Hindi Sex kahani मेरे दोस्त की सेक्सी वाइफ़
07-23-2017, 11:46 AM,
#1
Hindi Sex kahani मेरे दोस्त की सेक्सी वाइफ़
मेरे दोस्त की सेक्सी वाइफ़

रानी को क्या फ़र्क पड़ता अगर मैं वहां नहीं होता तो अनिल तो उसके साथ रोज़ ही ऐसा करता। मैं उमर में बड़ा और उसको अपनी बाहों में लेकर बोला सब ठीक हो जायेगा तुम चिंता मत करो बस मस्त रहो, अभी तो मैं तुमको निराश नहीं करुंगा, अनिल से ज्यादा मज़ा दूंगा और इतना कह कर मैने उसके लिप्स पर अपने लिप्स रखकर उसके लिप्स को बंद कर दिया। रानी सकपका गयी और कुछ बोल नहीं पायी, मैने उसके लिप्स जो बंद कर दिये थे। जैसे ही मैं अपने लिप्स हटाये वह बोली राज आप बहुत गंदे हो, आप ने ऐसी गंदी बात कैसे सोची। मैने कहा जो अनिल नहीं करता वह मैं करता हूं तो तुम क्यों परेशान हो, मैं कौन हूं भूल जाओ थोड़ी देर के लिये। मैं भी तुम्हारा नज़दीक का हूं और सोचो मैं वह सब तुमको दे रहा हूं जो तुम अनिल से इस समय चाहती हो, फ़िर मैं ड्रिंक भी नही करता।

मेरी इस बात का रानी पर असर हुआ और वह बोली पर मुझे डर लग रहा है, मैं उनके साथ कोई गलत तो नहीं कर रही। मैने कहा सोच लो यह तुम्हारे ऊपर है और मैं उसे चूमता और उसके जांघों और बैक पर मसाज भी करता रहा। रानी बोली प्लीज़ जैसा तुम चाहो पर प्लीज़ मेरे कपड़े मत उतारना आप बाहर से जो चाहे कर लो मुझे बड़ी शरम आ रही है। मेरा तीर सही निशाने पर लग गया था और मैने रानी को अपनी बाहों में ले लिया। फ़िर मैने बिना समय गवाये किये हुए रानी के बूब्स पर उसकी कमीज़ के बाहर से ही हल्का हाथ फ़ेरना शुरु कर दिया।

दोस्तो ये सब कैसे हो रहा था मुझे नहीं मालुम, मैं इतना हिम्मत वाला नहीं हूं। रानी मेरे टच से मस्त हो रही थी, इसी बीच मैने मौका देखकर रानी की सलवार का नाड़ा चुपके से खोल दिया और उसे पता नहीं चला। मैं उसकी चिकनी जांघों पर हाथ फ़ेरना चाहता था पर जैसे मेरा हाथ उसकी पैंटी पर टच हुआ वह एकदम से नाराज़ होते हुए बोली राज नो चीटिंग और उसने अपनी सलवार एक हाथ से पकड़ ली पर ऊपर से वह मस्त हो चुकी थी पर अभी भी मुझसे चुदवाने में वह संकोच कर रही थी पर मेरे टच से उसे मज़ा आ रहा था। पर उसकी सलवार अभी तक खुली हुई थी जिसको उसने एक हाथ से पकड़ रखा था। जैसे ही मैने उसे अपनी बाहों में लिया तो उसके हाथों से उसकी सलवार नीचे सरक गयी और मैने ऊपर से उसकी कमीज़ की ज़िप पीछे से खोल दी और उसने अंदर से काले रंग की ब्रा पहनी हुई थी। मैं तो उसके गोरे बदन पर काली ब्रा देखकर मस्त हो गया।

वैसे तो मैं तो आराम से मस्ती के साथ मज़ा लेने वाला हूं पर सोफ़े में कम्फर्टेबल न होने के कारण ऐसा नहीं कर पाया। मैने जल्दी से रानी की कमीज़ उतार दी और अब वह सोफ़े के बीच काली ब्रा और लाल पैंटी में आधी नंगी खड़ी थी। फ़िर मैने उसे कमर से पकड़ कर उसकी ब्रा के बाहर से ही उसके बूब्स पर किस करना शुरु कर दिया वह चिल्लाने वाली थी पर मैने उसे डराते हुए कहा की किसी ने सुन लिया तो तुम्हारी बहुत बे-इज़्ज़ती होगी इसलिये जैसे मैं करता हूं मुझे करने दो। मैं तो उसकी सारे शरीर पर मस्ती से मसलना, दबाना, रब करना और किस करना जारी रखा। फ़िर मैने उसकी ब्रा का हुक भी खोल दिया और उसके बूब्स को रब करने लगा अब रानी मस्ती में आने लगी और उसको मेरा ऐसा करना अच्छा लगने लगा वो मुझे बीच में प्यार से मना करती और कभी कभी चूमने लगती पर उसे इस बात का डर लगता था कि कहीं अनिल आ न जाये।

थोड़ी देर के बाद मैने उसकी पैंटी के अंदर हाथ डाल दिया तो वह परेशान हो गयी और उसने जल्दी में अपनी पैंटी अपने आप उतार दी। वाह उसकी चूत बड़ी मस्त थी एकदम गुलाबी और उसके चारों ओर छोटे छोटे से भूरे बाल, मुझे लगता है उसने अपनी चूत एक दो दिन पहले ही साफ़ की थी। उसकी चूत के बाल एकदम नरम नरम थे शायद उनको कल परसों ही काटा गया था वह ज्यादा लम्बे भी नहीं थे ज्यादा से ज्यादा १ -२ मिलीमीटर तक होंगे। उसकी चूत देखकर तो वह १८-२० साल की सी लगती थी उसे बूब्स भी एकदम टाइट और छोटे छोटे थे। पर जहां तक चूत की बात थी शायद अनिल तो कभी कभी ही उसकी चूत तक हाथ फ़ेर पाता था, उसकी चूत देखकर लगता नहीं था कि वह अभी तक एक बच्चा निकाल चुकी थी और कई बार एक ६ फुटे मर्द के लंड की मार झेलती थी। वह एकदम नर्म गुलाबी मस्त गुदगुदी मक्खन जैसी थी। उसकी ऐसी अनछुई चूत देखकर मैं अपने आप को रोके नहीं सका और मैं समझ गया कि ऐसी चूत दुबारा चोदने को शायद कब मिल पाये।

फ़िर मैने उसे सोफ़े पर लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया मैने अपने कपड़े नहीं उतारे केवल पैंट की ज़िप खोलकर पैंट नीचे कर दी और अपना लंड बाहर निकाल कर रानी के ऊपर चढ़ गया मेरे लंड के टच से तो रानी पागल हो गयी और उसकी बोडी के टच से मेरा लंड भी टाइट होता चला गया मैं अपने लंड से उसकी पूरी बोडी पर रब करने लगा और वह शरमाते हुए चीखने लगी पर वह मस्ती में ये सब कर रही थी। अचानक मुझे एक मस्ती सूझी और मैने उसके दोनो बूब्स को दोनो हाथों में लेकर उसके बीच अपना लंड रख दिया मेरा लंड देखकर शरमाते हुए रानी ने अपनी आंखें बंद कर ली और फ़िर मैं उसके दोनो बूब्स के बीच लंड को फ़िट कर के चुदाई वाली स्टाइल में उसके बूब्स से लंड को रगड़ने लगा। इससे मेरा लंड और रानी के बूब्स टाइट होते चले गये और दोनो इसे एन्जॉय करने लगे। रानी तो मेरे इस एक्शन से मचल उठी थी वह २७-२८ साल की औरत थी उसके मुकाबले मेरा चुदाई का कोई ज्यादा अनुभव नहीं था। थोड़ी देर में मेरा लंड इतना टाइट हो गया कि उसे हिलाना भी मुश्किल लग रहा था। अब मुझे लगा कि यह रानी की चूत में जाने के लिये बिल्कुल फ़िट है।
-  - 
Reply

