Indian Sex Story बदसूरत
02-03-2019, 11:59 AM,
#41
RE: Indian Sex Story बदसूरत
सोहन वो पोर्न देखने लगा...लेकिन उसके दिमाग में सुहानी ही थी....उसे देखते हुए मुठ मारने लगा...उसे बहोत मजा आ रहा था....एक एक करके उस एक्ट्रेस के दो तिन पोर्न क्लिप वो देख चूका था....उसका लंड किसी लोहे के रोड जैसा हो गया था....अगली क्लिप उसने ओप्पन की तो इसमे उसे मेल एक्टर उसके जैसा लगा...

सोहन:- ओह्ह्ह ये तो बिलकुल मेरे जैसा लग रहा है...उम्म्म्म स्सस्सस्सस वो अब उन दोनों में खुदको एयर सुहानी को इमेजिन करने लगा....

अह्ह्ह्ह्ह स्स्स्स उफ्फ्फ ये तो ऐसा लग रहा है जैसे मैं दीदी कको चोद रहा हु उम्म्म्म अह्ह्ह्ह्ह बहोत मजा आ रहा है स्स्स्स्स्


सोहन को ऐसे खुदकको और सुहानी को इमेजिन करके मुठ मारने में बहोत मजा आ रहा था.....वो थोड़ी ही देर में झड़ गया।


जब शांत हुआ तब वो सोचने लगा....

सोहन:- अह्ह्ह्ह क्या मस्त पोर्न क्लिप थी...मजा आ गया...लेकिन ये सब मैं क्या सोचने लगा था...नही मुझे ऐसा नहींसोचना चाहिए था....सोहन खुदको डांट रहा था....लेकिन अनजाने में ही सही सुहानी का काम हो गया था....सोहन के मन में सुहानी को लेके सेक्स वाली भावना उत्पन्न होने लगी थी....

सुहानी ये सोच सोच के परेशां थी की वो ऐसा क्या करे जिससे सोहन उसको और आकर्षित हो जाय...


अगले दीन सुहानी के किसी कलीग की बर्थडे पार्टी थी। पार्टी किसी पब में थी। सुहानी पहले कभी पब में नहीं गयी थी....

सुहानी:- सोहन...मैं नहीं जाती पार्टी में...मुझे अजीब लग रहा है।

सोहन:- क्यू घबरा रही हो?? कुछ नहीं होता...

सुहानी:- तू गया है कभी??

सोहन:- हा बहोत बार...

सुहानी:- तो चल ना तू। भी...

सोहन:- मैं। कैसे आउ??

सुहानी:- क्यू तुझे शरम आती है। मेरे साथ...मुझे पता है...

सुहानी को समझ आ गया की सोहन क्यू मना कर रहा है...

सोहन:- नहीं दीदी ऐसी बात नहीं है....मैं वहा किसी को नहीं जानता इसलिए कह रहा था...लेकिन अब मैं आऊंगा....चलो तैयार हो जाओ...


सुहानी को थोडा आस्चर्य हुआ की सोहन उसके साथ आने के लिए तैयार हो गया था।


सुहानी और सोहन तैयार होकर पार्टी के लिए निकल पड़े।


सुहानी ने एक घुटने तक का वन पीस स्कर्ट पहना था...वो टाइट था सुहानी की चुचिया और गांड उसमे उभर के आ रही थी।


दोनों पब पहुंचे सुहानी ने सोहन को सबसे इंट्रोड्यूस करवाया...सब लोग डांस कर रहे थे...ड्रिंक कर रहे थे...सोहन एक कोने में खड़ा सब देख रहा था। उसने देखा सुहानी भी सिर्फ खड़ी थी...वो उसके पास गया...

सोहन:- क्या बात है दीदी...आप डांस नही कर रहे हो??

सुहानी:- मैं नही करती...तुम करो...तुम तो कई बार आ चुके हो पब में...एयर ड्रिंक भी कर सकते हो...

सोहन:- नहीं दीदी मैं ड्रिंक नहीं करता...

तभी जिसका बर्थडे था वो लड़की वहा आयी...

सोहन:- दी...हम लोग जा रहे है...

वो:- क्यू क्या हुआ??

सोहन:- अरे कैसे लोग हो आप?? मेरी दीदी यहाँ अकेले खड़ी है...इसे कोई ड्रिंक नही दे रहा ...कोई डांस नहीं कर रहा उसके साथ...

वो:- अरे वो हमेशा ऐसेही रहती है...

सोहन:- तो उसे ऐसेही छोड़ डोज क्या??

वो:- नहीं ...चलो सुहानी....आज तो तुम्हे डांस करना ही पड़ेगा...आज मेरा बर्थडे है...

और उसने जबरदस्ती उसे लेकर डांस ककरन के लोए लवके चली गयी...और उसे जबरदस्ती ड्रिंक भी पिला दी....

सुहानी डांस करने लगी...उसे बहोत अच्छा लग रहा था...पहली बार थोडा खुलके जी रही थी....हमेशा वो किसी कोने में खड़ी सब्कोंदेखते रहती लेकिन आज उसे सब जबरदस्ती अपने साथ डांस करने के लिए कह रहे थे...सुहानी उस ख़ुशी में दो तिन ड्रिंक और पि गयी....जब सोहन ने देखा की सुहानी थोडा बहकने लगी है तो वोआगे हुआ और सुहानी को लेके एकक जगह बैठ गया....सुहानी को थोडा जादा हो गयी थी। सोहन ने उसके दोस्त से कहा की वो सुहानी को लेके घर जा रहा है.....सोहन जब लौटा तो उसने देखा की सुहानी फिर से ड्रिंक कर रही थी। उसे अब बहोत चढ़ गयी थी...सोहन उसे पकड़ के कार तक लेके आया और वो दोनों घर आ गए...सुहानी अब बिलकुल भी होश में नहीं थी....सोहन उसे उसके कमरे में ले गया और बेड पे सुला दिया...और खुद अपने कमरे में चला गया। जब वो कपडे चेंज करके लौटा तो उसने देखा की सुहानी बेड पर नही थी...उसने इधर उधर देखा तो कही नजर नहींआई...तभी उसकी नजर बाथरूम की और गयी...दरवाजा खुला था और सुहानी वही बैठी हुई थी...उसने शावर शुरू किया हुआ था...सोहन अंदर गया....सुहानी पूरी भीग गयी थी....सोहन को कुछ समझ नहीं आ रहा था क्या करे?? उसने शावर बंद किया...एयर सुहानी को आवाज दी...लेकिन सुहानी अब बिलकुल भी होश में नहीं थी....

सोहन:-अब क्या करू?? डॉ के पास लेके जाऊ क्या?? नहीं। नहीं...अभी नशे में है...सुबह तक ठीक हो जायेगी...लेकिन यहाँ से उठाना तो पड़ेगा...

सोहन ने सुहानी को उठाया और रूम में लेके आ गया...सुहानी के कपडे पुरे भीगे हुए थे...सोहन भी भीग गया था। उसने सोचा बेड पे ऐसे लेटाऊंगा तो बेड भी गिला हो जाएगा...उसने सुहानी को चेयर पे बिठाया...

सोहन:- उफ्फ्फ अब क्या करू??? उसने सुहानी को उठाने की कोशिस की लेकिन सुहानी सिर्फ हा ...क्या...बस इतना ही बोलती और थोड़ी आँखे खोलती और फिर दुबारा बंद कर लेती।

सोहन:- अब बस एक ही रास्ता है दीदी के कपडे निकाल के बेड पप्पी सुला दिया जाय...लेकिन ये सब मुझे ही करना पड़ेगा...


सोहन के मन में ये ख्याल आते ही उसे पसीना आने लगा...उसे अपनी बहन के कपडे उतारने थे....वो असमन्जस में था...लेकिन उसके पास कोईं रास्ता नहीं था....उसने पहले सुहानी कक सर टॉवल से पोछा...फिर उसने थोडा ड्रेस का जायजा लिया...उसने देखा पीछे से चैन थी उसे खोल के ड्रेस आराम से निकल जाएगा...उसने इधर उधर देखा ...उसने बेड शीट निकाली और। उसे निचे बिछा दिया...उसने सुहानी को उठाया और निचे रख दिया....अभीतक वो सिर्फ सुहानी को लेके चिंता में था...उसके मन में ऐसे वैसे ख़याल नहीं आये थे....उसने सुहानी को टर्न किया और ड्रेस की चैन खोलने लगा....उसने पूरी चैन खोल दी....फिर उसने सुहानी को टर्न किया और सामने से उस ड्रेस को खीचने लगा....उसने ड्रेस को सुहानी के। हाथो से अलग कर दिया...उसने देखा सुहानी ने ब्लैक कलर ई ब्रा पहनी हुई थी....उसमे सुहानी की बड़ी बड़ी चुचिया ठीक से समा नही रही थी....सोहन ने जब उसे पहली बार नंगा देखा था तब सिर्फ कुछ सेकंद ककए लिए...लेकिन आज वो उसे इतने नजदीक से देख रहा था....कुछ पल के लिए वो खो सा गया....उसके पसीने छुटने लगे....तभी सुहानी ने कुछ हलचल की...वो थोडा डर गया...

सोहन:- ये मैं क्या कर रहा हु...कही दीदी को होश आ गया तो वो कुछ गलत ना समझ बैठे...

सोहन ने उसका ड्रेस पकड़ा और निचे खीचने लगा....धीरे धीरे उसका ड्रेस पैर की तरफ से निकाल दिया....सोहन ने वो ड्रेस बाजू में रख दिया और खड़ा हो गया...

सोहन:- उफ्फ्फ्फ़ ये लडकिया भी कैसे कैसे ड्रेस पहनती है....जब कही जल्दी जल्दी में सेक्स करना हो तो कैसे करती होंगी??

सेक्स का ख्याल मन में आते ही उसकी नजर सुहानी पे पड़ी....सुहानी सिर्फ ब्रा और पॅंटी में लेटी हुई थी....सोहन उसे देखने लगा....उसका बदन अभी भी भीगा हुआ था....उसकी बड़ी बड़ी ब्रा में कैद चुचिया...उसका सपाट पेट...उसकी पतली सी कमर...और काले रंग की पैंटी में फसी उसकी मांसल गांड...और सामने से पॅंटी में कैद उसकी उभरी हुई छोटी सी चूत.....

सोहन ये सब देख रहा था...उसका लंड अब खड़ा होने लगा था....

सोहन:-उफ्फ्फ्फ़ सच में ये तो बिलकुल उस कल।वाली पोर्न स्टार जैसी लग रही है....सोहन चुप बैठ क्या कर रहा है??...बहन है तेरी...चल अब इसे उठा और बेड पे रख दे....


सोहन उसके नजदीक गया और उसे उठा लिया...और बेड पे रख दिया...

सोहन:- ये क्या...एस्कि तो ब्रा भी गीली है....तो उतार देता हु....नही यार कल देखेगी तो क्या सोचेगी...एयर कही ऐसा वैसा सोच लिया और मम्मी पापा को बता दिया तो...

सोहन सच में बहोत बड़ा फट्टू था...उसके सामने एक शराब नशे में बेहोश लड़की आधी नंगी पड़ी थी और वो अलग ही सोच में था।

सोहन:- तो बोल दूंगा की आँखे बंद करके किया..हा ये सही। रहेगा....

सोहन ने उसकी ब्रा का हुक खोल दिया और ब्रा निकाल दी....जैसे ही उसने ब्रा निकाली सुहानी की चुचिया जैसे उछल के बाहर आ गयी....सोहन की आँखे खुली की क्खुलि रह गयी....


सोहन:- उफ्फ्फ्फ्फ़ बापरे...ये तो रियल में और भी बड़ी है...सोहन का लंड अब पूरा खड़ा हो चूका था....वो बस सुहानी की चुचियो को देखे जा रहा था....वो पूरा पसीने से भीग चूका था....


सोहन:- अह्ह्ह्ह कितनी मस्त चुचिया है....छु के कितना मजा आता होगा....देखु क्या छु के?? नहीं यार दीदी को पता चला तो मेरी जान ले लेंगी....पहले उसे उठा के देखता हु....दीदी ...दीदी....उसने दो तिन बार आवाज लगाईं लेकिन सुहानी सिर्फ उह्ह्ह्ह्ह्ह् अह्ह्ह करके वापस सो गयी....उसकी हिम्मत थोड़ी बढ़ गयी.....उसने अपना हाथ आगे बढ़ाया....और सुहानी के चूची पे रख दिया...उसे झटका सा लगा....उसके पुरे बदन में कंपकंपी दौड़ गयी....

सोहन:- स्सस्सस्स कितनी सॉफ्ट है ये अह्ह्ह्ह......उसने धीरे से थोडा दबाया....उफ्फ्फ्फ्फ़ उम्म्म्म्म सच में बूब्स दबाने बहोत मजा आता है....स्स्स्स्स् मेरा लंड तो पूरा खड़ा हो गया....लेकिन तभी सुहानी बेहोशी में थोड़ी हलचल की और सोहन का हाथ पकड़ के टर्न हो गयी...सोहन घबरा गया...वो चुपचाप बिना कोई हरकत किये बैठा रहा....फिर उसने अपना हाथ धीरे से पीछे खिंच लिया...वो खड़ा हो गया और और सुहानी को देखने लगा...अब उसकी नजर सुहानी के गांड पे थी...

