह.. खड़ा हो रहा है मेरा राजा बाबू.. आह्ह.. चूस..
रोमा अब लौड़ा चुसाई में एक्सपर्ट हो गई थी। वो बड़े प्यार से पूरे लंड को जड़ तक मुँह में लेती और होंठ भींच कर पूरा बाहर निकालती.. जिससे नीरज स्वर्ग की सैर करने लगा था और उसकी आँखे बन्द थीं।
नीरज- आह्ह.. ऐइ उफ़फ्फ़.. चूस मेरी जान.. बहुत मज़ा आ रहा है.. आह्ह.. तू बहुत आह्ह.. अच्छा चूस रही है.. तेरी चूत से ज़्यादा मज़ा मुँह चोदने में आह्ह.. रहा है.. आह्ह.. चूस..
दस मिनट तक रोमा लौड़े को आम की तरह चूसती रही और अब आम चूसेगी तो उसमें से रस भी निकलेगा ना.. बस नीरज के आम से आमरस.. नहीं.. नहीं.. कामरस निकल कर सीधा रोमा के गले में गिरा.. जिसे बाहर निकालने का मौका भी नहीं मिला बेचारी को.. क्योंकि नीरज ने उसका सर पकड़ लिया था और ज़ोर-ज़ोर से दो-तीन झटके मुँह में मार कर वो झड़ने लगा।
नीरज- आह.. आह.. बस आह.. निकल गया जान.. आह्ह.. अब बस पूरा लंड चाट कर साफ कर दे.. आह्ह.. मज़ा आ जाएगा मुझे आह्ह.. उफ़फ्फ़..
रोमा को कामरस का टेस्ट थोड़ा अजीब लगा.. मगर इतना बुरा भी नहीं लगा। वो पूरा गटक गई और जीभ से लौड़े को चाट-चाट कर साफ कर दिया।

उस वक्त नीरज के चेहरे की ख़ुशी देखने लायक थी.. और रोमा तो अंधविश्वास.. अरे नहीं.. नहीं.. लंड विश्वास में अंधी हो गई थी। उसको तो सब सावन के अंधे की तरह हरा-भरा नज़र आ रहा था। मगर नीरज जैसा हरामी उसको सच्चा प्यार करेगा.. ये वो नहीं जानती थी.. हाँ हो सकता है कि नीरज का दिल बदल जाए.. मगर ऐसा होगा या नहीं.. ये बात बाद में पता लग जाएगी। आज आप इसके बारे में सोच कर मज़ा खराब मत करो।
नीरज ने रोमा को पकड़ा और उसको गले से लगा लिया- ओह्ह.. माय स्वीट जान.. तुमने आज मुझे खुश कर दिया।
रोमा- हाँ जानू.. मुझे भी बहुत मज़ा आया आज..
नीरज- अच्छा रोमा.. तुम्हारी मॉम आज आएगी नहीं.. तो तुम अकेली घर में कैसे रहोगी?
रोमा- मॉम ने कहा है.. या तो मैं टीना के घर चली जाऊँ या उसको अपने घर बुला लूँ.. मगर मैं ऐसा कुछ नहीं करूँगी..
-  - 
Reply
10-05-2018, 11:48 AM,
#74
RE: XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
टीना का नाम सुनते ही नीरज की आँखों में चमक आ गई.. उसके दिल से आवाज़ आई कि एक और कुँवारी चूत का बंदोबस्त हो सकता है।
नीरज- तो तुम क्या करोगी?
रोमा- अरे मेरे जानू.. आज पूरा दिन और पूरी रात मैं तुम्हारे साथ रहूँगी.. खुल कर मज़ा करेंगे.. कोई टेन्शन नहीं है।
नीरज- नहीं नहीं.. तुम घर नहीं जाओगी तो पड़ोस वाले तुम्हारी माँ को बोल देंगे।
रोमा- अरे मैं उनसे कह दूँगी.. मैं टीना के घर थी।
नीरज- अरे मेरी भोली रोमा.. ऐसा कहोगी तो तुम्हारी मॉम टीना के घर जाएगी उसकी माँ का शुक्रिया अदा करने.. कि तुमको रात वहाँ रखा।
रोमा- अरे हाँ.. ये तो मैंने सोचा ही नहीं… हाँ, माँ जरूर वहाँ जाएगी।
नीरज- देख शाम तक तू मेरे साथ मज़े कर.. उसके बाद टीना को अपने घर लेकर जा.. रात को मैं चुपके से तुम्हारे घर आ जाऊँगा। उसके बाद वहीं मज़ा करेंगे ना..
रोमा- आप पागल हो गए हो क्या.. टीना को कहाँ कुछ पता है और उसके सामने कैसे होगा?
नीरज- तू बहुत भोली है.. उसको पता नहीं चलेगा.. उसके सो जाने के बाद मैं आऊँगा।
रोमा- नहीं नहीं.. वो उठ गई तो.. ना बाबा.. मैं ऐसा रिस्क नहीं ले सकती..
नीरज- अच्छा सुन.. मेरे पास नींद की दवा है.. तू उसको सोने के पहले किसी तरह वो दवा दे देना.. उसके बाद सुबह तक वो आराम से सोती रहेगी और हम पति-पत्नी की तरह पूरी रात मज़ा करेंगे।
रोमा- मगर ये सब ठीक नहीं होगा नीरज तुम..
नीरज- अरे अगर-मगर को मारो गोली.. ये सबसे बेस्ट आइडिया है.. मुझे तुम्हारे घर से ज़्यादा सेफ जगह नहीं दिख रही।
रोमा- नहीं अभी बहुत वक्त है.. रात होने में.. और शाम तक हम बहुत बार चुदाई कर सकते हैं उसके बाद तो थक जाएँगे ना.. फिर रात को कहाँ मूड बनेगा।
नीरज को लगा रोमा सही कह रही है मगर उसकी नज़र तो टीना पर थी और वो हरामी नंबर वन था। झट से उसके शैतानी दिमाग़ में आइडिया आ गया।
नीरज- अरे मेरी जान.. अगर शाम तक मैं तुम्हें चोद सकता तो कभी नहीं कहता ये बात, मुझे बहुत जरूरी काम से अभी जाना होगा.. अब एक बार तो चुदाई की हमने.. कहाँ मज़ा आया.. रात को पूरा मज़ा लेंगे ना..
