Mastram Story कमीना
08-15-2018, 12:00 PM,
#71
RE: Mastram Story
जब रवि उसकी चूत को छोड़ता है तो सोनिया अधमरी सी लेटी-लेटी लंबी-लंबी साँसे लेती रहती है करीब दो मिनिट बाद सोनिया रवि को अपनी आँखे खोल कर देखती है तो उसके होश उड़ जाते है रवि उसकी साइड मे पूरा नंगा लेटा हुआ था जब उसकी नज़र रवि के मोटे लंड पर पड़ती है तो सोनिया की आँखे फटी की फटी रह जाती है और वह घबरा जाती है, रवि उसके चेहरे के एक्सप्रेशन को देख कर
रवि- क्या हुआ सोनिया
सोनिया- रवि तुम्हारा तो बहुत बड़ा है
रवि- उसकी चूत को अपने हाथो के पंजो मे भर कर दबोचता हुआ, मेरी रानी तुम्हारे मस्त भोस्डे को इतना ही बड़ा लंड
लगेगा इससे छोटे से तुम्हारा मन नही भर पाएगा
सोनिया- रवि की हर्कतो से सिहर जाती है और रवि को अपनी बाँहो मे भरते हुए, रवि मुझे डर लग रहा है
रवि- तुम्हे मेरे लंड से डर लग रहा है ना
सोनिया- उसकी छाती मे अपना मुँह छुपाए हाँ
रवि- उसके पीछे अपना हाथ ले जाकर उसके मोटे-मोटे गदराए चुतडो को अपने हाथो मे भर कर दबाता हुआ, अरे मेरी
जान तुम तो मेरी उमर की हो जबकि तुम से छोटी-छोटी लड़किया इससे भी मोटा लंड लेने के लिए मरी जा रही है, आजकल तो 16- 17 साल की लोंड़िया भी 30 साल के आदमी के लंड की कल्पना करने लगी है, जब लड़किया गरम होती है तो अपनी चूत को सहलाते हुए खूब मोटे लंड की ही कल्पना करती है और फिर तुम तो अच्छी ख़ासी जवान हो गई हो, तुम्हारे इस मस्त भोस्डे को तो यह लंड कुछ भी नही लगेगा चाहो तो पकड़ कर देख लो और सोनिया का हाथ अपने लंड पर रख देता है,

सोनिया उसके लंड को धीरे-धीरे सहलाती है और जब रवि उसकी फूली हुई बुर को अपने हाथो मे भर कर कस कर मसल्ने
लगता है तो सोनिया भी रवि के मोटे लंड को अपने हाथो मे कस कर दबाने लगती है, कुछ देर तक दोनो एक दूसरे के चूत
और लंड को कस -कस कर दबाते है उसके बाद रवि उसके होंठो को चूमता हुआ
रवि- सोनिया
सोनिया- क्या
रवि- मेरा लंड चुसोगी
सोनिया- नही
रवि- क्यो
सोनिया- मुझे नही पता कैसे चूस्ते है
रवि- कभी आइस्क्रीम खाई है
सोनिया- हाँ
रवि - बस तो फिर आइस्क्रीम को जैसे चाटते है ना उसी तरह लंड को चटा जाता है एक बार चूस कर देखो तुम्हे बहुत
अच्छा लगेगा
सोनिया- उसके लंड को दबोचते हुए, मुझे शरम आती है
रवि- अच्छा एक काम करो मे तुम्हारी चूत चूस्ता हू तुम मेरा लंड चूसो और रवि सोनिया की ओर अपनी टाँगे करके उसके
पेरो की ओर आकर उसकी जाँघो को फैला कर 69 की पोज़िशन मे आ जाता है, सोनिया रवि के लंड को खोल कर अपनी आँखे फाडे हुए देखती रहती है और जैसे ही रवि अपनी जीभ उसकी चूत मे रख कर चाटना शुरू करता है सोनिया एक दम से रवि के लंड के सूपदे को अपने मुँह मे भर कर पागलो की तरह चूसने लगती है, दोनो एक दूसरे के लंड और चूत को एक दूसरे की गान्ड को दबा-दबा कर चाटने लगते है, लगभग 20 मिनिट तक दोनो एक दूसरे की चूत और लंड को चाट-चाट कर चिकना कर देते है,

रवि सोनिया को अलग करता है लेकिन सोनिया उसके लंड को छोड़ने को तैयार नही होती है और वह उसके मस्ताने लंड को खूब कस-कस कर चूसने लगती है, रवि सोनिया को अलग करके उसके पूरे नंगे बदन को अपने मुँह से चूमता हुआ उसे अपने नंगे बदन से चिपका लेता है सोनिया रवि के पूरे जिस्म को पागलो की तरह अपने मुँह से चूमने लगती है, रवि अब समझ जाता है कि लोहा गरम है हथोदा मार देना चाहिए और रवि सोनिया को लेटा कर उसकी दोनो जाँघो को अच्छी तरह फोल्ड करके उसके कंधे से लगा देता है और फिर सोनिया की कसी हुई कुँवारी चूत मे अपने लंड को सटा कर एक तगड़ा धक्का मारता है और सोनिया इतना ज़ोर से चीखती है जैसे उसकी जान निकल गई हो और रवि का मोटा लंड उसकी चूत मे आधे से ज़्यादा फस जाता है और उसकी चूत का छेद किसी छल्ले की तरह फेल जाता है,

क्रमशः.........................जब रवि उसकी चूत को छोड़ता है तो सोनिया अधमरी सी लेटी-लेटी लंबी-लंबी साँसे लेती रहती है करीब दो मिनिट बाद सोनिया रवि को अपनी आँखे खोल कर देखती है तो उसके होश उड़ जाते है रवि उसकी साइड मे पूरा नंगा लेटा हुआ था जब उसकी नज़र रवि के मोटे लंड पर पड़ती है तो सोनिया की आँखे फटी की फटी रह जाती है और वह घबरा जाती है, रवि उसके चेहरे के एक्सप्रेशन को देख कर

रवि- क्या हुआ सोनिया
सोनिया- रवि तुम्हारा तो बहुत बड़ा है
रवि- उसकी चूत को अपने हाथो के पंजो मे भर कर दबोचता हुआ, मेरी रानी तुम्हारे मस्त भोस्डे को इतना ही बड़ा लंड
लगेगा इससे छोटे से तुम्हारा मन नही भर पाएगा
सोनिया- रवि की हर्कतो से सिहर जाती है और रवि को अपनी बाँहो मे भरते हुए, रवि मुझे डर लग रहा है
रवि- तुम्हे मेरे लंड से डर लग रहा है ना
सोनिया- उसकी छाती मे अपना मुँह छुपाए हाँ
रवि- उसके पीछे अपना हाथ ले जाकर उसके मोटे-मोटे गदराए चुतडो को अपने हाथो मे भर कर दबाता हुआ, अरे मेरी
जान तुम तो मेरी उमर की हो जबकि तुम से छोटी-छोटी लड़किया इससे भी मोटा लंड लेने के लिए मरी जा रही है, आजकल तो 16- 17 साल की लोंड़िया भी 30 साल के आदमी के लंड की कल्पना करने लगी है, जब लड़किया गरम होती है तो अपनी चूत को सहलाते हुए खूब मोटे लंड की ही कल्पना करती है और फिर तुम तो अच्छी ख़ासी जवान हो गई हो, तुम्हारे इस मस्त भोस्डे को तो यह लंड कुछ भी नही लगेगा चाहो तो पकड़ कर देख लो और सोनिया का हाथ अपने लंड पर रख देता है,

सोनिया उसके लंड को धीरे-धीरे सहलाती है और जब रवि उसकी फूली हुई बुर को अपने हाथो मे भर कर कस कर मसल्ने
लगता है तो सोनिया भी रवि के मोटे लंड को अपने हाथो मे कस कर दबाने लगती है, कुछ देर तक दोनो एक दूसरे के चूत
और लंड को कस -कस कर दबाते है उसके बाद रवि उसके होंठो को चूमता हुआ
रवि- सोनिया
सोनिया- क्या
रवि- मेरा लंड चुसोगी
सोनिया- नही
रवि- क्यो
सोनिया- मुझे नही पता कैसे चूस्ते है
रवि- कभी आइस्क्रीम खाई है
सोनिया- हाँ
रवि - बस तो फिर आइस्क्रीम को जैसे चाटते है ना उसी तरह लंड को चटा जाता है एक बार चूस कर देखो तुम्हे बहुत
अच्छा लगेगा
सोनिया- उसके लंड को दबोचते हुए, मुझे शरम आती है
रवि- अच्छा एक काम करो मे तुम्हारी चूत चूस्ता हू तुम मेरा लंड चूसो और रवि सोनिया की ओर अपनी टाँगे करके उसके
पेरो की ओर आकर उसकी जाँघो को फैला कर 69 की पोज़िशन मे आ जाता है, सोनिया रवि के लंड को खोल कर अपनी आँखे फाडे हुए देखती रहती है और जैसे ही रवि अपनी जीभ उसकी चूत मे रख कर चाटना शुरू करता है सोनिया एक दम से रवि के लंड के सूपदे को अपने मुँह मे भर कर पागलो की तरह चूसने लगती है, दोनो एक दूसरे के लंड और चूत को एक दूसरे की गान्ड को दबा-दबा कर चाटने लगते है, लगभग 20 मिनिट तक दोनो एक दूसरे की चूत और लंड को चाट-चाट कर चिकना कर देते है,

रवि सोनिया को अलग करता है लेकिन सोनिया उसके लंड को छोड़ने को तैयार नही होती है और वह उसके मस्ताने लंड को खूब कस-कस कर चूसने लगती है, रवि सोनिया को अलग करके उसके पूरे नंगे बदन को अपने मुँह से चूमता हुआ उसे अपने नंगे बदन से चिपका लेता है सोनिया रवि के पूरे जिस्म को पागलो की तरह अपने मुँह से चूमने लगती है, रवि अब समझ जाता है कि लोहा गरम है हथोदा मार देना चाहिए और रवि सोनिया को लेटा कर उसकी दोनो जाँघो को अच्छी तरह फोल्ड करके उसके कंधे से लगा देता है और फिर सोनिया की कसी हुई कुँवारी चूत मे अपने लंड को सटा कर एक तगड़ा धक्का मारता है और सोनिया इतना ज़ोर से चीखती है जैसे उसकी जान निकल गई हो और रवि का मोटा लंड उसकी चूत मे आधे से ज़्यादा फस जाता है और उसकी चूत का छेद किसी छल्ले की तरह फेल जाता है,

क्रमशः.........................
-  - 
Reply
08-15-2018, 12:00 PM,
#72
RE: Mastram Story
कमीना--19

गतान्क से आगे.............................

सोनिया अपने पेरो को इधर उधर पागलो की तरह
फेकने लगती है और उसकी आँखे छलक आती है रवि उसकी यह हालत देख कर उसको अपनी बाँहो मे भर कर उसके होंठो कोचूमने लगता है और सोनिया उसकी छाती मे मुक्के मारने लगती है, रवि जब उसके दूध को कस कर दबाता है तो सोनिया अपने नखुनो से उसकी पीठ नोचने लगती है और रवि की पीठ उसके नखुनो से छिल जाती है और रवि को थोड़ा गुस्सा आ जाता है और वह कचकचा कर अपने खड़े लंड को थोड़ा सा बाहर खीच कर एक तगड़ा धक्का जब सोनिया की चूत मे मारता है तो सोनिया एक दम अकड़ जाती है और उसकी साँसे एक पल के लिए रुक जाती है और उसके हाथ ढीले पड़ जाते है और रवि उसकी
गान्ड के नीचे अपना हाथ ले जाकर उसको अपनी और दबोच कर उसकी चूत मे कस-कस कर अपना लंड पेलने लगता है सोनिया की चूत रवि के लंड से पूरी फॅट जाती है और वह आह आह करती हुई तड़पने लगती है रवि उसके चुतडो को कस कर पकड़े हुए कस-कस कर उसकी चूत मारने लगता है उसका लंड सोनिया की चूत मे बहुत कसा-कसा अंदर बाहर होने लगता है,


करीब 30-40 धक्को के बाद सोनिया की चूत मे कुछ चिकनाहट आती है और उसकी गान्ड भी रवि की गान्ड के साथ हिलने लगती है, फिर रवि जब कस कर धक्का लगाता तो सोनिया भी अपनी चूत को उसके लंड पर मारने लगती है, अब दोनो ओर से पूरी ताक़त से शॉट पर शॉट पड़ने लगते है और सोनिया रवि को चूमना शुरू कर देती है और रवि भी सोनिया को चूमते हुए उसकी चूत मारने लगता है,
रवि- सोनिया की चूत को चोदता हुआ, सोनिया कैसा लग रहा है
सोनिया- आह आह बहुत अच्छा और तेज करो ना
रवि- क्या मेरा लंड बहुत बड़ा है
सोनिया- नही बहुत अच्छा है
रवि सोनिया की बात सुन कर मुस्कुराता हुआ उसके होंठो को अपने मुँह मे भर कर उसकी चूत मे सतसट अपने लंड को
पेलने लगता है और सोनिया अपनी मोटी गान्ड उठा-उठा कर रवि के हर धक्के का जवाब देने लगती है. लगभग आधे
घंटे तक दोनो एक दूसरे की चूत और लंड को एक दूसरे पर मारते रहते है उसके बाद सोनिया रवि को पागलो की तरह चूमते हुए ज़ोर-ज़ोर से सीसीयाने लगती है और उसकी चूत बहुत ज़्यादा चिकनी होकर रवि के मोटे लंड को सतसट अपनी चूत मे लेने लगती है और फिर अचानक सोनिया रवि को अपनी बाँहो मे कस कर जाकड़ लेती है और उसकी चूत रवि के लंड को कस कर जाकड़ लेती है और वह पानी छोड़ने लगती है, रवि भी सोनिया की चूत मे सतसट 8-10 धक्के मारता है फिर उसकी चूत मे एक आख़िरी जबरदस्त धक्का मार कर अपने लंड को पूरा सोनिया की चूत की गहराई मे फसा कर रुक-रुक कर अपना पानी सोनिया की चूत के अंदर छोड़ने लगता है और फिर दोनो एक दूसरे को कस कर चिपक जाते है और गहरी-गहरी साँसे लेने लगते है,
करीब 2 मिनिट तक दोनो एक दूसरे के उपर नंगे पड़े चिपके रहते है और फिर रवि सोनिया के गालो को चूमने लगता है तो
सोनिया अपनी आँखे खोल कर रवि की ओर देखती है और फिर दोनो एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा देते है और फिर एक दूसरे को अपनी बाँहो मे कस कर चिपक जाते है, थोड़ी देर बाद सोनिया रवि को अपने उपर से अलग हटती है और फिर दोनो उठ कर बैठ जाते है सोनिया जल्दी से अपनी टीशर्ट उठा कर अपने दूध मे ढक लेती है और रवि उसको देख कर मुस्कुराते हुए देखने लगता है.
रवि- सोनिया को मुस्कुरा कर देखता हुआ, सोनिया तुम खुस तो हो ना
सोनिया- मुस्कुराते हुए अपनी नज़रे नीचे करती हुई हाँ मे अपनी गर्दन हिला देती है,
रवि- अब चलना है कि और खेलने का इरादा है
सोनिया- रवि को मारती हुई जल्दी से अपनी ब्रा उठा कर पहन लेती है और फिर अपनी टीशर्ट पहन कर जैसे ही अपनी पेंटी उठाने को अपना हाथ बढ़ाती है रवि जल्दी से उसकी पेंटी उठा लेता है और अपने मुँह पर लगा कर उसकी पेंटी सूंघने लगता है सोनिया उसकी पीठ मे एक मुक्का मारती हुई उससे अपनी पेंटी छुड़ा लेती है और फिर रवि को नीचे धकेल कर बेड से उतार देती है और जल्दी से अपनी पेंटी पहन कर अपने जीन्स को अपने मोटे-मोटे चुतडो पर चढ़ा कर रेडी हो जाती है, रवि भी अपने कपड़े पहन कर फ्लॅट को लॉक करके फिर से बाइक पर सवार होकर करण के ऑफीस पहुच जाते है और रवि सोनिया को वही खड़ी करके करण के पास जाकर उसे चाभी देकर वापस सोनिया को लेकर सीधे कॉलेज पहुच जाता है, जैसे ही रवि कॉलेज के कॅंपस मे घुसता है पायल इसको देख लेती है और रवि पायल को देख कर मुस्कुराता हुआ बाइक पार्क करके सोनिया के साथ पायल के पास आ जाता है,

