Hindi Porn Kahani गीता चाची
04-26-2019, 12:08 PM,
#51
RE: Hindi Porn Kahani गीता चाची
जलन से मेरा बुरा हाल था. नुची खसोटी गांड की म्यान उस मूत से ऐसे जलने लगी जैसे आग लगी हो. मैं रोया और तड़पने लगा पर वे मजा लेते रहे. "देख कितना ख्याल है अपनी रानी का मुझे." मूतना खतम होने पर उन्होंने लंड बाहर निकाला पर मुझे सख्त हिदायत दी कि एक बूंद भी बाहर न निकले. "गांड सिकोड़ के पड़ी रह जब तक मैं न कहूं, नहीं तो पीट पीट कर कचूमर निकाल दूंगा तेरा."

आधा घंटा मैं वह मूत गांड में लिये रहा. किसी तरह गुदा का छल्ला सिकोड़े रहा. उन्होंने मुझे और तकलीफ़ देने को कमरे में इधर उधर चलने को कहा जिससे मूत अंदर छलक कर और पूरे तरह मेरी गांड जलाये. आखिर आधे घंटे बाद मुझे बाथरूम जाकर गांड खाली करने को और धोने की इजाजत उन्होंने दी.
मैं जब वापस आया तो इतना थका हारा था कि लड़खड़ा कर वहीं जमीन पर गिर पड़ा. "अब हुई तेरी चुदाई पूरी. चल सो जा. वैसे सुबह एक बार और मारूंगा." कहकर मुझे उठाकर वे बिस्तर पर ले गये और मुझे बाहों में लेकर चूमते हुए मेरे ऊपर लेट गये. थका कुचला मैं कब सो गया मुझे पता ही नहीं चला.

सुबह गांड में अचानक हुए दर्द से जब मैं उठा तो देखा कि चाचाजी मुझ पर चढ़े गांड मार रहे थे. तीन चार घंटों की नींद ने उन्हें फ़िर ताजा कर दिया था. मुझे जगा देखकर प्यार से मुझे चूमकर बोले. "सारी मेरी रानी, आंख लग गयी इसलिये तीन चार घंटे तेरी नहीं मार सका. जब कि मैंने वादा किया था कि रात भर मारूगा." आधे घंटे मेरी भरपूर चुदाई करके ही वे झड़े. मेरी गांड तो चुद चुद कर ऐसी कसमसा रही थी कि मुझे पक्का हो गया था कि फ़ट गयी होगी और सिलवाने के लिये डॉक्टर के पास जाना पड़ेगा. मैं पड़ा पड़ा सिसकता हुआ मरवाता रहा.

पर जब चाची कुछ देर बाद दरवाजा खोल कर अंदर आईं तो उन्होंने मेरा ढाढस बंधाया. "अरे बिलकुल ठीक है, फ़टी नहीं है, बस खुल गई है. बहुत सुंदर दिख रही है, जैसे किसी लड़की की चूत. देख दो पपौटे भी बन गये हैं बिलकुल भगोष्ठों की तरह."

मेरे शरीर और गांड का मुआयना करके उन्होंने अपने पति को चुम कर उन्हें मुबारकबाद दी. "बहुत मस्त मारी है। तुमने दुल्हन की. उसके शरीर को भी खूब मसला है. बिलकुल जैसा मैं चाहती थी. और इसकी गांड में मूते यह अच्छा किया. जलन तो हुई पर नमक के पानी से सिक कर ठीक रहेगी. आज इसे भी पता चल गया होगा कि सुहागरात में कच्ची कलियों की क्या हालत होती है."

उन दोनों का ध्यान अब मेरे लंड पर गया. अब भी वह तन कर खड़ा था और उसका उभार मेरी पैंटी में से साफ़ दिख रहा था. चाचीने पैंटी खींच कर उतारी और फ़िर पट्टी खोल दी. रात भर बंधा लंड उछल कर थरथराने लगा. सूज कर लाल लाल हो गया था और खड़ा तो ऐसे था कि जैसे लोहे का राॉड हो. उसे देखकर चाचीने उसपर हाथ फेरते हुए कहा. "फ़ालतू रो रहा है तू अनिल, तेरा लंड तो सिर तान कर कह रहा है कि उसे बड़ा मजा आया."
-  - 
Reply
04-26-2019, 12:08 PM,
#52
RE: Hindi Porn Kahani गीता चाची
चाची देख रही थीं, उन्हें बहुत अच्छ लगा. "लो, मैं कहती थी ना कि लड़का कामुक है, अपने चाचाजी का भी मूत स्वाद से पियेगा." फ़िर मुड़ कर मेरी ओर देख कर बोलीं. "बेटे, अब तो तेरे वारे न्यारे हैं. इतना शरबत पीने मिलेगा कि तू कभी प्यासा नहीं रहेगा."

मैंने भी पूरा मूत पीकर फ़िर उन दोनों को अपनी कसम दी कि इसके बाद जब हम साथ हों, वे मूतने कभी बाथरूम नहीं जायेंगे. मेरे मुंह का इस्तेमाल करेंगे.

चाचाजी के जाने के बाद मैं चाची से लिपट गया. वे प्यार से मुझे चूमते हुए बोलीं. "कैसी लगी अपने चाचाजी के साथ सुहागरात?" मैं भाव विभोर होकर बोला. "क्या लंड है चाचाजी का, मूसल है, मेरी तो हालत खराब कर दी, लगता था कि गांड फ़ाड़ देंगे, मेरे पूरे शरीर को ऐसा मसला जैसे कचूमर निकाल देना चाहते हों. मेरे निपल भी खींचे, देखो चाची, एक ही रात में दूने हो गये हैं. मुझे कुचल कुचल कर मसल मसल कर ऐसा चोदा कि अब सादी गांड मरवाने में मजा ही नहीं आयेगा चाची!"