07-23-2017, 11:46 AM,
#2
RE: Hindi Sex kahani मेरे दोस्त की सेक्सी वाइफ़
रानी ने अपनी आंखें अभी भी बंद किये हुई थी। वह मेरा लंड देखकर घबराने का बहाना कर रही थी जबकि उसका पति पूरे ६' का था और उसका लंड तो कम से कम ७-८" का होगा। फ़िर मैने बिना दर किये रानी की दोनो टांगों को फ़ैलाया और एक धक्के के साथ रानी की चूत को दोनो ओर से फ़ैलाकर अपना खड़ा लंड उसकी चूत में ठोंक दिया और एक झटके में ही पूरा अंदर तक घुसेड़ दिया। रानी की चूत बड़ी टाइट थी किसी १८ साल की लड़की जितनी टाइट और अनछूई थी और मुझे उसकी चुदाई की शुरुआत में ही इतनी मेहनत करनी पड़ रही थी। रानी तो मेरे एक्शन से मस्त होती जा रही थी और उसकी भूख बढ़ती जा रही थी और वह मुझे और अंदर डालने के लिये कह रही थी। मैने भी फ़िर और एक धक्का लगाया तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत में समा गया और रानी अपनी गांड उठाकर और अपनी तरफ़ से धक्का लगा कर चुदवाने को बेताब थी इससे मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था पर रानी के धक्के से मैं पूरा ही हिल रहा था और मेरा लंड उसकी चूत में फ़ंस गया था।


क्योंकि मेरी चुदायी का अनुभव भी ज्यादा नहीं था पर मैने अपनी मर्दानगी दिखाने के लिये रानी को पकड़ लिया और एक जोर का धक्का आगे पीछे लगाया तो रानी तो मस्ती में उछल पड़ी और दर्द के बावजूद मुझसे बोली राज, दिस इस वाट आइ वांट अह्ह्ह ! बस ऐसे ही आगे पीछे करो, दर्द की परवाह मत करो चाहे मैं कितना चिल्लाऊं। चाहे फाड़ ही डालो पर यार बड़ा मज़ा आ रहा है ऐसा पहली बार है जब दर्द में भी मज़ा आ रहा है। मेरी हालत भी खराब हो गयी थी और मैने उसका मुंह बंद कर दिया था जिससे वह चीख न पड़े। पर लंड के अंदर जाते ही रानी की मस्ती बढ़ गयी अब मुझे दर्द हो रहा था पर वह दर्द के साथ मस्ती में मोअन कर रही थी और मुझे धक्का लगाने को कह रही थी। एक तरफ़ वह चिल्ला रही थी और दूसरी तरफ़ मुझसे धक्का लगाने को कह रही थी। राज जोर से धक्का लगाओ न आअह्हह तेज़, और जूर्रर सीए प्पहफाड़ दो इसे आज मज़ा आ रहा है दर्द की परवाह नहीं पर धक्का लगाओ जल्दी। राज प्लीज़ तेजी से धक्के लगाओ न म्मम्म। आआह्हह्ह औअर जूओर र्र सीए आउरुर तेज़ म्मम्मम म्ममाज़्ज़ा आअ रहाअ हैई।


मैं लंड की रफ़्तार से रानी की चूत में पेलने लगा और वह भी चूतड़ उठा उठा कर चुदवा रही थी। मैं उसके बूब्स को भी मसलता जाता था, कभी कभी तो जोश में मैने उसके चूचियों को पूरी ताकत से दबा कर मसल दिया। पर उसके बूब्स उत्तेजना में इतने टाइट हो गये थे कि एकदम पत्थर से लगते थे पर मैने भी उनको ऐसा मसला कि साली की हालत खराब हो गयी। एक तो उसकी चूत वैसे ही फ़ट रही थी और ऊपर से मैने उसके निप्पल भी पूरे जोर से मसल दिये तो रानी की मस्ती के साथ दर्द के मारे इतनी जोर से चीख निकली कि मैं डर गया कि कहीं पड़ोस में किसी को पता न चल जाये, अगर कोई और वहां होता तो वह भी समझ गया होगा कि उसकी जबरदस्त ठुकाई चल रही है।


पर रानी की ये चुदायी ज्यादा देर न चल सकी मेरी थकान से हालत खराब होने लगी और मैने अपनी रफ़्तार थोड़ा कम कर दी। इसी बीच मेरे लंड में लंड का प्रेसर लेवल से ऊपर पहुंच गया और उसमे सरसराहट सी होने लगी। मैं समझ गया कि अब मैं झड़ने वाला हूं तो मैने रानी के दोनो चूतड़ पकड़ कर अपने लंड को उसकी चूत के अंदर पूरा घुसाकर रोका तो रानी भी समझ गयी कि मैं झड़ने वाला हूं। रानी बोली राज प्लीज़ पुल इट आउट जल्दी से, मैने वैसा ही किया और जैसे ही मैने लंड को बाहर निकाला रानी ने झपट कर उसे अपने मुंह के अंदर ले लिया। फ़िर मेरे लंड का सारा माल रानी के मुंह में चला गया और एक ही झटके में उसने पूरा माल पी लिया और मेरे लंड को ऐसे चूसने लगी जैसे मैं उसके निप्पल को कर रहा था। मेरे लंड को पूरी तरह से चूसने और चाटने के बाद रानी अपने कपड़े पहन लिये पर जब लास्त में वह अपनी सलवार पहन रही थी तो एकदम से फ़टाफ़ट अपने कपड़े ठीक करने लगी वह बड़ा घबरायी हुई थी। मैने भी जल्दी से अपनी पैंट और कमीज़ ठीक की, मैं समझ गया था कि अब वह एम्बरास फील कर रही थी।


उसने कुछ बोला पर जैसी उसकी हालत थी उसमे उसका इतनी बेरुखी सा दिखना मुझसे समझ नहीं आया। रानी ने मुझे दूर की तरफ़ इशारा सा किया और वह जल्दी से अपनी सलवार का नाड़ा बांधते हुए फ़टाफ़ट अपने कपड़े ठीक करके दूर की तरफ़ चली गयी। तभी बेल बजी और रानी ने नोर्मल होकर दरवाजा खोल दिया तो बाहर अनिल था। अब मेरी समझ में रानी की घबराहट का मतलब समझ में आया। अनिल कुछ ज्यादा पिये लग रहा था पर वह बोला देर हो गयी है घर पर सब इंतज़ार कर रहे होंगे। मैं एक बार अनिल की हालत देखकर उनको घर तक छोड़ना चाहता था पर में जानता था कि अनिल के लिये ऐसे में ड्राइव करना कोई मुश्किल नहीं था।