रोमा- लेकिन कुछ देर पहले तो तुमने कहा था कि शाम तक मज़ा करेंगे?
नीरज- अरे मैं भूल गया था.. मेरे अंकल आने वाले हैं.. नहीं तो तुमको रात यहाँ ना रोक लेता.. अब तू सोच मत.. बस ‘हाँ’ कह दे..
रोमा बेचारी कहाँ उसके नापाक इरादों को जानती थी.. वो हर बार उसकी बातों में आ जाती.. बस उसने ‘हाँ’ कह दी।
रोमा- अच्छा बाबा.. उसको बुला लूँगी.. मगर वो दवा मुझे दे दो.. ऐसे वो उठ सकती है और हाँ एक बार और करेंगे अभी.. उसके बाद मुझे घर छोड़ आना। अब स्कूल का वक्त तो निकल ही गया है।
नीरज- अरे नहीं.. एक बार और करेंगे तो बहुत वक्त हो जाएगा.. अंकल कभी भी आ सकते हैं।
रोमा ने बहुत कहा मगर नीरज नहीं माना और उसको कपड़े पहना कर उसके घर के पास छोड़ आया। उसको नींद की दवा भी दे दी और खुद वहाँ से चला गया।
जाते हुए वो रोमा के उदास चेहरे को देख कर मुस्कुरा रहा था और अपने लौड़े पर हाथ रख कर बड़बड़ा रहा था।
नीरज- मेरी जान.. मैं जानता हूँ.. तू अधूरी रह गई.. मगर अभी तुझे पूरी कर देता तो तू रात को टीना को नहीं बुलाती और मुझे एक कच्ची चूत से हाथ धोना पड़ जाता। अब तू देख आज की रात में कैसे दो चूतों की सवारी करता हूँ।
हैलो दोस्तो.. कहाँ खो गए.. यह कहानी तो अजीब ही होती जा रही है.. मगर आपको मज़ा भी खूब आ रहा होगा ना.. तो अब रात का इन्तजार करो.. तब तक राधे के हाल देख लो।
ममता की चूत और गाण्ड को जम कर चोदने के बाद अब राधे आराम से लेटा हुआ था और ममता भी नंगी उसके सीने पर सर रख कर पड़ी थी.. तभी फ़ोन की घंटी बजी..
-  - 
Reply
10-05-2018, 11:49 AM,
#75
RE: XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
राधे- अरे मेरी जान.. जा देख.. किसका फ़ोन है?
ममता गई और फ़ोन उठाया तो दिलीप जी का फ़ोन था और वो राधा से बात करना चाहते थे।
ममता ने राधे को बताया और वो पापा से बात करने चला गया या गई।
कुछ देर बात करने के बाद राधे के चेहरे पर अलग ही भाव आ गए.. वो कुछ परेशान सा दिख रहा था।
ममता- क्या हुआ मेरे राजा जी.. पापा ने कहीं कोई लड़का पसन्द कर लिया क्या?
राधे- अरे नहीं.. तू हर बार ऐसा क्यों सोचती है… चल कपड़े पहन ले और खाना बना ले.. तब तक मीरा भी आ जाएगी।
ममता- अरे हुआ क्या.. कुछ बताओ भी मुझे?
राधे- अरे होना क्या था… पापा शाम को आ रहे हैं.. अब तू जा.. मुझे थोड़ा आराम करने दे।
ममता अपने काम में लग गई और राधे बिस्तर पर बैठा कुछ सोचने लग गया।
दोपहर को जब मीरा आई.. तब राधे कमरे में आराम कर रहा था और ममता बर्तन साफ कर रही थी। उसने मीरा को बता दिया कि पापा का फ़ोन आया था उसके बाद राधे कुछ उदास सा लग रहा है।
मीरा- अच्छा ठीक है.. मैं बात कर लूँगी.. तुम ऐसा करो.. अभी चली जाओ हम शाम को पापा के साथ आज बाहर ही खाना खा लेंगे।
ममता- आप खाना खा लो.. मैं बर्तन साफ करके चली जाऊँगी।
मीरा- नहीं.. अभी भूख नहीं है.. तुम जाओ.. मैं कर दूँगी।
ममता- ठीक है बीबी जी.. जैसा आप ठीक समझो।
ममता जब तक चली ना गई.. मीरा वहीं रही.. उसके जाने के बाद वो कमरे में गई.. राधे सोया हुआ था।
मीरा ने कपड़े चेंज किए और राधे के पास जाकर उसके बालों को सहलाने लगी।
राधे- अरे मीरा तुम कब आईं?
मीरा- मुझे आए हुए आधा घंटा से ज़्यादा हो गया.. देखो कपड़े भी बदल लिए मैंने.. चलो अब बहुत भूख लगी है.. खाना खा लेते हैं.. मैंने ममता को घर भेज दिया है.. आज मैं अपने पति देव को अपने हाथों से खाना खिलाऊँगी।
राधे- नहीं मीरा.. मुझे भूख नहीं है.. तुम खा लो जाओ.. मुझे तुमसे एक जरूरी बात करनी है।
मीरा- अरे उठो भी अब.. चलो मुझे पता है वो जरूरी बात.. अब खड़े हो जाओ।
राधे सवालिया नज़रों से मीरा को देख रहा था।
मीरा- क्या हुआ?
राधे- तुम्हें कैसे पता पापा से बात तो मैंने की है?