चाची बोलीं. "तेरे पर तो वे मर मिटे हैं. तू लड़का है इसलिये तेरे साथ वे बेझिझक चाहे जैसा कर सकते हैं. कहते थे कि जितना हो सके तुझे लड़की की तरह बना कर रखें, उनकी वासना अब इतनी बढ़ गयी है कि कल रात भर मुझे चोदते रहे और मेरी चूत चूसते रहे. एक बार भी मेरी गांड नहीं मारी. लगता है कि अब तेरी गांड का चस्का लग गया है. पर मुझे अच्छा है. इतने बड़े लंड से रात भर चुद कर मेरी कमर टूट गयी, मुझे पूरा खलास कर दिया उन्होंने. लगता है कि अब कहीं वे जाकर सही तरीके से मेरे पति बने हैं. और इसका सारा श्रेय तुझे है."

मैंने उनके मम्मे चूमते हुए कहा. "तो इनाम देंगी ना चाची अपने इस भक्त को?"

"हां लल्ला, मैं भूली नहीं हूं, प्रीति आज शाम को वापस आ रही है. उसे चोद ले. वह लड़की नखरा करेगी पर कहां जायेगी? चोदने में मैं तेरी सहायता करूंगी. और भी जो करना है वह कर लेना, मन चाहे वैसा चोद्ना, उसके रोने धोने की चिंता न करना, वैसे चुदाते समय वह ज्यादा नहीं रोएगी. एक नंबर की छिनाल है वह लौंडी, हां उसकी नाजुक गांड में लंड जायेगा तो जरूर चीखेगी."
-  - 
Reply
04-26-2019, 12:09 PM,
#53
RE: Hindi Porn Kahani गीता चाची
चाची देख रही थीं, उन्हें बहुत अच्छ लगा. "लो, मैं कहती थी ना कि लड़का कामुक है, अपने चाचाजी का भी मूत स्वाद से पियेगा." फ़िर मुड़ कर मेरी ओर देख कर बोलीं. "बेटे, अब तो तेरे वारे न्यारे हैं. इतना शरबत पीने मिलेगा कि तू कभी प्यासा नहीं रहेगा."

मैंने भी पूरा मूत पीकर फ़िर उन दोनों को अपनी कसम दी कि इसके बाद जब हम साथ हों, वे मूतने कभी बाथरूम नहीं जायेंगे. मेरे मुंह का इस्तेमाल करेंगे.

चाचाजी के जाने के बाद मैं चाची से लिपट गया. वे प्यार से मुझे चूमते हुए बोलीं. "कैसी लगी अपने चाचाजी के साथ सुहागरात?" मैं भाव विभोर होकर बोला. "क्या लंड है चाचाजी का, मूसल है, मेरी तो हालत खराब कर दी, लगता था कि गांड फ़ाड़ देंगे, मेरे पूरे शरीर को ऐसा मसला जैसे कचूमर निकाल देना चाहते हों. मेरे निपल भी खींचे, देखो चाची, एक ही रात में दूने हो गये हैं. मुझे कुचल कुचल कर मसल मसल कर ऐसा चोदा कि अब सादी गांड मरवाने में मजा ही नहीं आयेगा चाची!"

चाची बोलीं. "तेरे पर तो वे मर मिटे हैं. तू लड़का है इसलिये तेरे साथ वे बेझिझक चाहे जैसा कर सकते हैं. कहते थे कि जितना हो सके तुझे लड़की की तरह बना कर रखें, उनकी वासना अब इतनी बढ़ गयी है कि कल रात भर मुझे चोदते रहे और मेरी चूत चूसते रहे. एक बार भी मेरी गांड नहीं मारी. लगता है कि अब तेरी गांड का चस्का लग गया है. पर मुझे अच्छा है. इतने बड़े लंड से रात भर चुद कर मेरी कमर टूट गयी, मुझे पूरा खलास कर दिया उन्होंने. लगता है कि अब कहीं वे जाकर सही तरीके से मेरे पति बने हैं. और इसका सारा श्रेय तुझे है."

मैंने उनके मम्मे चूमते हुए कहा. "तो इनाम देंगी ना चाची अपने इस भक्त को?"

"हां लल्ला, मैं भूली नहीं हूं, प्रीति आज शाम को वापस आ रही है. उसे चोद ले. वह लड़की नखरा करेगी पर कहां जायेगी? चोदने में मैं तेरी सहायता करूंगी. और भी जो करना है वह कर लेना, मन चाहे वैसा चोद्ना, उसके रोने धोने की चिंता न करना, वैसे चुदाते समय वह ज्यादा नहीं रोएगी. एक नंबर की छिनाल है वह लौंडी, हां उसकी नाजुक गांड में लंड जायेगा तो जरूर चीखेगी."
-  - 
Reply
04-26-2019, 12:10 PM,
#54
RE: Hindi Porn Kahani गीता चाची
मन भर कर प्रीति की चूत चूसने के बाद मैं प्रीति को बांहों में लेकर लेट गया और उसकी कड़ी जरा जरासी चूचियां दबाता हुआ उसे चूमने लगा. वह शरमा रही थी पर बड़े प्यार से चुम्मा दे रही थी. चाची हमारे पास आकर बैठ गयीं और हमारा प्रेमालाप देखने लगीं.

प्रीति अब तक काफ़ी गरमा गयी थी और मेरे लंड को हाथ से पकड़कर मुठिया रही थी. उसे मैंने पलंग पर लिटाया और उसके नितंबों के नीचे एक तकिया रखा. वह अब थोड़ा घबरा गयी. "क्या कर रहे हो अनिल भैया?"