सोहन:- स्स्स्स्स् क्या मस्त गांड है...तभी इसकी चाल इतनी सेक्सी है...कैसे मटक मटक के चलती है उफ्फ्फ्फ्फ्फ

सोहन ने उसकी गांड पे हाथ रखा और उसे सहलाने लगा....

सोहन:-वाओ....कभी सोचा नही था ऐसे किसी लड़की को छूने का मौका मिलेगा...सोहन ये लड़की नहीं बहन है तेरी...क्या कर रहा है...यार कण्ट्रोल नहीं हो रहा अब...स्स्स्स्स् सोहन अपना लंड पैंट के ऊपर से ही सहलाने लगा....सोहन अब बहोत उत्तेजित हो गया था....उसने अपना लंड बाहर निकाला और सुहानी की गांड को देख के हिलाने लगा...वो पहली बार किसी लड़की को ऐसे देख रहा था...उसे छु रहा था...उसे बहोत मजा आ रहा था...कुछ पल में ही उसका लंड उचक उचक के झड़ने लगा....सोहन ने जल्दी जल्दी सब साफ़ किया और सुहानी के ऊपर एक पतला सा ब्लैंकेट डाल दिया और अपने रूम में भाग गया।*


उसे यकीं नहीं हो रहा था की उसने अभी खुद की बहन को देख उसे छु के मुठ मारी थी...वो कभी खुदको कोसता तो कभी सोचता की सुहानी कितनी सेक्सी है...उसकी चुचिया उसकी गांड के बारे में सोचता...और अगले ही पल डर जाता की कही सुहानी कल उसपे गुस्सा ना करे...ऐसेही सोचते सोचते वो सो गया।


ये सब जो हो रहा था ये किस्मत का ही खेल था...जहा सुहानी सोहन को अपने और अट्रैक्ट करने की पुरजोर कोशिस कर रही थी लेकिन उसे उसके मुताबिक कोई रिजल्ट नहीं मिल रहा था...दूसरी और अनजाने में ही सोहन उसकी और अट्रैक्ट हो रहा था....सुहानी के जानकारी के बिना ही सोहन ने आज उसे छु भी लिया था...


अगर यु कहा जाय की किस्मत ही सुहानी का साथ दे रही थी तो ये पूरी तरह गलत नहीं था।
________________________________________
-  - 
Reply
02-03-2019, 12:00 PM,
#42
RE: Indian Sex Story बदसूरत
अगले दिन सुबह जब माधवी की आँख खुली तो उसने खुद को नंगा पाया...वो एकदम से घबरा गयी...लेकिन जब उसने देखा की उसकी पॅंटी नहीं उतरि तो उसे थोडा अच्छा लगा...लेकिन वो सोचने लगी की उसके। कपडे किसने और कैसे निकाले...उसका सर बहोत भारी हो रखा था...वो सर पकड़कर बैठ गयी....

सुहानी:- उफ्फ्फ्फ़ मेरा सर तो दर्द से फटा जा रहा है....बेवजह ही कल पार्टी में चली गयी और शराब पि...लेकिन मेरे कपडे??? लगता है नशे में मैंने ही उतार फेके होंगे...उसने दरवाजे की और देखा वो बंद था...उसने इधर उधर नजर घुमाई...उसका ड्रेस वही जमीन पे पड़ा था...

सुहानी:- हा मैंने ही निकाला होगा...चलो ऑफिस भी तो जाना है...उसने घडी देखि....उफ्फ्फ 10 बज रहे है...कितना लेट हो गया...

सुहानी जल्दी से उठी और कपडे पहने और बाहर गयी...सोहन चला गया था...उसने देखा सोहन ने उसके लिए एक नोट छोड़ रखा था..." मैं कॉलेज जा रहा हु वही पे कुछ खा लूंगा..."


सुहानी:- चलो अच्छा हुआ...वरना मुझे और लेट हो जाता.....लेकिन मैं आज ऑफिस नहीं जाउंगी...हा यही ठीक रहेगा...


उसने फ़ोन करके ऑफिस में बता दिया की वो नहीं आने वाली...

सुहानी ने खुद के लिए कॉफ़ी बनायी और पिने लगी। थोड़ी देर। बाद सुहानी का दिमाग अपनी जगह पे आने लगा...उसे धीरे धीरे रात की बाते याद आने लगी...उसे याद आया की वो कैसे शराब पि के टुन्न हो गयी थी...उसे सोहन घर लेके आया...और फिर वो बाथरूम में गयी जहा उसने नहाने के लिए शावर शुरू कर दिया और वो वही बैठ गयी...उसके बाद उसे कुछ याद नहीं आ रहा था...दिमाग पे जोर डालने के बाद उसे बस इतना याद आया की सोहन उसे उठा के ज़मीन पे लेटा दिया था...


सुहानी:- उफ्फ्फ मतलब मेरे कपडे सोहन ने निकाले...मुझे तो कुछ भी याद नहीं आ रहा...अगर सोहन ने मेरे कपडे निकाले तो उसने मेरे साथ कुछ किया होगा...उफ्फ्फ मुझे कुछ याद क्यू नहीं आ रहा...


सुहानी परेशान थी की उसे कुछ याद नहीं है....और खुश भी थी अनजाने में सही उसका काम हो रहा था...

सोहन:- हा जरूर कुछ किया होगा...वरना ऐसे मेरे उठने से पहले गायब नहीं हो जाता...मुझसे नजरे मिलाने से डर रहा होगा..आने दो उसे तब पपता चलेगा...


सुहानी अब अपने काम लग गयी...उसने खाना बनाया और खाने ककए बाद फिर से थोडा आराम किया।


शाम को सुहानी पुरे घर की साफ़ सफाई में लग गयी..उसने सोहन का खुद का क्कमरा साफ कर दिया..फिर किचन हॉल और आखिर में मम्मी पापा का कमरा साफ़ करने लगी...जब उसने नीता की अलमारी खोली तो उसने देखा की उसमे नीता की कुछ साड़ी पड़ी हुई थी...उसमे एक ब्लैक कलर की साडी उसे बहोत अच्छी लगी...उसने वो निकाली...

सुहानी:- ह्म्म्म्म कितनी सुन्दर साडी है...चलो आज मैं साडी पहनती हु...बहोत दिन हो गए...

सुहानी ने वो साडी बाहर निकाल के रख दी।


सब साफ़ सफाई होने के बाद सुहानी नहाने चली गयी और फिर साडी पहन ली। उसने देखा सोहन अभी तक नहीं आया था...7 बज चुके थे।


इधर सोहन की फटी पड़ी थी की सुहानी को गर कुछ याद आ गया तो उसकी कखयर नहीं....वो डरते डरते घर आया...उसने देखा की सुहानी की कार पार्किंग में खड़ी थी...उसका दिल जोर जोर से धडक् रहा था...वो अंदर आया....सुहानी किचन में काम कर रही थी...उसने देखा की सुहानी किचन में है लेकिन उसे लगा की नीता है...वो और घबरा गया...उसे लगा की हो गया उसका काम तमाम सुहानी के साथ रात को उसने किया था वो सुहानी को पता चल गया और उसने अविनाश और नीता को बुला लिया...लेकिन उसने हिम्मत बटोरी...


सोहन:- मम्मी पापा ऐसेही आ गयी होंगे..अगर ऐसा कुछ होता तो इसे फ़ोन करके जल्दी से बुला लिया होता...चलो मम्मी को जरा मस्का लगाता हु...अगर कुछ होगा तो कम से कम मम्मी तो साथ देंगी...सोहन आगे हुआ...सुहानी काम में मगन थी...सोहन ने जाके सुहानी को पीछे से हग किया...

सोहन:- ओह्ह मम्मी आप कब आये?? मैंने कितना मिस किया आपको...

सुहानी एकदम से ऐसे पिछेसे सोहन ने पकड़ लेने की वजह से थोडा शॉक हो गयी लेकिन अगले पल संभल गयी...उसने पीछे देखा...

सुहानी:- ओय पागल मैं मम्मी नहीं हु...

सोहन ने झट से उसे छोड़ दिया...

सोहन:- दीदी आप?? और ये क्या ??

सुहानी:- क्या क्या?? मैं तुझे मम्मी जैसी लग रही हु क्या??

सोहन:- अरे वो आप कभी साडी नही पहनती हो ना...

सुहानी:- ऐसा क्या?? और मैंने तो तुझे कभी नहीं देखा ऐसे मम्मी से प्यार करते...

सोहन:- वो मम्मी की बहोत याद आ रही है...एयर ऐसे आपको देखा तो...

सुहानी:- अच्छा...ये बात है तो मैं फिर से ऐसे खड़ी हो जाती हु...तू मुझे मम्मी समझ के प्यार ले...

सोहन:- क्या दीदी आप भी ना...

सुहानी:- अरे क्या हुआ??तेरे लिए मैं मम्मी बनने को तैयार हु...

सुहानी आज मुड़ में थी...सोहन को समझा नहीं...लेकिन उसे कुछ तो अजीब लगा...

सोहन:- क्या??

सुहानी:-हा अगर तू चाहता है तो तू मुझे मम्मी बना सकता है...ख़ुशी ख़ुशी मम्मी बन जाउंगी मैं...


ये बात सोहन को समझ आ गयी...लेकिन वो कैसे रियेक्ट करे कुछ समझ नहीं आया...

सोहन:- नहीं..वो..मैं..क्या..

सुहानी उसको ऐसे हकलाते देख हँसने लगी।

सुहानी:- क्या हुआ???ऐसे क्यू हकला रहा है।


सोहन सुहानी कों देखने लगा ...वो सोच रहा था की सुहानी कल रात के बारे में बात करेगी...लेकिन यहाँ तो सुहानी का मुड़ कुछ और ही था।

सोहन:- कुछ...कुछ नहीं...

सुहानी:- तो बता बनाएगा क्या मुझे मम्मी??

सोहन:- आजकल आप मेरी मम्मी तो हो...मेरा कितना ख्याल रखती हो..

सुहानी:- हा वो तो है...लेकिन मैं तो कुछ और ही बात कर रही थी...

सोहन:- क्या??

सुहानी:- कुछ नहीं...तुझे तो कुछ समझ नहीं आता...जा फ्रेश हो जा...


सोहन चला गया...वो सोच में डूब था...

सोहन:- दीदी मम्मी बनाने की क्या बात कर रही थी?? ओह्ह क्या वो मेरे साथ सेक्स करके मम्मी बनने की बात कर रही थी?? नहीं नहीं..लेकिन वो तो बोली तुझे कुछ समझ नहीं आता...और कल रात की तो कुछ बात भी नहीं की....चलो जाने दो अगर उसे कुछ याद नहीं तो अच्छा ही है...

सोहन फ्रेश हो कर हॉल में आया...उसने देखा सुहानी किचन में ही थी...सुहानी ने साडी बहोत टाइट पहनी हुई थी...सोहन उसे पिछेसे दखने लगा...

सोहन:- ह्म्म्म कितनी मस्त लग रही है दीदी साड़ी में...पिछेसे गांड तो गजब लग रही है...और पतली कमर उम्म्म्म्म...पागल फिर से वही सोचने लगा...चुप हो जा ...क्या करू आजकल दीदी को दलह के लंड खड़ा हो जाता है....

तभी सुहानी पलटी...उसने देखा सोहन उसे ही घूर रहा था...उसने उसे स्माइल दी...सोहन ने भी उसे स्माइल दी और टीवी देखने लगा...


थोड़ी देर बाद सुहानी ने उसे आवाज दी और उसे खाना खाने के लिए बुलाने लगी...उसने देखा सुहानी अपने दोनों हाथो में कुछ सामान लेके सामने से आ रही थी...सुहानी। ने साड़ी नाभि के बहोत निचे बाँध राखी थी...और पल्लू एक साइड से कमर में दबाया हुआ था...और दोनों चुचियो के बिच से कंधे पे जा रहा था...उसकी बड़ी बड़ी चुचिया ब्लाउज में कमाल लग रही थी...उसकी नाभि को देख के सोहन का बुरा हाल था...सुहानी ने वो सामान डाइनिंग टेबल पे रखा और फिर से वापस किचन में जाने लगी...सोहन उसे देखने लगा...टाइट साड़ी में उसकी बड़ी सी गांड जो सुहानी कुछ जादा ही मटकाते चल रही थी....उसकी मटकती गांड कोंदेख के सोहन अपना लंड मसल रहा था।


सोहन *सुहानी के जलवे देख अब पुरीबतरहबसे उसककी जवानी का दीवाना बन चूका था...लेकिन सुहानी को इसकी खबर नहीं थी....


दोनों खाना। खाने लगे...

सुहानी:- सोहन एक बात बता...कल रात को मैंने कुछ तमाशा तो नही किया ना?? मुझे कुछ याद नही है...मैंने कुछ जादा ही पि ली थी...

सोहन:- नहीं दीदी कुछ भी नहीं...मुझे समझ आ गया था इसलिए आपको घर ले आया....

सुहानी:- और घर पे कुछ हुआ तो नहीं ना??

सोहन:- न..नही...क..कु..कुछ भी नहीं...

सुहानी सोहन को ऐसे घबराते देख समझ गयी की रात को जरूर कुछ हुआ है...शायद उसके कपडे उसीने निकाले हो...ये ख्याल आते ही सुहानी रोमांचित हों उठी...उसे लगा ककी शायद उसका काम हो रहा है...लेकिन अभी वो इस बात को आगे नहीं बढ़ाना चाहती थी...