मीरा- ओहोह.. पापा जब गए तुम बाहर थे.. वो मुझे बताकर गए थे और आज उनका फ़ोन आया.. उन्होंने तुमको भी वही कहा होगा.. बस यही ना?
राधे- नहीं तुम्हें नहीं पता.. कुछ भी नहीं समझी..
मीरा- सब पता है.. तुमको सुनना है तो सुनो.. पापा ने कहा कि बेटी अब मुझसे भाग-दौड़ नहीं होती.. इसलिए मैं सारी प्रॉपर्टी बेचने जा रहा हूँ.. बस यही बात थी ना.. आज पापा ने कहा होगा.. सब काम निपटा कर वो आ रहे हैं।
राधे- हाँ यही बात है.. लेकिन इसके आगे भी है.. उन्होंने कहा शाम को वो बैंक मैनेजर के साथ घर आएँगे.. उन्होंने सब कुछ बेच कर नकद कर लिया है और शाम को हम दोनों के खातों में आधा-आधा पैसा डाल देंगे।
-  - 
Reply
10-05-2018, 11:49 AM,
#76
RE: XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
मीरा- अरे तो इसमे टेन्शन वाली क्या बात है.. सब कुछ हमारा ही तो है.. तुम भी ना..
राधे- नहीं मीरा.. ये पैसा हमारा नहीं.. तुम्हारा है.. मैं तो बस एक बहुरूपिया हूँ.. प्लीज़ किसी भी तरह पापा को समझाओ.. मुझे पैसा नहीं.. बस तुम चाहिए..
मीरा- अरे बुद्धू.. मेरे पास रहेंगे.. तब भी हमारे होंगे ना.. अब पापा को थोड़ी पता है कि हम अलग-अलग नहीं.. एक साथ शादी करेंगे.. इसलिए उन्होंने आधा-आधा किया है..
राधे- तुम बात को समझो.. मेरे पास पैसे आएँगे.. तो गड़बड़ हो जाएगी। तुम्हें याद है वो 5 लाख.. जो मेरे पास थे.. वो नीरज ले गया।
राधे ने पूरी बात मीरा को बताई।
मीरा- तुम उसे कुछ मत बताना.. उसके इरादे ठीक नहीं लगते और वो पैसे उसी के थे.. जो वो ले गया.. मुझे तुम मिल गए उसकी वजह से..
सॉरी दोस्तों.. आप सोच रहे होंगे.. मैं क्या फालतू बात लेकर बैठ गई। दोस्तो, अब सब चुदाई हो गई कहानी में.. ये बात भी अहम है.. तो आपको बता रही हूँ.. चलो अब आगे देखो..
काफ़ी देर तक दोनों में बातें होती रहीं.. इस दौरान उन्होंने खाना भी खा लिया और बस बातें करते रहे।
शाम को सब सामान्य रहा.. दिलीप जी आ गए और करोड़ों रुपये दोनों बहनों के नाम डाल दिए.. बस घर को नहीं बेचा मगर वो भी दोनों के नाम कर दिया।
राधा- पापा अपने ये सब क्यों किया? इतनी भी क्या जल्दी थी आपको?
दिलीप जी- बेटी मैं दिल का मरीज हूँ.. कभी भी कुछ भी हो सकता है.. मेरे बाद तुम दोनों कहाँ भागती फ़िरोगी.. अगर तुम लड़का होतीं.. तो कोई बात नहीं थी.. मगर आजकल के जमाने में ये सब संभाल पाना जरा मुश्किल था.. इसलिए सब बेच कर नकद तुमको दे दिए।
मीरा- क्या पापा आप भी कहाँ की बात लेकर बैठ गए.. अभी आप को बहुत साल हमारे साथ रहना है।
दिलीप जी- नहीं बेटी.. ये मुमकिन नहीं है और राधा मुझे माफ़ करना.. इतने साल तुम मुझसे दूर रही हो.. मैं तुम्हें प्यार ना दे पाया और अब भी मैं तुम्हारे साथ गलत कर रहा हूँ।
राधा- अरे पापा.. इतने सालों में जो नहीं दिया.. अब दे दो.. और मेरे साथ क्या गलत किया आपने?
दिलीप जी- तेरी शादी की उमर हो गई मगर मेरा स्वार्थ है कि तू चली जाएगी तो मीरा अकेली रह जाएगी.. तुम दोनों को एक साथ विदा करना चाहता हूँ.. मगर मीरा अभी छोटी है और जब इसकी शादी का वक़्त आएगा.. तब मैं शायद जिन्दा ना रहूँ.. तो तुम मुझसे वादा करो कि अपनी बहन का ख्याल रखोगी.. इसके पहले शादी नहीं करोगी..
राधा- पापा प्लीज़ रुलाओगे क्या.. मैं कसम खाती हूँ.. अगर मैं शादी करूँगी तो मीरा के साथ ही करूँगी.. वरना नहीं करूँगी।
मीरा- हाँ पापा हम दोनों एक साथ शादी करेंगे.. आप बेफिकर रहो..
बस-बस दोस्तो, फैमिली ड्रामा बन्द करो.. बहुत हो गया.. आपको तो ये बिल्कुल पसन्द नहीं आ रहा होगा.. मगर लाइफ में सेक्स ही सब कुछ नहीं होता.. कभी नॉर्मल स्टोरी भी पसन्द किया करो। अच्छा गुस्सा मत हो आप.. लो नहीं सुनाती.. बस चलो नीरज के पास वहाँ आपके काम का सीन आएगा।
नीरज अपनी खास दोस्त शीला के पास बैठा हुआ था।
शीला- अरे क्या हुआ मेरे राजा.. आजकल आता ही नहीं.. लगता है उस लड़की को बराबर ठोक रहा है।
नीरज- हाँ जानेमन बहुत मज़ा आ रहा है.. साली मेरे लौड़े की दीवानी हो गई है।
शीला- इतने दिन हो गए.. अब तक तो उसके आगे-पीछे के सारे छेद ढीले कर दिए होंगे तूने?