पायल- कहाँ से आ रही है जुगल जोड़ी
पायल को देख कर सोनिया का चेहरा फीका पड़ जाता है पर रवि कुछ नही दीदी बस ऐसे ही घूमने चले गये थे
रवि- अच्छा सोनिया तुम जाओ मे अब दीदी को लेकर घर जा रहा हू
रवि की बात सुन कर सोनिया पायल को बाइ कहती हुई चली जाती है और फिर पायल रवि को घूर कर देखती हुई
पायल- कहाँ गया था उसको लेकर
रवि- दीदी मे सब बता दूँगा पर पहले वादा करो तुम नाराज़ नही होगी
पायल- कही तूने उसे चोद तो नही दिया
रवि- मुस्कुराते हुए, ओफ्फ हो दीदी मेने कहा ना मे सब बता दूँगा पहले मुझसे वादा करो तुम नाराज़ नही होगी
पायल- अच्छा ठीक है मे वादा करती हू अब बता, रवि चलो हम कॉफी हाउस मे चल कर बैठ कर बाते करते है
और दोनो कॉफी हाउस की ओर चल देते है,
पायल- चेर पर बैठते हुए हा अब बोल कहाँ गया था तू उस कुतिया के साथ
रवि- मुस्कुराते हुए दीदी तमीज़ से बोलो उसे वह तुम्हारी होने वाली भाभी है
पायल- क्यो तू उससे शादी करेगा क्या
रवि- हाँ दीदी, मेरी बीबी वही बनेगी यह मेने सोच लिया है
पायल- उसको खा जाने वाली नज़रो से घूर कर देखती हुई और मेरा क्या होगा
रवि- मेरा क्या होगा का क्या मतलब, तुम मेरी बहन हो और बहन ही रहोगी, तुम अपने आपको मेरी बीबी के साथ कंपेर
क्यो कर रही हो
पायल- तो फिर वह सब क्या था जो हमारे बीच हुआ
रवि- मुस्कुरा कर मुझे क्या पता हमारे बीच क्या हुआ है
पायल- उसको घूर कर देखती हुई, रवि मे नही जानती थी कि तू इतना बड़ा कमीना है
रवि- ओफ्फ हो दीदी, आख़िर तुम चाहती क्या हो क्या मे कभी शादी ना करू
पायल- मेने ये तो नही कहा
रवि - तो फिर क्या कहना चाहती हो
पायल- यही कि तू जब शादी कर लेगा तो मेरा क्या होगा
रवि- पायल का हाथ पकड़ कर सहलाते हुए तुम फिकर क्यो करती हो तुम्हे तो मे बिना शादी किए ही दिन रात चोदुन्गा और अपनी बीबी की तरह ही दिन रात तुम्हे नंगी करके अपने से चिपकाए रहुगा

पायल- मुस्कुरा कर अच्छा-अच्छा ठीक है वैसे भी तू मुझसे ज़्यादा होशियारी कर नही सकता नही तो तेरी बीबी को मे सब
बता दूँगी
रवि -मुस्कुरा कर क्या बता दोगि
पायल- मुस्कुराते हुए यही कि तू अपनी दीदी को चोदता है
रवि- पायल की नशीली आँखो मे देखता हुआ, पायल तुम इतनी खूबसूरत और मस्तानी हो कि अगर तुम मेरी दीदी ना होती तो मे तुम्हे ही अपनी बीबी बनाता
पायल- क्या मे सोनिया से भी ज़्यादा खूबसूरत हू
रवि- हाँ दीदी गॉड कसम तुम मुझे दुनिया मे सबसे जयदा खूबसूरत और सेक्सी लगती हो, पता नही तुम्हारी शादी के बाद
मे तुम्हारे बिना कैसे रह पाउन्गा
पायल- तू फिकर क्यो करता है हम दोनो मिलकर कुछ ऐसा चक्कर चलाएगे कि हमारी शादी एक ही शहर मे हो और हम
दोनो रोज एक दूसरे से मिल सके, फिर तो तू मुझे रोज चोदेगा ना
रवि -पायल का हाथ पकड़ कर सहलाता हुआ, हाँ दीदी मे तुम्हे चोदे बिना रह नही सकता, तुम तो मेरा पहला प्यार हो
मेने जिंदगी मे पहली बार अपनी दीदी को ही चोदा है इस हिसाब से तुम मेरी बीबी ही हुई ना
पायल -मुस्कुरा कर चल अब ज़्यादा तेल लगाना बंद कर और सच-सच बता सोनिया को लेकर कहाँ गया था,
रवि- दीदी आज सोनिया को मेने खूब कस कर चोदा है, आज तो उसकी ऐसी चुदाई की है कि कम से कम 3 दिन तक उसकी चूत मे दर्द रहेगा
पायल- रवि को आश्चर्या से देखती हुई, झूठ मत बोल रवि सोनिया तुझसे इतनी जल्दी अपनी चूत नही मरवा सकती है
रवि- नही दीदी मे सच कह रहा हू और फिर रवि ने सोनिया और उसके बीच हुई चुदाई की बात अपनी दीदी को बता दी
पायल- उसकी बात सुन कर कुछ अपसेट हो जाती है और रवि उसकी भावनाओ को समझ जाता है और पायल के हाथ को पकड़ कर दीदी तुम यह मत समझना कि सोनिया के आ जाने से हम दोनो के बीच के प्यार मे कोई कमी आ जाएगी, बल्कि मे तो यह कहना चाहूगा कि जो जगह मेरे दिल मे तुम्हारे लिए है वह जगह कभी भी कोई लड़की नही ले पाएगी.
-  - 
Reply
08-15-2018, 12:01 PM,
#73
RE: Mastram Story
पायल- अपना मुँह बना कर चल रहने दे कुछ ही दिन मे अपनी दीदी को भूल जाएगा, मे तो बेकार ही तेरे साथ पूरी जिंदगी के सपने बुनने मे लगी थी लेकिन मुझे क्या पता था कि जिसके लिए मे यह सब सोच रही हू वह तो एक नंबर. का कमीना है
रवि- पायल का हाथ पकड़ने की कोशिश करता है और पायल उससे अपना हाथ छुड़ा कर चल देती है
रवि- दीदी मेरी बात तो सुनो
पायल- मुझे तेरी कोई बकवास नही सुननी
रवि -पायल के आगे जाकर उसे रोकता हुआ, दीदी क्या तुम्हे मेरे प्यार पर यकीन नही है कि मे तुमसे कितना प्यार करता हू
पायल- गुस्से से उसको देखती हुई बिल्कुल नही
रवि- दीदी अगर ऐसी बात है तो तुम बस एक बार मुझसे कह दो कि रवि आज से तू सोनिया का मुँह जिंदगी भर नही देखेगा तो मे तुम्हारे लिए उसका भी त्याग कर दूँगा, इससे बढ़ कर और क्या सबूत दू मे तुम्हे अपने प्यार की सच्चाई साबित करने के लिए कि मे तुमसे कितना प्यार करता हू
पायल- रवि की बात सुन कर, क्या तू सच मुच ऐसा कर सकता है मेरे लिए
रवि- दीदी एक बार बस कह कर देख लो
पायल- मुस्कुराते हुए तो ठीक है आज के बाद तू इस दुनिया मे किसी को भी मुझसे बिना पूछे नही चोदेगा
रवि- पायल को देखते हुए कुछ सोच कर मे वादा करता हू दीदी तुम जैसा चाहती हो वैसा ही होगा
पायल -मुस्कुराते हुए, एक बार और सोच ले अगर तूने अपना वादा तोड़ा तो अपनी दीदी का मरा हुआ
रवि- पायल के शब्दो को अपने हाथो से दबाता हुआ, दीदी मरे तुम्हारे दुश्मन, तुम्हे तो जीना होगा और वह भी अपने
भाई के लिए
रवि की बात सुनते ही पायल रवि की बाँहो मे समा जाती है और रवि अपनी दीदी को चूमते हुए उसे अपनी बाँहो मे भर लेता है और फिर दोनो बाइक पर सवार होकर अपने घर आ जाते है,
घर पहुचने पर पायल सीधे अपनी भाभी के रूम मे जाती है जहा निशा बेड पर उल्टी लेटी हुई कोई बुक पढ़ रही थी,
पायल- अरे भाभी जी क्या पढ़ रही है आप
निशा- कुछ नही ननद रानी बस मे तो ऐसे ही टाइम पास कर रही थी पर तू बता बड़ी खुस लग रही है किसी लड़के से फस तो नही गई
पायल- अरे भाभी तुम्हारी ननद कोई ऐसी वासी लड़की है क्या जो किसी भी लड़के से इतनी आसनी से फस जाए
निशा-क्यो तुझे लड़को मे कोई दिलचस्पी नही है क्या
पायल- नही भाभी मे तो लड़को से दूर ही रहती हू,
निशा- क्यो
पायल- लड़को की जात का क्या भरोशा कब क्या कर दे
निशा- अच्छा रवि कहाँ है
पायल- अपने रूम मे गया है
निशा- वह तो दिन भर लड़कियो के पीछे ही रहता होगा
पायल- पता नही भाभी वह तो मुझे क्लास मे छोड़ कर ऐसा गायब होता है कि फिर कॉलेज के बाद ही मिलता है
निशा- अच्छा कभी तूने अपने भाई की नज़रो को पढ़ने करने की कोशिश की है
पायल- अपने मन मे लगता है कमिने ने भाभी के सामने ही उसँके दूध और गान्ड को घूरा होगा तभी भाभी ऐसी बात
कर रही है
निशा- क्या हुआ क्या सोचने लगी
पायल- कुछ नही मुझे कॉफी पीने का मन कर रहा है, मे जाकर कॉफी बनाती हू आप भी पियोगी क्या,
निशा- उसका हाथ पकड़ कर तू बैठ मे बना कर लाती हू और फिर निशा अपनी गदराई गान्ड को मतकती हुई जाने लगती है और पायल उसकी मटकती मोटी गान्ड को देखती हुई सोचने लगती है, बेचारे रवि की क्या ग़लती साली के चुतड है ही इतने जबरदस्त कि किसी का भी मन इसकी गान्ड मारने का करने लगे,

निशा सोचती है कि कही रवि बाद मे कॉफी के लिए ना कहने लगे इसलिए उससे भी पूछ लेती हू और वह रवि के रूम की ओर जाती है, रवि अपने कपड़े उतार कर पाजामा पहनने की तैयारी मे था तभी उसका मन अपने लंड को खोल कर देखने का होता है और वह अपने मोटे लंड को अंडरवेर से बाहर निकाल कर उसके टोपे को बाहर निकाल कर देखने लगता है और थोड़ा सहलाने पर ही उसका मोटा लोडा तन कर विकराल रूप धारण कर लेता है और वह अपने लंड को सहलाते हुए देखने लगता है तभी निशा रवि के रूम मे झाँक कर देखती है और जैसे ही उसकी नज़र रवि के मोटे लोड पर पड़ती है उसकी आँखे फटी की फटी रह जाती है और वह रवि के मोटे लंड को घूर कर देखने लगती है रवि का ध्यान दरवाजे की ओर नही होता है और वह आराम से अपने लंड को मसलता रहता है, निशा का गला उसके मोटे लंड को देख कर सूखने लगता है और वह बड़ी मुस्किल मे अपना थूक गले के नीचे उतार पाती है, निशा का दिल जोरो से धड़कता है और वह चुपचाप दबे पाँव लोटने लगती है तभी रवि को ऐसा लगता है जैसे कोई झाँक रहा था और वह अपने लंड को अंडरवेार मे डाल कर दौड़ कर दरवाजे से बाहर झाँक कर देखता है तो उसे उसकी भाभी अपने गदराए चुतड मटका कर जाते हुए दिखाई देती है,
रवि यह सोच कर खुस हो जाता है कि शायद भाभी उसके रूम के दरवाजे पर खड़ी उसके तगड़े लंड को देख रही थी वह
सोचने लगता है यह तो बहुत ही अच्छा काम हुआ है, और वह जल्दी से अपने पाजामे को पहन कर सीधा किचन मे जाता
है जहा निशा अपने भारी चुतडो को उठाए गॅस स्टॅंड के पास खड़ी कॉफी बनाती रहती है रवि जल्दी से किचन मे जाकर
अपनी भाभी के सामने मुस्कुराता हुआ जाता है और निशा उसे देख कर सीधे उसके पाजामे के तने हुए भाग की ओर
देखती है और फिर रवि की आँखो मे देखती है तो रवि मुस्कुरा देता है, और निशा अपना मुँह सामने की ओर कर लेती है
रवि- मुस्कुराता हुआ, भाभी अभी आप मेरे रूम मे आई थी क्या
निशा- उसकी बात सुन कर चौंक जाती है और एक दम हकलाते हुए नही तो मे कहाँ आई मे तो चाइ मेरा मतलब है कॉफी
बना रही हू,
रवि अपनी भाभी के पीछे जाकर उसकी मोटी गान्ड से अपने लंड को सटाता हुआ गॅस की ओर देखने का बहाना करता हुआ भाभी मेरे लिए भी बना रही हो ना
निशा- थोड़ा घबरा कर हाँ
रवि का लंड अपनी भाभी की जबरदस्त गदराई हुई मोटी गान्ड को देख कर तन जाता है और जब उसका लंड अपनी भाभी की गान्ड से सॅट जाता है तो उसका मोटा लोडा झटके मारने लगता है और निशा को उसके लंड की चुभन अपनी मोटी गान्ड मे महसूस होने लगती है,