सुहानी:- पक्का ना?? मुझे तो कुछ भी याद नहीं...


सोहन:- हा दीदी कुछ भी नहीं किया मैंने...

सोहन मुह से निकल गया...सुहानी ने चोंक के उसे देखा...

सोहन:- मतलब...कुछ नही हुआ...अच्छा दीदी वो मुझे आज बहोत पढाई करनी है...आप प्लीज़ मुझे वो चैप्टर समझा दीजिये...सोहन ने बात बदलने की कोशिस की।


सुहान:- ठीक है...सुहानी ने सोचा इसे थोडा रिलैक्स होने देती हु..

सुहानी चुप हो के खाना खाने लगी लेकिन उसके दिमाग में कुछ और ही चल रहा था।


खाना खाने के बाद दोनों बैठ के टीवी देखने लगे...थोड़ी देर बाद सोहन किताबे लेके आ गया। उसने देखा सुहानी कुछ सोच रही थी...

सोहन:- दीदी...दीदी...क्या सोच रही हो?? आज पढाई नहीं करनी क्या??

सुहानी:- ह..हा...बोल क्या डिफ्फिकल्टी है??

सोहन:- कहा खो गयी थी??

सुहानी:-कुछ नही कल रात के बारे में सोच रही थी....

सोहन थोडा घबरा गया...वो कुछ नही बोला...

सुहानी:- अक्चुअली मैं ये सोच रही थी की मेरे कपडे कैसे भीगे और मेरे कपडे मैंने कब उतारे??

सोहन:- मुझे क्या पता?? आप को यद् नहीं??

सुहानी:- कुछ कुछ याद है...सच बता तू म7झे बातरूम से बाहर लाया था ना..मुझे यद् आ रहा है...


अब सोहन फंस गया था...अगर वो बोलता की नहीं तो सुहानी को शक हो जायेगा...और अगर हा बोलता है तो एयर बहोत जवाब देने पड़ेगें...और हो सकता है की सुहानी ग़ुस्सा हो जाय...
-  - 
Reply
02-03-2019, 12:00 PM,
#43
RE: Indian Sex Story बदसूरत
सुहानी सोहन का चेहरा देख रही थी...वो थोडा घबरा रहा था...

सुहानी:- देख मुझे सब सच सच बता...


सोहन:-वो दीदी...मैं..मैं...हा मैं लेके आया था आपको...

सुहानी:- और मेरे कपडे तूने ही उतारे थे ..है न??

सुहानी ने उसे बात पूरी नहीं करने दी और बिच में ही बोल पड़ी...

सोहन:- हा...लेकिन मेरी आँखे बंद थी...मैंने कुछ नहीं देखा और कुछ नहीं किया...सोहन एक ही साँस में। बिल दिया।

सुहानी उसका ये हाल देख के हंस पड़ी...सुहानी को हस्ता देख सोहन हैरान हो गया...

सुहानी:- अरे ..अरे...ठीक है...इतना क्यू घबरा रहा है...मैं तो बस पूछ रही थी...

सोहन:- नहीं वो..

सुहानी:- तुझे लगा मैं ग़ुस्सा करुँगी..

सोहन:- हा...

सुहानी:-अरे पागल अब मैं उस हालत में थी अब तू भी क्या कर सकता था..

सोहन:- हा ना...पूरी भीग गयी थी..आपको ऐसेही सोने देता तोबीमार पड़ जाती..इसलिए...

सुहानी:- ह्म्म्म थैंक यू...तुम बहोत क्यूट हो...सुहानी ने उसका गाल खींचते हुए कहा।

सोहन:- काहेका क्यूट...कल तो आपने मेरी हालत टाइट कर दी...

सुहानी:- टाइट कर दी...सुहानी मादक तरुके से पूछा....लेकिन तूने तो कुछ देखा ही नहीं फिर हालात टाइट कैसे हो गयी??

सोहन:- म..मेरा मतलब की..वो...

सुहानी फिर से हंस पड़ी...

सुहानी:-तू इतना क्यू फत्तू है?? ऐसेही मैं मैं करने लग जाता होगा लड़कियो के सामने...थोडा तो मर्द बनता जा...इसीलिए तेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है...

अब सुहानी ने सोहन की मर्दानगी को एक तरह से। ललकार दिया था और ये बात कोई भी बर्दास्त नही कर सकता...

सोहन:- चल..मैं कोई फट्ट नही हु..चाहू तो लड़कियो की लाइन लगा सकता हु...

सुहानी:- रहने दे...पता चल गया कल रात मुझे..

सोहन:- कैसे..

सुहानी:- तू एक नंबर का फट्ट है...

सोहन:- देखो दीदी बस करो...और आपको कल रात कैसे पता चला..आप तो होश में। भी नही थी..

सुहानी:- तूने ही तो कहा..की मैंने आँखे बंद कर ली थी मेरे कपडे उतारते वक़्त...

सोहन:- वो..वो..मैंने नहीं की थी...

सुहानी:- मतलब की तूने मेरे सारे कपडे उतारे और म7झे उस हालत में देखा भी..

सोहन:- न..नहीं..मतलब..की...वो..

सुहानी:- देखा फिर से फट गयी तेरी..हा हा हा..

सोहन:- मतलब देखा..जितना जरुरी था..

सुहानी:-मतलब कितना?? सबकुछ तो उतार दिया था...

सोहन:- दीदी क्या?? प्लीज़ आप ये सब बाते बंद करो...

सुहानी:-हा रे बदमाश...कल रात पता नहीं।क्या क्या देखा...क्या क्या किया और अब शरीफ बन रहा है...

सोहन:- मैंने कुछ नहीं देखा और कुव्ह नहीं किया...आप कुछ भी मत बोलो...

सुहानी:- हा पता है...उस दिन भी मेरे कमरे में था जब नहा के बाहर आई थी...

सोहन:- वो तो गलती से हो गया था...

सुहानी:- और कल जानबुज के किया ...है ना??

सोहन:- नहीं...देखो आप मुझपे ऐसे इल्जाम मत लगाव...

सुहानी:-अच्छा ठीक है..मैं तो मजाक कर रही थी...वैसे जो भी तूने किया उसके लिए फिरसे थैंक यू...और जो नहीं किया उसके लिए भी थैंक यू..

सोहन:- मतलब??

सुहानी:- कुछ नही...

सोहन:- बताओ न..क्या??

सुहानी:- अरे बुद्धू...मुझे उस हालत में देख के भी तूने खुद को कण्ट्रोल किया...दूसरा कोई होता तो पता नहीं क्या क्या कर लेता...

सोहन:- ऐसे कैसे कुछ भी कर लेता...जान ले लेता उसकी..

सुहानी:- ओह हो...क्या बात है...

सोहन:- हा फिर...

सुहानी:- अच्छा एक बात बता..तूने खुद को कण्ट्रोल कैसे किया??

सोहन:- *दीदी..बोला ना..मैंने कुछ नहीं देखा...तो कण्ट्रोल करने की बात ही नही

सुहानी:-अच्छा तो देख लेते तो कण्ट्रोल नही होता है न??

सोहन:-मैंने ऐसा कब कहा..और आप मेरी बहन हो...आ0के साथ कैसे...

सुहानी:- तो क्या हुआ?? बहन भाई भी तो आजकल सब करते है...

सोहन:- क्या??कुछ भी बोल रहे हो..

सुहानी:- हा...मेरे साथ एक लड़की काम करती है...मैंने उसे एक लड़के साथ देखा..जब उससे पूछा तो कहने लगी उसका भाई था...लेकिन उनकी हरकते किसी गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड जैसी थी...

सोहन:- तो आपका कहना है की वो दोनों बही बहन होते हुए वो सब कर रहे थे जो गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड करते है..

सुहानी:- हा..और वो भी पुब्लिकल्ली घर पर अकेले में पता नही क्या क्या करते होंगे...

सोहन:- ह्म्म्म लेकिन ये गलत है और मैं आपके साथ ऐसा कुछ नही किया..

सुहानी:-हा गलत है लेकिन कभी कभी हालात ऐसा हो जाते है तो बहक जाता है इंसान..

सोहन:- नहीं मैं नहीं बहका..और ना ही बहकूँगा...अब पढाई करे??

सुहानी ने बातो बातो में सोहन का आव्कवर्डनेस्स थोडा कम कर दिया था।

सुहानी:-मन में..ह्म्म्म तू बस देखते जा कैसे तुझे बहकाती हु...

सोहन:- मन में..अब कैसे बताओ आपको की मैं भी बहक गया था..लेकिन दीदी आज कैसी बाते कर रही है..लगता है ये चाहती थी की मैं कुछ करू..नही वो बस पूछ रही थी..नहीं यार देख न कैसे सेक्सी अंदाज से पूछ रही थी...पता नही क्या चल रहा है मन में..

सुहानी:- क्या सोच रहा है..बता क्या पढ़ना है...


सुहानी उसे पढ़ाने लगी...लेकिन दोनों का मन पढाई में नही था...सुहानी ने उसे समझा दिया और उसके सामने वाले सोफे पे बैठ गयी...वो पढाई करने लगा...सुहानी भी कोई किताब पढ़ रही थी...सोहन चोरी चोरी ससुहानि को देख रहा था...सुहानी ने ये बात नोटिस की...
-  - 
Reply
02-03-2019, 12:00 PM,
#44
RE: Indian Sex Story बदसूरत
सुहानी:- क्या हुआ?? चोरी चोरी क्या देख रहा है...

सोहन:- क...कुछ नही..

सुहानी:- झूट मत बोल...आईने देखा तुझे...चोरी चोरी क्या देख रहा है...जो देखना है खुल के देख...सुहानी आज सच में बहोत मुड़ में थी...वो सोहन को खुला निमंत्रण दे रही थी...

सोहन:- क्या??

सुहानी:- तू बोल क्या देखना है...मैं दिखा दूंगी...

सुहानी उसकी और बहोत ही मादक तरह से देखते हुए अपने होठ को दातो में दबाते हुए कहा....सोहन उसकी ये अदा देखता ही रह गया...उसे यकीं हो गया की सुहानी के मन में आज कुछ अलग ही चल रहा है...

सोहन:- नही..मुझे कुछ नही देखना...

सोहन फिर से घबरा गया...

सोहन:- मैं तो ये देख रहा था की आपने ये साडी पहनी है ये बहोत अछि लग रही है आपपे..

सुहानी:- ओह्ह्ह थैंक यू...मुझे लगा की तू कुछ एयर देखने की कोशिस कर रहा है..और दिखाई नही दे रहा तो मैं दिखा देती हु...

सोहन:- नहीं बस वही देख रहा था...आज आपको ऑफिस का काम नहीं क्या??

सुहानी:-नही...आज ऑफिस नहीं गयी थी...और जो भी था वो दोपहर में कर लिया...और आज पुरे घर की सफाई की...अरे सफाई से याद आया..मैंने न एक मम्मी की साडी देखि...बहोत अच्छी है..लेकिन उसका ब्लाउज थोडा फटा हुआ है...उसे स्टिच करना है..कल।पहनके जाउंगी...मम्मी को फ़ोन करके पूछती हु की स्टिचिंग का सामान कहा रखा है...दिख ही नहीं रहा...


सुहानी ने फ़ोन लिया लेकिन उसकी बैटरी डिस्चार्ज हो चुकी थी...सुहानी ने चार्जर लिया और लगाने लगी...लेकिन थोडा लूज़ कांटेक्ट था...

सुहानी:- सोहन ये देख तो जरा...ये चार्ज नही हो रहा...

सोहन उठ के आया और देखने लगा...

सोहन:- अरे ये तो लूज़ हो गया...

सुहानी ने देखा...

सुहानी:- हा..ये ना बार बार अंदर बाहर होने की वजह से इसका होल बड़ा हो गया और अब चार्जर का पिन ठीक से बैठ नहीं रहा...

सोहन:-हा...

सुहानी:- नया जब रहता है तब टाइट रहता है होल....फिर रोज रोज अंदर...बाहर... करने से। बड़ा हो जाता है...पहली बार तो ठीक से जाता भी नही...और अब देखो कैसे लूज़ हो गया...

सुहानी जिस अंदाज से बोल रही थी सोहन उसे देखता ही रह गया...उसे समझ आ रहा था सुहानी किस बारे में बात कर रही है...

सोहन:- अ..ह..हा..लो ये हो गया..अब हाथ मत लगाना...मेरे मोबाइल से कर लो फ़ोन...

सुहानी:-हा तो दे दो ना तुम्हारा...मोबाइल...


सुहानी की ऐसी अदाएं देख सोहन का लंड खड़ा होने लगा था...

सुहानी सोहन का मोबाइल लिया और उसकी और एक तीखी मादक नजर डाली और नीता के कमरे में चली गयी।

सोहन:-उफ्फ्फ मैं जो समझ रहा हु वही बात कर रही है या सिर्फ मुझे ऐसा लग रहा है...नही वो ऐसेही बाटे कर रही है देखा नहीं कैसे खा जानेवाली सेक्सी नजरो से देख रही थी....बाहर कोई मिला नही तो मुझपे ही...हा यार दीदी का का कोई बॉयफ्रेंड नहीं इसलिए ...उन्हें भी तो लगता ही होगा...की कोई उनसे प्यार करे..उन्हें खुश करे उन्हें चोदे...उफ्फ्फ मैं क्या सोच रहा हु...सच ही तो है...और कल मैंने उन्हें उस हालत में देख लिया तो वो शायद चाहती हो की मैं ही उनकी.....चुदाई करू...ये सोचते ही सोहन का लंड एकदम से खड़ा हो गया...लेकिन तभी सुहानी ने उसे आवाज दी...वो अंदर गया..