नीरज- अरे कहाँ.. बस चूत को ढीला किया.. साली गाण्ड नहीं मरवाती.. कहती है शादी की रात सुहागरात को मरवाऊँगी..

शीला- हा हा हा तू उससे शादी करेगा.. क्या राजा?
नीरज- अबे हट.. ऐसी लड़की से कौन शादी करेगा.. जो शादी के पहले चुदवा कर ढीली हो गई है।
शीला- राजा तुझे तो चूत मिल गई.. मुझे अब तू कहाँ याद करता है..
नीरज- अबे साली नाटक मत कर.. तुझे याद नहीं करता होता.. तो यहाँ आता क्या.. अभी चल अब कुछ आइडिया दे.. उसकी गाण्ड कैसे मारूँ.. साली ने कसम दे दी है।
शीला- तू बस आइडिया लेने आता है अपनी शीला के लिए कुछ लाता नहीं है।
नीरज- अबे लाया हूँ ना.. साली ये देख तेरे लिए एकदम चमचमाता सोने का हार लाया हूँ।
-  - 
Reply
10-05-2018, 11:49 AM,
#77
RE: XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
नीरज ने अपनी पैन्ट के पीछे कमर के पास उसको छुपा रखा था, शीला तो बस देखती रह गई- अरे वाह मेरे राजा.. तू तो बड़ा कमाल का है रे.. हाय मैं मर जाऊँ.. कितना शानदार है..!
नीरज- अबे इसको बाद में देखती रहियो.. मैंने क्या कहा.. वो तो तूने सुना ही नहीं.. अब आइडिया तो दे..
शीला- देख राजा.. वो तेरे से सच्चा प्यार करने लगी है.. उसकी गाण्ड अभी मत मार.. उसके जरिए कोई दूसरी चिड़िया फँसा.. वो तो तेरी ही है.. उसकी गाण्ड कभी भी मार सकता है।
नीरज- अरे हाँ.. मैं तेरे को बताना ही भूल गया.. उसकी एक सहेली है.. झकास आइटम है वो..
नीरज ने शीला को पूरी बात बताई.. और ये भी बताया कि आज रात को वो वहाँ जाएगा।
शीला- अरे वाह.. मेरे राजा वीडियो भी बना लिया.. अब तो वो तेरी गुलाम हो गई और आज नया शिकार करने का इरादा है.. मगर राजा उसको नींद की दवा देकर क्या होगा.. तेरी रानी भी तो साथ होगी ना..
नीरज- अरे मैंने कुछ सोचा है.. उसको सुला कर उसकी सहेली के मज़े लूँगा।
शीला- चल हट साला ठरकी.. ऐसा कभी होता है क्या.. मेरी बात सुन ऐसा आइडिया दूँगी कि वो खुद अपनी सील तुझसे तुड़वा लेगी..
नीरज- सच्ची.. ऐसा होगा.. जल्दी बता न?
शीला बोलने लगी और नीरज बस गौर से सब सुनने लगा.. उसकी आँखों में चमक और लौड़े में कड़कपन आने लगा था।
नीरज- वाह रे मेरी शीला.. तू तो साली बहुत दिमाग़ वाली है.. क्या मस्त आइडिया दिया है.. अब तो मज़ा आ जाएगा.. अगर टीना मुझे मिल गई ना तेरा मुँह मोतियों से भर दूँगा..
शीला- अरे बस रे मेरे अकबर बादशाह.. मोतियों को मार गोली.. मेरे को तू एक हीरे की अंगूठी ला दे.. साला बड़ा शौक है मुझे.. हीरा पहनने का तू ला देगा ना?
नीरज- अबे तेरा दिमाग़ खराब है क्या.. हीरा बहुत महंगा होता है.. इस हार में ही मेरा दिवाला निकल गया.. बड़ी मुश्किल से उस साले राधे से पैसे माँग कर लाया था.. अब दोबारा कहाँ से लाऊँ?
शीला- अरे तूने बताया ना.. वो सेठ बहुत पैसे वाला है.. तेरा दोस्त तो मज़ा कर रहा है.. तेरा भी हक़ बनता है.. वो दे देगा..
नीरज- अरे नहीं देगा.. उसने साफ-साफ मना किया है..
नीरज की बात सुनकर शीला को लगा अगर ये उससे पैसे नहीं लाएगा तो हीरा कैसे आएगा.. तो बस उसके शैतानी दिमाग़ ने अपना कमाल दिखाया और शीला ने पासा फेंका- चल जाने दे.. मेरे नसीब में तो हीरा नहीं.. मगर अपने लिए तो पैसे का जुगाड़ कर सकता है ना.. क्योंकि मैं कुछ ही दिनों में ऐसा माल तुझे दिलवाऊँगी कि तू सपने में भी नहीं सोच सकता साले हरामी..
नीरज- कैसा माल रानी.. मुझे ठीक से समझा तो?
शीला- अरे वो परली तरफ वाला कॉलेज है ना.. उसमें विदेशी लड़कियाँ भी पढ़ती हैं.. वहाँ का चपरासी मेरा ग्राहक है.. वो मुझे बोल रहा था.. कि यूके की कुछ लड़कियाँ अपना खर्चा चलाने को चुदवाती हैं.. मगर ऐसे कोठे पर नहीं.. वो तो ऊँचे लेवल की रंडियां हैं.. उनको तो होटल ही ले जाना होता है..
-  - 
Reply
10-05-2018, 11:49 AM,
#78
RE: XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
नीरज- सच्ची यार.. अंग्रेज छोरी तो बड़ा मज़ा देती होगी.. मेरा भी काम पटवा ना उससे..
शीला- अरे पूरी बात तो सुन.. उनमें क्या मज़ा.. वो तो चुद कर अब ढीली हो गई हैं। एक नई कली दिलवाती हूँ.. मगर उसमें कुछ ज्यादा खर्चा होगा..