चाची ने जब कहा कि अब उसकी चुदाई होगी तो वह नखरा करने लगी. लड़की चुदाना तो चाहती थी पर मेरे तन्नाये लंड को देखकर वह काफ़ी भयभीत थी. चाची के पुचकारने पर आखिर उसने जांघे फैलायीं और मैं उसकी टांगों के बीच अपना लंड सम्हाल कर बैठ गया. मैने चाची को आंख मारी कि समय आ गया है.

चाची समझ गईं और प्रीति के दोनों हाथ कस कर पकड़ लिये और उनपर बैठ गयी. प्रीति घबरा कर रोने लगी. "यह क्या कर रही हो मौसी, छोड़ो मुझे" मैंने अब अपना सुपाड़ा प्रीति की कुंवारी चूत पर रखा और दबाना शुरू किया. चाची बोली "दुखेगा बेटी, तू ज्यादा न छटपटाये इसलिये हाथ पकड़ लिये हैं मैंने. पर घबरा मत, मजा भी आएगा,

और पहली बार चुदाने का मजा तो तभी आता है जब दर्द हो."

मैने अपनी उंगलियों से उसकी चूत चौड़ी की और लंड को कस कर पेला. फ़च्च से सुपाड़ा उसकी कसी बुर के अंदर हो गया और प्रीति दर्द से बिलबिला उठी. चीखने ही वाली थी कि चाची ने अपने हाथ से उसका मुंह दबोच दिया. तड़पती प्रीति की परवाह न करके मैने लंड फ़िर पेला और आधा अंदर कर दिया. प्रीति छटपटाते हुए अपने बंद मुंह से गोंगियाने लगी.

उस कुंवारी मखमली चूत ने मेरे लंड को ऐसे पकड़ रखा था जैसे किसीने मुट्ठी में पकड़ा हो. प्रीति की आंखों में आंसू छलक आये थे. उन्हें देखकर चाची और मैं और उत्तेजित हो उठे और एक दूसरे को चूमने लगे. प्रीति को डराने में मुझे बड़ा मजा आ रहा था इसलिये मैं जान बूझ कर बोला. "चाची, मजा आ गया, प्रीति की चूत तो आज फ़ट जायेगी मेरे मोटे लंड से, पर मैं नहीं छोड़ने वाला इसे, चोद चोद कर फुकला कर दूंगा साली को" ।

वह जब रोने लगी तो मैंने झुककर उसका एक नन्हा निपल मुंह में लिया और चूसने लगा. मैंने सोचा कि अभी ज्यादा डराना ठीक नहीं है क्योंकि उसकी गांड भी मारनी थी. इसलिये उसे तड़पा तड़पा कर चोदने की अपनी इच्छा मैंने उसकी गांड के लिये बचा कर रखी. दूसरे स्तन को चाची प्यार से सहलाने लगीं. धीरे धीरे प्रीति का तड़पना कम हुआ और उसने रोना बंद कर दिया.
-  - 
Reply
04-26-2019, 12:10 PM,
#55
RE: Hindi Porn Kahani गीता चाची
चाची ने जब उसके मुंह से हाथ हटाया तो लड़की रोने स्वर में बोली. "हाय मौसी, बहुत दर्द होता है, अनिल भैया, प्लीज़ अपना लौड़ा निकाल लो." चाची ने मुझसे कहा "तुम चोदो अनिल, मेरी यह भांजी जरा ज्यादा ही नाजुक है, इसकी परवाह मत करो. बाद में देखना, चुदते हुए कैसे किलकारियां भरेगी"

चाची ने झुककर अपने होंठ प्रीति के मुंह पर जमा दिये और जोर से चूस चूस कर उसका चुंबन लेने लगी. प्रीति अब शांत हो चली थी और उसकी चूत फ़िर गीली होने लगी थी. मैने बचा हुआ लंड धीरे धीरे इंच इंच करके उसकी चूत में पेलना शुरू किया. जब प्रीति तड़पती तो मैं लंड घुसेड़ना बंद कर देता था. आखिर पूरा लंड उस कसी बुर में समा गया और मैने एक सुख की सांस ली. "देख प्रीति, पूरा लंड तेरी चूत में है और खून भी नहीं निकला है. कैसे प्यार से दिया है तेरी चूत में, तू फ़ालतू घबराती थी"

प्रीति ने थोड़ा सिर उठा कर अपनी जांघों के बीच देखा तो हैरान रह गई. फ़िर शरमा कर आंसू भरी आंखों से मेरी ओर देखने लगी. चाची उसे पुचकार कर बोलीं. "शाबास मेरी बहादुर बिटिया, बस दर्द का काम खतम, अब मजा ही मजा है. अनिल, तू चोद, मैं प्रीति से अपनी चूत की सेवा करवाती हूं।

चाची उठ कर प्रीति के मुंह पर अपनी चूत जमाकर बैठ गयीं और धीरे धीरे उसका मुंह चोदने लगीं. मैने अब धीरे धीरे लंड अंदर बाहर करना शुरू किया. पहले तो कसी चूत में लंड बड़ी मुश्किल से खिसक रहा था. मैने प्रीति के क्लिटोरिस को अपनी उंगली से मसलना शुरू कर दिया और वह कमसिन बुर एक ही मिनट में इतनी पसीज गई कि लंड आसानी से फ़िसलने लगा. मैं अब उसे मस्त चोदने लगा.