रवि- अपने लंड का दबाव उसके भारी गदराए हुए चुतडो पर देता हुआ, भाभी लगता है आप कॉफी बहुत अच्छी बनाती
हो क्या कलर आया है आपकी कॉफी मे, और अपने मोटे लंड को अपनी भाभी के फैले हुए चुतडो के पाटो की दरार मे
लगा कर थोड़ा कस कर दबा देता है और निशा एक दम उसके लंड की चुभन अपनी गान्ड के छेद मे महसूस करके सिहर
जाती है लेकिन तभी उसको होश आता है और वह रवि को अपने पीछे से धकेलते हुए,
निशा- रवि ठीक से नही खड़ा रह सकता क्या,
रवि- निशा के सामने आकर क्या भाभी मे ठीक से तो खड़ा हू
निशा- अपने सूखे होंठो को अपनी जीभ से गीला करती हुई जाओ बाहर जाकर बैठो मे कॉफी लेकर आती हू
रवि - निशा के सामने ही उसके दूध को देखता हुआ मुस्कुराकर क्या भाभी कुछ देर तो अपने पास खड़ा रहने दो मे कब
से आपको देखने के लिए तरस रहा था
निशा- क्यो मेरे मुँह मे हीरे मोती जड़े है क्या जो तू मुझे देखने के लिए तरस रहा है
रवि- अपनी भाभी के गदराए दूध को देखता हुआ, भाभी तुम्हारे मुँह मे तो नही पर
निशा- उसको घूर कर देखती हुई पर क्या
रवि- मुस्कुराते हुए रहने दो भाभी तुम बुरा मान जाओगी
निशा- अपनी आँखे रवि को दिखाती हुई, देख रवि मुझे तेरी यह सब हरकते बिल्कुल अच्छी नही लगती है तू मेरे साथ
तमीज़ से पेश आया कर,
रवि- भाभी कभी तो मुझसे प्यार से बोल लिया करो मे कौन सी हरकत आपके साथ करता हू
निशा- ज़्यादा स्मार्ट मत बन, पहली बात तो तेरी आँख मे कचरा गिर गया था और फिर कॉलेज जाते टाइम भी कचरा गिर गया था क्या
रवि- भाभी आप तो हर बात को सीरियस्ली ले लेती हो आप को इन सब बातो को माइंड नही करना चाहिए,
निशा- तू मुझे ऐसी नज़रो से देखे और मे माइंड ना करू वा
रवि- भाभी आप खूबसूरत इतनी हो कि मे अपने आपको रोक नही पाता हू इसमे मेरी कोई ग़लती नही है बल्कि इसमे आपके इस खूबसूरत हुस्न की ग़लती है जो मुझे परेशान करता रहता है
निशा- खूबसूरत तो तेरी बहन भी है तो क्या उसे भी ऐसे ही देखता है,
रवि- मुस्कुराता हुआ, अच्छा बाबा आप नाराज़ क्यो होती है मे यहाँ से चला जाता हू, बोलो अब तो खुस
निशा- उसे देख कर अपनी आँखे दिखा कर हाँ तो जाता क्यो नही
रवि- पहले बोलो अब तो खुस हो ना अब ज़रा एक बार मुस्कुरा दो तो मे चला जाता हू
निशा- मुझे नही मुस्कुराना
रवि- प्लीज़ भाभी एक बार बस
निशा- उसकी हर्कतो से थोड़ा सा मुस्कुराती हुई उसे मारते हुए कमीना कही का और रवि वहाँ से भाग कर बाहर आ जाता है
निशा किचन मे खड़ी-खड़ी बाप रे इस कमिने का कितना बड़ा लंड है, पर रोहित तो इससे इतना बड़ा है उसके बाद भी इसका लंड तो रोहित से भी मोटा और लंबा नज़र आ रहा था, इतना मोटा लंड कैसे चूत मे घुसता होगा, चूत को तो फाड़ ही देता होगा, क्या पता इसने कभी किसी की चूत मे घुसाया है कि नही, पर कमीना पता नही क्यो मेरी गान्ड के पीछे पड़ा हुआ है लगता है यह मुझे फसा कर चोदने के फिराक मे है, तभी तो मेरी गान्ड मे अपना लंड सटा कर खड़ा था, और तो और डरता भी नही है चाहे कितना ही डराओ, जब मेरे सख़्त रवैये से इसकी इतनी हिम्मत है तो अगर इसे मे ज़रा सी ढील दू तो यह मेरी गान्ड ज़रूर मार देगा, इसकी नज़रे दिन रात मेरे दूध और चुतडो पर लगी रहती है यह ज़रूर मुझे फसा कर मुझे चोदने की फिराक मे है, वाकई बहुत ही बड़ा कमीना है यह,
-  - 
Reply
08-15-2018, 12:01 PM,
#74
RE: Mastram Story
तभी पायल किचन मे आकर क्या हुआ भाभी बड़ी देर लगा दी, कही रवि आपको परेशान तो नही करने लगा था,
निशा- मुस्कुरा कर नही-नही वह भला मुझे क्यो परेशान करने लगा
पायल- अपने मन मे उस कमिने के लिए इतना प्यार, ज़रूर कुछ ना कुछ हुआ है, क्यो कि जब कोई लड़की या औरत रवि से चुदवाने के बारे मे सोचती है तभी उसकी साइड मे बोलती है नही तो पहले तो सब रवि को कमीना ही कहती है, ज़रूर कमिने ने कुछ दाव खेल लिया है या फिर हो ना हो भाभी ने इस कमिने का लंड देख लिया है, कुछ तो है, अब क्या है वह तो मेरे प्यारे कमिने भाई से ही पता चलेगा, और सोनिया को चोद कर उसने यह भी साबित कर दिया है कि वह भाभी की चूत भी जल्दी ही मार देगा, वाकई बहुत ही बड़ा कमीना है मेरा भाई.
रवि- अपने मन मे सोचता हुआ, आज भाभी तुमने मेरे लंड के दर्शन कर के बहुत बड़ी ग़लती कर दी है अब तुम्हे इस
ग़लती की सज़ा अपनी मोटी गान्ड मे मेरा लंड लेकर ही करनी होगी, मुझे उम्मीद है कि मेरे लंड की चुभन तुम्हे बहुत
दिनो तक सताती रहेगी और यही चुभन तुम्हारे चुदवाने का कारण होगी, आख़िर तुमने पाया भी तो दुनिया का सब से बड़ा
कमीना देवेर जो है,

क्रमशः.........................
-  - 
Reply
08-15-2018, 12:08 PM,
#75
RE: Mastram Story
कमीना--20

गतान्क से आगे.............................
तीनो आमने सामने बैठ कर कॉफी पीते हुए अपनी नज़रो से एक दूसरे को देख रहे थे लेकिन उनके दिमाग़ मे बस चुदाई
की ही बाते चल रही थी और तीनो की सोच उनकी नज़रो से बया भी हो रही थी बस उनकी नज़रो को पहचानने वाला चाहिए था,

रवि अपनी कमिनि नज़रे अपनी भाभी पर चला रहा था और पायल रवि को आँखे निकाल कर उसे ऐसी हरकत ना कहने के लिए मना कर रही थी, रवि जब पायल को मुस्कुरा कर आँख मार देता है तो निशा एक दम से रवि की नज़रो को देख लेती है लेकिन ऐसा शो करती है जैसे उसने कुछ ध्यान नही दिया हो, निशा अपने मन मे इस कमिने की हर्कतो से तो लगता है कि यह अपनी बहन को भी नही चोदता होगा, कही पायल अपने भाई से तो नही फसि है, नही-नही ऐसा कैसे हो सकता है, मुझे यह सब नही सोचना चाहिए,
तभी पायल उठ कर रवि की ओर मुस्कुरा कर देखती हुई अपने रूम मे जाने लगती है,
निशा- अरे पायल बैठ ना कहाँ जा रही है
पायल- अभी आई भाभी अपने कपड़े चेंज करके
निशा- ओके
पायल के जाने के बाद निशा अपनी नज़रे रवि की ओर करती है और रवि को मुस्कुराता हुआ अपनी ओर ही देखता पाती है
निशा- क्यो रवि क्या बात है तुम्हारे चेहरे पर हर समय मुस्कान रहती है
रवि- क्या करू भाभी जब से आप इस घर मे आई हो मेरी खुशी का ठिकाना ही नही है
निशा- क्यो क्या मे इतनी अच्छी हू
रवि- आपकी तारीफ के लिए मेरे पास शब्द नही है
निशा- और क्या पायल तुझे अच्छी नही लगती है
रवि- मुस्कुराते हुए नही भाभी ऐसी बात नही है दीदी भी अच्छी लगती है लेकिन आपकी तो बात ही कुछ और है और निशा के गदराए मोटे-मोटे चुचो को देखने लगता है निशा अपने पल्लू को अपनी छाती मे ठीक से रखते हुए झल्ला कर
निशा- रवि ऐसे घूर कर क्यो देखा करता है क्या खा जाएगा
रवि- मुस्कुरा कर उसके रसीले होंठो को देखता हुआ अरे भाभी आप भी कैसी बाते करती है आप क्या खाने की चीज़ है
आप तो पीने.....
निशा- अपनी आँखो को निकाल कर उसको घूर कर गुस्से से देखती हुई, क्या बोला
रवि- मुस्कुरा कर कुछ नही भाभी
निशा- मे जानती हू तू क्या कहना चाहता है
रवि- मुस्कुराते हुए, क्या
निशा- रवि तू क्या सोचता है कि मे कोई ऐसी वैसी औरत हू
रवि- निशा के सीरीयस चेहरे को देख कर सीरीयस होता हुआ, भाभी मेने ऐसा कब कहा कि आप ऐसी वैसी औरत है
निशा- तो फिर तू मेरे साथ इस तरह क्यो पेश आता है
रवि- देखो भाभी मे तो आप से थोड़ी मज़ाक कर लेता हू यदि आपको मेरी किसी बात का बुरा लगता है तो मुझे आप साफ-साफ कह दिया करो तो मे आगे से ऐसी हरकत नही किया करूँगा
निशा- ठीक है तो फिर आगे से मेरे.... और फिर कुछ कहती हुई चुप हो जाती है और अपनी नज़रे इधर उधर करने लगती है
रवि- आगे से क्या भाभी
निशा- उसको घूर कर देखती हुई कुछ नही
रवि- नही भाभी कुछ तो है जो तुम्हे पसंद नही है मुझे खुल कर बता दो मे आगे से वह हरकत नही करूँगा जो
आपको पसंद ना हो
निशा- उसको गौर से देखती हुई, थोड़ा मुस्कुरा कर रवि तू बहुत बड़ा कमीना है,
रवि- अपनी भाभी की बात सुन कर मुस्कुराता हुआ, वाह भाभी क्या खूब पहचाना है आपने अपने देवेर को
निशा- मुस्कुराते हुए बेटा मे तुझे आज नही उसी दिन पहचान गई थी जिस दिन तूने मुझे पहली बार अपनी इन कामिनी नज़रो से देखा था
रवि- मुस्कुराते हुए, भाभी मुझ मे यह विशेषता है कि कोई भी औरत मुझसे ज़्यादा समय तक नाराज़ नही रह पाती
है, अब अपने आप को ही देख लो मुझसे बाते करते हुए कितना खुस नज़र आ रही हो जबकि थोड़ी देर पहले आप मुझसे कितना नाराज़ हो रही थी,
निशा- उसकी बात सुन कर मुस्कुराते हुए वेरी स्मार्ट
रवि- अरे भाभी यह तो कुछ भी नही है जब आप मुझसे बिल्कुल फ्रॅंक हो जाओगी तब देखना आप मुझसे कितना खुस रहने
लगोगी और तो और आपका मन करेगा कि आप दिन भर मेरे पास ही रहो और मुझसे बाते करती रहो,