नीरज ने अपने लौड़े पर हाथ फेरते हुए कहा- नई.. यानि कच्ची कली है क्या.. पूरी बात बता ना साली..
शीला- एक 18 साल की लड़की नई आई है.. उसको थोड़ी पैसों की दिक्कत है.. चपरासी बोला कि अगर कोई उसकी मदद कर दे.. तो वो चुदने को पक्की.. वो तो उसकी पक्की रखैल बन जाएगी और अपने साथ और भी लड़कियों की चुदाई उस इंसान से करवाएगी.. बोल क्या बोलता है?
नीरज- क्या बात करती है साली.. मेरे को दिलवा दे.. मज़ा आ जाएगा..
शीला- साले उसको 6 लाख देने होंगे.. तेरी औकात के बाहर है..
नीरज- इतने पैसे.. पागल है क्या.. वो क्या करेगी इतने पैसों का?
शीला- अबे हरामी.. तू ठहरा मेरी तरह फुटपाथिया.. तेरे को क्या पता कॉलेज में दाखिला ऐसे नहीं मिलता.. लाखों देने होते हैं और तू तो किस्मत वाला है.. जो 6 लाख में अंग्रेज लड़की मिल रही है.. वो भी कुँवारी.. और उसके साथ में और भी लड़कियाँ फ्री मिल रही हैं।
नीरज- बात तो सही है.. मगर इतने पैसे कहाँ से लाऊँ?
शीला- अबे मेरी बात मान.. तेरे दोस्त को बोल.. वो लाकर देगा और ‘ना’ कहे ना.. तो उस बूढ़े को सब बता देने की धमकी दे.. तेरा काम हो जाएगा.. नहीं तो मेरे पास बहुत ग्राहक आते हैं.. ऐसा मौका दोबारा नहीं आता..
नीरज- नहीं नहीं.. तू किसी से बात मत करना.. मैं कल ही राधे के पास जाऊँगा.. तू बस कल रात तक रुक जा..
शीला अपने मकसद में कामयाब हो गई थी। नीरज कुछ देर वहाँ रुका और फिर चला गया।
दोस्तो, शीला का तो काम यहीं है कि लोगों को बहलाना.. अपना जिस्म बेच कर पैसा कमाना.. मगर नीरज कुँवारी चूत के चक्कर में अब कहाँ तक बुराई के दलदल में जाता है.. ये तो वक़्त आने पर पता चल जाएगा।
आपसे मेरी गुज़ारिश है.. प्लीज़ आप ऐसी औरतों के चक्कर में अपनी लाइफ खराब ना करना.. चलो बहुत ज्ञान दे दिया.. अब आगे की कहानी का मजा लो।
वहाँ से निकल कर नीरज ने राधे को फ़ोन कर दिया कि उसको कल जरूरी बात करनी है.. इसलिए सुबह वो आ रहा है.. उसको वहीँ मिल जाना.. जहाँ वो हमेशा मिलते हैं।
दोपहर को रोमा अपनी दोस्त टीना के यहाँ चली गई थी और उसकी माँ को बता दिया कि वो अकेली है.. तो टीना को उसके साथ रात घर भेज दे.. मगर टीना की माँ ने कहा कि तुम यहीं रुक जाओ दोनों वहाँ अकेली क्या करोगी.. तो रोमा ने पढ़ाई का बहाना बना दिया और झूठमूट कह दिया कि घर में कीमती गहने पड़े हैं.. रात को वहाँ कोई ना होगा तो चोरी होने का डर है.. तो टीना की माँ मान गई।
रात के करीब 9 बजे टीना और रोमा कमरे में बैठी बातें कर रही थीं।
-  - 
Reply
10-05-2018, 11:49 AM,
#79
RE: XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
टीना- यार रोमा.. तू मुझे अपनी दोस्त बोलती तो है.. मगर मनती नहीं..
रोमा- अरे यार क्या बात कर रही हो.. तू तो मेरी सबसे बेस्ट फ्रेण्ड है।
टीना- नहीं.. ये सब बोलने की बात है.. अगर ऐसा होता तो तू मुझसे झूठ नहीं बोलती.. पिछले कई दिनों से तू पता नहीं किस से मिलने जाती है.. उसके लिए तूने कई बार स्कूल भी ‘मिस’ किया है।
रोमा- अरे यार.. अब तू नाराज़ मत हो.. मैं सब बताती हूँ.. बस खुश..
रोमा ने अपने और नीरज के बारे में टीना को बताया.. मगर सिर्फ़ इतना ही कि वो दोनों एक-दूसरे से प्यार करते हैं और वो उसी से मिलने जाती है।
टीना- वाउ.. यार तू तो बड़ी छुपी रुस्तम निकली.. उसी को पटा लिया.. जो किसी के लिए स्कूल आता था.. मगर ये बात बस मिलने तक ही है.. या किस-विस्स भी किया उसने?
रोमा- चल हट बदमाश.. ऐसा कुछ नहीं किया हमने।
टीना- ना ना.. मैं नहीं मानती.. आजकल के लड़के बहुत फास्ट हैं.. किस तो पहली मुलाकात में ही कर देते हैं और तू तो कई दिनों से उससे मिलने जा रही है.. मुझे तो लगता है उसने तेरा पूरा रस पी लिया होगा हा हा हा..
रोमा- छी: छी:.. कुछ भी मत बोल.. ऐसा कुछ नहीं हुआ.. वो बहुत अच्छे हैं.. ऐसी बातों से दूर हैं।
टीना- देख रोमा.. मेरा कोई ब्वॉय-फ्रेण्ड नहीं है.. मगर स्कूल में कई लड़कियाँ इस चक्कर में पड़ी हैं। मुझसे कुछ छुपा नहीं है.. लड़के बिना टच किए रह ही नहीं सकते.. अगर तू मेरी कसम खाए तो मानूँ.. नहीं तो मुझे लगता है तू बहुत आगे तक चली गई है।
रोमा- अरे यार.. इसमें कसम की क्या बात है.. ऐसा कुछ नहीं है बस..