प्रीति को चोदते चोदते मैने पीछे से चाची की चूचियां पकड़ लीं और दबाने लगा. चुदाई का एक समां सा बंध गया. चाची अपना सिर घुमाकर मुझे चुंबन देते हुए अपनी भांजी के मुंह पर बैठ कर उससे अपनी चूत चुसवा रही थीं और मैं पीछे से चाची के मम्मे दबाता हुआ उनकी चिकनी पीठ को चूमता हुआ हचक हचक कर प्रीति की बुर चोद रहा था.

दोनों चूतें खूब झड़ीं और खुशी की किलकारियां कमरे में गूजने लगीं. आखिर मुझसे न रहा गया और मैने चाची को हटने को कहा. "चाची, मुझसे अब नहीं रहा जाता, मैं प्रीति पर चढ़ कर जोर जोर से चोदूंगा."

चाची हट गईं और हस्तमैथुन करते हुए हमारी कामक्रीड़ा का आखरी भाग देखने लगीं. मैंने प्रीति पर लेट कर उसे बाहों में जकड़ लिया और अपनी जांघों में उसके कोमल तन को दबोचकर उसे चूमता हुआ हचक हचक कर चोदने लगा. कुछ ऐसे ही जैसे चाचाजी ने मुझे चोदा था. प्रीति की गरम सांसें अब जोर से चल रही थीं, वह उत्तेजित कन्या चुदने को बेताब थी. "चोदो भैया, और जोर से चोदो ना, अब नहीं दुखता, मजा आ रहा है, उई ऽ मां ऽ."
-  - 
Reply
04-26-2019, 12:10 PM,
#56
RE: Hindi Porn Kahani गीता चाची
उसकी जीभ मुंह में लेकर चूसता हुआ मैंने उसे पूरी शक्ति से चोद डाला. सुख से मैं पागल हुआ जा रहा था. कुंवारी बुर में लंड चलने से पाक पाक' की मस्त आवाज आ रही थी. आखिर मैंने एक करारा धक्का लगाया और लंड को प्रीति की बुर में जड़ तक गाड़ कर स्खलित हो गया. प्रीति की बुर अभी भी मेरे लौड़े को पकड़ कर जकड़े हुए थी.

पूरा झड़ने के बाद मैने प्रीति का प्यार से एक चुंबन लिया और उठ कर लंड खींच कर बाहर निकाला. लंड उसकी चूत के पानी से गीला था. चाची तुरंत मेरे पास आईं और उसे मुंह में लेकर चूस डाला. मेरा लंड साफ़ करके मुझे बाजू में हटने को कहते हुए वे खुद प्रीति की जांघों को फैलाते हुए बोलीं. "अब देखें तो, मेरी भांजी की पहली बार चुदी बुर में अपनी मौसी के लिये क्या तोहफ़ा है!" और झुक कर प्रीति की बुर चूसने लगीं. मेरा सारा वीर्य और प्रीति का पानी वे चटखारे ले ले कर निगलने लगीं.

मैने प्रीति से पूछा "तो बहन, चुदा कर मजा आया? मुझे तो बहुत मजा आया मेरी प्यारी प्रीति रानी की टाइट चूत चोदकर." प्रीति शरमाती हुई बोली "बहुत अच्छा लगा अनिल भैया, पर दर्द भी हुआ. तुम्हारा लंड इतना मोटा है कि मुझे लगा कि मेरी बुर फ़ाड़ देगा" मैंने मन ही मन सोचा कि चाचाजी के हलब्बी लंड से चुदेगी तो मर ही जायेगी.

कुछ देर आराम के बाद प्रीति और चाची फ़िर आपस की कामक्रीड़ा में जुट गईं. अगले आधे घंटे तक मैं अब सिर्फ पड़ा पड़ा उन दोनों की रति देखता रहा. प्रीति की दुखती बुर को चाची ने खूब चाटा और चूसा. आखिर जब प्रीति फ़िर गरमा गयी तो बोल पड़ी. "अनिल भैया, आओ मुझे फ़िर चोदो, अब मैं नहीं रोऊंगी." चाची ने भी मुझे आंख मारी और पास बुला लिया. मैं समझ गया कि गांड मारने का समय आ गया है. ।

मैं उठकर प्रीति की टांगों के बीच बैठ गया और अपना लौड़ा सहलाते हुए बोला. "देख क्या मस्त खड़ा किया है तेरे लिये प्रीति." उसने अपनी टांगें फैला दीं और मेरे लंड के अपनी चूत में घुसने का इंतज़ार करने लगी.

प्रीति को बड़ा आश्चर्य हुआ जब उसका एक चुंबन लेकर मैंने उसे उठाकर पट लिटा दिया. उसे लगा कि शायद मैं कुतिया स्टाइल में पीछे से चोदने वाला हूं इसलिये वह अपने घुटनों और कोहनियों पर जमने लगी तो मैंने उसे फ़िर नीचे पट लिटा दिया.

चाची ने उसके हाथ पकड़ लिये और मैंने उसके पैरों को कस के पलंग के कड़े से बांध दिया कि उठ कर भाग न सके. फ़िर मैंने मन भर के उस कमसिन लड़की के नितंब पास से देखे. गोरे चिकने और कसे हुए वे चूतड़ खा जाने को मन होता था. मैंने झुक कर उन्हें मसलते हुए चूमना और चाटना शुरू किया और फ़िर उसके गुदा को चूसने लगा. अपनी जीभ उसमें डाली तो बड़ी मुश्किल से गई; बड़ा ही टाइट होल था. उसके सौंधे स्वाद को मैं अभी चख ही रहा था कि प्रीति बोली. "छोड़ो भैया, छी, यह क्या कर रहे हो? मेरी गांड मत चूसो!"