रात भर मैं इस घटना के बारे में सोचता रहा कि क्या ये ठीक हुआ और क्या ये गलत तो नहीं और काफ़ी देर बाद मुझे नींद आयी। सुबह तक मैं पहले शाम वाली बात भूल गया और फ़िर मुझे रानी के बदन के बारे में सोचकर उत्तेजना होने लगी और मैं सोचने लगा कि रानी को अब और चोदने का मौका कैसे मिलेगा। दिन में ओफ़िस में रानी का फोन आया तो मैने सोचा शायद वह अनिल से बात करना चाहती है पर वह मुझसे ही बात करने लगी तो मैने रानी को सोरी बोला पहली शाम के लिये। वह बोली राज मैने कल वाली बात के बारे में सोचा तो ऐसा लगता है कि इसमे हमारी कोई गलती नहीं। तुम इस बारे में परेशान मत होना मैं तुमसे नाराज़ नहीं हूं, अरे मुझे तो तुम्हारा शुक्रिया करना चाहिये कि इतने दिनो बाद मुझे सचमुच प्यार और सेक्स का एक साथ अनुभव हुआ।


रानी कह रही थी यह एक भूख की तरह है और भूख लगने पर हर कोई जो उसे मिलता हो उसका ही मज़ा लेता है। मैं तो चाहती हूं कि ये मौका मुझे और मिले वैसे मैने फोन इसलिये भी किया है कि आज तुम घर पर ही रहना मुझे आज तुमसे ३ पेपर टाइप करवाने हैं। अनिल का तो पता नहीं वह कुछ मदद करें या न पर तुमसे उम्मीद है। मैं अब काफ़ी नोर्मल हो गया था और मैने मज़ाक में कहा एक पेपर की ट्रीट तो तुमको पता ही है तो तीन के बारे में सोच लो तुमको मुझे तीन ट्रीट देनी होंगी। रानी बोली राज इसे मज़ाक समझो या सीरियसली लो पर मुझे भी तुम्हारी ट्रीट से उतना ही मज़ा आया जितना तुमको। इसलिये ट्रीट के लिये जगह का इंतज़ाम होना चाहिये और मेरे को मौका मिले तो मैं तो और ज्यादा ट्रीट लेना चाहुंगी। मैने कहा -आशा है तुम अपने शब्द याद रखोगी
-  - 
Reply
07-23-2017, 11:46 AM,
#3
RE: Hindi Sex kahani मेरे दोस्त की सेक्सी वाइफ़
शाम को मैं करीब ८:३० पर खाना खा करके फ़्री हुआ और रानी के आने का इंतज़ार करने लगा करीब ८:४५ पर अनिल रानी को लेकर आ गया और उसे छोड़कर चला गया और बोला मैं काम निबटाकर जल्दी से आता हूं अगर देर हो जाये तो मेरा इंतज़ार करना घबराना नहीं राजू शरीफ़ आदमी है। रानी ने आज प्रिंटेड बलोउस , लाईट कलर की साड़ी और और अंदर गहरे रंग का ब्लाउज़ पहना था। उससे अंदर के कपड़े का आइडिया मुझे नहीं लग पाया। रानी और मैं फ़िर पेपर तैयार करने में लग गये, पर आज मैं थोड़ा मस्ती के मूड में था तब भी हमारा काम एक घंटे में हो गया। मैं आज बीच में दो तीन बार रानी की कभी जांघ पर तो कभी उसकी कमर पर और कभी उसके ब्लाउज़ के बाहर से उसके बूब्स पर छू रहा था। रानी मुझे रोक देती और कहती अरे पहले काम पूरा करने दो फ़िर अगर मौका मिला तो मैं मना थोड़े ही कर सकती हूं।



जब काम पूरा हो गया तो मैं अब रानी के साथ मस्ती के मूड में था पर कोई सिग्नल रानी ने नहीं दिया तो मैं उसे एम्ब्रस नहीं करना चाहता था। रानी से मैने पूछा आज जब अनिल तुमको छोड़ कर गये तो उसने ये क्यों बोला की राजु शरीफ़ आदमी है। तब रानी बोली कल अनिल मुझसे बोल रहे थे कि राजू बहुत ही बेवकूफ़ है अगर उसे मौका मिलता (किसी की वाइफ़ के साथ अकेले रहने का) तो वह जरूर मौके का फ़ायदा उठाता। फ़िर रानी बोली, जब मैने कहा कि अगर औरत ने गड़बड़ कर दी तो वह बोल रहे थे कि अगर वह किसी औरत को एक्साइट करे तो वह मना कर ही नहीं सकती है। रानी फ़िर बोली इसीलिये मुझे भी उनकी बात सुनकर मरदों की मानसिकता के बारे में पता चल गया और वह कोई गलती नहीं कर रही है और मैं भी ऐसा न करूं। अब मैने कहा ये बात तो ठीक है पर आपको तो मालूम है न मैं भी बड़ा कमीना हूं और आज तो मैं अब तुमको इस समय नहीं छोड़ सकता हूं जब दोनो फ़्री हैं। रानी कुछ ज्यादा नहीं बोली तो मैने कहा पर आज मैं तुमको पूरी तरह से प्यार करना चाहता हूं क्योंकि आज हमारे पास टाइम काफ़ी है।



फ़िर मैं रानी का हाथ पकड़ कर उसे बेड पर ले आया, और उसे आराम से चूमते हुए उसकी इच्छा जानने की कोशिश करने लगा रानी बोली हां राज आज मैं चाहती हूं कि तुम मुझे ऐसे प्यार करो जैसे अनिल पहले पहले किया करते थे। मैं बोला चलो पहले ऐसा करते हें एक दूसरे के कपड़े उतारते हैं मुझे महाभारत की दरौपदी की तरह अपनी पार्टनर के कपड़े उतारने में बड़ा मज़ा आता है और अगर वह विरोध करे तो और मज़ा आता है। क्या मैं स्टार्ट करूं, रानी बोली नहीं पहले मैं तुम्हारे कपड़े उतारुंगी, अगर मेरे कपड़े पहले उतर गये तो तुम मुझे मौका ही कहां दोगे, मैं मर्दों की आदत जानती हूँ।



मैने कुरता पायजामा पहना था और रानी ने एक झटके मेरे कुरता और बनियान खींचकर मेरे पायजामे का नाड़ा खोल दिया और तब तक मैने भी अपना अंडरवियर नीचे कर दिया। रानी ने मेरे लंड को देखकर थोड़ा हैरान सी हुई मैं जानता था कि उसे तो अनिल के लम्बे लंड की आदत थी न और फ़िर मेरा लंड उस समय खड़ा भी नहीं था। फ़िर मैने रानी के साड़ी के पल्लू को खींचना शुरु किया और रानी घूम घूम कर अपनी साड़ी उतारने लगी। जब साड़ी उतर गयी तो मैने रानी को पकड़ कर उसके ब्लाउज़ के हुक एक एक करके खोलकर उसका ब्लाउज़ भी उतार दिया।