टीना नहीं मानी और अपने सर पर रोमा का हाथ रख कर उससे कहा- ऐसा कुछ नहीं है.. तो कसम खाने में क्या जाता है। 
रोमा अच्छी लड़की थी.. तो बस उसको सब कुछ बताना पड़ा.. मगर फिर भी उसने वीडियो की बात नहीं बताई और न ही ये बताया कि आज वो आएगा, यह बात टीना को नहीं बताई।
टीना- हे राम.. तुझ में जरा भी अकल है या नहीं.. अरे सब कुछ उसको दे दिया.. अगर वो शादी से मुकर गया तो.. और वैसे भी अभी तुम बहुत छोटी हो.. यार मुझे तो ये सही नहीं लगा..
रोमा- अब बस आगे कुछ मत बोल.. वो बहुत अच्छे हैं मुझे कभी धोखा नहीं देंगे.. चल अब सो जा.. सुबह उठने में दिक्कत होगी।
टीना- अरे ऐसे ही सो जाऊँ क्या.. कपड़े तो चेंज करने दे.. मैं तो कुछ लाई भी नहीं.. ला तेरे कपड़े दे.. जो आराम दायक हों.. मुझे सुकून से सोना है।
रोमा ने टीना को एक नाईटी दे दी.. जो गाउन टाइप की थी.. यानि आगे से खुलती थी और ‘हाँ’ रोमा ने जूस में वो नींद की दवा भी उसको दे दी थी।
कपड़े बदलने के बाद कुछ देर दोनों बातें करती रहीं और दवा ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया, टीना नींद की दुनिया में खो गई।
ठीक दस बजे रोमा ने नीरज को फ़ोन लगाया- हैलो कहाँ हो आप.. आ जाओ..
नीरज- टीना को दवा दी या नहीं?
रोमा- अरे वो कब की सो गई.. अब आ भी जाओ.. सुबह से मेरी चूत पानी-पानी हो रही है।
नीरज- अरे मगर तूने बताया नहीं.. तेरा घर कौन सा है.. तू हमेशा पीछे की गली में उतर जाती है।
रोमा ने नीरज को ठीक से समझा दिया कि कहाँ आना है।
नीरज- आ रहा हूँ मेरी जान.. बस तू गेट खोल कर रख.. मैं स्पीड से अन्दर आऊँगा.. ताकि कोई देख ना ले..
करीब 15 मिनट बाद नीरज जल्दी से घर में घुस गया.. रोमा उसका हॉल में बैठी इंतज़ार कर रही थी।
रोमा- ओह्ह.. मेरे जानू.. तुम आ गए.. कब से तुम्हारा इंतज़ार कर रही हूँ।
जब रोमा नीरज से लिपटी तो उसको शराब की बदबू आई।
रोमा- ये क्या जानू, तुमने शराब पी रखी है?
नीरज- अरे नहीं जान वो कुछ पुराने दोस्त मिल गए थे.. तो बस उन्होंने जबरदस्ती पिला दी.. तुम चिंता मत करो मैंने ज़्यादा नहीं पी है.. चलो कमरे में चल कर बात करते हैं। आज तुमको तुम्हारे ही घर में चोद कर मज़ा दूँगा.. और हाँ.. आज मैंने पावर की गोली भी ली है.. पूरी रात मैं तेरी चूत को आराम नहीं लेने दूँगा..
-  - 
Reply
10-05-2018, 11:49 AM,
#80
RE: XXX Hindi Kahani मैं लड़की नहीं.. लड़का हूँ
रोमा- अच्छा यह बात है.. तो चलो मुझे भी दिखाओ गोली का असर..
नीरज- एक मिनट तुम्हारी सहेली सो गई ना.. दवा का असर हुआ या नहीं पहले चैक तो कर लूँ?
रोमा- अरे मेरे जानू.. वो कब की सो गई.. तुम्हें चैक क्या करना है?
नीरज- नहीं.. मुझे देखना है.. चलो नहीं तो हमारी चुदाई के बीच वो आ गई ना.. तो सब चौपट हो जाएगा।
रोमा- अच्छा चलो.. वो सामने के कमरे में सोई हुई है..
जब नीरज और रोमा कमरे में गए.. तब टीना सीधी लेटी हुई आराम से सो रही थी.. उसकी नाईटी थोड़ी ऊपर को हो रही थी.. जिससे उसकी गोरी-गोरी टाँगें साफ दिख रही थीं और सांस के साथ उसके अमरूद भी ऊपर-नीचे हो रहे थे.. जिसे देख कर नीरज की आँखों में हवस और लंड में तनाव आ गया था।

रोमा- देख लो, ये टीना तो कितने आराम से सोई हुई है..
नीरज- हाँ सही कहा तुमने.. अरे वो मेन-गेट शायद तुमने लॉक नहीं किया था.. जाओ उसको लॉक करके आओ.. तब तक मैं टीना को हिला कर देखता हूँ, कहीं जाग तो नहीं रही है।
रोमा- मैंने बन्द किया था शायद.. इसको टच मत करना.. कहीं जाग गई तो?
नीरज- अरे ये शायद क्या होता है.. देख आओ.. और टच करने से जाग जाए.. ऐसी गोली नहीं दी मैंने.. समझी।
बेचारी रोमा कहाँ जानती थी कि नीरज के इरादे क्या है.. वो गेट देखने चली गई और नीरज जल्दी से टीना के करीब गया उसके मम्मों को सहलाने लगा.. हल्का-हल्का दबाने भी लगा।
नीरज- उफ़फ्फ़ साली.. क्या कड़क आम हैं तेरे.. इनको जब चूसूंगा.. तो मज़ा आ जाएगा और तेरी चूत कितनी टाइट होगी उफ़.. मेरा लौड़ा तो ख़ुशी के मारे अभी से ‘तक-धिना-धिन’ करने लगा है.. तू उस रोमा से भी ज़्यादा मस्त माल है.. तेरी चुदाई में तो मज़ा आ जाएगा।
रोमा को आता देख नीरज टीना से थोड़ा दूर हो गया।
रोमा- देख लिया ना.. ये गहरी नींद में है.. अब तो दरवाजा भी बन्द है.. चलो मुझे प्यार दो अब..