तभी अंदर से पायल की आवाज़ आती है रवि ज़रा यहाँ आना
निशा- मुस्कुराते हुए हाँ तू सच कहता है तभी तो पायल भी तेरे बिना ज़्यादा देर तक नही रह पाती है
रवि- निशा की बात को समझ कर मुस्कुराता हुआ, भाभी थोड़ा सा आप भी ट्राई करोगी तो आप भी मुझे हर पल अपने पास ही रखना चाहोगी बस थोड़ा सा मेरे बारे मे अपनी राय बदल लो फिर देखना आप मुझसे कितना खुस रहोगी, समझी, और फिर निशा के सामने ही उसको आँख मार कर मुस्कुराते हुए अपनी दीदी के रूम की ओर बढ़ जाता है और निशा उसको अपना मुँह फाडे देखती रह जाती है और फिर कुछ देर बाद थोड़ा सा मुस्कुरा कर कमीना कही का कह कर टीवी ऑन कर लेती है.
रवि पायल को पीछे से जाकर उसके गदराए मोटे-मोटे दूध को अपने हाथो मे भर कर दबोचता हुआ हे दीदी कब से
तुम्हे छुआ नही था, कितना तड़प रहा हू मे तुम्हारे बिना, ना जाने यह रात कब होगी,
पायल- उसको दूर धकेल्टी हुई, क्यो रे तू अपनी हरकत से बाज नही आएगा, इतनी जल्दी गरम-गरम खाने की कोशिश मत कर अपना हाथ और मुँह दोनो जला लेगा
रवि- पायल को वापस से पकड़ कर अपनी बाँहो मे भरते हुए दीदी तुम फिकर क्यो करती हो तुम्हारा भाई हर औरत की
कमज़ोरी को जल्दी ही पकड़ लेता है, अब भाभी की बात छोड़ो और अपने इन मस्ताने दूध को पिलाने की बात करो और पायल के दूध को अपने हाथो से कस-कस कर मसल्ने लगता है,
पायल- आह थोड़ा धीरे दबा रवि तू तो एक दम जान निकालने पर उतारू हो जाता है
रवि- उसके दूध को कस कर दबाते हुए, हे दीदी मे क्या करू तुम्हारे ये मस्ताने दूध है ही इतने कठोर कि जब मे
इन्हे दबाता हू तो यह खुद मुझसे कहने लगते है कि बेटा रवि थोड़ा ज़ोर लगा कर दबाना तभी तो तेरी प्यारी दीदी की चूत
मे पानी आएगा,
पायल- आह तू बहुत कमीना है तुझे औरतो के हर सुख की नब्ज़ का अंदाज़ा रहता है, तभी तो औरते जल्दी ही तुझे अपनी चूत दे देती है,
रवि- अपनी दीदी की चूत को अपने हाथो मे भर कर दबोचता हुआ, दीदी तुम्हारी इस फूली हुई चूत की तो बात ही अलग है
पायल- चल झूठा कही का तेरे मन मे तो ना जाने किस-किस की चूत बसी हुई है अपनी दीदी को तो तू टाइम पास समझने लगा है
रवि- नही दीदी सच मुच तुम्हारी चूत के मुक़ाबले किसी की चूत नही है,
पायल- मुस्कुरा कर अच्छा, तो मुझे यह बता कि तुझे सोनिया को चोदने मे ज़्यादा मज़ा आया था या मुझे
रवि- सच कहु दीदी जितना मज़ा तुम्हारी मस्तानी चूत को फाड़ने मे आया था ना उतना मज़ा शायद ही किसी को चोदने मे
आएगा, तुम तो उपर से लेकर इतनी सेक्सी और खूबसूरत हो की मे तुम्हे चोदे बिना अब जी ही नही सकता हू, और पायल के रसीले होंठो को अपने मुँह मे भर कर उसके मोटे-मोटे चुतडो को अपने हाथो मे कस कर खूब ज़ोर-ज़ोर से दबोचने
लगता है, पायल उसके लंड को उसकी पेंट के उपर से दबाते हुए,
पायल- अपनी दीदी को चोदने के लिए तेरा यह मोटा डंडा कितना जल्दी खड़ा हो जाता है
रवि- पायल की चूत को अपने हाथो से दबोचते हुए, दीदी तुम्हारी चूत भी तो अपने भाई के मोटे डंडे को खाने के लिए
कितनी जल्दी फूल जाती है,
पायल- रवि क्या कर रहा है अभी चोद देगा क्या अपनी दीदी को
रवि- हाँ दीदी मे तो कब से तुम्हे चोदने के लिए तड़प रहा हू
पायल- पगले अभी मुझे छोड़ कही भाभी ना देख ले, यह सब रात को करेगे
रवि- पायल के होंठो को चूमता हुआ, ठीक है दीदी जैसा तुम कहो और फिर रवि बाहर आ जाता है, जब रवि बाहर आता है
तो निशा उसके चेहरे को गौर से देखती है और रवि उसको देख कर मुस्कुराता हुआ उसके सामने आकर बैठ जाता है
-  - 
Reply
08-15-2018, 12:09 PM,
#76
RE: Mastram Story
रवि- क्या देख रही हो भाभी
निशा- मुस्कुराते हुए देख रही हू कि अपनी दीदी की एक आवाज़ मे कैसा भागा-भागा जाता है
रवि- मुस्कुराते हुए, कभी आप भी आवाज़ देकर देखो आपके लिए तो इससे भी तेज दौड़ कर आ जाउन्गा
निशा- मुझे तो तेरी किसी भी हेल्प की ज़रूरत ही नही है
रवि- अपना कोई काम करवा कर तो देखो भाभी फिर आपको हमेशा मेरी ही हेल्प की ज़रूरत पड़ेगी
निशा- क्यो तू इतना एक्सपर्ट है क्या
रवि- मुस्कुराता हुआ भैया से भी ज़्यादा एक्सपर्ट हू मे कभी आजमा कर देखो आप भी याद करोगी
निशा- अच्छा इतना विश्वास है अपने आप पर
रवि- अपने आप पर नही अपने काम करने के तरीके पर
निशा- मुस्कुराते हुए ऐसा क्या तरीका यूज़ करता है तू
रवि- भाभी वह तो मे कर के ही दिखा सकता हू कभी मोका दो तो बताउन्गा
निशा- मुस्कुराते हुए सोचूँगी
रवि- अरे भाभी इसमे सोचना क्या, बस एक बार इशारा करो बंदा हाजिर हो जाएगा
निशा- और अगर तेरे भैया ने कहा कि रवि से कोई भी काम क्यो करवाती हो तो फिर
रवि- अरे भाभी भैया को बताने की ज़रूरत ही क्या है
निशा- और अगर उन्हे फिर भी पता चल गया तो
रवि- भाभी आप इतनी तो समझदार है ही कि भैया को क्या पता लगना चाहिए और क्या नही यह तय कर ले
निशा- मुस्कुरा कर तुझे मेरी हेल्प करने मे बड़ी दिलचस्पी है
रवि- अपने मन मे भाभी तुम्हारे जैसा गदराया माल जब सामने हो तो किसकी दिलचस्पी नही होगी तुम्हे चोदने मे,
रवि- क्या करू भाभी मुझे अपने घर की औरतो की हेल्प करने मे बड़ा मज़ा आता है
निशा- अपनी दीदी की भी हेल्प करता है क्या
रवि- मुस्कुरा कर आपको क्या लगता है
निशा- अपने मन मे सोचती हुई मुझे तो लगता है कमिने तू अपनी दीदी को ज़रूर चोदता होगा, तेरे होंठो पर लगी लिपस्टिक
इस बात का सबूत है, पायल दिखने मे तो बड़ी भोली बनती है पर मुझे अब यकीन हो गया है कि तू ज़रूर उसे चोदता है और वह भी खूब कस कर तुझसे अपनी चूत मरवाती है,
रवि- क्या हुआ भाभी क्या सोचने लगी
निशा- कुछ नही मे तो यह सोच रही थी कि पायल क्या तेरी हेल्प लेने को तैयार हो जाती होगी
रवि- क्यो क्या बुराई है मुझमे
निशा- वही तो मे सोच रही हू
रवि- भाभी अब ज़्यादा सोचो मत जल्दी से कोई फ़ैसला लो
निशा- क्यो तुझे बड़ी जल्दी है मेरी हेल्प करने की मुझे तो अभी तेरी हेल्प की ज़रूरत नही है हाँ पायल को ज़रूर तेरी हेल्प की ज़रूरत पड़ती होगी

रवि- निशा की गदराई जवानी को उपर से नीचे तक खा जाने वाली नज़रो से देखता हुआ, भाभी आपको देख कर तो ऐसा लगताहै कि आप को बहुत ज़्यादा मेरी हेल्प की ज़रूरत है
निशा- रवि की बात सुन कर उसकी आँखो मे घुरती हुई मुझे तेरी हेल्प की अभी कोई ज़रूरत नही है
रवि- निशा के मोटे-मोटे दूध को देखता हुआ लगता है भाभी आप मेरी हेल्प लेने मे डर रही है
निशा- भला मे क्यो डरने लगी तुझसे
रवि- नही भाभी आप ज़रूर डर रही है नही तो आपका अंदाज तो यही साबित करता है कि आप भी मेरी हेल्प लेने के लिए मरी जा रही है
निशा- तुझे क्या मालूम मे मरी जा रही हू या नही
रवि- अगर आप मरी नही जा रही है तो फिर मे आपको इतना अच्छा क्यो लगता हू
निशा- उसको घूर कर देखती हुई किसने कहा कि तू मुझे अच्छा लगता है
रवि- दीदी ही कह रही थी
निशा- आश्चर्या से रवि को देखती हुई क्या कह रही थी पायल
रवि- यही कि रवि बहुत ही अच्छा लड़का है अपने भैया से बिल्कुल अलग है और मे ऐसा ही देवेर चाहती थी जो दिन भर
मेरा ख्याल रखे
निशा- मेने ऐसा कब कहा पायल से
रवि- अच्छा तो क्या मे झूठ बोल रहा हू, अभी मे दीदी को बुला कर पुछवा देता हू कि उसने ऐसा कहा था कि नही मुझसे
निशा- नही-नही रहने दे हो सकता है मेने कहा हो, मुझे ठीक से याद नही है
रवि- मुस्कराता हुआ, तो अब सच-सच बताओ मे आपको अच्छा लगता हू ना
निशा- रवि की बात सुन कर मुस्कुराते हुए अपने मुँह से ही अपनी तारीफ करवा रहा है मुझसे
रवि- प्लीज़ भाभी एक बार तो बता दो
निशा- मुस्कुरा कर क्या बता दू
रवि -यही कि आप मेरे बारे मे क्या सोचती हो
निशा- मुस्कुरा कर "तू बहुत बड़ा कमीना है"
रवि -मुस्कुराते हुए तो फिर भाभी अब ये भी बता दो कि इस कामीने को कब मोका दोगि अपनी हेल्प करने का मे बहुत तड़प रहा हू आपके लिए, मेरा मतलब है आपकी हेल्प के लिए
निशा- मुस्कुरा कर रवि तू ऐसा सोच भी कैसे लेता है कि मे तुझसे....
रवि- भाभी मे तो आपके लिए बहुत कुछ सोचता हू
निशा- उसको देखती हुई क्या सोचता है
रवि- मुस्कुरा कर उसके सामने ही उसके मोटे-मोटे दूध को खा जाने वाली नज़रो से घूरता हुआ, बता दू
निशा- अपनी नज़रे चुराते हुए, क्या
रवि- यही कि मे आपके बारे मे क्या सोचता हू
निशा- उसको घूर कर देखती हुई, नही कोई ज़रूरत नही है, मे सब जानती हू तू क्या सोचता है
रवि- मुस्कुराते हुए तो फिर आप ही बता दो मे क्या सोचता हू
निशा- मुझे नही मालूम
रवि- मुस्कुराता हुआ, ठीक है भाभी आप तो मुझे कुछ नही बताओगि पर मे भी सब जानता हू कि आप मेरे लिए क्या सोचती है, और मे यह भी जानता हू कि आप मेरे रूम के दरवाजे पर खड़ी -खड़ी क्या देख रही थी
निशा- उसकी बात सुन कर एक दम से सकपका जाती है और क्या-क्या देख रही थी मे, मेने कब देखा, मे थोड़े ही वहाँ थी
रवि- भाभी आप कितना ही छुपा लो मेने तो आपकी उस बात को दीदी को भी बता दिया है

निशा- एक दम घबराकर क्या बता दिया है तूने पायल से
रवि- अपनी भाभी का घबराया हुआ चेहरा देख कर अरे भाभी इतना घबरा क्यो रही हो मे तो मज़ाक कर रहा हू, मेने
दीदी को कुछ नही बताया है कि आप उस वक़्त क्या देख रही थी छुप कर
रविकी बात सुन कर निशा कुछ शर्मा जाती है और अपनी गर्दन नीचे करती हुई अपनी नज़रे झुका लेती है
रवि बैठा-बैठा निशा को देखता रहता है और फिर निशा जब अपनी नज़रे उठा कर रवि को देखती है तो रवि एक दम से
निशा को आँख मार देता है और निशा शर्म से पानी-पानी हो जाती है, रवि उठ कर निशा के पास जाकर बैठ जाता है और
निशा अपनी नज़रे ज़मीन से गढ़ाए रहती है
रवि- भाभी, और निशा अपनी नज़रे उठा कर रवि को देखती है उसका चेहरा ऐसा दिखाई दे रहा था जैसे उसको किसी ने रंगे
हाथो चोरी करते हुए पकड़ लिया था,
रवि- निशा की आँखो मे देखते हुए, भाभी आप बहुत खूबसूरत हो, निशा उसकी बात सुन कर अपनी नज़रे नीचे करती है
तो रवि उसकी थोड़ी को अपने हाथो से पकड़ कर उसके चेहरे को उपर उठता है और भाभी आइ लव यू
रवि की बात सुन कर निशा उठ कर जाने लगती है तो रवि उसका हाथ पकड़ लेता है और
रवि- भाभी कहाँ जा रही हो
निशा- अपने हाथ को छुड़ाने की कोशिश करती हुई मुझे जाने दे रवि
रवि- खड़ा होकर निशा के हाथो को कस कर पकड़ता हुआ उसकी मोटी गान्ड से अपने लंड को सताता हुआ, भाभी फिर मुझसे कब अपनी हेल्प कर्वओगि
निशा- अपने हाथ को छुड़ा कर उसको सोफे पर धकेल्टी हुई मुस्कुरा कर कभी नही और अपने मोटे-मोटे चुतडो को
मतकती हुई पायल के रूम की ओर जाने लगती है,
रवि- पीछे से आवाज़ लगता हुआ, भाभी अगर आपने मुझसे हेल्प नही करवाई तो मे आप वाली बात दीदी को बता दूँगा
निशा रवि को कुछ कहती उससे पहले ही पायल रूम से बाहर आती हुई
पायल- क्या बता देगा रवि
पायल की बात सुन कर निशा के होश उड़ जाते है और वह रवि को ना मे गर्दन हिलाते हुए उसे इशारे से चुप रहने को
कहती है
रवि- निशा को मुस्कुराते हुए देख कर कुछ नही दीदी मे तुम्हे बाद मे बताउन्गा
पायल- क्या बात है अभी बता ना
रवि- नही दीदी अभी नही पहले भाभी से तो पूछ लू कि मे तुम्हे बताऊ कि नही
पायल- ओफ्फ हो पहेलिया क्यो बुझा रहा है बताना है तो बता नही तो मत बता और भाभी के पास आकर भाभी आप ही
बताओ क्या बात है
निशा- घबराते हुए कुछ नही, रवि तो मज़ाक कर रहा है, और रवि को घूर कर देखती हुई , है ना रवि
रवि- भाभी पहले बोलो हेल्प का जवाब यस है या नो
निशा- उसको घूर कर देखती हुई हाँ, हाँ यस है अब तो खुस
रवि- अरे दीदी मे तो मज़ाक कर रहा था दरअसल मेने भाभी से एक पहेली पूछी थी और भाभी उसका जवाब नही दे पाई
और शर्त के मुताबिक मे अब जो भी भाभी से मागुंगा भाभी को मुझे देना पड़ेगा
क्रमशः.........................
-  - 
Reply
08-15-2018, 12:09 PM,
#77
RE: Mastram Story
कमीना--21

गतान्क से आगे.............................