सुहानी:- सोहन ये ऊपर से मुझे बॉक्स निकाल दे...मैंने साडी पहनी है तो ...

सोहन:- ठीक है...

सोहन वही बेड के साइड से ऊपर चढ़ा और बॉक्स निकाल के सुहानी को दे दिया...

सुहानी:- आराम से उतर निचे..ले मेरा हाथ पकड़ ले...

सोहन ने सुहानी का हाथ पकड़ा...सुहानी ने उसके हाथ को दबाया...सोहन पहले ही उत्तेजित था...और सुहानी की ये हरकत की वजह से उसका पूरा शरीर में कपकपी दौड़ गयी...

सुहानी:- इतना काँप क्यू रहा है??डरपोक बहन हु तेरी..मैंने ही पकड़ा है तेरा हाथ...सोहन सिर्फ स्माइल किया और धीरे से निचे उत्तर गया...

सुहानी:- देख ऐसे डरपोक लड़के लड़कियो को पसंद नही आते..उन्हें तो वो लड़के पसंद आते है जो खुल के बात करे...लड़की पे हावी हो जाय...समझा??

सोहन:- हा दीदी...समझ गया...

सोहन बाहर आ गया...सुहानी ने सब समेटा और वो ब्लाउज और सुई धागा लेके बाहर आ गयी...

सोहन:- मन में....दीदी सच कहती है पता नहीं मुझे क्या हो जाता है जब कोई लड़की मेरे पास आती है...लेकिन अब नही...

सुहानी:- सोहन ये थोडा अंदर डाल दे तो...जा ही नही रहा...

सोहन अपनी ही सोच में था...वो एकदम से चौका की सुहानी क्या अंदर डालने को कह रही है...

सोहन:- क्या ..क्या डालू?

सुहानी:- ये धागा इस सुई के छेद में...जा ही नहीं रहा मुझसे...

सोहन:- ओह्ह्ह्ह..

सुहानी:- क्यू तुझे क्या लगा??क्या डालने को बोल रही हु?

सोहन:- कुछ नहीं...सोहन सुहानी की और देखा उसके होथो पे बहोत कामिनी हँसी थी...मन में..बहोत हँसी आ रही है अभी रुको बताता हु..


सोहन ने सुहानी से धागा लिया और सुई में डालने लगा...

सुहानी:- हो गया?? चला गया क्या अंदर??

सुहानी को पता नही आज क्या हो गया था वो सोहन को छेड़े जा रही थी...उसे सोहन को छेड़ने में बहोत मजा आ रहा था।

सोहन ने उसे देखा और स्माइल की।

सोहन:- नही..छेद बहोत छोटा है..नही जाएगा अंदर इतने जल्दी...

सोहन से उसे ऐसे जवाब की उम्मीद नही थी...उसकी बात सुनके उसका दिल जोर से धड़का..

सुहानी:-हा छेद छोटा हो तो जल्दी नही जाता ...थोड़ी मेहनत करनी पड़ती है...

सोहन:-हा अब छोटेसे छेद में बड़ा सा धागा डालूँगा तो थोड़ी मेहनत तो लगेगी...लेकिन तुम चिंता मत करो मैं डाल दूंगा अंदर आराम से...
-  - 
Reply
02-03-2019, 12:00 PM,
#45
RE: Indian Sex Story बदसूरत
सुहानी:- कब डालोगे??कितनी देर से कोशिस कर रहे हो...

सोहन:- अब धागा बड़ा है तो मैं क्या करू...एक काम करो..अपने थूक से थोडा गिला कर दो इसे...फिर देखो कैसे आराम से अंदर चला जाता है....

सुहानी:-गिला करने से अंदर चला जाता है??

सोहन:- हा...बाहर से गिला रहा तो छेद में आराम से चला जाएगा...कोई तकलीफ नहीं होगी...


वो दोनों एकदूसरे को देखते हुए बड़ी ही मादकता से बात कर रहे थे...

सुहानी:- तुम्हे एक्सपपेरेंस है क्या??

सोहन:-नहीं...लेकिन देखा है मैंने..और तुम्हे??

सुहानी:- नहीं...इसीलिए तो तुमसे कह रही हु...की डाल दो..कबसे कोशिस कर रही थी पर..

सोहन:- ठीक है अभी डाल देता हु...देखो इस धागे को मुह में लो...उसे गिला करो और फिर उंगली से थोडा सीधा करो ..उसे मसलो...और फिर से मुह में लेके गिला करो और मुझे दो...फिर देखो मैं कितने आसानी से धीरे से अंदर डाल दूंगा...कोई तकलीफ नही होगी...


सुहानी उसकी ऐसी डिटेल बाते सुन के उत्तेजित महसूस कर रही थी...उसने धागा लिया सोहन की आखो में देखते हुए उसे मुह में लिया और लंड चूसते है वैसे ही थोडा चूसा...सोहन उसे ऐसे करते देख रहा था...उसका लंड खड़ा होने लगा था...फिर सुहानी ने उसे उंगीली में मसला और फिर से थोडा मुह में लेके गिला किया...

सुहानी:- ये लो...अब चला जाएगा ना?

सोहन:- हा बिलकुल...आराम से...ये देखो ऐसे इसे छेद के पास लेके जाना और धीरे धीरे इसे अंदर डालना...देखा..चला गया ना...हो गया तुम्हारा काम..

सुहानी:- अभी तो सिर्फ अंदर गया है...काम तो अभी बाकी है...

सोहन:- अब अंदर चला गया है तो..काम भी हो ही जाएगा...लेकिन ध्यान से बाहर मत निकलने देना...नही तो तुम्हारा काम होते होते रह जाएगा...

सुहानी:- कोई बात नही..अब तुम हो ना...फिर से अंदर डाल देना..

सोहन:- लेकिन तुम्हे फिर से उसे मुह में लेके गिला करना पड़ेगा...

सुहानी:- तुम जितने बार बोलोगे उतनी बार गिला कर दूंगी..मुह में लेके...बस मेरा काम होना चाहिए...

सोहन:- अगर तुम उसे गिला करके सीधा करती रहोगी मुह में लेके...तो तुम जितनी बार बोलोगी उतनी बार अंदर डाल दूंगा...
सुहानी:- सच??

सोहन:-बिलकुल...

सुहानी को लग रहा था जैसे वो लंड को चूत में डालने की बात डिस्कस कर रहे थे....सुहानी बहोत उत्तेजित हो गयी थी....सोहन का भी वही हाल था...उसका लंड पूरा टाइट हो चूका था और प्रीकम छोड़ने लगा था....दोनों एक दूसरे को देखते हुए बाते कर रहे थे....सुहानी समझ गयी थी की सोहन फंस गया है...

सुहानी:- ह्म्म्म थैंक यू...

सोहन:- किस लिये??

सुहानी:- ये इसक्के लिए...अब मेरा काम हो जाएगा...

सोहन:-ह्म्म्म ककोई बात नही...छोटीसी बात है...इसके लिए क्या थैंक यू...

सुहानी ब्लाउज स्टिच करने लगी। सोहन अपनी जगह जाकर बैठ गया...वो अपना लंड एडजस्ट कर रहा था.. जो सुहानी ने देख लिया।

सुहानी:- क्या हुआ?? ऐसे क्यू बैठ है??

सोहन:- कुछ नहीं...थोडा एडजस्ट करने की कोशिस कर रहा हु...सोहन अब पीछे नही हटने वाला था।

सुहानी भी कम नहीं थी।

सुहानी:- क्या एडजस्ट कर रहा है??

सोहन:- ये रॉड....सोहन ने सोफे का रॉड दिखाते हुए कहा..बहोत परेशान कर रहा है आज...सुहानी समझ गयी की वो कोनसे रॉड की बात कर रहा है।

सुहानी:-रोज नहीं करता??

सोहन:- करता है पर आज जादा कर रहा है..

सुहानी:- तो उसका कुछ इलाज ढूंढ ले...

सोहन:- मेरे पास तो नहीं है...तुम्हारे पास है तो कर दो कुछ इसका इलाज..

सुहानी:-मेरे पास तो बहोत सारे इलाज है उसके लिए...

सोहन:- तो कर दो...

ये दोनों के बिच का सम्भाषण कुछ जादा ही उत्तेजित होते जा रहा था....

सुहानी आगे कुछ बोल पाती तभी उसके ऊँगली में सुई घुस गयी...उसका पूरा ध्यान सोहन की तरफ था।

सुहानी:- आह्ह्ह..

सोहन:-क्या हुआ??

सुहानी:- कुछ नहीं ये सुई घुस गयी ऊँगली में...

सोहन उठा और सुहानी की ऊँगली देखने लगा...उसमे से खून निकल रहा था...उसने वो पोछा और उसकी ऊँगली मुह में लेके चूसने लगा...

सुहानी:- ये क्या कर रहा है...??

सोहन:- अरे ऐसे चूसने से खून बंद हो जाएगा...

सुहानी:- अच्छा...लेकिन मैंने तो सुना है की चूसने से और निकलता है...सुहानी उसकी आँखों में देखते हुए धीरे से बोली।

सोहन:-सही सुना है...चूसने से और निकलता है लेकिन ब्लड नहीं...ब्लड रुक् जाता है...ये देखो रुक गया।

सुहानी:- अरे हा...ये तो बंद हो गया...

सोहन:- हो गया तुम्हारा स्टिच कर के...??? ये आज अचानक साडी पहनने का क्या सुझा?

सुहानी:- ऐसेही...क्यू पूछ रहा है??

सोहन:-मैं भी ऐसेही पूछ रहा हु...अक्सर जब लडकिया शादी... सुहागरात के लिए उतावली हो जाती है तभी उन्हें साडी का शौक लग जाता है...सोहन ने जानबुज के सुहागरात का जिक्र किया।

सुहानी:- ऐसा कुछ नही है....आजकल लडकिया सुहागरात के लिए शादी का वेट थोड़े करती है...बिना शादी के ही सुहागरात मना लेती है...

सोहन:- ह्म्म्म काश मुझे ऐसी लड़की मिल जाय...जो बिना शादी सुहागरात मना ले...

सुहानी:- मिल जायेगी...

सोहन:- कहा??

सुहानी:- देख अपने आस पास..क्या पता आस पास ही हो...

सोहन:- मेरे आस पास तो फिलहाल तुम हो...

सोहन ने सीधा हमला किया...

सुहानी:-मैंने तेरे कॉलेज की बात की...तू तो घर में ही ढूंढ़ने लगा...पहली बार सुहानी ने बैक्स्टेप लिया।

सोहन:-तुमने ही कहा अपने आस पास देख...

सुहानी:- चुप कर बदमाश कही का...सुहानी शरमा गयी।


दोनों ही आज पीक पे थे। और दोनों ही डबल मीनिंग में ही सही लेकिन खुल के बात कर रहे थे।


रात तो अभी शुरू हुई थी...और दोनों जानते थे की ये रात इतने जल्दी खत्म नहीं हिने वाली थी...ये रात तो बहोत लंबी होने वाली थी।
-  - 
Reply
02-03-2019, 12:01 PM,
#46
RE: Indian Sex Story बदसूरत
सुहानी ब्लाउज स्टिच कर चुकी थी।

सुहानी:-चलो मैं ट्राय करती हु ठीक से हुआ या नहीं...

सोहन:- हा कर लो...और आराम से करना...नहीं तो फिर से फट ना जाय...

सुहानी:-हा आराम से ही करुँगी....और फटेगा क्यू?

सोहन:- मुझे लगता है की ये थोडा टाइट होगा तुम्हे...

सोहन सुहानी की चुचियो को देखते हुए बोला...

सुहानी:- हा मुझे भी लग रहा है...देखती हु पहन के...

सोहन:- एक काम करो...पूरी साडी पहन के दिखाओ..मैं भी तो देखु इतना क्या पसंद आ गयी तुम्हे..

सुहानी:- ठीक है...अभी आती हु...

सोहन:- यही कर लो चेंज...

सुहानी:- तेरे सामने?? बदमाश कही के...

सोहन:- अरे उसमे क्या है?? अब दो बार तो देख ही चूका हु...एक बार और सही...

सुहानी:- थप्पड़ पपड़ेगा...वो सब गलती से हुआ था...

सोहन:-तो अभी फिर से गलती कर दो...

सुहानी:- क्यू दो बार से जी नही भरा तेरा...

सोहन:-ठीक से एक बार भी नही देखा...सब गड़बड़ गड़बड़ में...

सुहानी:-अच्छा? तो ठीक से नही देखा तो अब देखना चाहता है? शरम नही आती अपनी बहन को ऐसे द्वखने की बात उसके सामने ही कर रहा है...

सोहन:- तो क्या हुआ...ओह्ह्ह समझ गया...तुम्हे डर लग रहा है...तुम फट्टू हो..और मुझे बोलती थी...

सुहानी:- मैं नही हु...तू ही है...

सोहन:- समझ गया...जाओ तुम्हारे बस का नही है..

सुहानी:-क्या नहीं है...और मैं नही हु फट्टू...तू ही है...