मैंने कहा, "तुम्हारे उपहार को चूम रहा हूं रानी बहना, आखिर अपना इतना अमूल्य अंग एक लड़की अपने भाई को भोगने को दे रही हो तो उसका स्वाद लेना जरूरी है, चोदने के पहले."

प्रीति घबरा कर बोली. "नहीं नहीं, ऐसा मत करो, मैं मर जाऊंगी, मैंने तो चोदने को कहा था, गांड मारने को नहीं, गांड तो तुम मौसी की मारते हो. मौसी समझाओ ना अनिल भैया को!"
-  - 
Reply
04-26-2019, 12:10 PM,
#57
RE: Hindi Porn Kahani गीता चाची
चाची बोलीं. "मारने दे उसे. आखिर इतने दिन से हमारे साथ मजा कर रहा है, हमारा हर तरह से मन बहलाता है, तेरा मूत भी पीता है, फ़िर गांड मारना चाहता है तो क्या हर्ज है? मार तू लल्ला, इसके रोने पर मत जा."

सहायता की गुहार करती प्रीति उलटी डांट पड़ने से सकते में आ गयी और डर के मारे खुद को छुड़ाने की कोशिश करते हुए रोने लगी. जब छूटने की सब कोशिशें बेकार हुईं तो सिसकते हुए लस्त पड़ गई. तब तक मैने उसकी गांड के छेद में मक्खन चुपड़ना शुरू कर दिया था. एक ही उंगली अंदर जा रही थी. मैंने दो उंगलियां जबरदस्ती घुसेड़ीं तो दर्द से वह रोने लगी. मुझे बहुत मजा आया. उसे और चिढ़ाता हुआ मैं बोला "सचमुच बड़ी कसी कुंवारी गांड है। तेरी प्रीति, बहुत मजा आयेगा इसे चोदने में."


मेरे लंड को चाची मक्खन लगा रही थीं, उनके मुलायम हाथों के स्पर्श से लंड और फूल गया था. अपना लाल लाल सूजा सुपाड़ा मैंने उस कन्या के गुदा पर रखा और थोड़ा दबाया. फ़िर चाची को इशारा किया. चाची ने प्रीति के मुंह हाथ से दबोच लिया. मैंने तुरंत सुपाड़ा पेलना शुरू किया. वह अटक गया क्योंकि घबराकर प्रीति ने अपनी गांड का छल्ला सिकोड़ लिया था जिससे गांड का मुंह करीब करीब बंद हो गया था.

"गांड खोल बहन, ढीली छोड़ नहीं तो तुझे ही तकलीफ़ होगी." कहकर मैने और दबाया. मेरी शक्ति के आगे उस बेचारी की क्या चलती. गांड को खोलता हुआ मेरा सुपाड़ा आधा धंस गया. प्रीति का शरीर एकदम कड़ा हो गया और वह छटपटाने लगी. चाची की आंखों में वासना से लाल डोरे झलक आये थे. बोली "फ़ट जायेगी लगता है। लड़की की गांड . मैंने कभी किसी की गांड फ़टती नहीं देखी."

मैंने कहा, "हां चाची, आज तो फ़ाड़ ही देता हूं, बड़ा मजा आयेगा. इसे भी तो पता चले गांड मराना क्या होता है। तुम्हारी मैं मारता था तो कैसे मजा ले लेकर देखती थी."

मैंने पेलना बंद करके नीचे देखा. प्रीति का गुदा पूरा तन कर फैला हुआ था और उसमें मेरा सुपाड़ा फंसा हुआ था. मैंने थोड़ा और मक्खन उसपर लगाया और फ़िर से उसे थोड़ा सा अंदर बाहर करने लगा कि लड़की को और दर्द हो तो मजा आये. प्रीति को इतना दर्द हुआ कि वह तड़पने लगी और हाथ पैर फ़टकारने की कोशिश करने लगी. उसकी तड़पते शरीर को देखकर मुझे बड़ा मजा आ रहा था. जब वह बेहोश होने को आ गयी तो मैंने कस कर लंड पेल दिया. पाक्क की आवाज से सुपाड़ा अंदर हो गया.
-  - 
Reply
04-26-2019, 12:11 PM,
#58
RE: Hindi Porn Kahani गीता चाची
प्रीति दर्द से हाथ पैर पटकने लगी. उसके दबे मुंह से सीत्कार निकल रहे थे. वह ऐसे तड़प रही थी कि मानो पानी के बाहर निकाली मछली हो. उस छोकरी के छटपटाने में भी ऐसा मादकपन था कि चाची भी गरम हो उठीं. मैंने झुक कर चाची को चूम लिया और उनकी चूचियां दबाते हुए प्रीति के शांत होने का इंतजार करने लगा.

"रुक क्यों गया? डाल दे पूरा अंदर" चाची ने कहा.

"ऐसे नहीं चाची, एक बार अंदर जायेगा, तो दर्द कम हो जायेगा. फ़िर क्या मजा आयेगा? अभी देख कैसी पुकपुका रही है इसकी गांड! मैं तो धीरे धीरे डालूंगा. ऐसे ही तड़पा तड़पा कर मारूंगा. पूरा मजा लूंगा." मैंने कहा. चाची हंसने लगीं. "बड़ा दुष्ट है रे तू"

कुछ देर बाद मैंने लंड धीरे धीरे प्रीति की गांड के अंदर घुसेड़ना शुरू किया. कस कर फंसा होने के बाद भी मक्खन के कारण लंड फ़िसल कर प्रीति के चूतड़ों की गहराई में इंच इंच कर जा रहा था. वह जब छटपटाती तो मैं रुक जाता. थोड़ा लंड बाहर खींचता और फ़िर अंदर कर देता जिससे वह फ़िर हाथ पैर पटकने लगती. उसकी आंखों से गंगा जमुना की धारा बह रही थी. बीच बीच में झुक कर मैं उसके गाल चूम लेता. उन खारे आंसुओं से मेरा लंड और तन्ना जाता.