नीरज- मेरी जान.. इतनी भी क्या जल्दी है.. अभी तो पूरी रात पड़ी है..
रोमा- अब चलो ना प्लीज़.. मेरे प्यारे जानू हो ना आप..
नीरज- चल मेरी जान.. आज लौड़े में एक्सट्रा पावर है.. तुझे खूब चोदूँगा आज.. तेरी चूत की धज्जियां उड़ा दूँगा मैं..
वो दोनों वहाँ से निकल कर दूसरे कमरे में चले गए। रोमा ने नाईटी निकाल फेंकी.. अन्दर उसने कुछ नहीं पहना हुआ था।
नीरज- अरे वाह.. क्या बात है मेरी जान.. चुदने के लिए बहुत उतावली हो रही हो.. ले तेरा प्यारा लंड भी आज़ाद हो गया.. आ जा चूस ले..
नीरज ने बोलने के साथ ही अपने कपड़े भी निकाल दिए।
रोमा जल्दी से भाग कर नीरज के गले से लिपट गई.. लौड़ा चूत पर सैट हो गया.. वो दोनों चूमाचाटी में गुथ गए.. करीब 5 मिनट के लंबे किस के बाद दोनों पलंग पर चले गए और वहाँ जाते ही रोमा 69 के पोज़ में हो गई। अब दोनों एक-दूसरे के लंड और चूत को चाट कर मज़ा ले रहे थे।
कुछ देर की चुसाई के बाद चुदाई शुरू हो गई।
नीरज के दिमाग़ में बस टीना घूम रही थी.. वो रोमा को घोड़ी बना कर स्पीड से चोद रहा था। इधर रोमा भी वासना की आग में.. गाण्ड हिला-हिला कर चुद रही थी।
ये चुदाई करीबन 25 मिनट तक चली.. उसके बाद दोनों ठंडे हो गए। अब दोनों एक-दूसरे को बाँहों में लिए पड़े हुए बातें कर रहे थे।
रोमा- जानू आज बहुत मज़ा आया.. मुझे आप मेरे ही घर में आकर मुझे चोद रहे हो.. वाऊ.. मैंने सोचा नहीं था कि कभी ऐसा भी होगा..
नीरज- अरे मेरी जान.. आगे-आगे देख और क्या-क्या मज़ा देता हूँ।
रोमा- आई लव यू जानू.. आप बहुत अच्छे हो..
नीरज- अच्छा रोमा, ये बता टीना का कोई ब्वॉय-फ्रेण्ड है क्या.. ये भी किसी से चुदवाती है क्या?
रोमा- छी: आप भी कैसी बात करते हो.. उसका कोई ब्वॉय-फ्रेण्ड नहीं है।
नीरज- अरे इसमें छी: क्या है.. कभी ना कभी तो किसी से चुदवाना ही पड़ेगा उसको..
रोमा- आप बहुत बेशर्म हो..
नीरज- वो तो मैं हूँ.. वैसे एक बात है.. टीना के मम्मे तुमसे छोटे हैं।
रोमा- जानू प्लीज़.. मुझे ये सब पसन्द नहीं है.. आप बस मेरे बारे में बोलो.. टीना मेरी बेस्ट-फ्रेण्ड है.. उसके बारे में ऐसी गंदी बात मत करो..
नीरज- अरे नाराज़ क्यों होती हो.. मैंने तो बस ऐसे ही कहा था..
रोमा- अच्छा ठीक है.. मगर दोबारा मत करना..
नीरज- अरे नहीं करूँगा.. अभी मेरी एक बात मानोगी?
रोमा- क्या है बोलो?
नीरज- यार आज तेरी चूत पर बाल हैं तो चाटने में मज़ा नहीं आया.. तुम ऐसा करो.. चूत के साथ हाथ-पाँव के बाल भी साफ कर लो.. आज मैं तुम्हारे पूरे जिस्म को चाटूँगा..
रोमा- क्या अभी साफ करूँ.. नहीं जानू अभी बहुत वक्त लगेगा..
नीरज- बस.. क्या मेरी जान.. मेरे लिए इतना नहीं कर सकती.. और वक्त लगता है तो लगने दो.. पूरी रात बाकी है.. अभी तो हम लोग खूब मज़ा करेंगे।
रोमा- ठीक है.. मगर इतनी देर आप यहाँ बैठ कर अकेले क्या करोगे.. मेरे साथ बाथरूम आ जाओ.. तुम अपने हाथों से मेरे बाल साफ करना।
नीरज- अरे नहीं यार.. मैं थोड़ा थका हुआ हूँ.. तुम जाओ.. आराम से बाल साफ करके आओ.. इतनी देर में थोड़ा आराम कर लेता हूँ।
रोमा ने थोड़ी ज़िद की.. मगर नीरज जैसे चालाक इंसान के लिए उसको मनाना कोई बड़ी बात नहीं थी। उसने रोमा को भेज दिया और खुद नंगा ही पड़ा रहा और झूठ-मूट आँखों पर हाथ रख कर सोने का नाटक करने लगा।
दोस्तो, कितने पार्ट निकल गए आपने राधे और मीरा के बारे में नहीं सोचा.. अब रोमा तो सफ़ाई अभियान में लग गई.. तो चलो इस वक़्त हमारे हीरो और हीरोइन को देख आते हैं, वहाँ क्या चल रहा है।
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Sex kahani अधूरी हसरतें 272 251,356 04-06-2020, 11:46 PM
Last Post:
Lightbulb XXX kahani नाजायज़ रिश्ता : ज़रूरत या कमज़ोरी 117 101,726 04-05-2020, 02:36 PM
Last Post:
Star Antarvasna kahani अनौखा समागम अनोखा प्यार 102 276,891 03-31-2020, 12:03 PM
Last Post:
Big Grin Free Sex Kahani जालिम है बेटा तेरा 73 162,465 03-28-2020, 10:16 PM
Last Post:
Thumbs Up antervasna चीख उठा हिमालय 65 40,067 03-25-2020, 01:31 PM
Last Post:
Thumbs Up Adult Stories बेगुनाह ( एक थ्रिलर उपन्यास ) 105 58,779 03-24-2020, 09:17 AM
Last Post:
Thumbs Up kaamvasna साँझा बिस्तर साँझा बीबियाँ 50 84,445 03-22-2020, 01:45 PM
Last Post:
Lightbulb Hindi Kamuk Kahani जादू की लकड़ी 86 124,677 03-19-2020, 12:44 PM
Last Post:
Thumbs Up Hindi Porn Story चीखती रूहें 25 25,869 03-19-2020, 11:51 AM
Last Post:
Star Adult kahani पाप पुण्य 224 1,100,881 03-18-2020, 04:41 PM
Last Post:



Users browsing this thread: 2 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.