सोहन:- मैं नही हु...मैं तो अभी तुम्हारे सामने नंगा हो जाऊ...

सोहन जोश में आ गया था...सुहानी भी जोश में थी...

सुहानी:- चुप कर बदमाश कही के...मैं डरती नहीं हु...बस तेरा ख्याल आता है..

सोहन:- क्यू मुझे या होने वाला है..

सुहानी:- कही मुझे देख के तेरी हवा टाइट ना हो जाय...

सोहन:- अच्छा बहाना है ...और मेरी कोई हवा टाइट नही होती...

सुहानी:- कोई बहाना नही..सच है..

सुहानी ये बोल के अंदर चली गयी...

सुहानी:- ह्म्म्म्म बड़ी हिम्मत आ गयी है इसमें तो...चलो आज इसकी इच्छा पूरी कर ही देती हु....ये सोच के सुहानी के लबो पे एक कमीनी हँसी दौड़ गयी।


सुहानी ने साडी पहनी और बाहर गयी।


सुहानी:- कैसी लग रही है??

सोहन ने उसे देखा...

सोहन:- बहोत अच्छी लग रही है...

सुहानी उस साडी में बहोत सेक्सी लग रही थी। सोहन उसे उवर से निचे तक देख रहा था।

सुहानी:- ऐसे क्या देख रहा है??

सोहन:- कुछ नहीं...

सुहानी:-बोल बोल..क्या सोच रहा है?

सोहन:- सोचना क्या है...ये देख रहा था की तुम्हारी फिगर साडी में बहोत अच्छी लगती है...साडी ही पहना करो हमेशा...

सुहानी:- अच्छा ये बात है...

सोहन:- हा...और मेरे हिसाब से तो तुम्हारी फिगर बिना कपड़ो के जादा अच्छी लगती है...

.

सुहानी:- अच्छा?? तुम्हे मेरी फिगर बिना कपड़ो के जादा अच्छी लगती है??

सुहानी ने बहोत ही मादक अंदाज में बोला।

सोहन ने उसकी आँखों में देखा...

सोहन:-हा...

सुहानी:-सच कह रहा ?? मेरी कभी किसीने ऐसी तारीफ नहीं की.

सोहन:- नाराज क्यू हो रही हो?? मैं सच कह रहा हु...आपकी फिगर सच में लाजवाब है।

सुहानी:- थैंक यू...अच्छा ये बता कल इसे ऑफिस पहन के जाऊ?

सोहन:- ऑफिस में अलावुड है क्या??

सुहानी:- नहीं...लेकिन एकाद बार चल जाता है..

सोहन:-रहने दो..मत जाओ..

सुहानी:- क्यू??

सोहन:-तुम्हे ऐसे देख कोई बेचारा घायल ना हो जाय...

सुहानी:- हा हा हा...कुछ भी जोके करता है...मुझे कोई नहीं देखता ओफ्फुस में...

सोहन:- सबकी आँखे ख़राब है...

सुहानी:- अच्छा?? ऐसा क्या देख लिया तेरी आँखों ने जो उनको नहीं दीखता..???

सोहन:-सब कुछ तो एकदम मस्त है...

सुहानी:- चल बहोत हो गयी मेरी तारीफ़...पढाई करो..

सोहन:- हा लेकिन एक बार ये साडी में कैटवाक करके दिखाओ ना..

सुहानी:- मुझे नहीं आती...

सोहन:- क्या दीदी...मॉडल को नहीं देखा क्या कभी फैशन शो में?

सुहानी:- ठीक है ट्राय करती हु..


सुहानी थोडा पीछे हुई और कैटवाक करती हुई सोहन के पास आई...एयर फिर घूम के वापस जाने लगी...सोहन उसकी मटकती गांड को देख रहा था...पहले ही सुहानी नार्मल भी चलती थी तो उसकी मांसल गांड बहोत मटकती थी अब तो वो कैटवाक कर रही थी...उस टाइट बाँधी हुई साडी उसकी गांड और भी जादा कहर ढा रही थी।

सुहानी ने दो तिन बार उसे कैटवाक करके दिखाया...

और फिर सुहानी उसके आगे आके खड़ी हो गयी।
-  - 
Reply
02-03-2019, 12:01 PM,
#47
RE: Indian Sex Story बदसूरत
सुहानी:- कैसे लोग है...तालिया भी नही बजाते..इतना अच्छा फैशन शो दिखाया...

सोहन उसके सामने ही खड़ा हो गया और तालिया बजाने लगा।

सुहानी नाटकीय अंदाज में थोडा निचे झुक के उसका अभिवादन स्वीकार करने लगी।

सुहानी:- और कुछ हुक्म मेरे आका..

सोहन:- हा..जाओ मेरे लिए चाय बना के लाओ..

सुहानी:- क्या??

सोहन:- हा..दीदी प्लीज़ एक कप चाय..

सुहानी:- ह्म्म्म हा मुझे भी कॉफ़ी पीनी है..

सुहानी किचन में गयी..और दोनों के लिए चाय कॉफी बनाने लगी।


सुहानी सोच रही थी की अब आगे बात कैसे बढाए...तभी सोहन किचन में आया..और फ्रिज से पानी निकाल के पिने लगा।

सोहन:- दीदी सच कहु शाम को में मैं बहोत खुश हो गया था..मुझे लगा मम्मी आ गयी..

सुहानी:- हम्म्म्म्म मैंने तो कहा था ना..मुझे ही मम्मी समझ ले..

सोहन:- हा सच कहा...तुम्हे मम्मी बनाने में कोई हर्ज नहीं है...

सुहानी:-तो रोका किसने है...

सोहन:- किसीने नही...लेकिन सोचता हु की क्यू बेवजह तुम्हे तकलीफ दू...

सुहानी:- थोड़ी तक्लिफ सहन कर लुंगी तुम्हारे लिए...वो सोहन के नजदीक गयी...

सोहन:- और जादा हुई तो??

सुहानी:- क्यू तू मुझे जादा तकलीफ देगा क्या??

सोहन:- मैं नहीं...छोटा सोहन परेशां करेगा..

सुहानी:- उसको चिंता मत करो मैं उसे संभाल लुंगी...वैसे क्या परेशां करेगा वो

सोहन:- उसे तुम्हारा दूध *चाइये रहेगा कभी भी...

सुहानी:- तो पिला दूंगी...

सोहन:-रात देर रात कभी भी जग जाएगा...

सुहानी:- तो प्यार करके सुला दूंगी...

सोहन:- तुम काम करती रहोगी और वो तुम्हे ऐसे पकड़ लेगा...सोहन ने उसे कमर से पकड़ कर अपनी और खिंचा...

सुहानी:-तो मैं उसे ऐसे किस देके कहूँगी की मुझे अभी काम करने दो..सुहानी ने सोहन के गाल पे एक भीगा हुआ किस किया...सोहन सुहानी को अपने नजदीक पाके बहोत उत्तेजित हो गया था...और उवर से सुहानी ने उसे गाल पे किस कर दिया।

सोहन:- और अगर वो फिर भी नहीं माना तो...

सुहानी:- तो उसे एक चाटा लगाउंगी...सुहानी ने सोहन के गाल पे चाटा लगाया..और उससे अलग हो गयी और गैस पे रखी चाय और कॉफ़ी कप में भरने लगी...

सोहन ने जा के उसे पीछे से पकड़ लिया..

सोहन:- ह्म्म्म तो ठीक है तो मैं आज तुम्हे मम्मी बना ही देता हु...सोहन ने अपना लंड सुहानी की गांड पप रगड़ा...

सुहानी सोचने लगी...उम्म्म इसमें तो अब बहोत हिम्मत आ गयी...

सुहानी:- ठीक है...बना दे आज मुझे मम्मी...सुहानी अपनी गांड प्पीचे ले जाती हुई बोली...

सोहन:- स्स्स्स अह्ह्ह्ह दीदी....सोहन से अब बर्दास्त करना मुश्किल हो रहा था...वो उसे कंधे पे किस करने लगा...

सुहानी:- सोहन स्स्स्स क्या कर रहा है...

सोहन:- प्यार कर रहा हु...सोहन अपने हाथ ऊपर उसकी चुचियो पे रखना चाह रहा था...सुहानी ने उसके हाथ पकड़ लिए और टर्न हो गयी...दोनों एक दूसरे की आँखों में देखने लगे...सोहन ने देखा सुहानी का साडी का पल्लू थोडा खिसक गया था...वो उसे देखने लगा...

सुहानी:- क्या देख रहा है ऐसे??

सोहन:- जो दिख रहा है वो...

सुहानी:- क्यू कल रात को देखा नहीं क्या??

सोहन:-देखा ना...लेकिन फिर से देखना है...

सुहानी:- चुप बदमाश...अपनी बहन को।ऐसे देखेगा??

सोहन:- हा उसमे क्या है...अब मेरी बहन है ही इतनी सेक्सी...

सुहानी:- अच्छा...मैं तुझे सेक्सी लगती हु...

सोहन:- हा। बहोत...और आपसे ऐसे बाते करके मुड़ बन रहा है..

सुहानी:- किस चीज का??

सोहन:-आपको पता है किस चीज का...

सुहानी:-मुझे नही पता...तू बता...

सोहन:-आपके साथ सेक्स करने का...

सुहानी:- ईईईई चुप्प्पप्पप्प कोई अपनी बहन से ऐसे बाते करता है क्या...पागल..

सोहन:- क्यू क्या हुआ..

सोहन अब बेशरम बन गया था...उसका सारा डर खत्म हो चूका था...और हो भी क्यू ना...सुहानी ने उसकी मर्दानगी को चैलेंज जो किया था।

सुहानी:-मैं बहन हु तेरी...और बहन के साथ ऐसा नहीं कर सकते...

सोहन:- जब बहन को बिना कपड़ो के देख सकते है तो सेक्स क्यू नही कर सकते??

सुहानी:- ईईईई..चुप होंजा..देखना अलग है और ये अलग...

सोहन:- तो दीदी एक बार दिखा। दो न....जब से आपको देखा है...तब से चैन नहीं है...

सुहानी:-तू पागल है क्या?? वो तो सब गलती से हुआ था...

सोहन:- दीदी प्लीज़...बस एक बार...मेरी इतनी सी इच्छा पूरी नहीं करोगी क्या??

सुहानी:- कुछ भी क्या सोहन...कोई बहन भाई ऐसे नहींकरते...

सुहानी सिर्फ उप्पर ऊपर से उसे मना कर रही थी...लेकिन उसके दिमाग में तो पहले से पैन रेडी था...

सोहन:- क्यू आपने तो बताया की आपकी कोई फ्रेंड है...

सुहानी:- तो वो गलत करेंगे तो हम भी क्या??

सोहन:- वो गलत करते है...मैं तो बस अपनी सेक्सी दीदी को एक बार जी भर के देखना चाहता हु...

सुहानी:- मैं तुझे इतनी पसंद आ गयी??

सोहन:-दीदी बहोत...आप से जादा सेक्सी फिगर मैंने आजतक नहीं देखि...प्लीज़ दीदी एक बार..

सुहानी:- ठीक है लेकिन सिर्फ एक बार और आखरी बार...इसके बाद तू कभी नहीं बोलेगा...

सोहन:- हा दीदी...प्रॉमिस...

सुहानी:- लेकिन मेरी एक शर्त है...तू मुझे छूने की कोशिस नहीं करेगा...क्यू की लड़के ऐसे वक़्त कण्ट्रोल नहीं कर पाते...

सोहन:- हा मैं एक जगह बैठा रहूँगा...हिलूंगा भी नहीं...

सुहानी:- ह्म्म्म...ये सही है...तेरे नहीं हीLने का बंदोबस्त कर दूंगी...तेरे हाथ बाँध देती हु..

सोहन:- ये क्या दीदी...भरोसा रखो..

सुहानी:- नहीं ऐसा ही होगा...मंजूर है तो बोल...

सोहन:- ठीक है...

दोनों के दिल अब जोर जोर से धड़क रहे थे...सुहानी अलग ही रोमांच महसूस कर रही थी...

सुहानी सोहन को लेके अपने बैडरूम में आयीं...उसे एक चेयर पे बिठा दिया और उसके हाथ अपने। स्कार्फ से बांध दिए...

सोहन:- दीदी ये क्या कर रही हो...मैं नहीं छुऊँगा आपको...

सुहानी:- वो मुझे नहीं पता...मेरी सेफ्टी के लिए है ये...

सोहन:- ठीक है...
-  - 
Reply
02-03-2019, 12:01 PM,
#48
RE: Indian Sex Story बदसूरत
सुहानी चार कदम बेड की तरफ चली और सोहन की तरफ पीठ करके खड़ी हो गयी...कुछ देर वो वैसेही खड़ी रही...फिर पलट के। सोहन से बोली" सोहन मुझे शरम आ रही है...मुझसे नही होगा"

सोहन:- दीदी प्लीज़..अब तो मुझे बाँध भी दिया है आपने..

सुहानी:- ठीक है...पर बहोत अजीब लग रहा है...

सोहन:- अजीब तो मुझे भी लग रहा है पर एक्ससिटेमेंट भी बहोत है...प्लीज़ मेरे लिए..

सुहानी ने एक गहरी सांस ली और अपनी साडी का पल्लू थोडा हटाया...लेकिन फिर से वापस रख लिया...