रवि- निशा को देख कर क्यो भाभी मे जो भी मांगूगा आप दोगि ना

निशा- रवि की ओर देख कर मुस्कुराते हुए, हाँ, हाँ जो तुझे चाहिए ले लेना

रवि- निशा की गदराई जवानी पर उसकी आँखो के सामने ही नज़र मारते हुए, भाभी तुम जानती हो मुझे क्या चाहिए, अब

बाद मे जब मे मांगूगा तो मुकरना नही, नही तो और पायल को बता देने का इशारा करता है और निशा की ओर मुस्कुरा

कर आँख मारता हुआ अपने रूम मे चला जाता है

उसके जाने के बाद निशा गहरी सांस लेती हुई पायल बड़ा ही कमीना है तेरा भाई

पायल- क्यो क्या हो गया भाभी, सच पूछो तो मे आप दोनो की गोल मोल बात को समझ ही नही पाई

निशा- पायल को देख कर मुस्कुराते हुए यह सब तेरा ही किया धरा है तू क्या-क्या कहती रहती है रवि से मेरे बारे मे

पायल- निशा को आश्चर्या से देखते हुए मेने क्या कहा है

निशा- अब जाने दे, मुझे तो तूने फसा ही दिया है

पायल- अरे भाभी मुझे सच मे कुछ नही मालूम आख़िर हुआ क्या है

निशा- वो सब छोड़ मे तुझे बाद मे बताउन्गि पहले यह बता कि रवि को क्यो बुलाया था अपने कमरे मे

निशा की बात सुन कर पायल एक दम से झेप जाती है और उसके चेहरे के बदलते एक्सप्रेशन को देख कर निशा मुस्कुराने

लगती है,

निशा- क्या हुआ मेने कुछ ग़लत पूछ लिया क्या

पायल- सकपका कर नही वो ऐसा है भाभी

निशा- मुस्कुरा कर कैसा है, बड़ा कमीना है ना

पायल- कौन

निशा- अरे वही अपना रवि

पायल- थोड़ा मुस्कुरा कर हाँ वो तो है

निशा- तुझे कैसे पता कि वह बहुत कमीना है

पायल- फिर से झेप्ते हुए मुझे क्या पता मे तो आपकी हाँ मे हाँ मिला रही हू

निशा- बिना सोचे समझे

पायल- ओफ्फ हो भाभी अब कोड वर्ड मे बाते करना बंद भी करो और साफ-साफ कहो आप क्या कहना चाहती हो

निशा- पायल के गाल को खिचती हुई, साफ-साफ कह दू

पायल- घबरा कर, बात पलटती हुई भाभी आज खाने मे क्या बनाना है,

निशा- मुस्कुरा कर अरे अभी तो बहुत समय है आ थोड़ी देर बैठ कर बाते करते है

पायल- घबराती हुई वो भाभी मुझे ज़रा बाथरूम जाना है

निशा- मुस्कुराते हुए, अच्छा जा मे तेरा यही वेट करती हू

पायल जल्दी से बाथरूम मे जाकर घुस जाती है और लंबी-लंबी साँसे लेती हुई, भाभी कैसी बाते कर रही है कही इन्हे

शक तो नही हो गया, ज़रूर उस कमिने ने कुछ किया है तभी तो भाभी मुझसे ऐसी बाते कर रही है कही रवि ने उन्हे

कुछ बता तो नही दिया, उसका कोई भरोशा नही है, अब क्या करू मे बाहर कैसे जाउ, भाभी फिर से कुछ पूछने लगी तो

मे क्या जवाब दूँगी, तभी बाहर से निशा की आवाज़ आती है पायल कितना देर लगाएगी, पायल घबराती हुई आई भाभी, हे

भगवान आज तो बचा ले मुझे, कहा फसा दिया इस कमिने ने, तभी निशा का फोन बजता है और दूसरी ओर रोहित उससे

बाते करने लगता है,

पायल धीरे से दरवाजा खोल कर बाहर आती है और भाभी को दूसरी ओर मुँह करके बात करते देखती है और चुपचाप दबे

पाँव अपने रूम मे भाग जाती है. निशा फोन कट करने के बाद बाथरूम का दरवाजा खोल कर अंदर देखती है और फिर

मुस्कुराती हुई, सोचती है हो ना हो इन दोनो के बीच ज़रूर कोई ना कोई लेफ्डा चल रहा है लेकिन मे कैसे मालूम करू पायल तो मुझे बताने से रही, अब तो मुझे इन सब बातो की सच्चाई सिर्फ़ रवि से ही पता चल सकती है पर यह भी सच है कि अगर

मे यह सब बाते जानना चाहती हू तो मुझे रवि से अपनी चूत मर्वानी पड़ेगी, वह कमीना भी तो मेरी चूत के पीछे हाथ

धो कर पड़ा है, वैसे उसका लंड बहुत ही बड़ा है जो भी उसके लंड से चुदेगि उसे तो मज़ा आ जाएगा, अरे यह क्या मेरी

चूत क्यो गीली हो गई और मुस्कुराते हुए रवि के मोटे लंड के बारे मे सोचेगी तो चूत तो गीली होगी ही ना,

................................

उधर सोनिया को देखने के लिए लड़के वाले आ जाते है और सोनिया काफ़ी दुखी मन से अपने मा-बाप के सामने लड़के वालो के सामने जाती है, लड़के वाले सोनिया को देखते ही रिश्ता पक्का कर देते है और यह कह कर चले जाते है की एक आख़िरी बार वह सोनिया का फोटो अपने बेटे के पास भेज रहे है अगर उसे भी लड़की पसंद आ गई तो जल्द ही शादी की डेट तय कर दी जाएगी, सोनिया यह सब सुन कर काफ़ी उदास हो जाती है और रोने लगती है, और रवि को फोन करके सब बाते उसे बताने लगती है, और रवि से कहती है वह उसे आकर ले जाए नही तो वह जहर खा कर अपनी जान दे देगी,

रवि- ओफ्फ हो सोनिया पागलो जैसी बात क्यो करती हो तुम फिकर मत करो मे कुछ ना कुछ रास्ता निकाल लूँगा और अगर कुछ नही हुआ तो तुम्हारे मरने से पहले मे उसे मार दूँगा जो तुमसे शादी करने चला है, और सोनिया को कॉन्फिडेन्स मे लेकर चुप करा देता है और फोन रख देता है, तभी उसके पास करण का फोन आता है और

कारण- हेलो रवि कहाँ है

रवि- घर पर बोल क्या बात है

कारण- अबे एक खुशी की बात है

रवि- अच्छा वह क्या

कारण- अरे मेरे मम्मी-पापा ने मेरे लिए एक लड़की पसंद कर ली है और उसकी तस्वीर कल तक मेरे पास आ जाएगी तू एक काम कर कल सनडे भी है तू कल मेरे फ्लॅट मे आ जा हम कल इंजोय करते है,

रवि- ओके डियर मे सुबह ही पहुच जाउन्गा पर साले कल भी तू मुझे दिन मे ही वोड्का पिलाएगा क्या,

कारण- अबे जब मस्ती मारना हो तो दिन क्या और रात क्या आजा मज़ा आ जाएगा

रवि- चल ठीक है मे आता हू बाइ

रात को रोहित और निशा अपने रूम मे घुस कर चुदाई शुरू कर देते है और दूसरी तरफ रवि अपनी दीदी के रूम मे जाकर

उसके साइड मे लेट जाता है और फिर दोनो भाई बहन एक दूसरे का चेहरा देखते हुए एक दूसरे की आँखो मे देखने लगते

है और दोनो बिना एक दूसरे को छुए ही गरम होने लगते है,

रवि- पायल की आँखो मे देखता हुआ धीरे से अपने हाथ को अपनी दीदी के गदराए दूध पर रख कर हल्के-हल्के दबाते

हुए, मेरी जान तुम कितनी सेक्सी और खूबसूरत लगती हो, काश तुम मेरी बीबी होती,

पायल- रवि के मोटे लंड को उसके पाजामे के उपर से ही दबाती हुई, दीदी समझ कर हो चोद रवि तुझे ज़्यादा मज़ा आएगा

बीबी को तो हर कोई चोद लेता है पर अपनी दीदी को तो नसीब वाले ही चोद पाते है,

रवि - पायल के मस्ताने दूध को कस कर मसलता हुआ, दीदी अगर तुम्हारे जैसी गदराई दीदी जिसकी भी होगी वह उसे ज़रूर चोदने के लिए मरा जाएगा,

पायल- उसके मोटे लंड को दबाती हुई, बेटे तेरे जैसा लंड भी जिस लड़की के भाई का होगा वह ज़रूर उसे अपनी फूली हुई चूत मे लेने के लिए मचल जाएगी

रवि अपनी दीदी से बाते भी करता जा रहा था और बीच-बीच मे कभी उसके मोटे गदराए दूध को मसलता कभी उसके

रसीले होंठो को चूस्ता और कभी अपना हाथ पीछे ले जाकर उसकी मोटी गान्ड को दबाता,

रवि- दीदी तुम्हारे चुतड कितने भारी हो गये है ऐसा लगता है जैसे तुम खूब कस कर अपनी गान्ड मरवाती हो

पायल- मुझे लगता है आज तू मेरी गान्ड मरने के मूड मे है,

रवि- दीदी तुम कहो तो आज मे तुम्हारी गान्ड को खूब कस कर चोद दू,

पायल- मुस्कुरा कर पर मुझे ज़्यादा दर्द होगा तो

रवि- नही दीदी मे इस तरह से तुम्हारी गान्ड मारूँगा कि तुम्हे ज़्यादा दर्द नही होगा

पायल- और मेरी चूत जो सुबह से रस छोड़ रही है उसका क्या होगा

रवि- दीदी तुम फिकर क्यो करती हो मे तुम्हारी चूत का सारा रस अपने मुँह से पी जाउन्गा, और तुम मेरे मुँह मे ही अपना सारा रस छोड़ देना

पायल- नही तू थोड़ी देर मेरी गान्ड मार ले लेकिन फिर मुझे अपनी चूत मे तेरा मोटा लंड चाहिए

रवि- अच्छा ठीक है और पायल की गदराई गान्ड को दबोचते हुए, लेकिन दीदी तुम्हारी गान्ड मे ज़्यादा दर्द ना हो इसके लिए

मुझे तेल लगा कर तुम्हारी गान्ड को चिकना बनाना पड़ेगा, पायल अपनी स्कर्ट और टीशर्ट उतार कर तुरंत नंगी हो जाती है और फिर अपनी ब्रा और पेंटी उतार कर खड़ी हो जाती है और रवि की ओर मुस्कुरा कर देखती हुई मे कैसी लग रही हू

रवि- अपनी दीदी की नंगी गदराई जवानी उसके मोटे-मोटे कसे हुए दूध और फूली हुई चूत को देख कर मस्त हो जाता है

और खुद भी अपने सारे कपड़े उतार कर पूरा नंगा हो जाता है उसका मोटा लंड सर उठाए खड़ा रहता है और वह अपनी

दीदी के पास जाकर उसकी नंगी गदराई जवानी को अपनी बाँहो मे भर कर पागलो की तरह चूमने लगता है, दोनो भाई बहन

एक दूसरे से पूरे नंगे खड़े होकर चिपके हुए एक दूसरे की गान्ड और पीठ को सहलाते हुए एक दूसरे के मुँह, होंठ को

चूमने लगते है

रवि- दीदी चलो ड्रेसिंग टेबल के शीशे मे एक दूसरे को नंगा देखते है

पायल- उसके लंड को अपने हाथो से पकड़ कर अपनी गान्ड मतकती हुई धीरे-धीरे रवि के लंड को अपने हाथो से खिचते

हुए ड्रेसिंग टेबल की ओर जाने लगती है और रवि अपनी दीदी के गदराए चुतडो की मस्तानी थिरकन को देखता हुआचल देता

है, ड्रेसिंग टेबल के शीशे के सामने जाकर दोनो एक दूसरे से नंगे ही चिपक जाते है और शीशे मे एक दूसरे का चेहरा

देख कर मुस्कुराते हुए एक दूसरे के नंगे बदन को सहलाने लगते है, पायल अपनी मोटी गदराई गान्ड को शीशे के सामने

करके थोड़ा अपनी गान्ड को बाहर निकाल कर रवि को दिखाती है और रवि अपनी दीदी की मस्तानी गान्ड को शीशे मे देखते हुए

उसकी गदराई गान्ड के मोटे-मोटे पाटो को सहलाता हुआ अपनी दीदी की गहरी गुदा मे अपने हाथ की उंगलिया फेर-फेर कर

सहलाने लगता है और पायल अपने भाई के मोटे लंड के टोपे को खोल कर उसके टोपे को सहलाने लगती है,

तभी रवि द्रीसिंग टेबल के उपर रखी ऑमंड ड्रॉप्स की शीशी को उठा कर उससे तेल निकाल कर अपनी दीदी की मोटी गान्ड की दरार मे तेल लगा कर उसकी गदराई मोटी गान्ड के छेद मे अपनी उंगली घुसा-घुसा कर तेल लगाने लगता है तभी पायल अपनी हथेली को आगे करके रवि को अपने हाथ मे तेल डालने का इशारा करती है और रवि उसके हाथो मे तेल डाल देता है और पायल अपने हाथो मे तेल लेकर रवि के मोटे लंड मे तेल लगा-लगा कर उसे सहलाने लगती है, रवि अपनी दीदी के मोटे गदराए चुतडो को पूरा तेल से भिगो देता है और खूब कस-कस कर अपनी दीदी के मस्ताने चुतडो की मालिश करने लगता है, वह जितनी ज़ोर से अपनी उंगलियो को अपनी दीदी की गान्ड की दरार मे भरता है पायल भी उतनी ही तेज तरीके से अपने हाथो को अपने भाई के लंड पर कस-कस कर तेल मलने लगती है,