Online porn video at mobile phone


Sexyxxxx हिंदी सबसे पुराना जानवर और आदमी सेक्सीमौसी मौसाजी हमारे घर आते हैं तो मम्मी पापा मौसी मौसाजी मिलके चुदाई करते हHindisex storySex baba.netrinku ghosh ki boobs ki photo sex.baba.com.netभाभी and davar xxx िदन दहाडेShawta Tiwari ladali palak sex MMS clip vidiyoladki ki cudayi kar ladki ko pegnet hoegayisexbaba.net tatti pesab ki lambi khaniya with photoसाडी उडाके चोदाई Xxxवहन. भीइ. सैकसीChupke se nahati hui kee chut dekh kar chudai kee kahani hindee meXNXRANGILAमसत कामिनिkitchen ki khidki se hmari chudai koi dekh raha tha kahanima ne dusari Sadi sexy kahani sexbaba netहिन्दी गन्दी नखरे के साथ मोटे लन्ड से चोदवाया की विडियोkahne bapa bate ka xxx hiendगोरी चिकनी बुर का दीदार किया कुछ दिन पहले ही मैंने झांटे बनायीं थीjacqueline fernandez nudesexbababhaiyaaaaaa jor se chuso sexy kahaniyaसेक्सी लडकियो कि चुत कि तसविरे रातमे चुत चुदाइ कि काहानी अपनो के साथDesi gay teji se pelana sexcy jethani hushed suhagrat chudai kahanikekon Sharma nude saxy boob photorndi ka dudh piya gali dkr suhagrt mnayaAnty jabajast xxx video गांडमां बोटल कहानीबूबस की चूदाई लड़की खूश हूई लण्ड दिखाया बिबिको रासते मेChut chatke lalkarde kuttenebhabi ke sarab pekar chudaikiatreni kap xxnxKARNAITAK XNXXXxxx sex story hindi gokuldham 3568savita bhabhi episode 108 sexbabaहिन्दी बिडिवो सेक्स एडी में मुबाइ वाली चुत चुदाई के साथ ही यह भी कहाBur wala xxx bichkake dhikhaye and mal nikalexxx Rajjtnghansika motwani pucchi.combitch ko kya khilne se garbh gir jayega in hindiSeptikmontag.ru Maa Sex Kahaniचाची की चुदाई बच्चेदानी तक हिन्दी सेक्स स्टोरीज सौ कहानीयांXxx davar BabaiHD Indian downloadgaun ki do bhabiyo ki sadhi me hindi me xxx storiescotaladla com xmxxविलेज गर्ल फ़ास्ट टाइम अपनी चुत को चटवाते सेक्स वीडियोhot panjabi chachi ki cuodhai ki khani and videochodaie kahani hindi me 1 time bete ko chodna shikhaiecollege hostel girl nangi nahati huijangali adiwasi ki larki ki chut ki chudai ki parampara ki khani hindi meझाँटदार चुत बिडियोActera sexybaba nudu photosexy girl hd xxxwwwwwbfभाभी पेटीकोट उठाकर पेशाब करने लगी Hindi sexstoriesसावत्र मम्मी सेक्सी मराठी कथाJaisi saas vaise bahu velamma hindi episodexxx hinde vedio ammi abbugopi bahu xxxAnupama parameswaran hard fucking pics sex baba सीधी लडकी से रंडी औरत बनीMaa ne petticoat khol ke bete ko bola ki dekh le bete Apna janam sthan hindi big sexy khanimaa ki malish sexbaba kahaniमेरा mayka sexbabasexbaba peerit ka rang gulabiMummy ko 12logo ne pela khet me stories Aur ab ki baar main ne apne papa se chudai karwai.https://forumperm.ru/Thread-%E0%A4%AC%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A4%BE-%E0%A4%B5%E0%A4%BE%E0%A4%B2%E0%A5%80-%E0%A4%A6%E0%A5%81%E0%A4%95%E0%A4%BE%E0%A4%A8jhula jhulte samay mama ne mairi chut dekh ke chodagooru ghantal ki xxx kahaniyaसेकषी मुबी बाली लङकियो के नमवर चय हेबुरकी चुसाइबेटे ने जब अपनी मां की चूत में लंड डाला तो मां की कोठी पर दे अपनी मां को ही छोड़ेगा बेटे ने कहा तेरी चूत फाड़ डालूंगा मां सेक्स इंडियन मूवीland nikalo mota hai plz pinkiनासमझ की chudie गांव में कहानीxxx hd सलवार खोलकर पेसाब करती मोटी लडकीmaarexnxxGita Kapoor sex nude baba