सुहानी:- फिर कभी करते है...आज नहीं..

सोहन:- दीदी कुछ नहीं होगा...प्लीज़...मुझसे अब रहा नहीं जा रहा...कब आपकी सेक्सी बॉडी को देखु ऐसा हो रहा है स्स्स्स्स् दीदी प्लीज़ ...

सुहानी:- सोहन तू किसीसे कहेगा तो नहीं ना?

सोहन:- नहीं दीदी...ये बात किसीसे कहने जैसी है क्या..

सुहानी:- ठीक है...


सुहानी ने धीरे से अपना पल्लू निचे किया...वो सोहन की आँखों में देख रही थी और स्माइल कर रही थी...सोहन आँखे फाड़े उसकी ब्लाउज में कैद बड़ी बड़ी चुचियो को देख रहा था...सुहानी ने धीरे धीरे पूरी साडी निकाल दी और बेड पे रख दी....

सोहन:-वाओ दीदी...कितनी पतली कमर है असपकि...स्सस्सस्स और वो नाभि उम्म्म

सुहानी:-अब क्या करू??

सुहानी ने बहोत ही मादक अंदाज से पूछा...

सोहन:- ब्लाउज खोलो ना...

सुहानी धीरे धीरे एक एक बटन खोलने लगी...सुहानी ने दो बटन खोले और पलट गयी...

सोहन:-स्स्स्स दीदी...पीछे से आपके हिप्स भी बहोत सेक्सी लग रहे है...दीदी जल्दी से पलटो ना...

सुहानी:- सोहन मुझे बहोत शर्म आ रही है...

सोहन:- दीदी मैं दो बार देख चूका हु...अब क्या शर्माना?

सुहानी:- शरमाते हुए पलटी...उसके आधे खुले ब्लाउज में से उसकी चुचिया देख सोहन का लंड पूरा खड़ा हो गया...सुहानी की नजर उसपे गयी...सुहानी देखा उसके शार्ट में बहोत बड़ा तम्बू बना हुआ था...सुहानी उसे देख उत्तेजित होने लगी....उसकी चूत में चुलबुलाहट होने लगी...

सुहानी:-मन में...उफ्फ्फ्फ़ इसका लंड तो खड़ा हो गया...और कितना लंबा लग रहा है स्सस्सस्स ये तो पापा से भी लंबा लग रहा है उम्म्म्म

सोहन ने देखा सुहानी उसके लंड को देख रही है...

सोहन:-ह्म्म्म तो दीदी मेरा लंड देख रही है...स्सस्सस्स लगता है पसंद आ गया...ऐसे ऐसे बाटे करूँगा अब की खुद चुदवाने के लिए तडपेगी....स्स्स्स्स् हा भाड़ में जाय दुनिया...आज तो दीदी को चोद के ही रहूँगा...

सोहन:- क्या दलह रही हो दीदी...खोलो ना स्स्स्स दिखाओ मुझे उम्म्म्म

सुहानी उसकी बात से होश में आई...

सुहानी ने आँखे बंद कर ली और धीरे धीरे बचे हुए बटन खोल।दिए...सुहानी की ब्रा में ठुसि हुई भरी भरकम चुचियो को देख सोहन पागल सा होने लगा...हालांकि सोहन ने कल रात ही उसकी चुचिया देखि थी लें जिस अदा से सुहानी ब्लाउज खोल रही थी और जिस एक्सप्रेशन से उसे देख रही थी उससे उसे एकक अलग ही मजा आ रहा था।

सोहन:- उफ्फ्फ्फ़ दीदी।स्सस्सस्सस कितनी हॉट हो तुम उम्म्म्म्म

सुहानी:- चुप कर..पहले ही मैं शर्म से मरी जा रही हु और तू ऊपर से...

सोहन:- ओह्ह्ह दीदी...अब जो हैं सो है...कितनी बड़ी बड़ी है तुम्हारी चुचिया स्स्स्स्स् ब्रा में भी नहीं बैठ रही स्स्स

सोहन के मुह से चुचिया सुन सुहानी के जिस्म में एक लहर सी दौड़ गयी...उसकी चूत अब गीली होने लगी थी...जबकि वो सिर्फ सोहन को उत्तेजित करना चाहती थी...लेकिन अब वो भी उत्तेजित होने लगी थी।

सुहानी:- स्स्स्स सोहन..मत बोल ऐसे...

सोहन:- क्या हुआ दीदी?? कुछ हो रहा है क्या??

सुहानी:- नही...लेकिन ऐसे वर्ड्स मत बोल..

सोहन:- ओके...

सुहानी। ने ब्लाउज साइड में निकाल के रख दिया...


अब उसने अपने पेटीकोट का नाडा पकड़ा और सोहन की तरफ देखा...सोहन सांस रोके हुए सुहानी के अगले कदम का इन्तजार कर रहा था...

सुहानी ने नाड़ा खिंचा और आँखे बंद कर ली और पेटीकोट छोड़ दिया...पेटीकोट जमीं पे जा गिरा...सोहन की तो जैसे धड़कन ही रुक गयी...सुहानी की पतली कर्वी कमर पे उसकी पैंटी की एक पतली सी स्ट्रिप और उसकी चूत को कवर करती उसकी पैंटी...जो उसकी फूली हुई चूत की वजह से ऊपर की और उठ रही थी...सोहन ये नजर देख के पागल हो गया...उसका गला सुख गया...सुहानी भी जोर जोर से साँसे ले रही थी...आज वो सच में बहोत उत्तेजित हो रही थी...आज वो पहली बार खुद हो के किसी मर्द के सामने अपने कपडे उतार रही थी....एक अलग ही अहसास उसे हो रहा था।

सोहन:-स्सस्सस्सस वाओ...क्क्या लग रही हो दीदी आप इस ब्रा पैंटी में उफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ़

सोहन की। बात सुन के सुहानी ने आँखे खोली और सोहन को देखा वो उसे ऊपर से निचे तक लगातार देखे जा रहा था। सुहानी एकदम से शरमा गयी और उसने बेड पे राखी साड़ी उठा ली और लपेट ली...

सोहन:- दीदी मत करो ऐसा...म7झे देख लेने दो जी भर के...निकालो न साड़ी...

सुहानी:-देख तो लिया...अब बस....

सोहन:-दीदी मैं असपको बिना कपड़ो के। दलहन चाहता हु...यही तो बात हुई थी...और अब इतना दिखा चुकी हो अब थोडा और सही...

सुहानी:- अब और कितना देखेगा??

सोहन:- दीदी आज मुझे सबकुछ देखना है...आपकी चुचिया...आपकी मस्त गांड...और आपकी रसीली चिकनी चूत भी...

सुहानी सोहन के मुह से ये सब सुन के अपनी आँखे बंद कर ली।

सुहानी:- स्सस्सस्सस चुप...एकदम चुप्प...बोला ना मत बोल ऐसे...

सोहन:- आप दिखाओ नहीं तो मैं ऐसेही बोलता रहूँगा।

सुहानी बेड पप्पी बैठ गयी और शरमाते हुए अपनी साडी को धीरे धीरे हटाने लगी...सुहानी ने साडी हटा के अपनी एक चूची सोहन को दिखाने लगी...

सोहन:- उम्म्म्म दीदी दोनों दिखाओ ना...

सुहानी:- तुझे इतनी पसंद आ गयी क्या?

सोहन:- हा...

सुहानी ने साड़ी हटा के दोनों चुचिया उसे दिखने लगी...

सुहानी:- ऐसा क्या खास है इनमे??

सोहन:- स्स्स्स्स् दीदी आपकी चुचिया कमाल की है...ऐसी चुचिया किसी पोर्न स्टार की भी नहीं...

सुहानी:- अच्छा?? तू पोर्न देखता है??

सोहन:- सभी देखते है...

सुहानी:- बहोत...

सुहानी:- मुझे देखने से भी जादा??

सोहन:- आप कुछ दिखा ही नहीं रही हो...सब छुपा छुपा के रख रही हो..तो क्या मजा आएगा..

सुहानी:- अच्छा...अब तू देख मैं तुझे क्या दिक्खति हु...तू पोर्न ना भूल गया तो कहना...

सोहन:- ओह्ह्ह अच्छा?? देखता हु...


सुहानी जोश में आ गयी...सुहानी ने अपनी साडी थोड़ी हटा दी और उसे अपने दोनों चुचियो को हाथ पे पकड़ के दबाने लगी....

सुहानी:- कैसी लग रही हु मई...

सोहन:- स्सस्सस्स सेक्सी...

सुहानी सोहन की आँखों में देखते हुए अपनी ब्रा की स्ट्रिप निचे करने लगी...फिर धीरे से अपनी एक चूची ब्रा से बाहर निकाली...और फिर उसे दबाने लगी...

सोहन:-अह्ह्ह्ह दीदी बहोत मजा आ रहा है....स्स्स्स्स्

सुहानी ने फिर धीरे से अपनी दूसरी चूची भी बाहर निकाली...और दोनों चुचिया दबाने लगी...

फिर सोहन की आँखों में देलहते हुए अपनी एक ऊँगली मुह में डाली और उसे गिला करके अपने निप्पल पप लगाया और फिर निप्पल को दबाने लगी...

सोहन:- स्सस्सस्स अह्ह्ह दीदी आज तुम मुझे पागल करके ही छिडोगी...

सुहानी:- अभी तो बस शुरवात है....

सोहन:-उफ्फ्फ् शुरवात ही है तो देखो कैसे टाइट हो गया है मेरा बाद में तो फट ही जाएगा स्स्स्स्स्..सोहन उसे जानबुज के अपना लंड दिखाने लगा..

सुहानी:- उम्म्म्म्म स्सस्सस्स

सुहानी भी कम।नहीं थी...उसने अपनी साडी हटाई और उसे अपनी चुचिया और पैंटी दिखाने लगी...सोहन उसककी बड़ी बड़ी चुचिया देख पहले ही पागल हो रहा था...ऊपर से उसकी पैंटी में फसी चूत और चिकनी जांघे देख और भी पागल हो गया...

सोहन:- स्सस्सस्स दीदी आपकी जांघे भी कितनी चिकनी है स्स्स्स्स्स्स्स

सुहानी:-और देखेगा??

सोहन:- स्स्स्स हा दीदी...
-  - 
Reply
02-03-2019, 12:01 PM,
#49
RE: Indian Sex Story बदसूरत
सुहानी ने उसकी तरफ बहोतही मादक अदा से देखा और पलट गयी...अपने घुटने बेड पप टिकाये और उसकी तरफ अपनी गांड कर दी...

सुहानी:- स्सस्सस्स सोहन अब कैसी लग रही हु मैं??? सोहन...मुझे यकीं नहीं हो रहा की मैं तुझे ये सब ऐसे दिखा रही हु अह्ह्ह

सोहन:- स्स्स्स वोव्व्व्व्व्व्व् मार डाला उफ्फ्फ्फ़ दीदी.....क्या गांड है आपकी स्स्सस्सस्समुझे पता होता मेरी बहन इतनी सेक्सी है तो कबका बोल दिया होता आपको दिखाने के लिए स्सस्सस्स

सोहन की बात सुन के सुहानी खुश हो रही थी।

सुहानी की गांड देख के सोहन अब बेकाबू होने लगा था...उसका लंड प्रीकम। छोड़ने लगा था....

सोहन:- स्स्स्स्स् दीदी वो आपकी गांड के दरार में घुसी हुई पैंटी आपके गांड के हुस्न को चार चाँद लगा रही है...अह्ह्ह्ह्ह

सुहानी:- ओह्ह्ह सोहन...तुम्हारी ऐसी बाते सुन के मुझे भी कुछ हो रहा है स्स्स्स्स्

सोहन:-क्या हो रहा दीदी??

सुहानी मुड़ी और उसे उसकी तरफ देखने लगी...उसके मुड़ने से सुहानी की नंगी चुचिया और गांड दोनों एक साथ सोहन को दिखाई देने लगी।

सुहानी:- पता नहीं अह्ह्ह्ह

सोहन:- निचे कुछ हो रहा है क्या?

सुहानी:- हा स्स्स्स्स्

सोहन:- गीली हो रही होगी...ये देखो मेरा भी गिला हो चूका है स्स्स्स्स्

सुहानी ने देखा सोहन के लंड के प्रीकम से उसका शार्ट एक जगह गिला हो चूका था।

सुहानी:-स्स्स्स अह्ह्ह्ह


सोहन ने नोटिस किया अब सुहानी भी उसका साथ दे रही थी...वो उसे गांड जैसे वर्ड इस्तेमाल करने से रोक नही रही थी।


सुहानी:-हा रे मेरी भी पॅंटी ऐसेही गीली हो चुकी है स्स्स्स्स्

सोहन:- स्स्स्स्स् दीदी डी8खाओ ना मुझे स्स्स्स

सुहानी उठी और पैर फैला के बैठ गयी...उसने अपना हाथ पैंटी के अंदर डाला और बाहर निकाला...

सुहानी:- उए देख स्स्स्स्स् उम्म्म्म

सोहन:- दीदी ऐसे नहीं...पैंटी निकाल के दिखाओ ना.....

सुहानी:- स्स्स्स नही सोहन...

सोहन:- प्लीज़...

सुहानी:- स्स्स्स्स् अह्ह्ह तू नही मानेगा ना?? उफ्फ्फ्फ़ मैं ये क्या और क्यू कर रही हु अह्ह्ह्ह्ह

सुहानी ने अपनी पैंटी थोड़ी सी हटाई और उसे दिखाने लगी...