करीब 10 मिनिट तक दोनो एक दूसरे की गान्ड और लंड मे तेल लगा-लगा कर पूरी तरह चिकना कर देते है उसके बाद रवि अपनी दीदी को बेड से सटा कर पेट के बल बेड के नीचे टाँगे झुला कर लिटा देता है और फिर अपनी दीदी की मोटी गान्ड के छेद को अपने हाथो से फैलता है तो पायल उसके हाथ को हटाते हुए अपने हाथो से अपनी गदराई मोटी गान्ड को खूब कस कर फैलाती है और अपने भाई को अपनी गान्ड का कसा हुआ छेद दिखा कर ले रवि अब डाल अपने लंड को अपनी दीदी की गदराई गान्ड मे, रवि पायल की बात सुन कर अपने लंड को अपनी दीदी की गान्ड के छेद मे लगा कर एक तगड़ा धक्का मारता है और उसका

लंड अपनी दीदी की गान्ड के छेद को फैलता हुआ लगभग आधा अंदर धस जाता है और पायल की गान्ड फॅट जाती है और वह ज़ोर से सीसियाते हुए आह रवि बहुत मोटा है तेरा लंड आ रवि प्लीज़ मे मर जाउन्गि, रवि रुक जा रवि आ, रवि अपने आधे लंड को फसाए हुए अपनी दीदी की गान्ड के मोटे-मोटे पाटो को दबोच-दबोच कर सहलाते हुए अपने लंड को धीरे-धीरे

अपनी दीदी की मोटी गान्ड मे गाढ़ने लगता है,
-  - 
Reply
08-15-2018, 12:09 PM,
#78
RE: Mastram Story
पायल आह-आह करती हुई अपनी गान्ड के छेद को कभी सिकोडती है कभी फैलाती है, रवि लगातार अपनी दीदी की गान्ड के मोटे- मोटे पाटो को मसल-मसल कर सहलाता रहता है जब पायल कुछ शांत दिखाई देती है तो रवि अपने लंड को एक दम से कस कर अपनी दीदी की मोटी गान्ड मे पेल देता है और उसका मोटा लंड उसकी दीदी की मोटी गान्ड को फाड़ता हुआ पूरा अंदर फिट हो जाता है और पायल की गान्ड फॅट जाती है और वह ज़ोर-ज़ोर से सीसियाते हुए अपनी गान्ड के छेद को सिकोड़ने लगती है, रवि अपनी

दीदी की गान्ड को बड़े प्यार से सहलाता हुआ धीरे-धीरे अपने लंड को अंदर बाहर करने लगता है और पायल आह-आह रवि सी आह-आह ओह रवि बहुत दर्द हो रहा है रवि प्लीज़ रुक जा आह-आह, रवि अपनी दीदी के मोटे चुतडो को कस-कस कर अपने हाथो से भिचता हुआ उसकी गान्ड मारने लगता है और पायल अपने हाथो के पंजो से चादर को पकड़े हुए अपने भाई का मोटा लंड अपनी गदराई गान्ड मे लेने लगती है,

रवि करीब 10 मिनिट तक अपनी दीदी को धीरे-धीरे लेकिन गहरे धक्के मारता हुआ उसकी मोटी गान्ड चोदता रहता है, उसके बाद रवि अपनी दीदी की गान्ड को उमच-हुमच कर चोदना शुरू कर देता है और पायल आह-आह ओह रवि बहुत खुजली हो रही है आह रवि बहुत अच्छा लग रहा है थोड़ा तेज चोद आह-आह ओह रवि तू कितना अच्छा है थोड़ा कस कर मार रवि आह-आह, चोद ना रवि थोड़ा तेज चोद रवि प्लीज़ आह-आह ओह मे मर जाउन्गि रवि और तेज मार और तेज, रवि अपनी दीदी की गान्ड को सतसट चोदने लगता है और उसके चुतडो पर हल्के-हल्के थप्पड़ मारते हुए उसकी गान्ड मे सतसट लंड पेलने लगता है, करीब 20 मिनिट तक अपनी दीदी की गान्ड को मारते हुए रवि का लंड उसकी कसी हुई गान्ड मे पानी छोड़ देता है और हान्फता हुआ उसकी कमर के उपर झुक जाता है और पायल बेड पर पेट के बल पसर जाती है, रवि सीधा अपनी दीदी की गान्ड मे लंड फसाए उसके

उपर लेट जाता है और करीब 2 मिनिट बाद उसका लंड उसकी दीदी की गान्ड से बाहर निकल आता है, पायल अधमरी सी गहरी-गहरी साँसे लेती हुई पड़ी रहती है और रवि उसकी गोरी-गोरी पीठ को सहलाता रहता है करीब 2 मिनिट तक रवि उसके उपर लेटा रहता है उसके बाद उठ कर अपनी दीदी की गान्ड मे एक थप्पड़ मारते हुए

रवि- दीदी अब उठो भी कब तक पड़ी रहोगी

पायल- पलट कर पीठ के बल लेटती हुई, कामीने कितना ज़ोर से चोद रहा था तू

रवि- लो कर लो बात खुद ही तो कह रही थी कि रवि और ज़ोर से चोद खूब कस कर चोद और अब कह रही हो कितना ज़ोर से चोद रहा था,

पायल- मुस्कुरकर अरे उस समय होश रहता है क्या, पर तुझे तो सोचना चाहिए था कि तेरी दीदी की क्या हालत होगी, मेरा तो सारा बदन दर्द करने लगा है अब मुझसे उठा भी नही जा रहा है,

रवि- अरे दीदी तुम फिकर क्यो करती हो मे तुम्हे अपनी गोद मे उठा लेता हू और रवि अपनी दीदी को अपनी गोद मे उठा लेता है और पायल उसके सीने से चिपक जाती है, रवि अपनी दीदी के होंठो को चूमता हुआ,

रवि- दीदी तुम्हारी गान्ड बहुत मस्त है

पायल- मुस्कुरा कर अपनी दीदी को नंगी करके अपनी गोद मे उठाते हुए तुझे शरम नही आती है

रवि- तुम्हारे जैसी दीदी को पूरी नंगी करके गोद मे उठाने और अपने लंड मे चढ़ने मे बहुत मज़ा आता है और

अपनी दीदी की चूत की फांको को फैलाकर देखते हुए देखो तो दीदी तुम्हारी चूत कितना पानी छोड़ रही है, जानती हो यह क्या कह रही है

पायल- मुस्कुरा कर क्या कह रही है

रवि- दीदी यह कह रही है की रवि अपने मोटे लंड को मेरे अंदर फसा कर खूब कर कर मेरी चूत मार दे

पायल- तो फिर देख क्या रहा है जैसा वह कह रही है वैसा करता क्यो नही

रवि- क्यो नही अभी कर देता हू और रवि पायल की दोनो टाँगो को अपनी कमर से लपेट कर उसकी चूत के छेद मे अपने लंड को जैसे ही सेट करता है पायल अपनी चूत का धक्का उसके लंड पर मार देती है और रवि का लंड अपनी दीदी की फटी हुई चूत मे सॅट से अंदर घुस जाता है और पायल अपने भाई के सीने से चिपक जाती है और रवि खड़े-खड़े ही अपनी दीदी को चोदने लगता है,

पायल रवि के होंठो को चूसने लगती है और रवि अपनी दीदी की गान्ड को दबोचे हुए उसकी चूत को मारने लगता है, पायल

अपने भाई के खड़े लंड पर झूलते हुए अपनी चूत को रगड़ने लगती है, थोड़ी देर बाद रवि पायल को सीधा बेड पर लेटा

देता है और पायल अपनी मोटी-मोटी गदराई जाँघो को पूरा खोल कर अपने पेरो को उपर कर लेती है और उसकी फूली हुई चूत पूरी खुल कर फैल जाती है, रवि अपनी दीदी की गुलाबी रस से भीगी चूत को देख कर अपने लंड को अपनी दीदी की चूत मे रख कर एक तगड़ा शॉट मारता है और उसकी चूत मे उसका लंड पूरा जड़ तक समा जाता है और फिर रवि अपने पेरो के पंजो के बल बैठा-बैठा अपनी दीदी की चूत को कस-कस कर चोदने लगता है, पायल आह-आह करते हुए अपनी चूत को अपने भाई के लंड पर मारने लगती है, दोनो और से डचा डच ठुकाई चालू हो जाती है एक धक्का रवि अपनी दीदी की चूत मे मारता है तो दूसरा धक्का पायल अपने भाई के लंड पर मार देती है इस तरह टू वे कम्यूनिकेशन शुरू हो जाता है और फिर रवि अपनी स्पीट को पूरी रफ़्तार पर लाकर अपनी दीदी की चूत को कस-कस कर ठोकने लगता है, और फिर रवि अपनी दीदी के नंगे बदन पर सो जाता है और उसके दूध को दबोचता हुआ उसके होंठो को पीने लगता है और उसका लंड सतसट अपनी दीदी की चूत को चोदने लगता है, करीब 20 मिनिट तक दोनो और से तगड़े धक्के पड़ते है और फिर पायल की चूत पूरी तरह चिकनी होकर सिकुड़ने और फैलने लगती है और वह एक दम से आह-आह रवि आ रवि कहते हुए रवि को कस कर अपने सीने से चिपका लेती है और उसकी चूत पानी छोड़ देती है और रवि भी अपनी दीदी की कसी हुई चूत मे अपने लंड को जड़ तक फसा कर रुक-रुक कर पिचकारी मारने लगता है, और दोनो एक दूसरे के साथ कस कर चिपक जाते है,

करीब 2 मिनिट तक दोनो गहरी साँसे लेते हुए एक दूसरे से चिपके रहते है उसके बाद रवि साइड मे लेट जाता है और पायल उसके सीने से चिपक कर सो जाती है, रवि अपनी दीदी के सर के बालो को सहलाता हुआ उसे प्यार करने लगता है

सुबह-सुबह रवि नहा धोकर तैयार होकर पायल को कहता है कि वह अपने एक दोस्त से मिलने जा रहा है और शाम तक

लोटेगा, पायल अपना मुँह बनाते हुए,

पायल- रवि दिन भर तो मे तेरे बिना बोर हो जाउन्गि और भाभी से तूने क्या कहा है जो वह हाथ धोकर मेरे पीछे पड़ी हुई

है और फिर तू नही रहेगा तो वह ना जाने क्या-क्या सवाल करेगी, मे कैसे क्या कहुगी उनसे,

रवि- दीदी उन्हे कुछ भी नही बताना और उल्टे उनसे ही सवाल पूछना, ध्यान रहे उनकी बातो मे आने की बजाय तुम्हे उन्ही

से कुछ ना कुछ उगलवाना होगा, बाकी मे तुम्हे बाद मे बताउन्गा, अपना ख्याल रखना मे शाम तक आ जाउन्गा और पायल

के होंठो को चूम कर अपने घर से निकल जाता है और अपनी बाइक को करण के फ्लॅट की ओर दौड़ा देता है.

क्रमशः.........................
-  - 
Reply
08-15-2018, 12:10 PM,
#79
RE: Mastram Story
कमीना--22

गतान्क से आगे.............................

रवि, करण के फ्लॅट पर पहुच कर उसकी डोर बेल बजाता है और करण आकर गेट खोल देता है

कारण- आ गया तू

रवि- हा यार बड़ी मुस्किल मे आने दिया

कारण- किसने

अरे मेरी जानेमन ने और किसने

कारण- यार कभी हमे भी अपनी जानेमन से मिलवा दे ना

रवि- अरे वाह बड़ा आया मेरी जानेमन से मिलने वाला जिस दिन तुझे पता चलेगा कि मेरी जान कौन है उस दिन तेरे होश उड़ जाएगे समझे

कारण- अरे ऐसी कौन सी हूर की परी है जिसे देख कर मेरे होश उड़ जाएगे

रवि- अरे डियर वह सब तो मे तुझे बाद मे बताउन्गा पहले मुझे यह तो बता तुझ जैसे गधे से कौन ब्याह रचाने को राज़ी हो गई, कमिने साले चले है शादी करने

करण- आबे मुझसे भी बड़ा कमीना तो तू है ना जाने कब किसे चोदने का सोचने लग जाए कोई ईमान धरम तो है नही

रवि- हाँ यार यह तो तू सच कह रहा है एक बार तो मेने सपने मे तेरे फ्लॅट मे आकर ही अपना लंड खूब तबीयत से हिलाया था

कारण- किसको सोच कर

रवि- तेरी मम्मी को और किसको

करण- लगता है आज तू सुबह से ही किसी की चूत के दर्शन करके आया है जो सुबह से ही तुझे चूत दिखाई दे रही है

रवि- सॉरी यार बुरा मत मानना मे तो मज़ाक कर रहा था

करण- अबे तेरी बात का बुरा मान कर मे कर भी क्या लूँगा, तेरा कोई भरोशा नही है मेरी मम्मी को देख लेगा तो उसे

भी चोदने के बारे मे सोचने लग जाएगा, आख़िर कमीना जो ठहरा

रवि- करण की बात पर मुस्कुराता हुआ, नही यार तेरी मम्मी तो बूढ़ी हो गई होगी उसकी चूत मे क्या मारूँगा

करण- अबे साले तूने अगर मेरी मम्मी को देखा होता तो ऐसी बात नही करता

रवि- अच्छा तो क्या तेरी मम्मी अभी तक जवान है

करण- तू बैठ मे पहले तेरी चाय्स लेकर आता हू फिर आराम से बैठ कर बाते करेगे आज मेरा लंड भी सुबह से

परेशान कर रहा है

रवि- क्यो तुझे तेरी मम्मी की गदराई फूली हुई चूत याद आ गई क्या

करण- अबे तू मेरी मम्मी की चूत और मोटी गान्ड देख लेगा तो पागल हो जाएगा

रवि- अबे दिखा चाहे ना दिखा अपने मुँह से ही बता दे मुझे तो उसमे ही मज़ा आ जाएगा

करण वोड्का की बोतल उसके सामने रख कर बैठ जाता है और फिर दो लार्ग पॅक बनाता है और दोनो एक ही सांस मे पूरा