आखिर मुझसे न रहा गया. खेल खतम करके मैंने जड़ तक लंड खोंस दिया. वह ऐसे उचकी जैसे किसी ने गला दबा दिया हो. मैं उसके कोमल बदन के ऊपर सो गया और हाथ उसके शरीर के इर्द गिर्द जकड़ लिये. झुककर देखा तो उसकी आंखों से लगातार आंसू बह रहे थे और बड़ी दयनीय भावना से वह मेरी ओर देख रही थी. मुझे थोड़ी दया आई पर बहुत मजा भी आया. अपनी गांड पहली बार कैसे मरायी यह उस चुदैल कन्या को हमेशा याद रहेगा ऐसा मैंने मन ही मन सोचा.

पांच मिनट बाद मैंने चाची को कहा कि हाथ अपनी भांजी के मुंह से हटा लें, अब वह नहीं चीखेगी. चाची के हाथ हटाते ही वह सिसक सिसक कर रोने लगी. "मौसी, मैं लुट गई, लगता है गांड फ़ट गई, इतना दर्द हो रहा है जैसे किसी ने पूरा हाथ घूसा बनाकर डाल दिया हो. खून बह रहा होगा, जरा देखो ना. मौसी अनिल भैया से कहो ना मुझे छोड़ दे, अपना लंड निकाल ले नहीं तो मैं मर जाऊंगी."
-  - 
Reply
04-26-2019, 12:11 PM,
#59
RE: Hindi Porn Kahani गीता चाची
चाची ने बड़ी उत्सुकता से उसके गुदा को टटोल कर देखा. "नहीं बेटी, नहीं फ़टी, खून भी नहीं निकला, तू गांड ढीली क्यों नहीं कर लेती जैसा अनिल कहता है?"

प्रीति की सिसकारियां रोकने के लिये चाची ने अपना एक निपल प्रीति के मुंह में दे दिया और दर्द की मारी प्रीति उसे चूसने लगी कि कुछ तो हो जिससे उसका ध्यान बंटे उसके गुदा में होती पीड़ा से. चाची ने अपनी आधी चूची उसके मुंह में ढूंसकर उसकी बोलती बंद कर दी.

फ़िर चाची ने झुककर अपनी तड़पती भांजी की बुर को सहलाना शुरू कर दिया. मैं उसकी चूचियां पकड़कर उनकी मालिश करने लगा. धीरे धीरे प्रीति कुछ संभली और उसने रोना बंद कर दिया. चाची ने उसकी बुर में से उंगली निकालकर मुझे दिखाई. गीली उंगली देखकर मैं समझ गया कि प्रीति की चूत में से रस निकलना शुरू हो गया है.

प्रीति अब अपनी गांड को किसी तरह ढीला छोड़ने में भी सफ़ल हो गई और उसका दर्द कुछ कम हुआ. चाची ने आंख मारते हुए मुझसे कहा. "तू जरा उठ, मैं नीचे जाती हूं और इसे अपनी बुर चुसवाती हूं."

मैं समझ गया. मैंने जगह बनायी और झट से चाची प्रीति के सिर को अपनी जांघों में ले कर लेट गयीं. फ़िर उसके मुंह को अपनी बुर पर दबा कर जांघेखें बंद करके उसके सिर को कसकर पकड़ लिया और धक्के दे देकर प्रीति का मुंह चोदने लगी. बोली "अब मारो कस कर, अब यह कुछ नहीं कर पायेगी. कितनी देर इसका मुंह पकड़कर बैलूं, मैं भी मजा कर लेती हूं. तू चिंता न कर. मेरी चूत से इसका मुंह बंद है, चूं तक नहीं कर पायेगी"

मैंने झुक कर चाची का मम्मा मुंह मे लिया और हचक हचक कर प्रीति की गांड मारने लगा. जैसे ही मेरा मोटा ताजा तन्नाया हुआ लौड़ा उसकी बुरी तरह से फैले गुदा में अंदर बाहर होने लगा, वह फ़िर दर्द से बिलबिला उठी. दर्द से न चाहकर भी उसकी गांड का छल्ला सिकुड़ने की कोशिश करने लगा जिससे मेरा आनंद दूना हो गया और उसका दर्द और बढ़ गया.

मुझे अब उस नाजुक कन्या के दर्द की कोई परवाह नहीं थी. मैंने अपने हाथों में उसकी कबूतर सी नन्ही नन्ही चूचियां पकड़ लीं और अपनी जांघे उसके कूल्हों के इर्द गिर्द जकड़ कर उछल उछल कर उसकी गांड मारने लगा. अब वह दर्द से बिलखती हुई अपनी मौसी को सहायता के लिये पुकारने की कोशिश कर रही थी पर चाची की चूत में उसकी सिसकारियां दब कर रह गयीं. चाची मस्त हो उठीं. "बहुत अच्छे लल्ला, और कस के मार इसकी गांड . यह चिल्लाने की कोशिश करती है तो बुर में बहुत मजा आता है."
-  - 
Reply
04-26-2019, 12:11 PM,
#60
RE: Hindi Porn Kahani गीता चाची
प्रीति के इस बिलखने से मेरी वासना और दुगनी हो गई और उस कोमल लड़के की चूचियां बुरी तरह से कुचलते हुए मैंने उसे ऐसा भोगा कि वह हमेशा याद करेगी. चाची ने उसकी एक न सुनी बल्कि वे भी प्रीति की सकरी कुंवारी गांड में निकलते घुसते मेरे लंड को देखकर ऐसी गरमाईं कि और जोर से प्रीति का मुंह चोदने लगीं.