उसी समय अनिल का फोन आया तो मैं समझा कि आज तो काम का सत्यानाश हो गया पर अनिल ने पूछा कितना काम बाकी है तो मैने कहा आधे से थोड़ा कम तो अनिल बोला आराम से काम कर लो मुझे अभी एक घंटा और लगेगा मैं ११:०० बजे तक आउंगा। रानी ने कहा ठीक है पर जल्दी की कोशिश करना ज्यादा लेट से सभी परेशान होंगे। अब तो हम और भी रिलेक्स हो गये रानी ने अंदर सफ़ेद ब्रा पहन रखी थी उसकी ब्रा एकदम टाइट थी और उसके बूब्स उसके अंदर कैद हो गये थे। मैने एकदम से रानी को पकड़ कर उसकी टांगों को पेटीकोट सहित अपनी टांगों के बीच फ़ंसाकर उसे जकड़ लिया और फ़िर उसकी ब्रा का हुक खोल दिया जैसे ही उसकी ब्रा से उसके बूब्स आज़ाद हुए ऐसा लगा जैसे कोई धमाका हुआ उसके बूब उछलकर मेरे सामने आ गये।
-  - 
Reply
07-23-2017, 11:46 AM,
#4
RE: Hindi Sex kahani मेरे दोस्त की सेक्सी वाइफ़
क्या टाइट गोल एकदम क्रिकेट बाल की तरह ही लाल, मन तो कर रहा था कि एक झटके में दोनो को मसल दूं पेर मैं उसे पूरा नंगा करना चाहता था। उसके बाद मैने रानी के पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया पर उसका पेटीकोट नीचे नहीं आया। उसके पेटीकोट में इलास्टिक लगी हुई थी इसलिये वो नीचे नहीं गिरा तो मैने उसके पेटीकोट को नीचे को जोर से खींचा तो उसका काले रंग का पेटीकोट एकदम नीचे आ गया। जैसे ही रानी का पेटीकोट नीचे हुआ मेरी तो मस्ती का ठिकाना ही नहीं रहा जब मैने देखा कि रानी ने तो पैंटी पहनी ही नहीं थी। अब हम दोनो एकदम नंगे हो गये थे, रानी ने आज शायद अपनी चूत साफ़ की थी इसीलिये उसके पूरी बोडी पर सर के सिवा कहीं एक बाल भी नज़र नहीं आ रहा था।



जब तक मैं रानी के बदन पर नज़रें फ़ेर पाता रानी मेरे लंड को देखकर बोली अरे ये तो बहुत छोटा है चलो मैं अभी इसे तैयार करती हूं और उन्होने उसको धीरे से पकड़ा और उसके टोपे (टोप) पर अपनी जीभ से लिक करने लगी। मुझे बड़ी सरसराहट सी होने लगी, रानी बीच में मेरे लंड के टोपे को अपने लिप्स से भी दबा देती। इससे मेरे लंड का साइज़ अब बढ़ने लगा तो रानी ने भी उसे अपने मुंह के अंदर लेना शुरु कर दिया और मुझे ये बड़ा अजीब लग रहा था। ऐसा मैने केवल कुछ ब्लू फिल्म्स में ही देखा था और मैं ये नहीं सोच सकता था कि किसी दिन मेरे साथ भी ऐसा होगा। मैं ये भी विश्वास नहीं कर पा रहा था कि एक सीधी साधी औरत रानी ऐसा कर सकती है, पर उसका पति अनिल बड़ा स्मार्ट, हैंडसम और हरामी भी है उसने उसको ट्रैंड कर रखा था। मैं तो सेक्स का मतलब बस चुदायी तक ही समझता था और जब ऐसा सीन मैने एक ब्लू फ़िल्म में देखा था तो मुझे उल्टी सी आने लगी थी। पर आज जब मेरे साथ ये हो रहा था तो बड़ा मज़ा आ रहा था यहां तक कि मुझे इस में अब रानी की चुदायी से ज्यादा आनंद आ रहा था बेसौसे इसमे मुझे कोई ताकत नहीं लगानी पड़ रही थी।



जैसे जैसे मेरे लंड का साइज़ बढ़हा गया रानी ज्यादा मस्त होने लगी और अब जब मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया तो वह मेरे लंड को लेमन जूस वाली टोफ़ी की तरह से चूसने लगी। दोस्तों जब वह मेरे लंड को मुंह में लेकर आगे पीछे करती तो मुझे तो उसमें अब तक की गयी चुदायी से ज्यादा मज़ा आने लगा था। मैं जोश में कभी कभी रानी के मुंह को उसकी चूत समझ कर चुदायी वाले एक्शन में अपना लंड उसके मुंह में डाल देता था। रानी मेरे लंड को पूरा खाने वाली स्टाइल में मुंह में लिये हुए थी और कभी मुंह से बाहर निकाल देती और फ़िर पूरा मुंह में ले लेती। मस्ती में वह कभी कभी मेरे लंड को दांतों से भी दबता देती ऐसे में मेरी तो चीख ही निकल गयी तो घबरा कर रानी थोड़ा ढीली हो गयी।



फ़िर रानी ने मेरे लंड को जड़ से पकड़ कर कभी चाटना और कभी मुंह के अंदर लेकर चूसना शुरु कर दिया। थोड़ी देर में रानी ने मेरे लंड को मुंह में लेकर उसको गुब्बारे की तरह से फुलाना शुरु कर दिया और कभी उसे अंदर को चूसने लगी। कभी वह अपने मुंह से मेरा लंड निकाल कर मेरे लंड के टोपे पर लिप्स रखकर उसे चूसने लगी। ऐसे में तो मुझे ऐसा लगता जैसे मेरी सांसें ही बंद हो जायेंगी। पर रानी मेरे लंड को पूरा मुंह में लेकर चाटने और चूसने लगती। मेरे लिये सेक्स का ये अलग एक्सपेरिएंस था पर था बड़ा मज़ेदार एक्सपेरिएंस । रानी की मस्ती बढ़ती ही जा रही थी और वह मेरे लंड को कैंडी आइस क्रीम की तरह उसे कर रही थी मुझे भी थोड़ा बहुत डर के बावजूद बड़ा मज़ा आ रहा था। यारों, सेक्स में पता नहीं क्यों दर्द में ही मज़ा आता है जैसे किसी कड़वी दवा से ही आराम मिलता है। रानी की मस्ती तो बढ़ रही थी पर अब मेरे लंड के अंदर से फ़्लो बाहर को होने का अहसास सा हुआ तो मैने चिल्लाकर कहा रानी अब नहीं रुका जरा है, रुको। रानी तो पुरानी खिलाड़ी थी उसने लंड से मुंह हटा लिया और मेरे लंड के टोपे को हाथ से दबाकर बोली लल्ला चिंता न करिये मैं तो तुम्हारा ये आइस क्रीम खाने के लिये पूरी तरह तैयार हूं और इसके बाद उसने मेरे लंड को पूरा मुंह के अंदर ले लिया।



इसके तुरंत बाद मेरे लंड से हुई सारी बरसात रानी के मुंह के रास्ते उसके पेट में चली गयी। जब मेरा पूरा क्रीम झड़ गया तो रानी फ़िर से मेरे लंड को अच्छी तरह से चूसने लगी। रानी ने मेरे लंड को सावधानी से चाटना शुरु कर दिया और मेरे लंड के माल का एक एक कतरा भी वह चूस लेना चाहती थी। मेरा लंड दुबारा से सिकुड़ कर छोटा हो गया था पर उतना नहीं जितना रानी की चुदायी के बाद। रानी को जब ये लगा कि अब मेरे लंड का सरा माल वो चाट चुकी है तो उसने अपना मुंह मेरे लंड से हटा लिया। रानी को शायद बड़ा मज़ा आया था मेरी तरह से ही वह बड़ी खुश थी जैसे कोई अच्छी चीज़ बहुत दिनो के बाद मिली हो। रानी बोली लल्ला ये मेरा भी पहला तज़ुर्बा है ऐसे केरने पर बड़ा मज़ा दिया राजु तूने।