ग्लास खाली कर देते है और फिर दूसरा लार्ग पॅक ख़तम करते हुए,

रवि- हा तो करण तू क्या कह रहा था तेरी मम्मी के बारे मे

करण- अरे यार क्या बताऊ, तूने आते ही मेरी मम्मी की फूली हुई चूत की बात करके मेरा लंड खड़ा कर दिया है

रवि- क्या तेरी मम्मी की चूत इतनी ज़्यादा मस्त और फूली हुई है

करण- अरे मेरी मम्मी की चूत देख कर तो बुड्ढे का लंड भी झटके मारने लगे क्या गदराई चूत है उसकी और उसकी मोटी

गान्ड देख कर तो तू खड़े-खड़े ही उसकी गान्ड मे अपना लंड फासने को तैयार हो जाए,

रवि- क्या खूब मोटी और गदराई गान्ड है तेरी मम्मी की

करण- अरे अगर तू मेरी मम्मी को पूरी नंगी देख ले तो तेरे लंड से खड़े-खड़े ही पानी निकल जाएगा, मेरी मम्मी की

गदराई जवानी उसकी मोटी गान्ड और उसकी मोटी-मोटी चिकनी जंघे हाय मे तो अपने लंड को अपनी मम्मी को पूरी नंगी सोच कर ही हिलाता हू, ऐसी जबरदस्त गान्ड और ऐसी फूली हुई चूत मेने आज तक नही देखी,

रवि- अच्छा ये बता देखने मे कैसी लगती है तेरी मम्मी, कितनी उमर होगी उसकी

करण- अपना ग्लास ख़तम करता हुआ, अरे यार कम से कम 45 की होगी पर उसकी गदराई जवानी आज भी इतनी कसी हुई है उसके भारी-भारी चुतड तो तेरे दोनो हाथो मे भी नही समा सकते और एक दम गोरी गान्ड है उसकी और उसकी छूट अफ क्या बतौ

आज भी अपनी छूट के बाल जब साफ कर लेती है तो उसकी छूट इनटी गोरी और इतनी फूली हुई नज़र आती है कि दिल करता है की अपनी मम्मी की चूत मे अपना मुँह रख कर अपने मुँह से उसकी फूली हुई चूत को दबाता ही रहू, उसकी गदराई जंघे देख कर तो मे पागल हो जाता हू इतनी चिकनी और इतनी मोटी-मोटी गदराई जंघे है की अपने दोनो हाथो मे भर-भर कर दबोचने मे मज़ा आ जाए, उसके दूध इतने मोटे-मोटे और कसे हुए है कि क्या बताऊ,

रवि -अच्छा करण तेरी मम्मी आज भी पेंटी पहनती है कि नही

करण- अरे वह तो अपनी भारी गान्ड के उपर इतनी छोटी सी पेंटी पहनती है कि उसकी पेंटी तो उसकी मोटी गदराई गान्ड की दरार मे ही फस जाती है और उसके भारी-भारी चुतडो के पाट पूरे नंगे ही नज़र आते है, और तो और रवि जब मेरी मम्मी की चूत जब उसकी गुलाबी पेंटी मे कस जाती है तब भी मेरी मम्मी की चूत पेंटी के उपर से भी इतनी फूली हुई नज़र आती है कि अपने हाथो के पूरे पंजो से पकड़ कर दबोचने पर भी मेरी मम्मी की फूली हुई चूत पकड़ मे ना आए,

रवि- अपने ग्लास को खाली करता हुआ, अच्छा करण जब तेरी मम्मी अपनी मोटी गदराई जाँघो को फैला लेती है तब उसकी चूतकैसी नज़र आती है,

करण- सबसे बड़ी बात तो यह है कि मेरी मम्मी हमेशा अपनी चूत के बाल साफ करके उसे एक दम चिकना रखती है और जब वह अपनी मोटी-मोटी गदराई जाँघो को फैला लेती है तो उसका चूत पूरा भोसड़ा नज़र आने लगती है उसकी चूत की फूली हुई मोटी-मोटी फांके बहुत ही गदराई हुई लगती है और जब वह घोड़ी बन कर खड़ी होती है तो उसका एक बीते से भी ज़्यादा बड़ा भोसड़ा और सूकी फूली हुई गदराई फांके बहुत ही खूबसूरत लगती है ऐसा लगता है जैसे पीछे से उसकी मस्तानी फूली हुई चूत की मोटी-मोटी फांको को फैलाकर अपनी मम्मी की चूत को खूब कस-कस कर चाट लू, मेरी मम्मी की चूत और मोटी गान्ड को जब से देखा है मे तो पागल हो गया हू मेरा लंड दिन रत अपनी मम्मी की चूत और गान्ड चोदने के लिए तड़प्ता रहता है, मे तो दिन रात अपनी मम्मी को अपनी कल्पना मे नंगी करके खूब कस-कस कर चोदता हू और यह फील करता हू

कि कैसे मेरी मम्मी अपने नंगे बदन को मुझसे चिपका-चिपका कर मुझसे अपनी चूत और गान्ड मराती है, जब मे अपनी

मम्मी को अपने सपनो मे पूरी नंगी करके खूब कस-कस कर चोदता हू तो मुझे बहुत मज़ा आता है और मे तबीयत से

झाड़ता हू.

रवि- करण क्या तेरी मम्मी थोड़ी मोटी है

करण- तू उसे मोटी नही गदराई कह उसका गुदाज उभरा हुआ पेट उसकी गहरी नाभि, उसके भारी-भारी मोटे-मोटे चुतड, उसकी गदराई चिकनी और खूब मोटी जंघे और सबसे खूबसूरत चिकनी फूली हुई एक बीते से भी लंबी फूली चूत, उफ्फ रवि

मेरी मम्मी थोड़ी भारी बदन की है लेकिन उसे चोदने मे मज़ा आ जाए, उसे जब पूरी नंगी करके उसके नंगे गदराए

बदन पर चढ़ कर उसे चोदो तो मज़ा आ जाए, तू पिछली बार कह रहा था ना कि करण तेरी फॅंटेसी क्या है तू किसको नंगी

सोच कर अपने लंड को सहलाता है, तू किसकी चूत को अपनी कल्पना मे चोद-चोद कर झाड़ता है, तो दोस्त वह मेरी मम्मी

है जिसको अपने कल्पना मे मे कई बार चोद चुका हू,

रवि- यार करण जब तू अपनी मम्मी की मोटी-मोटी गदराई गान्ड देखता है तो तुझे कैसा फील होता है

करण- मुझे लगता है की पीछे से जाकर उसकी मोटी गान्ड मे अपना लंड फसा कर इस कदर अपनी मम्मी की मोटी और गदराई गान्ड मारू की वह मस्त हो जाए, मेरी मम्मी की गान्ड है भी इतनी मोटी और गदराई हुई की उसे खूब कस-कस कर अपने मोटे लंड से चोदना पड़े तब जाकर उसे कुछ मज़ा आएगा, तू सोच रवि मेरी उस समय क्या हालत होती होगी जब मे अपने घर जाता हू और मेरी मम्मी दिन भर मेरे सामने अपनी मोटी-मोटी गान्ड मतकती हुई घूमती है, तब तो दोस्त ऐसा लगता है कि अभी अपनी मम्मी की साडी उठा कर उसकी मोटी गान्ड मे अपना लंड फसा कर खूब कस-कस कर अपनी मम्मी की मोटे-मोटे चुतडो को चोद दू, मेरा तो लंड दिन भर उसकी गदराई जवानी, मोटे-मोटे फैले हुए चुतड और फूली हुई चूत को

देख-देख कर खड़ा रहता है, उपर से अपनी छोटी सी पेंटी भी मेरे सामने ही बाथरूम मे टांग देती है तब बस यही

कल्पना करता हू कि यह छोटी सी पेंटी मेरी मम्मी की मोटी गान्ड और फूली हुई चूत से कैसे कसी रहती होगी,

रवि- फिर तो करण तेरा मन अपनी मम्मी को पूरी नंगी करके खूब कस-कस कर चोदने का करता होगा

करण- हा यार ऐसा लगता है कि दिन रात अपनी मम्मी को नंगी करके चोदता ही रहू

रवि- पर तूने अपनी मम्मी को पूरी नंगी कब देख लिया

कारण- अरे एक बार मे जब अपने घर गया था तब एक दिन मेरे घर पर मम्मी और मेरे अलावा कोई नही था, मे अपने

रूम मे लेटा हुआ था तभी मुझे प्यास लगी और मे किचन की ओर पानी लेने गया तो देखा की मम्मी का रूम अंदर से

बंद था मे सोचने लगा कि मम्मी दिन मे ही रूम लॉक करके क्या कर रही तब मेने देखा घर के दरवाजे पुराने

जमाने के लकड़ी के बने हुए थे और उनके बीच काफ़ी दरार थी मेने जैसे ही अंदर झाँक कर देखा मेरे तो होश उड़

गये,
-  - 
Reply
08-15-2018, 12:13 PM,
#80
RE: Mastram Story
रवि- क्यो ऐसा क्या देख लिया तूने

करण- अरे मेने देखा मेरी मम्मी पूरी नंगी खड़ी होकर अपनी चूत के बाल साफ कर रही थी, उसकी मोटी और गदराई जवानी

फूली हुई चूत और मोटी-मोटी गान्ड देख कर मे तो पागल हो गया और मेरा लंड अपनी मम्मी की नंगी मदमस्त जवानी को

देख कर खड़ा हो गया, वह अपनी चूत के एक-एक बाल को बड़े प्यार से साफ कर रही थी और उसकी चूत से जैसे-जैसे बाल साफ हो

रहे थे उसकी गोरी चूत और ज़्यादा फूली हुई नज़र आने लगी, उसकी फूली हुई चूत के मोटी-मोटी फूली हुई फांके और उसकी

चूत का कटाव साफ नज़र आ रहा था और उसके पेडू और गदराए पेट के उठाव ने मुझे पागल कर दिया था, जब वह थोड़ा

घूम गई तो उसकी गदराई मोटी गान्ड देख कर तो मेरा दिल करने लगा कि अभी जाकर अपनी मम्मी की गदराई उठी हुई मोटी गान्ड मे अपने लंड को कस कर पेल दू, जब मेरी मम्मी के चूत के बाल पूरे साफ हो गये तो वह अपनी फूली हुई गदराई चूत को अपने हाथ से सहलाते हुए बचे हुए बालो कॉधूढ़ने लगी, उसकी चूत के फूले हुए हिस्से को देख कर मेरे मुँह मे पानी आ गया और मुझे ऐसा लगने लगा कि काश ऐसी फूली हुई चूत को चूमने का मोका मिल जाए तो ऐसी रसीली चूत को रात भर नंगी करके चातू,

रवि- करण को एक और ग्लास देता हुआ ले करण आज तेरी बातो से वोड्का का नशा डबल लगने लगा है, आगे बता फिर क्या हुआ,

करण- रवि से ग्लास ले कर अपने मुँह मे लगा कर एक ही घुट मे ग्लास खाली करते हुए, फिर उस दिन मेने अपनी मम्मी की नंगी गदराई जवानी को ध्यान करते हुए, उसकी फूली हुई चूत और मोटी गान्ड को कस-कस कर चोदने की कल्पना करते हुए तबीयत से मूठ मारी और तू यकीन नही करेगा अपनी मम्मी को पूरी नंगी करके चोदने की कल्पना करके जब मेने अपना लंड हिलाया तो मुझे उस दिन सबसे ज़्यादा मज़ा आया, उस दिन के बाद मे अपनी मम्मी को पूरी नंगी देखने के मोके ढूढ़ने लगा और मेने फिर उसे कभी बाथरूम मे कभी उसके रूम मे कई बार नंगी देखा और अपनी मम्मी को पूरी नंगी करके चोदने का सोच-सोच के खूब लंड हिलाया,

रवि- कभी तूने अपनी मम्मी को चोदने की कोशिश नही की

कारण- नही यार मेरी मम्मी बहुत सख़्त है इसलिए मेरी कभी हिम्मत ही नही पड़ी, हा किसी ना किसी बहाने से कभी अपनी मम्मी की मोटी गान्ड कभी उसके मोटे-मोटे दूध, और कभी उसकी गदराई जाँघो को ज़रूर छू कर मज़ा लिया है पर

चोदने का कभी मोका नही मिला और ना ही मेरी कभी हिम्मत ही पड़ी,

रवि- अबे यह बात तू मुझे पहले बता देता तो मे कुछ ना कुछ आइडिया तो तुझे ज़रूर दे देता,

करण- रहने दे यार तेरे आइडिया मुझे किसी भी दिन मरवा देंगे, मे तो अपनी मम्मी को चोदने की कल्पना करके लंड हिला

कर ही खुस हो लेता हू, मुझे कोई रिस्क नही लेना है,

रवि- खेर जैसी तेरी मर्ज़ी पर तूने अपनी मम्मी की चूत और गान्ड को जब से देखा होगा तब से तुझे भारी बदन वाली औरतो को ही चोदने का मन करता होगा,

करण- अरे मुझे तो अपनी मम्मी को ही चोदने का मन करता है लेकिन क्या करू, अपनी मम्मी की चूत मारने के लिए गान्ड मे दम भी तो होना चाहिए, अपनी मम्मी को फसा कर चोदना कोई मज़ाक तो नही है,

रवि- तू ठीक कहता है, लेकिन अगर तो कोशिश करता तो शायद सफल भी हो जाता, क्यो की औरतो को भी मोटे-मोटे लंड की बहुत चाह होती है, तूने अपना मोटा लोडा अपनी मम्मी को दिखा दिया होता तो शायद वह भी तेरी और ध्यान देने लगती,

करण- तू कहता तो ठीक है पर ऐसी स्थिति भी तो बनना चाहिए कि मे यह सब कर सकता

रवि- अरे यार ज़यादा कुछ नही तो अपनी मम्मी की फूली हुई चूत को एक बार सोते हुए ही अपनी मुट्ठी मे भर के तो देखता तुझे नही मालूम ऐसी गदराई औरतो की चूत को अपनी मुट्ठी मे भर कर मसल्ने मे कितना मज़ा आता है,

करण- अरे डियर अपनी मम्मी की चूत को तो मे कई बार जब वह गहरी नींद मे होती थी तब अपनी मुट्ठी मे भर कर