सोहन उसकी सावली बिना बालो वाली चिकनी गीली चूत को आँखे फाड़ के देखने लगा...

सोहन:-ओह्ह माय गॉड...स्स्स्स्स् दीदी उफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ़

वो बस इतना ही बोल पाया...

सुहानी:-क्या हुआ??? होश उड़ गए क्या?

सोहन:- स्स्स्स्स् दीदी आपकी चूत....स्स्स्स्स् आह्ह्ह्ह्ह् दीदी आपकी चूत उफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ़

सुहानी:- और देखेगा??

सुहानी ने अपनी पैंटी निकाली और उसे दिखाने लगी...

सोहन अब चुप हो गया था...अब उसमे बोलने की हिम्मत नही थी...

सुहानी:- क्या हुआ....चुप क्यू हो गया?

सोहन:- मेरे पास अब वर्ड्स नही है...स्सस्सस्स अह्ह्ह्ह

सुहानी:- स्स्स्स्स् अह्ह्ह तेरे वजह से आज मैं भी बहक गयी हु स्स्स्स्स्

सोहन:- तो फिर ऐसे टाइम क्या करती हो??

सुहानी:- उंगली डाल के शांत करती हु....

सोहन:- तो करो ना...मैं भी देखना चाहता हु...

सुहानी बेड पे लेट गयी और पैर को खोल के सोहन को दिखाने लगी...सुहानी ने पहले अपनी ऊँगली से अपना क्लिट रगड़ना शुरू किया....वो सोहन को देखते हुए अपने डेन को धीरे धीरे रगड़ने लगी...

सुहानी:- अह्ह्ह्ह स्सस्सस्स उम्म्म्म्म्म्म्म

सोहन उसे आँखे फाड़ के देलहने लगा...

सोहन:- उफ्फ्फ्फ़ स्स्स्स दीदी सच में ये पोर्न देखने से जादा अच्छा है उम्म्म्म्म

सुहानी:- अह्ह्ह्ह्ह स्स्स्स सोहन मुझे भी बहोत मजा आ रहा है तेरे सामने ये सब करके अह्ह्ह्ह्ह स्स्स्स्स्

सुहानी ने अपनी एक ऊँगली अंदर घुसा दी और उसे अंदर बाहर करने लगी।

सुहानी:- आओउच् स्सस्सस्स उम्म्म्म्म

सोहन:- अह्ह्ह्ह स्स्स्स दीदी दो ऊँगली डालो अंदर उम्म्म्म्म बहोत मजा आएगा अह्ह्ह्ह

सुहानी:- स्स्स्स्स् अह्ह्ह्ह

सुहानी ने दो ऊँगली डाल ने लगी...

सुहानी:- स्स्स्स्स् नही दर्द होता है...

सोहन:-स्स्स्स्स् ऊँगली को गिला करके डालो...

सुहानी ने उंगलियो को गिला किया और अंदर दालने लगी...

सुहानी थोड़ी देर *ऐसेही अपनी चूत को ऊँगली से चोदती रही...जैसे ही उसे लगा की वो झड़ने वाली है उसने खुद को रोक लिया।

सोहन:- क्या हुआ दीदी??

सुहानी:- कुछ नहीं...तुझे और कुछ दिखाना है...

*सुहानी पलटी और उसे अपनी गांड दिखने लगी...वो थोडा और झुकी जिससे उसकी चूत और गांड सोहन को दिखाई देने लगी...

सोहन:- अह्ह्ह्ह स्सस्सस्स दीदी अपनी गांड को हाथो से फैलाव ना...स्स्स्स्स्स्स्स उफ्फ्फ्फ़ आप सच में कमाल हो *आज तो मजा आ गया।

सुहानी ने अपनी गांड एक हाथ से फैलाई और चूत को सहलाने लगी...

सुहानी:- स्सस्सस्स सोहन उम्म्म्म कैसी लग रही है मेरी चूत और गांड??

सुहानी ने पहली बार सोहन के सामने ये वुर्दस् इस्तेमाल किये...

सोहन:- स्स्स्स्स् बहोत कमाल की....एयर उससे भी जादा मजा तो आपके मुह से चूत गांड सुन के आया..एक बार और। पूछो ना दीदी....

सुहानी:-स्स्स्स्स् सोहन अपनी बहन की गांड और चूत को देख के मजा आ रहा है ना?

सोहन:- हा दीदी बहोत उफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ़ स्सस्सस्सस

सोहन अब आश्वस्त हो गया था की सुहानी अब बहोत उत्तेजित हो गयी है...

सुहानी:- स्स्स्स्स् अह्ह्ह्ह्ह उम्म्म्म

सुहानी धीरे अपनी चूत रगड़ रही थी...अपनी गांड को गोल गोल घुमा के सोहन को पूरा मजा दे रही थी...सुहानी अपनी ऊँगली चूत डाल दी...

सुहानी:- अह्ह्ह्ह सोहन स्सस्सस्स बहोत अच्छा लग रहा है स्सस्सस्स

सोहन:- दीदी आप थोडा मेरे नजदीक आओ ना...

सुहानी उठी और उसके पास गयी...

सुहानी:- स्स्स्स्स् सोहन देख ले जी भर के अपनी बहन को स्सस्सस्सस

सुहानी उसके एकदम नजदीक थी...सोहन उसे देखे जा रहा था...उसका लंड दर्द करने लगा था...उसका शार्ट बहोत भीग चूका था...सुहानी की नजर उसपे पड़ी...सुहानी के मुह में पानी आने लगा...

सुहानी पलट के उसे अपनी गांड दिखाने लगी...

सुहानी:- देख ले आज जी भर के...कल रत देख नही पाया था न ठीक से...

सोहन:-कल रात को भी देखा था मगर इतना मजा नहीं आया...

सुहानी:- स्स्स्स्स् बदमश कहि के...

सोहन:- दीदी कल।रात जो नहींकिया वो अब करना चाहता हु...आपकी चुचियो को चूसना चाहता हु....

सुहानी:-स्स्स्स्स् अह्ह्ह्ह आज तेरी हर इच्छा पूरी करुँगी...

सुहानी बड़ी ही मादक तरीके से आगे बढ़ी और थोडा झुक के सोहन का सर पकड़ लिया और उस्का चेहरा अपनी चूची की तरफ झुका दिया...सोहन ने सुहानी की चुचियो का निप्पल मुह में लिया और उसे चूसने लगा....सुहानी आह्ह्ह भरते हुए उसका सर अपनी चुचियो पे दबाने लगी...सोहन एक एक करके उसकी चुचिया चूसने लगा।

थोड़ी देर बाद सुहानी ने उसे दूर किया...

सुहानी:- और कुछ??

सोहन:- स्स्स्स दीदी उम्म्म्म मजा आ गया...दीदी आपकी गीली चूत नजदीक से दलहन चाहता हु...ये साडी फेक दीजिये ना...


सुहानी ने साडी फेक दी...और वही टेबल पे बैठ गयी...और अपने पैर को फैला दिया..

सुहानी:-स्स्स्स सोहन डेक ले ...

सोहन आगे झुका और सुहानी की चूत को देखने लगा...

सोहन:- स्सस्सस्स दीदी अह्ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ्फ़ कितनी प्यारी है आपकी चूत स्सस्सस्स ऊपर से एकदम चिकनी और अंदर से गुलाबी और रसभरी अह्ह्ह्ह्ह्ह स्स्स्स्स् उसकी महक यहाँ तक आ रही है स्सस्सस्सस उफ्फ्फ्फ्फ़ महक इतनी अच्छी है तो टेस्ट। कितनी अच्छी होगी....
-  - 
Reply
02-03-2019, 12:01 PM,
#50
RE: Indian Sex Story बदसूरत
सुहानी:- अह्ह्ह्ह स्सस्सस्स सोहन...पता नही तूने क्या जादू कर दिया है आज...स्स्स्स्स्

सोहन:- दीदी क्या ऐसे एक बार चाट सकता हु??

सुहानी:- स्स्स्स्स् अह्ह्ह्ह मेरे मन। की बात जान ली तूने स्सस्सस्सआजा...आज चाट ले अपनी बहन। की चूत स्सस्सस्सस उम्म्म

सुहानी अब उत्तेजना के सातवे आसमान पे थी...

*सोहन :- मेरे हाथ खोल दो ना...

सुहानी:- नही...ऐसेही आजा..

सोहन ने जादा नहीं सोचा..वो चेयर को झटके देते हुए सुहानी के पास ले गया...सुहानी भी उसकी सहूलियत के लिए थोडा आगे खिसक गयी...सोहन ने अपना चेहरा आगे किया और गौर से सुहानी की चूत देलहने लगा...सुहानी को उसकी साँसे अपनी चूत पे महसूस हो रही थी...सुहानी बहोत गरम हो चुकी थी...उसने झट से सोहन का चेहरा अपनी चूत पे दबा दिया...सोहन के होठ सुहानी के चूत पे जैसे लगे ..उसे लगा जैसे उसने तपते हुए तवे पे अपने होठ रख दिए हो...उसकी गीली मुलायम चूत को छूटे सोहन पागल सा गया...वो जल्दी जल्दी उसेपे अपने होठ रगड़ने लगा...फिर उसने धीरे से अपनी जुबान निकाली और उसे निचे से ऊपर घुमाने लगा...सुहानी को उसकी ये हरकत बहोत अच्छी लगी..

सुहानी:- अह्ह्ह्ह स्स्स्स सोहन उम्म्म्म्म ऐसेही स्सस्सस्स उफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ़ चाटो और चाटो.....अह्ह्ह्ह बहोत अच्छा लग रहा है सोहन अह्ह्ह्ह्ह

सोहन:- अह्ह्ह्ह स्स्स्स दीदी कितनी गरम है आपकी चूत स्सस्सस्स उफ्फ्फ्फ्फ्फ स्स्स्स्स् कितनी टेस्टी है अह्ह्ह्ह

सुहानी:-हा मेरे भाई। स्स्स्स्स् तेरे लिए ही है अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह चाट और स्स्स्स्स् ह..ह..अहह..ऐसेही। उफ्फ्फ्फ़

सुहानी बहोत देर से खुद को झड़ने से रोक रही थी लेकिन अब उसके बस का नही था...वू अपनी गांड ऊपर उठा उठा के सोहन से अपनी चूत चटवा रही थी...

सोहन:-स्स्स्स्स् दीदी अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् स्स्स्स्स्स्स्स उम्म्म्म्म्म्म्म

सुहानी:- अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह स्सस्सस्स सोहन अह्ह्ह्ह्ह मैं झड़ने वाली हु अह्ह्ह्हह्ह्ह्हह्ह

सुहानी के मुह से एक जोरदार आनंद भरी सिसकारी निकली और वो झड़ने लगी....सोहन समझ गया की सुहानी झड़ चुकी है...वो सीधा हुआ और सुहानी को देखने लगा...

सुहानी जोर जोर से साँसे लेते हुए वही निढाल पड़ी थी...आज कितने दिनों बाद वो झड़ी थी...

थोड़ी देर बाद सुहानी उठी...

सुहानी:- थैंक यू सोहन स्सस्सस्स बहोत मजा आया..

सोहन:- दीदी आपका तो हो गया...लेकिन मेरा क्या...

सुहानी:- क्या हुआ??

सोहन:- ये देखिये यहाँ...उसने आँखों से इशारा किया आपमे लंड किं तरफ..

सुहानी ने देखा सोहन का लंड अब भी खड़ा था...

सोहन:- एक तो आपने मेरे हाथ बाँध रखे है..

सुहानी:- कोई बात नहीं...आज तू मेरे हाथो से कर ले...

सोहन:- सच दीदी??

सुहानी:- हा...हाथो से ही करू या ...

सोहन:- आपको जिससे करना है कोजीए लेकिन जल्दी...खड़ा रह रह के दर्द करने लगा है...

सुहानी निचे बैठी...उसने देखा सोहन के शॉर्ट्स बहोत गिला चूका था...सुहानी ने अपना हाथ आगे बढ़ाया...और उसके लंड पे रखा...जैसे ही उसने लंड को छुआ....लंड और भी झटके मारने लगा...

सोहन:- अह्ह्ह्ह्ह स्सस्सस्स दीदी...

सुहानी उसकी आँखों में देखते हुए शार्ट के ऊपर से ही उसका लंड मसलने लगी...उसे मुट्ठी में पकड़ के देखा...

सुहानी:- मन में...उफ्फ्फ्फ्फ्फ कितना लंबा और मोटा है स्सस्सस्स ये तो पापा के लंड से भी बड़ा है...

सोहन:- अह्ह्ह्ह्ह स्स्स्स दीदी बाहर निकालो ना...

सुहानी ने उसकी शार्ट निचे की....सोहन थोडा उठा तो सुहानी ने शार्ट निकाल दी...अब वो सिर्फ अंडरवियर में था...अंडरवियर तो और भी गीली हो राखी थी...सुहानी ने उसके लंड को अंडरवियर के ऊपर से हिछुआ...उसका पूरा हाथ गिला हो गया...सुहानी अपना हाथ अपने नाक के पास लेके आयी...उसे सूंघने लगी...उसे प्रीकम की खुशबु बहोत अछि लगी...वो सोहन की आँखों में देखते हुए उसके लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही मुठी में पकड़ के सहलाने लगी...