मैने तो एक बार टीवी में तेरे भैया के साथ देखी थी तो तेरे भैया मुझे छेड़ते हुए बोले थे कि उनका चूसेगी तो मैने मना कर दिया था। पर आज तेरा लंड देखते ही मैं मचल रही थी एक बार ऐसा करके देखूं, आज़ राजु बड़ा मज़ा आया। मैं बोला हां रानी मुझे बड़ा अच्छा लगा पर अब बहुत देर हो गयी है अब हमें चलना चाहिये। फ़िर रानी ने मेरे लंड को कभी चाटना और कभी मुंह के अंदर लेकर चूसना शुरु कर दिया और कभी रानी मेरे लंड को मुंह में लेकर उसको गुब्बारे की तरह से फुलाना शुरु कर दिया और कभी उसे अंदर को चूसने लगी। फ़िर वह अपने मुंह से मेरा लंड निकाल कर मेरे लंड के ऊपर लिप्स रखकर उसे चाटने लगी। ऐसे में तो मुझे ऐसा लगता जैसे कोई मेरे लंड को सहला रहा हो और उसका साइज़ बढ़ने लगा। पर अगले पल रानी मेरे लंड को पूरा मुंह में लेकर चाटने और चूसने लगती और मेरा लंड एकदम लोहे की तरह कड़ा और चुदायी के लिये तैयार होता चला गया।
-  - 
Reply
07-23-2017, 11:46 AM,
#5
RE: Hindi Sex kahani मेरे दोस्त की सेक्सी वाइफ़
रानी ने मुझसे लंड को पकड़ कर लेट जाने को कहा मैने वैसा ही किया तो रानी ने खड़े खड़े ही अपनी नंगी गोरी टांगें, चमकती हुई गोरी गुलाबी जांघें, मस्त चूतड़ और उनकी जांघों के बीच से झांकती हुइ उसकी मस्त गंजी चूत देखकर मैं तो पागल हो गया। मेरा लंड तो और भी खींचा जा रहा था और मेरे समझ में नहीं आ रहा था कि क्या हो रहा था कि उसकी चूत का रस चूसते हुए उसके जांघों को खा जाऊं। रानी के गुलाबी बूब मुझको बेचैन कर रहे थे, इसी बीच उसने अपने दोनो हाथ ऊपर को कर दिये तो उसके बूब्स और बगल मुझे और उत्तेजित करने लगे। मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ और उसके बूब्स देखकर तो मैं एकदम बेचैन सा हो गया और मैने रानी के बूब्स को मुंह में लेकर उनको चूमना और चाटना शुरु कर दिया। रानी कभी अपने बूब्स को ज़ोर से दबाने को कहती और जब मैं ज़ोर से दबाता तो कहती अरे धीरे से क्या मार डालोगे मुझे।



रानी के चूचियों पर मालिश करने में बड़ा मज़ा आ रहा था पर मैं आज उसे इतनी जल्दी छोड़ने वाला नहीं था आज मैं उसके बदन का एक एक पुर्ज़ा मसल देना चाहता था जिससे साली रानी मेरी चुदाई को याद रखे। मैं साइए में उसकी बगल और कंधे पर भी मालिश कर रहा था। फ़िर मेरा ध्यान रानी की पतली कमर पर गया वह इतनी पतली थी कि जितनी शायद १५ साल की कन्या की भी नहीं होगी। मैने रानी के नाभि के नीचे के हिस्से में मसाज करने लगा। इस एरिआ में मासाज करने पर रानी की उत्तेजना बढ़ गयी थी और वह जोर से अपने पैर पटकने लगी तो मुझे अपने लंड को कंट्रोल करना पड़ रहा था जो मेरे लिये थोड़ा मुश्किल हो रहा था। मैने उसकी चूत के आस पास अब्दोमेन का एरिया तक जब उसकी नंगी थाईस पर जोर से मसाज किया तो उसने अपनी दोनो थाईज़ को बंद करके चिपका दिया। मैने भी जल्दी से उसकी चूत पर हाथ डालकर वहां पर उंगली करने लगा तो रानी का तो बुरा हाल हो गया था वह मस्ती में छटपटाने लगी और उसने अपनी दोनो थाईज को खोल दिया तो मेरे तो मज़े ही आ गये अब मैं उसकी चूत, थाईज़ या अबदोमेन जहां चाहे वहां मसलने लगा।



मेरी उंगलियों के हमले से रानी की हालत अब खराब हो गयी थी वह अब मेरे एक्शन का विरोध नहीं कर पा रही थी। मैं जैसे मर्जी आये उसके हर पार्ट को मसलता, रगड़ता और मसाज कर रहा था। जब मेरी मस्ती और बढ़ी तो मैने रानी की चूत पर उंगली डालकर अंदर तक उंगली से उसकी चूत के छेद के अंदर तक मसाज करने लगा। मेरे इस एक्शन से तो रानी पूरी तरह से चित हो गयी और बोली राजू प्लीज़ अब बस करो और एकदम से पलट गयी। अब रानी के नंगे चूतड़ मेरे सामने थे जिसके बीच में उसका गांड तो नज़र नहीं आ रहा था पर पीचे से भी रानी की चूत मुझको फ़िर नज़र आने लगी तो मैं फ़िर अपनी उंगली से उसकी चूत पर हमला कर दिया और दूसरे हाथ से उसकी जांघों को पीछे से मसलने लगा।



जब रानी की चूत मेरी उंगलियों के हमले को नहीं बरदाश्त कर पायी तो रानी बोली राज प्लीज़ ऐसा मत करो मुझे ऐसे ही गीली कर दोगे क्या। मैं उसके बड़े बड़े चूतड़ और उसके नीचे मोटी मोटी जांघों को सारा का सारा एक बार में ही मसल देना चाहता था पर मेरे दोनो हाथों में इनता एरिया एक बार में कवर नहीं हो रहा था। रानी एकदम नंगी थी तो मेरे को अपने लंड पर कंट्रोल नहीं हो रहा था, मैने अपना ध्यान रानी के चूचियों पर दिया पर वह उल्टी लेटी हुई थी और उसके बूब्स साइड से ही नज़र आ रहे थे। फ़िर भी मैने साइड से ही उसके दोनो बूब्स को जोर से दबाया और सहलाना शुरु कर दिया। रानी को तो मेरा हर एक्शन एंजोयमेंट दे रहा था और अब वह मेरे हर एक्शन पर बस आहें भर रही थी। मैं रानी के चूतड़ पर मसाज करने लगा तो उसके चूतड़ बहुत बड़े बड़े थे और उनको दबाने में बड़ा मज़ा आ रहा था।
-  - 
Reply
07-23-2017, 11:46 AM,
#6
RE: Hindi Sex kahani मेरे दोस्त की सेक्सी वाइफ़
पर मैं और मज़ा लेने के लिये उसके चूतडों पर जोर से स्लाप भी कर देता जिससे चटाक! की आवाज आती और रानी को बड़ा मज़ा आता था और वह अपने चूतड़ ऊपर उठा कर जैसे और स्लाप करने को कहती। रानी की जांघें मुझे सबसे ज्यादा उत्तेजित कर रही थी, मैं वहां पर प्रेस, मसाज, किस, रब कर सकता था। और मैं ये सोच रहा था कि जब मैं उसकी चुदाई करुंगा तो उसकी थाईज़ जब मेरी थाई के साथ रब होंगी तो कितना मज़ा आयेगा। अगर रानी की जैसी स्मूथ बॉडी हो तो ऐसा लगता है कि जैसे लिनेन पर स्लिप हो रहा हो। जब मैं उसके चूतडों पर मसाज कर रहा था तो मुझे बिल्कुल ऐसा ही लग रहा था। रानी को डबल मज़ा आ रहा था एक तो उसकी मसाज हो रही थी दूसरा एक मर्द के हाथों उसके बॉडी के पार्ट्स का स्पर्श दे रहा था और जिसे वह फुल्ली एन्जॉय कर रही थी।