मैंने आधे घंटे प्रीति की गांड मारी और फ़िर अखिर एक जोर की हुमक के साथ झड़ गया. प्रीति अब तक दर्द से बेहोश हो चुकी थी, नहीं तो मेरे उबलते वीर्य से उसकी गांड की जो सिकाई हुई उससे उसे कुछ आराम जरूर मिलता. चाची ने प्रीति का सिर छोड़ा और थोड़ी बाजू में हटकर मुझे अपनी बुर चुसाने लगीं.

उस रात मैने प्रीति की गांड सुबह तक और दो बार मारी. गांड में से लंड सारी रात नहीं निकाला. मन भर कर उसे भोग लिया.

दूसरी बार मारने के लिये अपना लंड खड़ा करने को मैने चाची की चूत के रस का पान किया और प्रीति के होश में आने का इंतजार करने लगा. प्रीति जब होश में आकर रोने लगी तो चाची ने फ़िर से उसका मुंह हाथ से दबोच लिया. "चुप कर नहीं तो मुंह मे पट्टी बांध दूंगी." उन्होंने धमकाया तब वह चुप हुई.

मैं प्रीति को गोद में लेकर कुरसी में बैठ गया. अब भी उसका शरीर उसकी सिसकियों से हिल रहा था जिससे मुझे बड़ा मजा आ रहा था. मेरा लंड उसकी गांड में था ही. इस बार मैने उसकी गांड उसे गोद में बिठाकर नीचे से धक्के देते हुए ही मारी जैसे चाचाजी ने एक बार मेरी मारी थी. इस आसन में चाची हमारे सामने खड़ी होकर उसे चूत चुसवा रही थीं इसलिये प्रीति को कुछ आनंद मिला और गांड के दर्द से उसका ध्यान हटा. बाद में चाची उसके सामने बैठकर उसकी बुर चूसती रहीं. मैं नीचे से ही उचक उचक कर उसकी चूचियां मसलते हुए उसकी गांड मारता रहा.

बीच में वह रो कर बोली. "भैया, इतनी बेरहमी से मत कुचलो मेरे मम्मे, बहुत दुख रहे हैं. चाची, प्लीज़ अनिल भैया को बोलो ना!"

"अरे मसलेगा कुचलेगा तभी तो बड़ी होंगी तेरी चूचियां! जिंदगी भर क्या जरा जरासे नीबू लेकर घूमना है? अनिल मसल मसल कर एक साल में मेरे जैसे पपीते कर देगा इनके. तू दबा अनिल, मेरी तरफ़ से और जोर से मसल. जरा निपल भी खींच." और मैंने वैसा ही किया.

तीसरी बार मैने उस कमसिन कन्या को फ़र्श पर पटककर उसकी गांड मारी. नीचे कड़ा फ़र्श और ऊपर मेरे शरीर का भार होने पर कैसा दर्द होता है यह मैं चाचाजी के साथ की चुदाई में अनुभव कर चुका थ. इसलिये प्रीति के दर्द का मुझे अंदाजा था इसलिये पीड़ा से छटपटाते उसके बदन को बांहों में भरे मैंने खूब आनंद लिया. इस बार हमने उसे रोने दिया. उसके रोने से हम दोनों को बड़ा मजा आ रहा था. गांड में लंड की आदत हो जाने से जब उसका रोना कम हुआ तो मैंने उसकी चूचियां ऐसे बेरहमी से मसलीं कि वह फ़िर छटपटा उठी.

कुछ देर में वह लस्त हो कर ढीली हो गयी. चाची बोलीं. "लगता है फ़िर बेहोश हो गयी. वड़ी नाजुक कन्या है. तू परवाह न कर, मार जोर से मसल मसल कर, उसे कुछ नहीं होगा." और मैंने उसके छोटे स्तन कुचलते हुए उसकी ऐसी बेरहमी से गांड मारी कि जैसे लड़की नहीं, रबर की गुड़िया हो.

झड़ने पर मैं भी बिलकुल लस्त हो गया. सारी वासना ठंडी हो गयी थी और बहुत तृप्ति महसूस हो रही थी. प्रीति के निश्चल शरीर को बिस्तर पर लिटा कर हम भी बिस्तर पर लुढ़क गये. उसका सारा शरीर मसले कुचले गुलाब के फूल जैसा लग रहा था. स्तन तो लाल हो गये थे. थोड़े बड़े भी लग रहे थे. चाची बोलीं. "शाबास लल्ला, कुछ दिन और ऐसे ही मसल मसल कर मारेगा तो इसके मम्मे भी बड़े बड़े हो जायेंगे. फ़िर यह तुझे दुआ देगी."

दूसरे दिन प्रीति की बुरी हालत थी. उसे चलते भी नहीं बन रहा था. गांड बुरी तरह दुख रही थी. वह लगातर रो रही थी. उसके रोने बिलखने से मेरा फ़िर खड़ा हो गया. एक बार मुझे लगा कि फ़िर उसकी मार दूं पर फ़िर चाची के कहने से उसे मैंने छोड़ दिया. एक दो दिन हमने उसे आराम करने दिया.