सोहन:- स्स्स्स्स्। अह्ह्ह्ह्ह दीदी...बहोत अच्छा लग रहा है स्स्स्स

सुहानी:-उफ्फ्फ्फ़ सोहन कितना बड़ा है ये स्सस्सस्सस

सोहन:-क्या दीदी???

सुहानी:- तेरा ये..

सोहन:-दीदी उसके नाम से बुलाओ ना उसे...

सुहानी ने बड़ी ही मादकता से उसकी और देखा....

सुहानी:-सोहन तेरा लंड कितना मस्त है उफ्फ्फ्फ्फ्फ

सोहन:- स्सस्सस्स अह्ह्ह्ह्ह दीदी कितना अच्छा लगा आपके मुह से सुन के... एक बार फिर बोलो ना...

सुहानी:-अह्ह्ह्ह्ह सोहन कितना मोटा लंड है तेरा अह्ह्ह्ह्ह स्सस्सस्स कितना टाइट है स्सस्सस्स और तेरे लंड की प्रीकम की खुशबु भीं कितनी अछि है...मन करता है इसे चाट लू...

सोहन:- स्स्स्स्स् तो चाट लो न...

सुहानी उसकी आँखों में देखती हुई उसका लंड पकड़ा और अंडरवियर के ऊपर से उसे चाटने लगी.....और उसे मुह में लेके चूसने लगी...

सोहन:-अह्ह्ह्ह्ह्ह स्सस्सस्स उफ्फ्फ्फ्फ़ वोव्व्व्व्व्व् दीदी और करो...

सुहानी:-स्सस्सस्स सोहन उफ्फ्फ्फ्फ्फ कितना टेस्टी है उम्म्म्म्म स्स्स्स्स्स्स्स

सोहन:- स्सस्सस्स दीदी अगर इतना ही पसंद आ गया तो सीधा मुह लगा के चूस लो ना...

सुहानी:-स्स्स्स्स् अह्ह्ह्ह वो तो चूसूंगी ही मेरे भाई...स्सस्सस्स अह्ह्ह्ह्ह लेकिन सोच रही हु किनेटना मोटा लंड मेरे मुह में आएगा क्या स्सस्सस्सस

सोहन:- डेक लो...

सुहानी ने अंडरवियर को नशे किया...सोहन का लंड किसी स्प्रिंग की तरह उछल के बाहर आ गया...

सुहानी:- वूऊओ उफ्फ्फ्फ्फ़ सुहानी ने उसका लंड पकड़ा और उसे देखने। लगी.....उसे धीरे धीरे आगे पीछे करने लगी...सोहन का लंड बहोत बड़ा था...लगबघ 9 इंच बड़ा और 3 इंच मोटा था...सुहानी उस लंड कको देख के मंत्रमुग्ध हो गयी थी...क्यू की उसने आज तक जितने रियल लंड देखे थे ये उसमे सबसे बड़ा था....सुहानी की चूत में फिर से चुलबुलाहट होने लगी थी....उसने सोहन को देखा...और अपनी चूत को सहलाने लगी...और लंड कको धीरे धीरे आगे पीछे करने लगी...

सोहन:- स्स्स्स्स् दीदी ककया हुआ मेरा लंड देख के आपकी चूत फिर से गरम होने लगी क्या??

सुहानी:- स्सस्सस्स अह्ह्ह्ह्ह हा रे उम्म्म्म्म्म

सोहन:-क्या कह रही। है?? मेरा लंड मांग रही है क्या??

सुहानी:- स्स्स्स्स् हा उम्म्म्म कह रही है अपने भाई का लंड चाहिए स्सस्सस्स

सोहन:-उम्म्म्म दीदी तो मेरा लंड भी बहन की चूत में जाने को तड़प रहा है स्सस्सस्स

सुहानी:- स्सस्सस्सस हा...लेकिन पहले इसे चूस के टेस्ट तो कर लू अह्ह्ह्ह्ह

सुहानी उसकी आँखों देखते हुए लंड को मुह में लिया और चूसने लगी....

सोहन ने अपनी आँखे बंद कर ली....

सोहन:- अह्ह्ह्ह स्स्स्स दीदी उफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ़ कितना मजा आ रहा है माँ8न आपको बता भी नही सकता...

सुहानी सोहन के लंड को बाहर निकाल के निचे से ऊपर तक चाटने लगी...और फिर से मुह में ले लिया....

सोहन बहोत देर से कण्ट्रोल कर रहा था लेकिन अब उससे नही हो रहा था...ऊपर से सुहानी के मुह की गर्माहट ने उसे पागल कर दिया...उसके सुपाड़े के इर्द गिर्द घूमती हई सुहानी की जुबान ने आग में घी डालने का काम किया....

सोहन:-दीदी अह्ह्ह्ह स्सस्सस्स निकालो बाहर स्स्स्स्स् उफ्फ्फ्फ्फ्फ

मेरा होने वाला.....वो ये सेंटेंस पूरा भी नहीं कर पाया और सुहानी के मुह के अंदर ही झड़ने लगा....सुहानी को पहले समझा ही नहीं लेकिन जब उसे वीर्य की टेस्ट अपनेमुँह में आई तो उसने लंड को बाहर निकाला और जोर जोर से आगे पीछे। हिलाने लगी....सोहन का लंड पच पच करते हुए वीर्य छोड़ने लगा...जिसे सुहानी अपने मुह पे लेने लगी....जो वीर्य उसके मुह में गिरा था वोसुहानी पि गयी...सोहन एक मिनट तक झड़ता रहा...उसके लंड से निकलती हर बून्द सुहानी अपने चहरे पे ले रही थी...

सोहन:- ह..ह..ह.ह..स्स्स्स्स् ह्ह्ह्हह्ह दीदी उफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ़

सुहानी:-स्सस्सस्स अह्ह्ह्ह्ह सोहन उफ़्फ़्फ़्फ़्फ़्फ़ कितना पानी जमा करके रखा था रे तूने स्स्स्स्स्स्स्स अह्ह्ह्ह्ह्ह

सुहानी उसका लंड अपने चहरे पे घुमा रहा थी और बिच बिच में उसे चाट रही थी .....सुहानी को होश ही नहीं था की वो क्या कर रही है...

सुहानी:-स्सस्सस्स सोहन उफ्फ्फ्फ्फ्फ तू तो इसे मेरी चूत में डालने वाला था न स्सस्सस्सस

सोहन:- अह्ह्ह्ह दीदी वो बहोत देर से कण्ट्रोल क्र रहा था....लेकिन अब नही हो पाया...स्स्स्स्स् दीदी तो अभी डाल देता हु....

सुहानी:- स्स्स्स्स् उम्म्म्म लेकिन ये तो ढीला होने लगा है ...

सोहन:- स्सस्सस्स अभी टाइट हो जाएगा...लेकिन अब मेरे हाथ तो खोल दो...

सुहानी उठी और उसके हाथ खोल दिए...और खुद बाथरूम चली गयी....
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Sex kahani अधूरी हसरतें 272 250,438 04-06-2020, 11:46 PM
Last Post:
Lightbulb XXX kahani नाजायज़ रिश्ता : ज़रूरत या कमज़ोरी 117 100,908 04-05-2020, 02:36 PM
Last Post:
Star Antarvasna kahani अनौखा समागम अनोखा प्यार 102 276,777 03-31-2020, 12:03 PM
Last Post:
Big Grin Free Sex Kahani जालिम है बेटा तेरा 73 162,154 03-28-2020, 10:16 PM
Last Post:
Thumbs Up antervasna चीख उठा हिमालय 65 40,024 03-25-2020, 01:31 PM
Last Post:
Thumbs Up Adult Stories बेगुनाह ( एक थ्रिलर उपन्यास ) 105 58,724 03-24-2020, 09:17 AM
Last Post:
Thumbs Up kaamvasna साँझा बिस्तर साँझा बीबियाँ 50 84,379 03-22-2020, 01:45 PM
Last Post:
Lightbulb Hindi Kamuk Kahani जादू की लकड़ी 86 124,607 03-19-2020, 12:44 PM
Last Post:
Thumbs Up Hindi Porn Story चीखती रूहें 25 25,858 03-19-2020, 11:51 AM
Last Post:
Star Adult kahani पाप पुण्य 224 1,100,687 03-18-2020, 04:41 PM
Last Post:



Users browsing this thread: 1 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.

Online porn video at mobile phone


Water baby sherlyn chopraantarvasna bahu nanad jethani ki chudaimeri bivi ko dosto se masasse sex kiyaataravasana kesatorewww sexbaba net Thread desi sex story E0 A4 B0 E0 A4 BF E0 A4 B6 E0 A5 8D E0 A4 A4 E0 A5 8B E0 A4 AAमाँ के नग्न चुतड Rajsharmaझांटो सफाईबरसात में बूब्स टच टेम्पो सेक्स स्टोरीचाची की चुतचुदाई बच्चेदानी तक भतीजे का लंड हिंदी सेक्स स्टोरीज सौ कहानीयाँपहले छोड फिर लुंड चुसोगी हिंदी होत स्टोरचुत चुदी बीबी सामने पतीके देखा बड़ाGande gaaliyo me bur cuddai khaniyaBhabi ji ki jam kar chiudai ki kahni photo sathईड़ियन माका बेटेका सेंसि विड़ीयोSexbaba gif nude xossipSaas samdhi chuddai videonewsexstory.com/chhoti bahan ke fati salwar me land diyaऐसवरीया राय हिरोईन सेकसी Hd फोटो लंहगाxxxJijaji land Jaisa naकच्ची उम्र की प्यास sexbabaससूर।के।साथ।बहूका।सैकस।बिडियो।डाउन।लोडGirdhar kapde utarte full sex karte video Hindi mein baten karte ho ladduBollywood desi nude actress nidhi pandey sex babaअपने पेटिकोट को जाँघो तक चढ़ा लिया था लॉन्ग सेक्स स्टोरीज RajishaboobsChut gand lnd bur bhosda fotosaxxxxxx cadi bara pahanti kadaki yo kaचूदाई वाली सीरीयल हीनदीसुहागरातकेदिनलंड को गाड Me कैसेडाले वह तोbil छोटा होता है और छोटे Meकैसे घुसेगाnikita thukral sex baba.comBur.ka.pani.girti.dekhia.xxx.miसेक्सी अंतःवस्त्र स्री फोटोजchubul.bibi.rajsharma.ki.sexy.hindi.kahani.com.XX sexy Punjabi Kudi De muh mein chimta nikalawww xxx com हिंदी सेनेमाNaukar malkin in rajsharmastories.comkambal Rajai mein mudkar sexy videoमेरी बीवी के गांड़ का नाप टेलर ने लंड घुसेड़ करwww.hindisexstory.sexbabsMuslim ka bij bachadani me sexy Kahaniबङि नगि चुत कि फोटुDesi gay teji se pelana sexcylakshmi rai sexbabahavili saxbaba antarvasnaमाँ बेटे के बीच की चुदाई फोटो के साथ 2017साबधानी इडीया साडी वाली लडकीयो की सेकसी वीडीयोnude sexu nonegकहानी मा बेटी समीर नितिन चुदाईकहानी वासना भरी थ्रेडGand marwa kar karja chukaya sex storyananya pandey ki nangi photoswww sexbaba net Thread maa sex kahani E0 A4 AE E0 A4 BE E0 A4 81 E0 A4 AC E0 A5 87 E0 A4 9F E0 A4 BExxxtatti nikal gai cudai kai sangsaxxy badan cudai opin boobs photo xxx photo of hindi actorss mootsti huiRadhika bhabi pucchisexपढ़ाने के बहाने नास्मझ लङकि के साथ सेक्स करने कि कहानीporan marathi sex darda horahy nikalosiekha.armpit.sex.babaमराठिसकसजीजाजी आप पीछे से सासूमाँ की गाण्ड में अपना लण्ड घुसायें हम तीन औरतें हैं और लौड़ा सिर्फ दोnanad ki trainingदूध.पीता.पति.और.बुर.रगडताvideo me dekhao ke aastha ne chut chudwai santosh sepapa ne Kya biteko jabrjsti rep xxx videoवह अपने भाई के रेजर से अपनी झांटे साफ कर रही थी एक कहानी ऐसी भीwww sexbaba net Thread maa ki chudai ki kahani 1Sonarika.bhadoria.ki.nudesexvideo.comhinthi hot auntyi photos nippalअंकल चला झवायलाayyashi chachi k sangusko hath mat laganaमुठ मार कर झाडनाBubs dabao na or land dalo na in hindi aam ke bagiche mai chut chudai ka khel hindi sex kahaniaसविता भाबी नागडे सेकस फोटोखेत में सलवार खोलकर पेशाब टटी करने की सेक्सी कहानियांमस्तराम ओल्ड १९१२ की सेक्स कहानी पुरानीrimpi xxx video tharuinभैया का लिंग sexbabadesi52 hard fouckchunchiyon ke uper nashenMarre mado xxxsexaunty tayar ho saari pallu boobsMujhe apne dost sy chudwaooxxxganayलङके को चुत केसै मारनी चाहियेhindisexstory tv siryalरंडी का कोठे पर खुल का छुड़े मेरी पत्नी अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज हिंदीUtharash sxe video naya naya XX video movie HD majedar kamon ko Shayadashwarasex नीता की खुजली 2