मैने रानी के दोनो चूतड़ को चोडा करके उसकी गांड को देखने लगा और मुझे रानी की चूत पीछे से दिखायी देने लगी और मेरा लंड फ़िर जोर मारने लगा। इधर मेरा लंड अब पूरी तरह बेकाबू हो गया था और उसको कंट्रोल करना मेरे लिये पोस्सिब्ल नहीं था। वह अब रानी की चूत में जाये बगैर मानने वाला नहीं था।। रानी की चूत का बुरा हाल हो गया था। मैने अपने अंगूठे से को रानी की चूत के आस पास रब करना शुरु कर दिया और मौका पाते ही उसकी चूत के अंदर पूरा अंगूठा डाल दिया। मेरा अंगूठा पूरा उसकी चूत में गया तो रानी की खुजली जरा कम हुई और वह अब थोड़ा मज़ा लेने लगी। मेरा अंगूठा लंड की तरह रानी की चूत में अंदर बाहर फ़िसलने लगा, रानी को मज़ा तो आ रहा था पर उसकी चूत की खुजली पूरी तरह से दूर नहीं हो रही थी। वह मस्ती मेरे से चिपट गयी जैसे कहना चाहती हो कि कब चोदोगे पर वह बोली कुछ नहीं।



पहले रानी के नंगे बदन की गरमी से मेरा लंड तो तना हुआ था मैने जल्दी से रानी को दाब लिया। रानी की चूत में तो पहले से ही खुजली थी पर वह झूठा गुस्सा दिखा रही थी और मना कर रही थी। मैने उसको कमर से पकड़ा और उसके चूचियों को अपने लिप्स से किस करने लगा जैसे ही रानी ने मुंह खोला तो मैने उसके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिया और नीचे से दूसरे हाथ को उसकी थाईज़ पर मसाज करने लगा। उसकी थाईज़ बड़ी टाइट थी, बच्चों वाली औरतों की तरह ढीली नहीं थी। मैं थाई पर हाथ फ़ेरते हुए उसकी चूत की तरफ़ बढ़ना चाह रहा था। रानी के बूब्स भी एकदम टाइट हो गये थे जिसका मतलब था कि उसको पूरी उत्तेजना हो रही थी। मैने कैइ बर रानी के बूब्स के निप्पल को लिप्स में लेकर जोर से प्रेस किया जिससे दोनो को बड़ा मज़ा आया।



जब मुझे ज्यादा मज़ा आने लगा तो मैने एक दो बार रानी के निप्पल को अपने दांत से हल्का सा काट भी दिया जिससे रानी चीख पड़ी और मुझे बड़ा मज़ा आया। नीचे से मेरा हाथ रानी की थाईज़ से होता हुआ उसके चूतडों और रानो पर मसाज करने लगा। ऊपर से मैने रानी की बैक, नेक, वेस्ट और नाभि के आस पास लिप्स और जीभ से किस और लिक करना चालु रखा था। जब मेरा एक हाथ रानी की रानो पर फ़िसल रहा था तो रानी की मस्ती कंट्रोल से बाहर हो गयी तब मैने रानी को बेड पर लिटा दिया और अपने आप भी साइड बी साइड लेट गया। मैं आराम से अपने दोनो हाथों और लिप्स से रानी के पूरे बदन से खेलने लगा। अब दोनो एकदम गरम हो गये थे रानी की भी सारी शरम दूर हो गयी थी और उसका बदन की एक एक हरकत मुझे महसूस हो रही थी उसकी गरम सांसें मुझे बेचैन कर रही थी। मैने रानी की चूत के ठीक पास अपनी उंगली से रब करना शुरु कर दिया जिससे मस्ती के मारे रानी ने अपनी दोनो टांगें फ़ैला दी और मुझे उसकी चूत पर अटैक का एक मौका मिल गया।
-  - 
Reply
07-23-2017, 11:46 AM,
#7
RE: Hindi Sex kahani मेरे दोस्त की सेक्सी वाइफ़
मैने अपने आप को रानी की दोनो टांगों के बीच फ़िक्स कर लिया और उसकी दोनो टांगों को और फ़ैलाकर उसकी चूत को और चौड़ा कर दिया मुझे उसकी चूत का छेद साफ़ इतना बड़ा दिख रहा था कि उसमे में अपने थम्ब को सीधा डाल सकता था। पर मैने बिना टाइम गंवाये किये अपने लंड को सीधा उसकी चूत के छेद में झोंक दिया और मेरा लंड रानी की चूत में आधा धंस गया। ये शायद ऐसा मौका था जब चुदाई में मुझे इतनी आसानी लंड डालने का मौका मिला हो। मैने एक और जोर का धक्का लगाया तो मेरा पूरा लंड रानी की चूत में ठुक गया।




आज उसकी चूत पहले ही गीली हो रखी थी इसलिये अब मैं अपने लंड को ऊपर नीचे रगड़ने लगा तो रानी की चूत में सरसराहट होने लगी। रानी ने भी नीचे से हमला कर दिया और अपनी गांड का एरिया ऊपर को उठा कर खुद भी चुदायी करवाने के लिये मुझे इनवाईट करने लगी। आज मुझे और रानी को चुदायी में दर्द नही हो रहा था और दोनो ही मस्त थे वह आज बड़ी मस्ती में लग रही थी। मैने रानी की चूत में ऊपर नीचे रगड़म परेड शुरु कर दी और रानी भी अपनी चुदायी करवाने लगी। धीरे धीरे मेरी स्पीड बढ़ गयी तो गन्ने के खेत में जैसे तूफ़ान सा आ गया। मैने चुदायी के साथ साथ रानी के पूरे बदन को चूमना, चाटना, मसलना और रगड़ना भी चालू रखा था। मेरा ऐसा करने पर रानी भी जवाब दे रही थी बस जवाब के लिये उसके पास लंड नहीं था नहीं तो वह भी पूरे जोर से हमारी चुदायी की गाड़ी को धकेल रही थी।



मैं पहले की तरह बेड पर लेट गया और रानी मेरे ऊपर आ गयी। मुझे तो इससे बड़ा फ़ायदा हुआ, मैं पूरी ताकत से चोदने के चक्कर में अपनी काफ़ी एनर्जी वास्ट कर चुका था और इस पोसिशन में मुझे रानी की दुबारा चुदायी के लिये रिचार्ज होने का मौका मिल गया। रानी ने अब ऊपर से धक्का लगाना शुरु कर दिया और मैं आराम से उसके चूचियों और निप्पलों को मसलने लगा।। पर उसके बूब्स ही मेरे हाथों के में टार्गेट थे, जब मुझे ज्यादा मज़ा आता तो मैं उसके चूतड़ पर जोर जोर से स्लाप कर देता जिससे रानी और मुझे दोनो को मज़ा आता। मैं जैसे ही रानी की गांड के आस पास स्लाप करता रानी और जोर से अपनी चूत को मेरे लंड की तरफ़ उठा देती और दोनो का मज़ा दोगुना हो जाता।