तीसरी रात उसे हमने फ़िर जबरदस्ती अपने कामकर्म में शामिल किया. वह घबरा कर बिलखने लगी पर मैंने वायदा किया कि अब गांड नहीं मारूगा तब वह तैयार हुई. उस रात हमने उसे बहुत सुख दिया, प्यार से उस्की बुर चूसी और हौले हौले चोदा. मजा आने पर वह थोड़ी संभली. चाची ने उसे समझा दिया कि ऐसा तो होता ही है चुदाई में.
-  - 
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Sex kahani अधूरी हसरतें 119 18,685 Yesterday, 04:03 PM
Last Post:
Star Antarvasna kahani अनौखा समागम अनोखा प्यार 102 250,620 Yesterday, 12:03 PM
Last Post:
Big Grin Free Sex Kahani जालिम है बेटा तेरा 73 97,952 03-28-2020, 10:16 PM
Last Post:
Thumbs Up antervasna चीख उठा हिमालय 65 30,639 03-25-2020, 01:31 PM
Last Post:
Thumbs Up Adult Stories बेगुनाह ( एक थ्रिलर उपन्यास ) 105 47,576 03-24-2020, 09:17 AM
Last Post:
Thumbs Up kaamvasna साँझा बिस्तर साँझा बीबियाँ 50 67,994 03-22-2020, 01:45 PM
Last Post:
Lightbulb Hindi Kamuk Kahani जादू की लकड़ी 86 108,258 03-19-2020, 12:44 PM
Last Post:
Thumbs Up Hindi Porn Story चीखती रूहें 25 21,320 03-19-2020, 11:51 AM
Last Post:
Star Adult kahani पाप पुण्य 224 1,078,105 03-18-2020, 04:41 PM
Last Post:
Lightbulb Behan Sex Kahani मेरी प्यारी दीदी 44 110,545 03-11-2020, 10:43 AM
Last Post:



Users browsing this thread: 1 Guest(s)
This forum uses MyBB addons.


Sadi upar karke chodnevali video's raveena bahu ki chudai storyपहले मुझे चोदो डैडीहिंदी कहानी सेक्सबाबा नेटAnasuya nude fuck gif sexbabanokrani farzana aur us ki nand ki chudaichaudaidesijabardasti skirt utha ke xxx videobauni aanti nangi fotoSex vediowwbfआलिया भटृ गादी चूत का बङा फोटोxxx girls ragda ragdi yoniपिरीयड मेsex videojabardasti xxxchoda choda ko blood Nikal Gaya khoon Nikal Gayaxxxbollywoodactress naked photo new2019हिंदी चुड़ै कहने दर्ज़ी सा सिलाईठाकुर साहब से बुरी तरह चुद जाने से वो ठंडी हो गई थीrakul preet singh nude fucking sexbabaShut salvar me haath daalkar very hot xx scene videoपति ने सजा दी जब चुड़ते देखाबैगन सेsex लड़की sexy bfsexstorysexbabaचोदा करते लंड को केशे बाहर निकाला हैbf video hende Doktar Sagar ankusha bhahubali sex baba pussy images megha Akash sexbaba photosjiski chut faat jayevideo xxxmaa bani rakil newsexstory.comthread mods mastram sex kahaniyaचढी ओर चोली मे औरत व नगीxxxviveodesibra kharidna wali kamuk aurat ki antarvasnaXxxxx lookel open videoXnxxwidhwamaaxxx अंग्रेजन कितनी छोटी उम्र में सुलगती हैKarachi wali Mausi ki choda sex storySuhur devar bhabi ki x khani.anchor ramya in sexbaba.comPiyari bahna kahani xxxचूदाइ सीडीयोJabr jasti sxs muh bandkarka hotbehan ne maa ke sath bhai se chudai karwqi insects chudai kahanihamara apna hrami ghar hindi chudai kahanihiroin ka phaoto hindi hd medesi Aunti Ass xosip PhotoMehrene Kaur Pirzada fucking image sexbabaHeroine simram bagga sex baba photos antarvasna maa beti beta sath cudhi storeaunty ki tan failakar jor jor Se jabarjast chot dala sex video downloadhidimechodaiMaa ke sath didi ko bhi choda xbombo.comgindifudiamisha patel on sexbaba.netboltekahane. comdidi ki pavroti jaysi buar ka antrvasnabayana karbat se larki ko yoni chodnaricha ki nude pics sex baba nettv acters shubhangi nagi xxx pootoमा दिदी सेक्स कहानी बेटातू जीस चूत से नीकला ऊसे चोदJijaji chhat par hai chameli ke wallpaper new sexbhibhi ki nokar ne ki chudai sex 30minxxxx ghatiya prayog kam kar raha hai BFwww.sexbaba.nett kahania in hindiकामुकता सामूहिक चुदाई कहानियाँ, काॅम, अन्तर्वासना, काॅम, चुदास से भरपूर बहु भाभी की पारिवारीक सामुहिक चुदाई कहानियाँ gaali Buriya ladai sexx kahaniमै और मेरा परिवाय भाग-189 राज शरमा की चुदाई कहानीXXX चुत फुलाई कहाणीmastram sex kahani masti expressसलवार साड़ी खोलकर पेशाब टटी मुंह में भाभी मां बहेन बहु बुआ आन्टी की सेक्सी कहानियांChudkkad Bahan ko rakhail banaya.upar sed andar sax mmsSexy school girl ka boday majsha oli kea shathastori xxx.hindi.book. Pati se Sukh Mein mila to bhai se chudwaya Pati ke sath mein likhiyexxx 12 enh बड़ा लंड रों cudi घोड़ी bave ke kahne hande मीटरबियफ इमेजमें मेचुत दिखाओ Onli dshi चूदी चीख नीकल दे xnxx.comjangal me pili ki xhudai xvidiogar pa xxxkarna videonanand nandoi hot faking xnxxलेडीज टेलर ने मेरे पेटीकोट मे हाथ डाला स्टोरीचुदाई सीखानेवाले डाकटरचुतदअकशरा ठाकुर नँगी फोटो