दबोचने क्या, एक बार तो उसकी साडी सोते हुए पूरी उपर हो गई थी और उसने पेंटी भी नही पहनी हुई थी और शायद झाँत के बाल भी उसने एक दिन पहले ही बनाए थे तब तू बात नही मानेगा मेने अपनी मम्मी की फूली हुई चूत पर अपने मुँह को रख कर जब उसकी गदराई मुलायम चूत को चूमा तो मेरा लंड अपना पेंट फाड़ कर बाहर आने को तड़प उठा, अपनी

मम्मी की फूली हुई चूत की मादक गान्ड ने मुझको पागल कर दिया था, मुझसे रहा नही गया और जब मेने हिम्मत

करके अपनी मम्मी की फूली हुई चूत की मोटी-मोटी गदराई फांको को अलग करने की कोशिश की वह एक दम से करवट ले कर लेट गई और मेरी तो गान्ड ही फॅट गई लेकिन किस्मत से मे बच गया तब से ज़्यादा कुछ नही करता हू, जब भी देखता हू कि वह गहरी नींद मे है तब कभी उसकी मोटी गान्ड को सहला लेता हू या फिर उसकी गदराई फूली हुई चूत पर अपना हाथ फेर लेता हू और फिर जाकर मूठ मार लेता हू

रवि- हाय तुझे तो बड़ा मज़ा आया होगा अपनी मम्मी की फूली हुई छूट को अपने हाथो मे भर कर दबोचने मे

करण- हा यार ऐसा मज़ा तो आदमी को पागल कर देता है

रवि- अपने मन मे सोचता हुआ, बेटे करण मेरा आधा सपना तो सच निकला पर तूने तेरी मम्मी को चोदा नही और मेरे

ख्वाबो मे तो तूने अपनी मम्मी को खूब कस-कस कर चोदा था, कही ऐसा तो नही कि तू पूरी बात मुझे बता नही रहा

है, खेर कोई बात नही, अगर तूने अपनी मम्मी को चोदा होगा तो एक ना एक दिन तू मुझे ज़रूर बताएगा,

रवि- करण तू मुझे अपनी होनेवाली बीबी की फोटो दिखाने वाला था ना

कारण- हाँ यार दिखाने वाला तो था लेकिन अभी तक तो फोटो मेरे पास नही आया है अब मेने ही नही देखा तो तुझे कहा

से दिखाऊ, लेकिन आज कल मे आ जाएगा फिट तुझे ज़रूर दिखाउँगा

रवि- चल ठीक है लेकिन शादी कब कर रहा है,

कारण- बस फोटो देख कर हाँ कहना है और फिर शादी की तैयारी शुरू

रवि- मतलब चट मँगनी और पट ब्याह

करण- हा यार अब चूत के बिना नही रहा जाता है, पर तूने यह नही बताया कि तू उस दिन किस लड़की को यहाँ लाया था, तूने

ज़रूर उसे मेरे बेड पर पूरी नंगी करके चोदा होगा,

रवि- तू ठीक कह रहा है, मेने उसकी उस दिन खूब कस कर चूत मारी थी, तू उसे नही जानता है, वह मेरी जान है और मे

उसी से शादी करने का सोच रहा हू पर

करण- पर क्या

रवि- अरे यार अब क्या बताऊ ना जाने किस मदर्चोद का रिश्ता उसके लिए आया है तब से वह बहुत रो रही है और मे भी

उसके लिए परेशान हू

करण- तो फिर अब क्या करेगा

रवि- सोचता हू जिस भोसड़ी वाले का रिश्ता उसके लिए आया है जाकर उसकी मा चोद दू

करण- हस्ते हुए, अबे तो जाकर चोद दे ना तुझे किसने रोका है

रवि- यार तुझे मज़ाक लग रहा है पर यह मेरे प्यार का सवाल है, मुझे कुछ समझ नही आ रहा है मे क्या करू

करण- एक कम क्यो नही करता, लड़की के मा-बाप से जाकर तू ही रिश्ता माँग ले

रवि- देखते है दोस्त क्या होता है, कुछ ना कुछ तो करना ही पड़ेगा,

दोनो दोस्त दिन भर आपस मे डिसकस करते हुए बिता देते है उसके बाद खाना खाकर रवि वही सो जाता है और जब शाम

होती है तो वह करण को बाइ करके अपने घर की ओर चल देता है,

रास्ते भर उसके दिमाग़ मे करण की बाते घूमती रहती है और वह करण की मम्मी की मस्तानी गान्ड और फूली हुई चूत को सोच-सोच कर उसका लोडा भनभनया रहता है, जब वह घर पहुचता है तो निशा और पायल बैठी हुई बाते करती रहती

है, और पायल रवि को देख कर

पायल- आ गये भाई साहब, कहाँ थे दिन भर

निशा- लगता है अपनी किसी गर्लफ्रेंड से मिल कर आ रहे है

रवि- उन दोनो को देख कर मुस्कुराता है और अपने रूम की ओर जाने लगता है, पायल का मन रवि से चिपकने के लिए सुबह से बेचैन रहता है और वह रवि को बड़ी हसरत भरी निगाहो से देखती है लेकिन अपनी भाभी के सामने कुछ नही कर पाती है, निशा पायल के चेहरे को पढ़ने की कोशिश करती है और फिर कुछ सोच कर,

निशा- पायल मे तो बैठे-बैठे थक गई हू, मैं थोड़ा अपने रूम मे जाकर आराम कर लू

पायल- अपनी भाभी की बात सुन कर खुस होते हुए, हाँ-हाँ क्यो नही भाभी मे भी थोड़ी देर अपने रूम मे जाकर लेट जाती

हू,

निशा- पायल को देख कर मुस्कुराते हुए, अरे अगर तुझे भी लेटने का मन कर रहा है तो चल मेरे साथ मेरे रूम मे

ही लेट जाना

पायल- एक दम घबरा कर नही-नही भाभी आप आराम से लेट जाओ मे तो थोड़ी देर बाद जाउन्गि,

निशा- मुस्कुराते हुए अपने रूम की ओर जाने लगती है और पायल अपनी भाभी को देखने लगती है, तभी निशा एक दम से

अपनी गर्दन घुमा कर पायल को देखती है और पायल एक दम से अपनी नज़रे चुराने लगती है, और निशा उसकी इस हरकत पर मंद-मंद मुस्कुराती हुई अपने रूम मे चली जाती है,

निशा के अपने रूम मे जाते ही पायल जल्दी से उठ कर रवि के रूम मे पहुच जाती है और रवि अपनी पेंट उतार कर पाजामा पहनने की तैयारी मे था तभी पायल मुस्कुराते हुए रवि के पास जाकर उसके अंडरवेार के उपर से ही उसका मोटा लंड पकड़ लेती है और

पायल- हाय क्या मस्त लंड है रे तेरा, दिन रात मे तेरे इस लंड के लिए बेचैन रहने लगी हू, और तू है कि अपनी दीदी की ओर ध्यान ही नही देता है

रवि- मुस्कुराता हुआ पायल के होंठो को चूमता हुआ, मेरी जान तुम्हारे लिए तो मे भी बहुत बेचैन रहता हू पर क्या

करू थोड़ा ज़रूरी काम था नही तो मे अपनी स्वीट दीदी को छोड़ कर कही जा सकता हू क्या, और पायल के मोटे-मोटे कसे

हुए गदराए दूध को अपने हाथो मे भर कर कस कर दबाने लगता है और उसका लंड अपनी दीदी के मोटे-मोटे दूध को

दबाते ही खड़ा हो जाता है, पायल से बर्दास्त नही होता है और वह रवि के अंडरवेार को थोड़ा नीचे सरका कर बैठ जाती

है और रवि के मोटे लंड को अपने मुँह मे भर कर लोलीपोप की तरह चूसने लगती है, लेकिन उन दोनो मे से किसी को भी इस बात का ध्यान नही रहता है कि दूसरी ओर निशा उन दोनो की उस हरकत को छुप कर देख रही है और निशा जब पायल को अपने भाई के तगड़े मोटे लंड को इतने प्यार से सहला-सहला कर चूस्ते देखती है तो उसकी चूत पूरी गीली हो जाती है, और वह रवि के मोटे लंड को बड़ी प्यासी निगाहो से देखने लगती है,

रवि- दीदी अब बस भी करो कही भाभी ना देख.... रवि के शब्द उसके मुँह मे ही रह जाते है क्योकि उसकी नज़र निशा के

उपर पड़ जाती है और वह देखता है कि निशा उसके मोटे लंड को बड़े गौर से देख रही है, तभी निशा की नज़र भी रवि की

नज़र से मिल जाती है और निशा के होश उड़ जाते है, और रवि अपनी भाभी के कामुक चेहरे को देख कर एक कमिनी मुस्कान अपनी भाभी की ओर मारता है और निशा तुरंत वहाँ से भाग जाती है,

क्रमशः.........................
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Big Grin Free Sex Kahani जालिम है बेटा तेरा 73 37,578 Yesterday, 10:16 PM
Last Post:
Thumbs Up antervasna चीख उठा हिमालय 65 25,052 03-25-2020, 01:31 PM
Last Post:
Thumbs Up Adult Stories बेगुनाह ( एक थ्रिलर उपन्यास ) 105 41,284 03-24-2020, 09:17 AM
Last Post:
Thumbs Up kaamvasna साँझा बिस्तर साँझा बीबियाँ 50 59,446 03-22-2020, 01:45 PM
Last Post:
Lightbulb Hindi Kamuk Kahani जादू की लकड़ी 86 99,069 03-19-2020, 12:44 PM
Last Post:
Thumbs Up Hindi Porn Story चीखती रूहें 25 19,135 03-19-2020, 11:51 AM
Last Post:
Star Adult kahani पाप पुण्य 224 1,068,837 03-18-2020, 04:41 PM
Last Post:
Lightbulb Behan Sex Kahani मेरी प्यारी दीदी 44 103,427 03-11-2020, 10:43 AM
Last Post:
Star Incest Kahani पापा की दुलारी जवान बेटियाँ 226 745,953 03-09-2020, 05:23 PM
Last Post:
Thumbs Up XXX Sex Kahani रंडी की मुहब्बत 55 52,084 03-07-2020, 10:14 AM
Last Post:



Users browsing this thread: 2 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.

Online porn video at mobile phone


Lund chosney lgi chudai kahani yumjyoti tu mat chudna is lund seआदमी को दिन मे कितनी बार मुठि मारनी चाहिएXxxGarmi rat papa kesath page2sex story mom holi sex story sexbabaBiaph.saya.bala.avrat.and.paijama.chut.niaga.photo.comkhel me jeetker choda kahaniहार्ड चौड़ी कहानी बाबा सा हिंदी कहानीShraddha Musale sexy baba xossiphttps://septikmontag.ru/modelzone/showthread.php?mode=linear&tid=5286&pid=84904xxx कहानी सती sawitri मा ko sasur ne rula rula ke chodaलडकी की चुतड फाडेshyra bahu begam xxxphotoshकुता और लडकी का सेकसी बी एफ दिखयेChoti behan ki panty bra pahnakr uski hi choda. Story Mom ki gand me sindur lagay chudai sexbabaYes mother ahh site:mupsaharovo.rudada ji na mari 6 saal me sael tori sex stori neweesha rebba nude puku fakesवीर्य को कैसे बनाये फेवीकोलchochi.sekseeHindi hiroin leked photakondam phanka sexxxi bhaviचूत मश्त झाँट बाली चिकनी जागा फोटू देಹುಡುಗ ಹುಡುಗಿ Sex hawasbf hindimovie sixhbNangi bhootni hd desi 52. comपापा माँ को अपने बेटे के सामने चोदायी कहानीXnxx bhabhi gad chatvae video com बङे लंड शे चोदवाते हुए फोटो उपायxxxsunel bepलङकीय घर मे कमरे चाहतेXxxx, pictureSex, mummy ne apne bete ko chodna Sikhayahot girl lund pe thook girati photokiya shouhar ko biwi ka dudh pina chahie sex.commausi ki gaihun ke mai choda hindi sex kahaniaXxx मोटा लण्ड से सील तोडवाई स्टोरी दोक्षविदोम्म्म्म्म्म्मबेटी के रसीले आमjalim h beta tera sexbabaxxx sexy story mera beta rajNadaan nasamjh bahen ko choda sexy kahaniमंगलसूत्र वाली इडियन भाभी के हाट बडे बूब्सHvas Puri karvai Didi NE maa ko chudvakeAhha ohhh dard ho raha hai desi52.comalia on sexbaba page 5xxnx kalug hd hindi beta ma ko codaincent teen betiya hindi chudai kahaniSerdha ko chodnevala saxi video hd juhi Raj sex story kiraydaarastori xxx.hindi.book.bhai. Mai Dikhla Ja chudwa bete man banaa Deछोटी बहन की खेल में फूलि बुर की चुदाईXxx saxi satori larka na apni bahbi ko bevi samj kr andhra ma chood diyaसुजाताची पुचीgand mar na k tareoaaditi govitrikar nude comics photo sex baba Xossipy wedding ceremony in villageबाटरूम ब्रा पेटीकोट फोटो देसी आंटीbollywood latest all actress xxx nude sexBaba.netबेटी की कचौरी की तरह फुली बुर और उभरी गान्ड देखकर पापा का मोटा लन्ड से पानीक्या तू अपनी दीदी को नंगी देखना चाहता हैgavbala sex devar chodo naantarvasna फ्रेंचीaltermeeting ru Thread ammi ki barbadiनहाने का चुची दिखेवोमराठी पत्नी अदला-बदली सेक्स कथा आणखी व्हिडीओXXX sex story bhai bahan chudai juaatiantarvasna madhu makhi ne didi antarvasna.comhindesexbabastoryसेक्सी देसी वीडियो प्लेयर इंडियन गांड में पहने टट्टी निकलनेSeptikmontag.ru मां और तालाब hindiसेक्स्य हिन्देSaya sari Kaash blouse ka sexy videoShraddha Kapoor sex images page 8 bababahan sex story in sexbaba.comभाई का लण्ड़ मेरी गांड़ पर चुभjassyka हंस सेक्स vidioesकल लेट एक्स एक्स एक्स बढ़िया अच्छी मस्तसोनम कपूर का बङे बङे फिगर वाला नँगी फोटोsexy HD acchi dikhaiyexxx