अचानक रानी बोली राजु अब जल्दी करो मैं गीली हो गयी हूं तो मैने रानी को फ़िर पहले वाली पोसिशन में करके अपने आप को उसके ऊपर ले आया। अब मैने ऊपर से अपनी स्पीड बड़ाकर रानी की चूत को अपने लंड से पूरी ताकत के साथ ठोंकना शुरु कर दिया। रानी अब जोर जोर से आवाजें निकाल रही थी पर अब वह पहले की तरह खुश नज़र नहीं आ रही थी पर उसकी आहें मुझे और उत्तेजित कर रही थी और मैने और जोर से उसकी चुदाई करने लगा। मुझे रानी की चीख में एक अलग ही मज़े का आने लगा और में और जोर से उसकी चूत को अपने लंड से ठोंक रहा था। करीब २-३ मिनट बाद ही मेरी भी हालत कुछ ढीली होने लगी और में थकने लगा तो मैने स्पीड थोड़ा कम कर दी तो रानी भी थोड़ा रिलेक्स लगने लगी। अचानक मुझे ऐसा लगने लगा कि मेरे लंड के जड़ से अंदर नसों में पानी निकलने को बेताब है मैं समझ गया कि अब मेरा भी झड़ने वाला है रानी तो शायद पहले ही झड़ चुकी थी।



मैने रानी की चूत में अपना पूरा लंड अंदर तक ठोंक कर अपने को रोक दिया। और मेरे लंड के अंदर से सारा क्रीम धीरे धीरे होता हुआ रानी की चूत में जाता सा लगने लगा। उधर रानी भी शायद अपनी चूत में मेरे लंड का क्रीम फ़ील कर रही थी वह हलकी सी आहें भरते हुए रिलेक्स और खुश नज़र आ रही थी। कुछ पलों के बाद मेरे लंड का सारा क्रीम रानी की चूत की गेहराई में कहीं गुम हो गया। मैं एकदम सुस्त हो गया था ऐसा लग रहा था जैसे किसी लम्बी रेस दौड़ी हो और मेरा लंड भी एकदम सिकुड़ गया था में इतना सुस्त हो गया कि वैसे हो रानी के ऊपर लेट गया और रानी ने भी कोई जावब नहीं दिया और हम दोनो ऐसे ही लेटे रहे मतलब रानी नीचे बेड पर लेटी हुई थी और मेरा लंड उसकी चूत के अंदर ही था।




५ मिनट बाद ही अलग हुए और बाथरूम जाकर पहले साफ़ किया और अपने अपने कपड़े पहन लिये। इसके बाद रानी ने अपनी साड़ी और पेटीकोट ठीक किया और फ़िर हम दोनो बेडरूम से दुबारा कम्प्यूटर टेबल पर आ गये। इस समय करीब १०:५० का टाइम हुआ था में बोला चलो चाय पीते हैं तभी अनिल का भी फोन आया कि वह ५ मिनट में पहुंच रहा है। फ़िर ५ मिनट में चाय भी तैयार हो गयी और फ़िर तीनो ने चाय पी, आज अनिल ने ड्रिंक भी नहीं किया था शायद उसे मौका नहीं मिला पर मैं रानी को देखकर उसके बारे में सोचने लगा और शायद अनिल के इरादे ही आज कुछ वैसे ही थे। मैं रानी को देख रहा था पर रानी शायद हम दोनो का मतलब समझ गयी थी पर दोनो को ही कुछ बताना नहीं चाहती थी।


SAMAPT...!!
-  - 
Reply
07-23-2017, 11:46 AM,
#8
RE: Hindi Sex kahani मेरे दोस्त की सेक्सी वाइफ़
मैने अपने आप को रानी की दोनो टांगों के बीच फ़िक्स कर लिया और उसकी दोनो टांगों को और फ़ैलाकर उसकी चूत को और चौड़ा कर दिया मुझे उसकी चूत का छेद साफ़ इतना बड़ा दिख रहा था कि उसमे में अपने थम्ब को सीधा डाल सकता था। पर मैने बिना टाइम गंवाये किये अपने लंड को सीधा उसकी चूत के छेद में झोंक दिया और मेरा लंड रानी की चूत में आधा धंस गया। ये शायद ऐसा मौका था जब चुदाई में मुझे इतनी आसानी लंड डालने का मौका मिला हो। मैने एक और जोर का धक्का लगाया तो मेरा पूरा लंड रानी की चूत में ठुक गया।




आज उसकी चूत पहले ही गीली हो रखी थी इसलिये अब मैं अपने लंड को ऊपर नीचे रगड़ने लगा तो रानी की चूत में सरसराहट होने लगी। रानी ने भी नीचे से हमला कर दिया और अपनी गांड का एरिया ऊपर को उठा कर खुद भी चुदायी करवाने के लिये मुझे इनवाईट करने लगी। आज मुझे और रानी को चुदायी में दर्द नही हो रहा था और दोनो ही मस्त थे वह आज बड़ी मस्ती में लग रही थी। मैने रानी की चूत में ऊपर नीचे रगड़म परेड शुरु कर दी और रानी भी अपनी चुदायी करवाने लगी। धीरे धीरे मेरी स्पीड बढ़ गयी तो गन्ने के खेत में जैसे तूफ़ान सा आ गया। मैने चुदायी के साथ साथ रानी के पूरे बदन को चूमना, चाटना, मसलना और रगड़ना भी चालू रखा था। मेरा ऐसा करने पर रानी भी जवाब दे रही थी बस जवाब के लिये उसके पास लंड नहीं था नहीं तो वह भी पूरे जोर से हमारी चुदायी की गाड़ी को धकेल रही थी।



मैं पहले की तरह बेड पर लेट गया और रानी मेरे ऊपर आ गयी। मुझे तो इससे बड़ा फ़ायदा हुआ, मैं पूरी ताकत से चोदने के चक्कर में अपनी काफ़ी एनर्जी वास्ट कर चुका था और इस पोसिशन में मुझे रानी की दुबारा चुदायी के लिये रिचार्ज होने का मौका मिल गया। रानी ने अब ऊपर से धक्का लगाना शुरु कर दिया और मैं आराम से उसके चूचियों और निप्पलों को मसलने लगा।। पर उसके बूब्स ही मेरे हाथों के में टार्गेट थे, जब मुझे ज्यादा मज़ा आता तो मैं उसके चूतड़ पर जोर जोर से स्लाप कर देता जिससे रानी और मुझे दोनो को मज़ा आता। मैं जैसे ही रानी की गांड के आस पास स्लाप करता रानी और जोर से अपनी चूत को मेरे लंड की तरफ़ उठा देती और दोनो का मज़ा दोगुना हो जाता।



अचानक रानी बोली राजु अब जल्दी करो मैं गीली हो गयी हूं तो मैने रानी को फ़िर पहले वाली पोसिशन में करके अपने आप को उसके ऊपर ले आया। अब मैने ऊपर से अपनी स्पीड बड़ाकर रानी की चूत को अपने लंड से पूरी ताकत के साथ ठोंकना शुरु कर दिया। रानी अब जोर जोर से आवाजें निकाल रही थी पर अब वह पहले की तरह खुश नज़र नहीं आ रही थी पर उसकी आहें मुझे और उत्तेजित कर रही थी और मैने और जोर से उसकी चुदाई करने लगा। मुझे रानी की चीख में एक अलग ही मज़े का आने लगा और में और जोर से उसकी चूत को अपने लंड से ठोंक रहा था। करीब २-३ मिनट बाद ही मेरी भी हालत कुछ ढीली होने लगी और में थकने लगा तो मैने स्पीड थोड़ा कम कर दी तो रानी भी थोड़ा रिलेक्स लगने लगी। अचानक मुझे ऐसा लगने लगा कि मेरे लंड के जड़ से अंदर नसों में पानी निकलने को बेताब है मैं समझ गया कि अब मेरा भी झड़ने वाला है रानी तो शायद पहले ही झड़ चुकी थी।



मैने रानी की चूत में अपना पूरा लंड अंदर तक ठोंक कर अपने को रोक दिया। और मेरे लंड के अंदर से सारा क्रीम धीरे धीरे होता हुआ रानी की चूत में जाता सा लगने लगा। उधर रानी भी शायद अपनी चूत में मेरे लंड का क्रीम फ़ील कर रही थी वह हलकी सी आहें भरते हुए रिलेक्स और खुश नज़र आ रही थी। कुछ पलों के बाद मेरे लंड का सारा क्रीम रानी की चूत की गेहराई में कहीं गुम हो गया। मैं एकदम सुस्त हो गया था ऐसा लग रहा था जैसे किसी लम्बी रेस दौड़ी हो और मेरा लंड भी एकदम सिकुड़ गया था में इतना सुस्त हो गया कि वैसे हो रानी के ऊपर लेट गया और रानी ने भी कोई जावब नहीं दिया और हम दोनो ऐसे ही लेटे रहे मतलब रानी नीचे बेड पर लेटी हुई थी और मेरा लंड उसकी चूत के अंदर ही था।




५ मिनट बाद ही अलग हुए और बाथरूम जाकर पहले साफ़ किया और अपने अपने कपड़े पहन लिये। इसके बाद रानी ने अपनी साड़ी और पेटीकोट ठीक किया और फ़िर हम दोनो बेडरूम से दुबारा कम्प्यूटर टेबल पर आ गये। इस समय करीब १०:५० का टाइम हुआ था में बोला चलो चाय पीते हैं तभी अनिल का भी फोन आया कि वह ५ मिनट में पहुंच रहा है। फ़िर ५ मिनट में चाय भी तैयार हो गयी और फ़िर तीनो ने चाय पी, आज अनिल ने ड्रिंक भी नहीं किया था शायद उसे मौका नहीं मिला पर मैं रानी को देखकर उसके बारे में सोचने लगा और शायद अनिल के इरादे ही आज कुछ वैसे ही थे। मैं रानी को देख रहा था पर रानी शायद हम दोनो का मतलब समझ गयी थी पर दोनो को ही कुछ बताना नहीं चाहती थी।


SAMAPT...!!
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Maa Sex Kahani माँ का मायका 33 113,312 Yesterday, 12:06 AM
Last Post:
  Hindi Antarvasna Kahani - ये क्या हो रहा है? 18 8,981 08-04-2020, 07:27 PM
Last Post:
Star Rishton May chudai परिवार में चुदाई की गाथा 17 31,471 08-04-2020, 01:00 PM
Last Post:
Star non veg kahani कभी गुस्सा तो कभी प्यार 116 151,481 08-03-2020, 04:43 PM
Last Post:
  Thriller विक्षिप्त हत्यारा 60 6,372 08-02-2020, 01:10 PM
Last Post:
Thumbs Up Desi Porn Kahani नाइट क्लब 108 15,112 08-02-2020, 01:03 PM
Last Post:
Exclamation Maa Chudai Kahani आखिर मा चुद ही गई 40 362,554 07-31-2020, 03:34 PM
Last Post:
Thumbs Up Romance एक एहसास 37 15,282 07-28-2020, 12:54 PM
Last Post:
  Hindi Antarvasna - काला इश्क़ 104 35,269 07-26-2020, 02:05 PM
Last Post:
Heart Desi Sex Kahani वेवफा थी वो 136 42,296 07-25-2020, 02:17 PM
Last Post:



Users browsing this thread: 1 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.


Soumya se chut jabari BFbiwi aur saas ka pyar sexbabaBachhi ka sex jan bujh kar karati thi xxx vidioWww.hindi heroine xxxx pics sexbaba net Pahili swargat bhabhi ke satha hindi vidio chudaiसाऊथ इडीयण Deis xnxxशेजार आणि शेजारणी सेक्शी कथाHepne mnje kay?गांव की लुगाई शहर चुदाई कराईअसल में मैं तुम्हारी बूर पर निकले बालों को देखना चाहता हूँ, कभी तुम्हारी उम्र की लड़की की बूर नहीं देखी है न आज तकडरा धमकाकर कर दी चुड़ैgand Kaise Marte chut Kaise Marte Hai land ko kaise kamate Chupke ChupkeBajre Ke Khet Mein ladki chutti hui xxxbfSab dekhrhe he firbhi land daldiya sex video सेकसि बायकोxnxxxनविनmmsara ali khan fuk porn photus sex babaHoli me bhosda ki gali ki kahanixxxcaparna dixit chudai ki kahani xxxsexbaba sasurbahuमावशी ची पुचचीDesi52xxx vidoeHd ardhanana fukingboorkhe me matakti gaand south actress nude fakes hot collection page 101कामुक कली कामुकतालङकि कि भोस मे लँड डालता इमेजBur ki trap hindi kahanisexbaba.netchudaibhukiXxx skc Dehati indian Mumbai Naye kalijajathni ko chudha jath na video sexपापा ने मुझ से सादी करली फिर बुर मरी सकसी हट कहनीu.p news potho k sath h.d. iemagदेवर से चूदाई कची कोठरी मे xossiphindi sex story panditain ma mullo seaurat ko chodte samaiye boor se pani kab chhorta haiछातीला हात लावून दाबने फोटोmouni roy chaddi me nangiwww.hindisexstory.sexbabaएक माँ की बेटी से छुड़वाने की चाहतmajaaayarani?.rajsharma.comBhen ko chut me ungli krty pkra sexy khanixxnx lmagel bagal ke balXxxbilefilms. HD. Combeta ne ma ko pelte pelte behos kar diya xxx story hindiJbrdst bewi fucks vedeobur gisame land dala jata hai photoWife ko malum hua ki mujhe kankh ke bal pasand hairandi chutiya chhinar sex xxxxxxxRajkumari ki suhagrat me chudai kahani-threadsamne wale shubhangi didi ki chudai storyxxx moti choot dekhi jhadu lgati hue videoबाप का सेक्स बर्दाश्त नहीं कर पाए बेटीxxxxnxxchhinar/Thread-rishton-mai-chudai-%E0%A4%96%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A4%A6%E0%A4%BE%E0%A4%A8%E0%A5%80-%E0%A4%9A%E0%A5%81%E0%A4%A6%E0%A4%BE%E0%A4%88-%E0%A4%95%E0%A4%BE-%E0%A4%B8%E0%A4%BF%E0%A4%B2%E0%A4%B8%E0%A4%BF%E0%A4%B2%E0%A4%BE?pid=51176uncle ne bataya hot maa ki hai tight chut sex storiesमा योर बेटा काbf videoxxx हिनदी मैमा ने अपनी ब्रा मुझे पहनायीbo kratrim vagina ke majewww.hindisexstory.sexybabaHot.XXX.Aung.pardars~rAudio desi52xxxSexbabanetcomaalia bhatt nanga doodh chuste hua aadmiपूरी रात प्रेम सम्बन्ध बुर आनंद सुख कसी लन्डजमीदार ने खाट पे चुदाई कीXxxxxxsexpapa comhot sex bahu ke sarhxxxpeshab ki dhar aurate jhadiचुदाई होने के साथ साथ रो रही थीभूमि पेडनेकर नुदे फोटोज क्सनक्सक्स पोर्नबीवी का बहशीपन और चुदाईघरमे घूसकर चोर सेकसीविडयोhansha chuday sex videoनोकर ने अपनी पतनी को jabrna xxx video porn